Chanchal choot चंचल चूत compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit webvitaminufa.ru
raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Chanchal choot चंचल चूत

Unread post by raj.. » 25 Dec 2014 11:53

चंचल चूत पार्ट---4



गतांक से आगे........................

चंचल की दोनो टाँगें खुली हुई थी. लंड का सूपड़ा उसके चूत मे घुसने से उसकी चूत फैल गई थी. पहले तो मैं झुका और उसकी चूत को फिर से अपने मूह मे ले के किस किया और थोड़ा सा चूसा. जिस से वो वासना की आग मे जलने लगी मज़े से तड़पने लगी. मैं उसकी दोनो टाँगों के बीच मे बैठा था और उसकी खुली हुई चूत के अंदर लंड के सूपदे से ऊपेर नीचे करने लगे. लंड से निकलने वाले प्री कम से उसकी चूत और ज़ियादा गीली और चिकनी हो गई तो मैं उस पर झुक गया. जैसे ही मैं झुका उस ने अपनी टाँगें मेरे बॅक पे लपेट ली. लंड का सूपड़ा उसकी चूत के सूराख पे रखा हुआ था. मैं ने धीरे से दबाया तो लंड का सूपड़ा अंदर घुस गया. अब चूत खुली थी उसकी दोनो टाँगें फैली हुई थी. मैं धीरे.. धीरे सिर्फ़ लंड के सूपदे को अंदर बहेर करने लगा और लंड थोड़ा थोड़ा अंदर घुसने लगा. चंचल ने मुझे बोहोत ज़ोर से पकड़ा हुआ था और उसने अपनी आँखों को ज़ोर से बंद किया हुआ था और उसकी आँख से एक एक ड्रॉप तकलीफ़ का आँसू निकल रहा था. मैं ने पूछा के तकलीफ़ हो रही है क्या तो वो बोली हा हो तो रही है पर अछा भी लग रहा है तुम मेरी फिकर ना करो बॅस अपना काम करो और मेरी वासना की आग बुझा दो और हो जाने दो आज जो भी होना है मैं तय्यार हू.

लंड को अंदर बहेर अंदर बहेर करते करते जब वो कुछ और अहदर घुस गया तो एक प्लेस पे आ के मेरा लंड अंदर घुसना बंद हो गया मैं समझ गया के यह चंचल की चूत की सील

है जिसे मुझे तोड़ना है. मैं ने चंचल से पूछा क्या दरद बोहोत हो रहा है तो उस ने कहा हां लगता है कोई गरम सी चीज़ उसकी चूत मैं घुस्स गई हो और जिस से सारी चूत मैं जलन हो रही थी जैसे आग लगी हो चूत के अंदर. मैं ने फिर से पूछा तो अब क्या करू ऐसे की ख़तम कर दू या तुम्हारी सील तोड़ के लंड को पूरा अंदर घुसा दूं तो चंचल ने कहा के अब और सहारा नही जाता बॅस अब तो अपने लंड को अंदर घुसेड ही डालो एक टाइम की ही तकलीफ़ होगी ना मैं संभाल लूँगी. मैं ने कहा ठीक है अगर तुम रेडी हो तो मुझे क्या प्राब्लम है.

मैं ने चंचल को अची तरह से अपनी बाहों मे जाकड़ लिया उसकी टाँगें मेरी बॅक पे लपेटी हुई थी और मैं ने अपनी गंद ऊपेर उठा के लंड को बहेर निकाला और धीरे से अंदर किया ऐसे ही 4 – 5 बार करने के बाद अंदर बहेर करने की स्पीड को बढ़ा दिया अब लंड आसानी से ऑलमोस्ट आधा अंदर तक घुस रहा था. मैं ने लंड को पूरा बहेर निकाल लिया सूपदे तक और एक सेकोड वेट करके ता के चंचल की थोड़ी साँस ठीक हो जाए और फिर अपने मूसल जैसे मोटे और लोहे जैसे सख़्त लंड को एक ज़ोर का झटका मारा और पूरे का पूरा लंड एक ही झटके मैं चंचल की चूत घुसेड दिया तो मेरा लंड उसकी छोटी सी वीरगिंग टाइट चूत को फाड़ता हुआ उसकी फटी चूत मे घुसता चला गया और साथ मे चंचल की चीख से सारे पेड़ हिलने लगे. आआअम्म्म्ममममाआआआआ माइईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई माअरर्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्ररर गगाइिईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई ऊऊओिईईईईईईईईईईईईईईईईईईईहहाआआआआआआ निक्कलो बहेर इसे आआऐईईईईईई ऊवूऊवूयूवूऊवूवयफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ दरद से उसका फेस टमाटर की तरह लाल हो गया था और उसकी आँखों मे से कंटिन्यू आँसू निकलने लगे. वो मेरे बदन के नीचे पड़ी तड़पने लगी मई ने उसको पूरी ताक़त से जकड़ा हुआ था मेरा मूसल लंड उसकी फटी चूत के अंदर ही था. उसने मुझे ज़ोर से पकड़ा हुआ था और मेरे बदन से टाइट चिपक गई थी. इतनी ज़ोर से चिपकी थी के उसके चुचियाँ मेरे सीने से दब के फ्लॅट हो गये थे. उसके चूत जलने लगी और वो दरद से चिल्लाने लगी… ऊऊओह राज्जाआआआआआआअ निकालो ईसीईई प्लस्सस्स्स्स्स्स्स्स्सस्स बोहोत दरद हो रहा है प्लीईईआस्ीईईई निकालो उउउउउफ्फ्फ्फ्फ्फ ऊऊऊईईईईईईइ म्‍म्म्ममाआआआआअ. थोड़ी देर तक ऐसे ही उसको ज़ोर से दबा के पकड़ा रहा तो 2 – 4 मिनिट मे उसकी साँस थोड़ी ठीक होने लगी. कुछ ही देर मे उसके चेहरे से तकलीफ़ ख़तम हो ती नज़र आई और उसका बदन ढीला पड़ने लगा तो मैं समझ गया के अब उसका दरद कम हो गया है.

