Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit webvitaminufa.ru
rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 16:54

मारवाड़ की मस्त मलाई पार्ट --20



गतांक से आगे........................

अब मैं ने पोज़िशन को थोड़ा सा चेंज किया और पायल को अपने ऊपेर खेच के लिटा लिया. मेरे पैर सीधे थे और पायल मेरे ऊपेर लेटी थी. मेरे लंड मे कुछ इतना ज़बरदस्त एरेक्षन था के मेरा लंड मेरे पेट से चिपका हुआ था और हम दोनो के बदन के बीच जैसे सॅंडविच बन गया था. पायल को अपने ऊपेर खचते ही उसने पोज़िशन ले ली और मेरे पैरो के दोनो तरफ अपनी टाँगें मोड़ के घुटनो के बल ऐसे बैठी जैसे जॉकी घोड़े पे हॉर्स रेसिंग के टाइम बैठ ते है. और अपनी चूत को मेरे पेट पे पड़े हुए लंड के डंडे के ऊपेर आगे पीछे के मूव्मेंट्स से फिसलने लगी जिस से उसकी चूत मे आग लग गई और जोश मे वो घुटनो के बल थोड़े ऊपर उठी और लंड के डंडे को पकड़ के अपनी चूत के अंदर कुंड के सूपदे को घिसा और चूत के सुराख मे सूपदे को अड्जस्ट किया और जोश मैं एक ही झटके मैं बैठ गयी और जैसे ही लंड उसकी चूत के अंदर किसी मिज़ाइल की तरह से घुसा उसकी ज़ख़्मी चूत मे बड़ी ज़ोर से जलन हुई, उसके मूह से एक ऊऊऊऊओिईईईईईईईईईईईईईई म्‍म्म्ममाआआआआआ फफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ

फफफफ्फ़ और सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स की आवाज़ निकली और वो मेरे लंड पे से उछल पड़ी जिसकी वजह से लंड उसकी चूत से बाहर निकल गया और वो वापस मेरे पेट से लग गया तो मैं ने पायल के चूतदो को पकड़ के अपने मूह की ओर खेचा और वो इशारा समझते हुए मेरे मूह पे बैठ गई और अपनी चूत को मेरे मूह पे रख दिया. मैं ने पायल की चूत के अंदर देखा तो वो एक दम से लाल हो गयी थी ऐसा लगता था के उसकी चूत की सारी नॅसे खून से भरी हुई हो. उसकी ज़ख़्मी चूत को किस किया और अपनी जीभ को गोल मोड़ के उसकी चूत के अंदर ऐसे अंदर बाहर करने लगा जाइए अपनी जीभ से उसकी चूत को चोद रहा हू तो वो पागल हो गयी और मेरे मूह पे अपनी चूत को बोहोत ज़ोर ज़ोर से दबा दिया और फुल मस्ती मे रगड़ने लगी जिसकी वजह से मेरे दाँत उसकी चूत के अन्द्रूनि हिस्से मे लगने लगे. मैं अपना पूरा मूह खोल के उसकी चूत को अपने मूह मे भर लिया और दांतो से चबाया तो उसने मेरे बालो को ज़ोर से पकड़ लिया, अपनी चूत को पूरी ताक़त से मेरे दांतो पे दबा दिया और ज़ोर ज़ोर से चूत को मेरे दांतो से रगड़ने लगी, उसका बदन अकड़ गया और आआआआआहह र्र्र्र्र्र्र्ररराआआजजजज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज सस्स्स्स्स्स्सस्स की आवाज़ के साथ ही वो हिलने और झड़ने लगी, उसकी

चूत से मीठा मीठा रस निकल के मेरे मूह मे टपकने लगा जिसे मैं अमृत समझ के पी गया.