अब मैं ने अपने मूसल लंड को बहेर निकाला तो लगा के उसकी चूत बोहोत ही गीली हो गई है नीचे झाँक के देखा तो पता चला के वो ब्लड है जो उसकी वर्जिन चूत मे से सील टूटने का निकला है. एनिहाउ मैं ने इग्नोर किया और चोदना चालू कर दिया. अब मैं ने चंचल की चुदाई शुरू कर दी लंड को बहेर निकाल निकाल के ज़ोर ज़ोर से उसकी फटी चूत मे घुसेड़ता रहा.

raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Chanchal choot चंचल चूत

Unread post by raj.. » 25 Dec 2014 11:53

चंचल को अब दरद के बदले मज़ा आने लगा था और वो अब मज़े से सिसस्कारियाँ लेने लगी. आअहह ऱाजाआआ आब्ब्ब बोहूऊऊओट मज़ाआआअ आआ रहाआ हाईईइ चूत के अंदर जलन भी हो रही है पर मज़ा भी बोहोत आ रहा है और वो मेरे धक्को का जवाब खुद नीचे से चूतड़ उठा उठा के देने लगी.

मस्त चुदाई चल रही थी. चाँदनी रात मे चंचल की चूत की चुदाई मे बोहोत मज़ा आ रहा था. मेरे हाथ उसकी हाथों के नीचे से निकाल के उसके शोल्डर्स को पकड़े हुए थे ग्रिप बोहोत टाइट थी गंद उठा उठा के लंड को पूरा सूपदे तक निकाल निकाल के ज़ोर ज़ोर से उसकी चूत मे घुसेड के चोदने लगा.

चंचल भी फुल मूड मे आ गई थी और मेरा पूरा साथ दे रही थी. मेरे मूसल जैसे सरकम्साइज़्ड शार्प हेड लंड का शार्प सूपड़ा चूत के बोहोत अंदर तक घुस्स के उसके यूटरस को मार रहा रहा था.

चंचल की सिसस्कारियाँ कंटिन्यू थी आआआअहह बोहूऊओट मज़ाआआआ आआआ रहऊूओ हाईईईईईईईई राज्ज्जजाआाआआआआ ऐसे हीईीईईईईईईईई छोड़ूऊऊऊऊओ उफफफफफफफफफफफ्फ़ यह कैसा मज़ा है ऱजाआआ उसकी आवाज़ें तेज़ होने लगी और उसका बदन अकड़ने लगा मुझे लगा के अब वो झड़ने के करीब है. मेरी क्रीम भी निकलने के लिए रेडी थी. चुदाई और तेज़ी से करने लगा. लंड अंदर बहेर ऐसे हो रहा था जैसे रेलवे एंजिन का शॅफ्ट ट्रेन चलने के टाइम पे होता है. चंचल फिर से मेरे बदन से चिपकने लगी उसकी आँखें बंद हो गई थी मेरे लंड को उसकी चूत के अंदर ही फील हो गया के वो झाड़ चुकी है और फिर मेरी क्रीम का फाउंटन झटके से निकलने लगा उफ़फ्फ़ 8 – 10 गरम गरम लंड की क्रीम का फव्वारा चूत के अंदर निकल ता ही चला गया..वो गहरी गेँरी साँसें ले रही थी और उसकी चूत मेरी गरम गरम गाढ़ी क्रीम से भर के ओवर फ्लो हो रही थी. चंचल बोली के आआआअहह बोहोत मज़ा आया है आअज राजाआअ यह कहते हुए मुझ से लिपट गई और मेरे चेहरे को चूमने लगी और फिर चूमती ही चली गई. आइ लव यू राजा कहती रही. पता नही कितने बार उसने

कहा आइ लव यू आइ लव यू आइ लव यू के मैं तो गिनती ही भूल गया.