पायल की चूत का अमृत पीने के बावजूद मैं ने उसकी चूत को चाटना नही छोड़ा और उसकी चूत को ऐसे ही चूसने, चाटने और काटने लगा तो 2 ही मिनिट के अंदर वो फिर से फुल मस्ती मे आ गयी. उसकी चूत बे इंतेहा गीली हो चुकी थी उसके आँखें बंद हो गयी थी. अब मैं ने पायल को पीछे अपने लंड की ओर धकेला तो वो वैसे ही झुके झुके पीछे मेरे लंड की ओर बढ़ने लगी और अपनी गीली चूत को लंड के सूपदे से टीका दिया और वैसे ही पीछे हटने लगी जिस से गीली चूत मेरे लंड को अपने अंदर लेने लगी. धीरे धीरे मेरे लंड का सूपड़ा उसकी चूत के अंदर घुस गया. मैने नीचे से धक्का दिया तो लंड थोड़ा और उसकी गीली चूत मे घुस गया. पायल को मैं ने झुका लिया और उसको किस करने लगा. ऐसी पोज़िशन मे पायल मेरे ऊपेर पूरी तरह से झुकी हुई थी, उसके बूब्स मेरे सीने से रगड़ खा रहे थे और उसके निपल्स पूरी तरह से खड़े हो गये थे. पायल थोडा थोड़ा आगे पीछे हो रही थी और लंड को थोड़ा थोड़ा कर के अपनी चूत मे अड्जस्ट कर रही थी. उसके चेहरे पे थोड़ी तकलीफ़ का असर दिखाई दे रहा था पर वो कोशिश मे लगी हुई थी के पुरा लंड अपनी चूत के अंदर ले ले. इसी तरह से ट्राइ करते करते लंड ऑलमोस्ट आधा उसकी चूत के अंदर घुस चुका था और उसके मूह से उउउउउउउउउन्न्न्न्न्न्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह उउउउउउउउफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ और सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स जैसी आवाज़ें कंटिन्यू निकल रही थी. तकलीफ़ से चेहरे पे पसीने की बूँदें झलकने लगी थी, आँखें बाहर को निकल आई थी.

लंड आधा ही अंदर घुस पाया था उस से ज़ियादा वो अंदर नही ले पा रही थी और सिर्फ़ आधे ही लंड पे आगे पीछे होने लगी तो मैं अपनी गंद ऊपेर उछाल के एक धक्का मारा तो लंड थोड़ा और अंदर घुस गया तो वो दरद के मारे मेरे लंड पे से उछल के सामने आ गई तो मैं ने उसके शोल्डर्स को पकड़ के नीचे पुश किया तो उस ने फिर से लंड के डंडे को पकड़ के अपनी चूत के सुर्ख मे रख लिया और मैं एक झटका दिया तो आधे से थोडा ज़ियादा लंड अंदर घुस गया और फिर पायल मेरे उतने ही लंड को अपनी चूत के अंदर ले के उसपे आगे पीछे होने लगी और आधे लंड को ही चोदने लगी.

मैं ने बोला के डार्लिंग पूरा ले लो ना तो पायल ने बोला के मेरे से नही हो रहा राज्ज तुम ही करो ना धीरे धीरे तो मैं ने बोला के ओके ठीक है और पोज़िशन चेंज कर के मैं ने पयल को पीठ के बल नीचे लिट दिया और उसकी टांगो के बीच मे आ गया और अपने पैर पीछे कर के लंड को चूत के सुराख मे अड्जस्ट किया. चूत गीली होने से लंड आधा अंदर घुस गया

और मैं पायल के ऊपेर झुक गया और उसके बूब्स को चूसने लगा. पायल के पैर मेरी बॅक पे आगाये थे और वो अपने पैरोसे मुझे अपनी ओर खेच रही थी. मैं स्लोली प्रेशर दे दे के उसकी चूत मे अपना लंड अंदर घुसेड रहा था और जिस से उसके मूह से उउउउन्न्न्न्ह्ह्ह्ह्ह आआहह ईईईईई और ऊऊओिईईईई सस्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स द्द्धहीएररररीई सस्स्स्स्स्स्सीईई र्र्ररराआाजजजज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज ऊऊीीईईईईई जैसी आवाज़ें निकल रही थी. पायल की चूत बोहोत ही गीली हो चुकी थी और लंड धीरे धीरे आधे से ज़ियादा उसकी टाइट चूत के अंदर घुस चुका था और मैं उसको थ्री फोर्त लंड से ही चोदने लगा जिस से उसका जोश और बढ़ने लगा और वो मुझे टाइट पकड़े रही और अपनी ओर खेचने लगी तो मैं समझ गया के वो अब फुल मूड मैं आ गयी है और पूरा लंड चूत के अंदर ले सकती हो तो फिर एक झटका और मारा तो लंड एक बार फिर से उसकी टाइट चूत के अंदर थोडा और घुस गया और उसके मूह से एक बार फिर हहाआआआआआआ ईईईईईईई और सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स र्र्र्र्र्र्र्ररराआआआआजजजज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज जैसी आवाज़ निकली और एक बार फिर उसने मुझे बोहोत ज़ोर से पकड़ लिया. अब मैं ऐसे ही उसकी चूत मे लंड घुसाए चोदने लगा. उसकी चूत बोहोत ही गीली हो चुकी थी और वो अपनी गंद उठा उठा के मस्ती मे चुदवा रही थी और उसके मूह से अब मस्ती की आआआअहह र्र्र्र्र्र्ररराआआआहह जैसी आवाज़े निकल रही थी. मैं ऐसे ही चोद्ते चोद्ते एक बार फिर से अपने लंड को सूपदे तक उसकी चूत से बाहर निकाल लिया और एक इतनी ज़ोर का झटका मारा के एक घचक की आवाज़ आई और मेरा लंड पूरे का पूरा जड़ तक उसकी चूत को फाड़ता हुआ उसकी चूत के अंदर तक घुस गया वो एक बार फिर से तकलीफ़ से चिल्लाई ऊऊऊऊीीईईईईईई म्‍म्म्मममाआआआ हहाआआआआआईईईईईई और उसने मुझे बहुत ज़ोर से पकड़ लिया और उसके नैल्स मेरी बॅक मैं घुस गये और उसने दांतो से मेरे शोल्डर को काट लिया. मैं थोड़ी देर तक उसके ऊपेर ऐसे ही पड़ा रहा. उसकी फटी ज़ख़्मी चूत के अंदर लंड फूल गया था. पायल बोहोत ज़ोर ज़ोर से साँस ले रही थी जैसे बोहोत दूर से रन्निंग कर के आ रही हो और उसका सारा बदन पसीने से भीग गया. थोड़ी देर मे उसकी साँसें ठीक हुई तो उसके बदन मे कुछ जान आई.

अब लंड पुर का पूरा चूत के अंदर घुस चुका था और फिर मैं ने चोदना चालू कर दिया. पायल को भी अब चुदाई का बे इंतेहा मज़ा आने लगा और अपनी गंद उठा उठा के अपनी चूत को मेरे लंड पे घुसाने लगी और उसकी टाइट चूत मेरे लंड को पूरी तरह से अपने अंदर वेलकम करने लगी. थोड़ी ही देर मे वो मस्ती और मज़े से पागल होने लगी और बोलने लगी फक मे राज्ज फक मी डार्लिंग चोद डालो ना राज्ज्जज आअहह ऐसे