आज चंचल छोटी लड़की से एक औरत बन गई थी उसका चेहरा चमक रहा था और उसके चेहरे पे एक अजीब सा सॅटिस्फॅक्षन था. हम दोनो थोड़ी देर तक ऐसे ही नंगे पड़े रहे. चंचल की चूत अभी दरद कर रही थी तो मैं अपनी हथेली से उसकी चूत की थोड़ी सी मालिश किया. वो फिर से मुझे किस करने लगी और कंटिन्यू आइ लव यू राजा कहती रही और बोलती रही के आज से मैं तुम्हारी हू राजा अब मुझे छोड़ के तुम कही ना जाना आइ लव यू वेरी मच राजा. मैं ने बोला के चंचल आइ लव यू वेरी वेरी मच और मैं तुम्हारे घर से और तुम्हारी ज़िंदगी से अब कही नही जाउन्गा तुम जब बोलॉगी मैं तुम्हारे लिए रेडी हू. उसने फिर से एक ज़बरदस्त किस किया और बोली के आज से तुम सिर्फ़ और सिर्फ़ मेरे राजा हो और मैं सिर्फ़ और सिर्फ़ तुम्हारी रानी फिर हम दोनो मुस्कुरा के हंस पड़े और एक दूसरे से लिपट के किस करने लगे.

देर बोहोत हो गई थी तो दोनो कपड़े पहेन के वापस हो गये. रास्ते भर चंचल मेरे सारे बदन पे हाथ फेरती रही और आइ लव यू आइ लव यू आइ लव यू राजा कहती रही और मैं भी कहता रहा आइ लव यू मेरी रानी.

चंचल की वर्जिन चूत के फाड़ने के बाद हमै जब भी मौका मिलता चुदाई करते. कभी वो शरारत के मूड मे होती तो करीब से जाते जाते मेरे लंड को पकड़ के दबा देती और कभी ऊपेर होती तो वही से अपना स्कर्ट उठा के अपनी चूत दिखा देती और हंस के इशारा करती के यह तुम्हारे लंड को याद कर रही है तो मैं भी अपने लंड को अपना पॅंट के ऊपेर से हाथ लगा के कहता के यह तुम्हारी चूत के लिए रेडी है. एक रात उसकी गंद भी मारी. कैसे यह कहानी बाद मे लिखुगा.अरे हां यह बताना भी तो ज़रूरी है के चंचल की चूत के फटने के बाद एक ही वीक के अंदर उसको मेनास हो गये. उसकी मम्मी कोमल बोहोत खुश हो गई के उसकी चंचल जवान हो गई है. चंचल को बोहोत दीनो तक चोद ता रहा कभी वो मेरे रूम मे आ जाती कभी बहेर जा के चोद्ते तो कभी सिटी वाले फ्लॅट मे सारा दिन और कभी सारी रात चुदाई करते. अब उसकी चूत को मेरे मोटे लोहे जैसे सख़्त लंड की आदत पड़ गई है.

अब मैं आपको बता ता हू के चंचल की मा कोमल को कैसे चोदा या कोमल ने मुझे कैसे चोदा.

क्रमशः...................

raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Chanchal choot चंचल चूत

Unread post by raj.. » 25 Dec 2014 11:54

Chanchal Choot paart---4

gataank se aage........

Chanchal ki dono tangein khuli hui thi. Lund ka supada uske choot mai ghusne se uski choot phail gai thi. pehle to mai jhuka aur uski choot ko phir se apne muh mei le ke kiss kia aur thoda sa choosa. Jis se woh vasna ki aag mai jalne lagi maze se tadapne lagi. Mai uski dono tangon ke beech mai baitha tha aur uski khuli hui choot ke ander Lund ke supade se ooper neeche karne lage. Lund se nikalne wale pre cum se uski choot aur ziada geeli aur chikni ho gai to mai us par jhuk gaya. jaise hi mai jhuka us ne apni tangein mere back pe lapet li. Lund ka supada uski choot ke soorakh pe rakha hua tha. Mai ne dheere se dabaya to lund ka supada ander ghus gaya. Ab choot khuli thi uski dono tangein phaili hui thi. Mai dheere.. yeh kahani the great warrior ki likhi hui hai. dheere sirf Lund ke supade ko ander baher karne laga aur lund thoda thoda ander ghusne laga. Chanchal ne mujhe bohot zor se pakda hua tha aur usne apni aankhon ko zor se band kia hua tha aur uski aankh se ek ek drop takleef ka aansu nikal raha tha. Mai ne poocha ke takleef ho rahi hai kia to woh boli haa ho to rahi hai par acha bhi lag raha hai tum meri fikar na karo bass apna kaam karo aur meri vasna ki aag bujha do aur ho jane do aaj jo bhi hona hai mai tayyar hu.