ही .ऊऊऊ राज्ज्जज्ज्ज्ज्ज बोहोत अछा लग रहा है राज्ज्जज आईसीई हीईीईईईईईई कक्चहूऊददडूऊव आअहह म्‍म्माइईईईईईईई. पायल की चूत के पंखाड़ियाँ और चूत के अंदर की झिल्ली लंड के डंडे के साथ अंदर जाती और लंड के डंडे के साथ चिपकी हुई वापस बाहर आती दोनो मस्ती मे चूर थे. पायल अपनी गंद उठा उठा के चुदवा रही थी और बोल भी रही थी आहह राअज्जजज्ज्ज्ज ययईएससस्स राअज्जजज्ज ईएह ककक्काऐईईससा म्माआज़्ज़्ज़्ज़ाआअ हहीिई राअज्जजज्ज्ज ज़ियीयिन्न्न्ड्ड्डयेयगग्ज्जियीयी म्‍म्माइ आईएसस्साआ म्माआज़्ज़ाअ कककाबब्बभहिि न्न्नाहहिि म्‍म्मिल्ल्लाआ. पायल के बूब्स हर झटके के साथ डॅन्स करने लगे और मैं उनको पकड़ के किसी आम की तरह से चूसने लगा. पायल को मैं अब धना धन चोद रहा था लंड चूत के अंदर बाहर अंदर बाहर किसी रेलवे एंजिन के शॅफ्ट की तरह से चूत के अंदर बाहर और जैसे ट्रेन की स्पीड तेज़ होती जा रही थी वैसे ही लंड से चूत की चुदाई की स्पीड भी तेज़ होती जा रही थी. मैं तूफ़ानी रफ़्तार से पायल की चूत को चोद रहा था. दोनो के बदन पसीने से भीगे हुए थे. चूत मे से 3 – 4 टाइम जूस निकल चुका था जिसके चलते चूत बे इंतेहा गीली और चिकनी हो गयी थी और लंड आसानी से अंदर बाहर हो रहा था. अब मेरे बॉल्स मे भी उबाल आने लगा था और मैं भी अपनी क्रीम छोड़ने के लिए रेडी था. स्पीड बोहोत ही तेज़ हो गई थी दोनो के बदन पसीने से शरबूर हो गये थे और पचा पच की चुदाई की आवाज़ शाएद ऊपेर लक्ष्मी के रूम तक जा रही थी. और फिर एक फाइनल झटका मारा और लंड पायल की ज़ख़्मी चूत के बोहोत अंदर घुस्स गया और उसकी बचे दानी से ज़ोर से टकराया जिस के चलते पायल के अंदर कोई एअर्थ्क़ुअके जैसा आया और इस झटके से उसके मूह से ऊऊऊऊओिईईईईईईईईईईई माआआआआआआआआअ हहाआआआआआऐईईई सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स आआआहह र्र्र्र्ररराआआआआजजजज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज निकला और वो मेरे बदन को टाइट पकड़ के मेरे से लिपट गयी और काँपते हुए झड़ने लगी और फिर मेरे लंड मे से गरम गरम मलाई की गाढ़ी गाढ़ी मोटी मोटी धारियो का फव्वारा निकल निकल के उसकी चूत को भरने लगा. मेरी मलाई निकलने के बावजूद मेरे झटके चालू रहे मेरे लंड से मलाई निकलती रही और मैं चोद्ता रहा और हर झटके से मलाई उड़ उड़ के चूत को भरने लगी और धीरे धीरे मैं उसके बदन पे कोलॅप्स हो गया जिस से उसके बूब्स हमारे बदन के बीच सॅंडविच बन गये. लंड चूत के अंदर ही मोटा फूल गया था और उसकी चूत के मसल्स लंड के डंडे को निचोड़ निचोड़ के मलाई का एक एक ड्रॉप चूत अपने अंदर लेने लगी.हम दोनो एक दूसरे से लिपटे गहरी गहरी साँसें ले रहे थे. लंड पायल की चूत के अंदर ही हम दोनो के मिले जुले जूस से भीग रहा था. थोड़ी देर मे जब दोनो की साँसें ठीक हुई तो पायल

मुझे बे तहाशा चूमने लगी और बोली के आअहह राअज्जज ऐसा मज़ा मुझे ज़िंदगी मे कभी भी नही मिला था राज यू आर माइ रियल हज़्बेंड मेरी जान राज्ज्ज. उनकी आँखों मे आँसू छलक आए और बोली के राज मैं तुम्हारे पाँव पड़ती हू राज मुझे कभी अपनी ज़िंदगी से अलग नही करना मैं तुम्हारी दासी बन कर सारी ज़िंदगी तुम्हारी सेवा करूँगी राज्ज्ज आइ लव यू वेरी वेरी मच राज्ज्ज. मैं उसके आँसू को अपने होटो से पीते हुए बोला के पायल आइ लव यू फ्रॉम दा बॉटम ऑफ माइ हार्ट आंड सौल पायल और मैं हमेशा ही तुम्हारे साथ रहुगा तुम किसी बात की चिंता ना करो तो फिर वो मुझे चूमने लगी और बोली थे थॅंक्स राज्ज थॅंक्स फॉर एवेरितिंग थॅंक्स फॉर मेकिंग मी आ वोमेन थॅंक्स फॉर ब्रेकिंग माइ सील राज्ज्ज. अगर मेरे पास मेरी चूत के अंदर ऐसी हज़ारो सील होती तो भी मैं तुम्हारे ऐसे शानदार लंड से ही अपनी सील तूडवाती तो मैं ने उसके होटो को अपने होटो से बंद कर दिया और किस करने लगा और बोला के हे पायल तुम्है कुछ महसूस नही हो रहा क्या तो उसने बोला क्या राज तो मैं ने बोला के देखो मेरा लंड तुम्हारी चूत के अंदर एक बार फिर से टाइट हो गया है तो उसने जब महसूस किया के हा सच मे मेरा लंड उसकी चूत के अंदर एक बार फिर से अकड़ गया है तो उसने बोला के वाहह क्या मस्त लंड है राज चलो अब एक बार फिर से चोद डालो इस रंडी चूत को और उसने मुझे फिर से अपने बाँहो मे ले लिया और अपने पैर मेरे चूतदो पे लपेट लिए और अपनी गंद उठा उठा के चुदवाने लगी.

थोड़ी देर ऐसे ही चोदने के बाद मैं ने उसको बोला के पायल मेरी जान तुम ने बोला था ना के तुम्हारे पास ऐसे हज़ारो सील होती तो तुम पूरी मेरे लंड से ही तूडवाती तो उसने बोला के हा राज पर क्या करू एक ही सील थी जो तुम ने तोड़ दी तो मैं ने बोला के नही पायल अभी एक और सील है तुम्हारे पास तो वो हैरानी से बोली के अरे ऐसे कैसे हो सकता है राज लड़की के पास एक ही तो सील होती है जो ज़िंदगी मे एक ही बार टूट ती है तो मैं ने बोला के नही पायल एक और सील है तुम्हारे पास वो भी मुझे दे दो ना प्लीज़ तो उसने बोला के ठीक है राज अगर तुम समझते हो के मेरे पास एक और सील है तो वो भी तुम्हारे मूसल से ही टूटेगी. मैं ने कहा देखो अपनी बात से हट ना जाना तो उसने चूमते हुए कहा के राज मैं तुम पे और तुम्हारे शानदार लंड पे क़ुरबान जाउ ले लो और तोड़ डालो मेरे बदन मे जितनी सील्ज़ है तो मैं ने बोला के ठीक है चलो अब पोज़िशन चेंज कर लेते है.

मैं ने पायल को पलटा दिया और पेट के बल लिटा दिया तो वो घबरा गयी और बोली के यह क्या कर रहे हो राज तो मैं ने उसकी मस्त चिकनी गांद को ठप थपा के बोला के तुम्हारी दूसरी सील तो यहा है जिसको तोड़ना अभी बाकी है तो वो डर गयी और बोली के नही राज प्लीज़ आज नही राज अभी तो चूत मे ही इतनी जलन

हो रही है और अब एक ही दिन के अंदर गंद भी फाड़ डालोगे तो मैं चल भी नही पाउन्गि तो मैं ने बोला के क्या ज़रूरत है चलने फिरने की सारा दिन बिस्तर मे ही पड़े रहेगे मैं तुम्है यही बिस्तर मे ही खाना ला के दे दूँगा और हम सारा दिन चुदाई ही किया करेंगे तो वो हस्ने लगी और बोली के बड़े बदमाश हो तुम. ळैकिन वो मेरी मिन्नटे करने लगी के किसी और दिन उसकी गंद मारलू पर मुझे तो एक ही दिन मे उसके तीनो सुराखो की सील तोड़नी थी जिसमे से मूह और चूत की सीट तो तोड़ ही चुका था अब गंद की बारी थी.

Mast Marwari Malaai ( MMM )--paart--20

Ab mai ne position ko thoda sa change kia aur payal ko apne ooper khech ke lita lia. Mere pair seedhe the aur payal mere ooper leti thi. Mere Lund mei kuch itna zabardast erection tha ke mera Lund mere pet se chipka hua tha aur ham dono ke badan ke beech jaise sandwich ban gaya tha. Payal ko apne ooper khechte hi usne position le li aur mere pairo ke dono taraf apni tangein mod ke ghutno ke bal aise baithi jaise jockey ghode pe horse racing ke time baith te hai. Aur apni choot ko mere pet pe pade hue Lund ke dande ke ooper aage peeche ke movements se phisalne lagi jis se uski choot mai aag lag gai aur josh mai wo ghutno ke bal thod oooper uthi aur Lund ke dande ko pakad ke apni choot ke ander Kund ke supade ko ghisa aur choot ke surakh mai supade ko adjust kia aur josh mai ek hi jhatke mai baith gayee aur jaise hi Lund uski choot ke ander kisi missile ki tarah se ghusa uski zakhmi choot mai badi zor se jalan hui, uske muh se ek oooooooooiiiiiiiiiiiiiiiii mmmmmaaaaaaaaaaaa fffffffffffffffffffffffffffffffffff aur sssssssssssssssssssss ki awaz nikli aur wo mere Lund pe se uchal padi jiski wajah se Lund uski choot se baher nikal gaya aur wo wapas mere pet se lag gaya to mai ne payal ke chootado ko pakad ke apne muh ki or khecha aur wo ishara samajhte hue mere muh pe baith gai aur apni choot ko mere muh pe rakh dia. Mai ne Payal ki choot ke ander dekha to wo ek dum se laal ho gayee thi aisa lagta tha ke uski choot ki sari nassei khoon se bhari hui ho. Uski zakhmi choot ko kiss kia aur apni jeebh ko gol mod ke uski choot ke ander aise ander baher karne laga jaie apni jeebh se uski choot ko chod raha hu to wo pagal ho gayee aur mere muh pe apni choot ko bohot zor zor se daba dia aur full masti mai ragadne lagi jiski wajah se mere dant uski choot ke androoni hisse mai lagne lage. Mai apna poora muh khol ke uski choot ko apne muh mai bhar lia aur dato se chabaya to usne mere balo ko zor se pakad lia, apni choot ko poori takat se mere dato pe daba dia aur zor zor se choot ko mere dato se ragadne lagi, uska badan akad gaya aur aaaaaaaaaahhhhhhhhhhhhhhhhh rrrrrrrrrraaaaaajjjjjjjjjjjjjj ssssssssss ki awaz ke sath hi wo hilne aur jhadne lagi, uski