Lund ko ander baher ander baher karte karte jab woh kuch aur ahder ghus gaya to ek place pe aa ke mera lund ander ghusna band ho gaya mai samajh gaya ke yeh chanchal ki choot ki seal

hai jise mujhe todna hai. Mai ne chanchal se poocha kia darad bohot ho raha hai to us ne kaha haan lagta hai koi garam si cheez uski choot mai ghuss gaii ho aur jis se saari choot mai jalan ho rahi thi jaise aag lagi ho choot ke ander. Mai ne phir se poocha to ab kia karu aise ki khatam kardu ya tumhari seal tod ke lund ko poora ander ghusa dun to chanchal ne kaha ke ab aur sahaara nahi jaata bass ab to apne lund ko ander ghused hi dalo ek time ki hi takleef hogi na mai sambhaal loongi. Mai ne kaha theek hai agar tum ready ho to mujhe kia problem hai.

Mai ne chanchal ko achi tarah se apni bahon mai jakad lia uski tangein meri back pe lapeti hui thi aur mai ne apni gand ooper utha ke lund ko baher nikala aur dheere se ander kia aise hi 4 – 5 baar karne ke baad ander baher karne ki speed ko badha dia ab lund aasaani se almost aadha ander tak ghus raha tha. Mai ne Lund ko poora baher nikal lia supade tak aur ek secod wait karke taa ke chanchal ki thodi saans theek ho jaye aur phir apne moosal jaise mote aur lohe jaise sakht lund ko ek zor ka jhatka maara aur poore ka poora lund ek hi jhatke mai Chanchal ki choot ghused dia to mera lund uski choti si virging tight choot ko phaadta hua uski phati choot mai ghusta chala gaya aur sath mai Chanchal ki cheekh se saare ped hilne lage. aaaaammmmmmmaaaaaaaaaa maaiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii maaarrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrrr ggaaiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiii oooooiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiiihhhhhhhhhhhhaaaaaaaaaaaaaa nikkalo baher ise aaaaaeeeeeeeeeeee uuuuuuuuuuffffffffffffff darad se uska face tamatar ki tarah laal ho gaya tha aur uski aankhon mei se continue aansu nikalne lage. Woh mere badan ke neeche padi tadapne lagi mai ne usko poori takat se jakda hua tha mera moosal Lund uski phati choot ke ander hi tha. { yeh kahani the great warrior ki likhi hui hai } Usne mujhe zor se pakda hua tha aur mere badan se tight chipak gai thi. itni zor se chipki thi ke uske chuchian mere seene se dab ke flat ho gaye the. Uske choot jalne lagi aur woh darad se chillane lagi… ooooohhhhhh raajjaaaaaaaaaaaaaaa nikalo iseeeeeee plsssssssssssss bohot darad ho raha hai pleeeeeeeaseeeeeeee nikalo uuuuuffffff ooooooiiiiiiiiiiiii mmmmmaaaaaaaaaaa. Thodi der tak aise hi usko zor se dabaa ke pakda raha to 2 – 4 minute mai uski saans thodi theek hone lagi. Kuch hi der mai uske chehre se takleef khatam ho ti nazar aaii aur uska badan dheela padne laga to mai samajh gaya ke ab uska darad kam ho gaya hai.

Ab mai ne apne musal Lund ko baher nikala to laga ke uski choot bohot hi geeli ho gai hai neeche jhaank ke dekha to pata chala ke woh blood hai jo uski virgin choot mai se seal tootne ka nikla hai. Anyhow mai ne ignore kia aur chodna chaloo kar dia. Ab mai ne chanchal ki chudai shuru kar di Lund ko baher nikal nikal ke zor zor se uski phati choot mai ghusedta raha.

Chanchal ko ab darad ke badle maza aane laga tha aur woh ab maze se sisskaarian lene lagi. Aaahhhhh Raajaaaaaa abbb bohooooooot mazaaaaaaa aaaa rahaaaa haiiii choot ke ander jalan bhi ho rahi hai par maza bhi bohot aa raha hai aur woh mere dhakko ka jawab khud neeche se chootad utha utha ke dene lagi.

Mast chudai chal rahi thi. Chandni raat mai chanchal ki choot ki chudai mai bohot maza aa raha tha. mere hath uski hathon ke neeche se nikal ke uske shoulders ko pakde hue the grip bohot tight thi gand utha utha ke lund ko poora supade tak nikal nikal ke zor zor se uski choot mai ghused ke chodne laga.