choot se meetha meetha rass nikal ke mere muh mai tapakne laga jise mai armut samajh ke pi gaya.

Payal ki Choot ka amrut peene ke bawajood mai ne uski choot ko chaatna nahi chhora aur uski choot ko aise hi choosne, chaatne aur kaatne laga to 2 hi minute ke ander wo phir se full masti mai aa gayee. Uski choot be inteha geeli ho chuki thi uske aankhein band ho gayee thi. Ab mai ne payal ko peeche apne Lund ki or dhakela to wo waise hi jhuke jhuke peeche mere Lund ki or badhne lagi aur apni geeli choot ko Lund ke supade se tika dia aur waise hi peeche hatne lagi jis se geeli choot mere lund ko apne ander lene lagi. Dheere dheere mere Lund ka supada uski choot ke ander ghus gaya. Mai neeche se dhakka dia to Lund thoda aur uski geeli choot mai ghus gaya. Payal ko mai ne jhuka lia aur usko kiss karne laga. Aisi position mai Payal mere ooper poori tarah se jhuki hui thi, uske boobs mere seene se ragad kha rahe the aur uske nipples poori tarah se khade ho gaye the. Payal thoda thoda aage peche ho rahi thi aur Lund ko thoda thoda kar ke apni choot mai adjust kar rahi thi. Uske chehre pe thodi takleef ka asar dikhayee de raha tha par wo koshish mai lagi hui thi ke poora Lund apni choot ke ander le le. Isi tarah se try karte karte Lund almost aadha uski choot ke ander ghus chuka tha aur uske muh se uuuuuuuuunnnnnnhhhhhhhhhhhh uuuuuuuufffffffffffffff aur ssssssssssssssssss jaisi awazein continue nikal rahi thi. takleef se chehre pe paseene ki boondein jhalakne lagi thi, aankhein baher ko nikal ayi thi.

Lund aadha hi ander ghus paya tha uss se ziada wo ander nahi le pa rahi thi aur sirf aadhe hi Lund pe aage peeche hone lagi to mai apni gand ooper uchal ke ek dhakka mara to Lund thoda aur ander ghus gaya to wo darad ke maare mere Lund pe se uchal ke saamne aa gai to mai ne uske shoulders ko pakad ke neeche push kia to us ne phir se Lund ke dande ko pakad ke apni choot ke surkh mai rakh lia aur mai ek jhatka dia to aadhe se thoda ziada Lund ander ghus gaya aur phir payal mere utne hi Lund ko apni choot ke ander le ke uspe aage peeche hone lagi aur aadhe Lund ko hi chodne lagi.

Mai ne bola ke darling poora le lo na to Payal ne bola ke mere se nahi ho raha Rajj tum hi karo na dheere dheere to mai ne bola ke ok theek hai aur position change kar ke mei ne Payl ko peeth ke bal neeche lit dia aur uski tango ke beech mai aa gaya aur apne pair peeche kar ke Lund ko choot ke surakh mai adjust kia. Choot geeli hone se Lund aadha ander ghus gaya

aur mai Payal ke ooper jhuk gaya aur uske boobs ko choosne laga. Payal ke pair meri back pe aagaye the aur wo apne pairose mujhe apni or khech rahi thi. Mai slowly pressure de de ke uski choot mai apna Lund ander ghused raha tha aur jis se uske muh se uuuunnnnhhhhh aaaahhhhhh eeeeeeeeeee aur oooooiiiiiii sssssssssssss dddhhheeerrrreeee sssssssseeeeeee rrrrraaaaajjjjjjjjjjj ooooiiiiiiii jaisi awazein nikal rahi thi. Payal ki Choot bohot hi geeli ho chuki thi aur Lund dheere dheere aadhe se ziada uski tight choot ke ander ghus chuka tha aur mai usko three fourth Lund se hi chodne laga jis se uska josh aur badhne laga aur wo mujhe tight pakde rahi aur apni or khechne lagi to mai samajh gaya ke wo ab full mood mai aa gayee hai aur poora Lund choot ke ander le sakti ho to phir ek jhatka aur mara to Lund ek bar phir se uski tight choot ke ander thoda aur ghus gaya aur uske muh se ek bar phir hhhhhhhhhaaaaaaaaaaaaaa eeeeeeeeeeeeeee aur ssssssssssssssss rrrrrrrrrraaaaaaaaaajjjjjjjjjjjjjjj jaisi awaz nikli aur ek bar phir usne mujhe bohot zor se pakad lia. Ab mai aise hi uski choot mei Lund ghusaye chodne laga. Uski choot bohot hi geeli ho chuki thi aur wo apni gand utha utha ke masti mai chudwa rahi thi aur uske muh se ab masti ki aaaaaaahhhhhhhhhhh rrrrrrrrraaaaaaaahhhhhhhh jaisi awazin nikal rahi thi. Mai aise hi chodte chodte ek baar phir se apne Lund ko supade tak uski choot se baher nikal lia aur ek itni zor ka jhatka mara ke ek ghachak ki awaaz ayee aur mera Lund poore ka poora jadd tak uski choot ko phadta hua uski choot ke ander tak ghus gaya wo ek bar phir se takleef se chillayee ooooooooiiiiiiiii mmmmmmaaaaaaaa hhhhhhhaaaaaaaaaaaaeeeeeeeeeeee aur usne mujhe bohto zor se pakad lia aur uske nails meri back mai ghus gaye aur usne danto se mere shoulder ko kaat lia. Mai thodi der tak uske ooper aise hi pada raha. Uski phati zakhmi choot ke ander Lund phool gaya tha. Payal bohot zor zor se saans le rahi thi jaise bohot door se running kar ke aa rahi ho aur uska sara badan paseene se bheeg gaya. Thodi der mai uski saansein theek hui to uske badan mai kuch jaan ayee.

Ab Lund poore ka poora choot ke ander ghus chuka tha aur phir mai ne chodna chalu kar dia. Payal ko bhi ab chudai ka be inteha maza aane laga aur apni gand utha utha ke apni choot ko mere Lund pe ghusane lagi aur uski ticht choot mere Lund ko poori tarah se apne ander welcome karne lagi. Thodi hi der mai wo masti aur maze se pagal hone lagi aur bolne lagi fuck me Rajj fuck me darling chod dalo na rajjjj aaahhhhhhhh aise

hi .oooooo Raajjjjjjjj bohot acha lag raha hai Rajjjj aiseeee hiiiiiiiiii ccchhhoooodddooooo aaahhhhh mmmaaiiiiiiiii. Payal ki choot ke pankhadian aur choot ke ander ki jhilli Lune ke dande ke sath ander jati aur Lund ke dande ke sath chipki hui wapas baher aati dono masti mai chooor the. Payal apni gand utha utha ke chudwa rahi thi aur bol bhi rahi thi aahhhh Raaajjjjjjj yyyeeessss Raaajjjjj yeeehhh kkkkaaaiissaa mmaaazzzzaaaaa hheeiiii Raaajjjjjj Zziiiinnndddaaaggggiiii mmmaaii aaeeesssaaaa mmaaazzaaa kkkaabbbbhhhhiii nnnaahhhiii mmmilllaaaa. Payal ke boobs har jhatke ke sath dance karne lage aur mai ne unko pakad ke kisi aam ki tarah se choosne laga. Payal ko mai ab dhana dhan chod raha tha Lund choot ke ander baher ander baher kisi railway engine ke shaft ki tarah se choot ke ander baher aur jaise train ki speed tez hoti ja rahi thi waise hi Lund se choot ki chudai ki speed bhi tez hoti ja rahit hi. Mai toofani raftaar se Payal ki choot ko chod raha tha. Dono ke badan paseene se bheege hue the. Choot mai se 3 – 4 time juice nikal chuka tha jiske chalte choot be inteha geeli aur chikni ho gayee thi aur Lund aasaani se ander baher ho raha tha. Ab mere balls mai bhi ubaal aane laga tha aur mei bhi apni cream chhorne ke liye ready tha. Speed bohot hi tez ho gai thi dono ke badan paseene se sharaboor ho gaye the aur pacha pach ki chudai ki awaz shaed ooper Laxmi ke room tak ja rahi thi. Aur phir ek final jhatka mara aur Lund Payal ki zakhmi choot ke bohot ander ghuss gaya aur uski bache dani se zor se takraya jis ke chalte Payal ke ander koi earthquake jaisa aaya aur iss jhatke se uske muh se oooooooooiiiiiiiiiiiiii maaaaaaaaaaaaaaaaaaa hhhhhhhaaaaaaaaaaaaaeeeeeee ssssssssssssssssssssssssssss aaaaaahhhhhhhhhhhh rrrrrrraaaaaaaaaajjjjjjjjjjjjjjj nikla aur wo mere badan ko tight pakad ke mere se lipat gayee aur kaanpte hue jhadne lagi aur phir mere Lund mai se garam garam malai ki gaadhi gaaadhi moti moti dhariyo ka fawwara nikal nikal ke uski choot ko bharne laga. Meri malayee nikalne ke bawajood mere jhatke chalu rahe mere Lund se malai nikalti rahi aur mei chodta raha aur har jhatke se malai ud ud ke choot ko bharne lagi aur dheere dheere mai uske badan pe collapse ho gaya jis se uske boobs hamare badan ke beech sandwich ban gaye. Lund choot ke ander hi mota phool gaya tha aur uski choot ke muscles Lund ke dande ko nichod nichod ke malai ka ek ek drop choot apne ander lene lagi.Ham dono ek doosre se lipte gehri gehri saansein le rahe the. Lund Payal ki choot ke ander hi ham dono ke mile jule juice se bheeg raha tha. Thodi der mai jab dono ki saansein theek hui to payal

mujhe be tahasha choomne lagi aur boli ke aaahhhh raaajjj aisa maza mujhe zindagi mai kabhi bahi nahi mila tha rajjj you are my real husband meri jaan raajjj. Unki aankhon mai aansoo chalak aye aur boli ke rajjj mai tumhare pau padti hu rajjj mujhe kabhi apni zindagi se alag nahi karna mai tumhari daasi ban kar sari zindagi tumhari seva karungi rajjj I Love you very very much raajjj. Mai uske aansoon ko apne hoto se peete hue bola ke Payal I love you from the bottom of my heart and soul Payal aur mai hamesha hi tumhare sath rahuga tum kisi baat ki chinta na karo to phir wo mujhe choomne lagi aur boli the thanks rajj thanks for everything thanks for making me a women thanks for breaking my seal raajjj. Agar mere pas meri choot ke ander aisi hazaaro seal hoti to bhi mai tumhare aise shandar Lund se hi apni seal tudwati to mai ne uske hoto ko apne hoto se band kar dia aur kiss karne laga aur bola ke hey Payal tumhai kuch mehsoos nahi ho raha kia to usne bola kia raajjj to mai ne bola ke dekho mera Lund tumhari choot ke ander ek bar phir se tight ho gaya hai to usne jab mehsoos kia ke haa sach mai mera Lund uski choot ke ander ek bar phir se akad gaya hai to usne bola ke waahhh kia mast Lund hai rajjj chalo ab ek bar phir se chod dalo iss randi choot ko aur usne mujhe phir se apne baho mai le lia aur apne pair mere chootado pe lapet liye aur apni gand utha utha ke chudwane lagi.

Thodi der aise hi chodne ke bad mai ne usko bola ke Payal meri jaan tum ne bola tha na ke tumhare pas aise hazaro seal hoti to tum poori mere Lund se hi tudwati to usne bola ke haa raajjj par kia karu ek hi seal thi jo tum ne tod di to mai ne bola ke nahi Payal abhi ek aur seal hai tumhare pas to wo hairani se boli ke arey aise kaise ho sakta hai rajj ladki ke pas ek hi to seal hoti hai jo zindagi mai ek hi baar toot ti hai to mai ne bola ke nahi Payal ek aur seal hai tumhare pas wo bhi mujhe de do na please to usne bola ke theek hai raajjj agar tum samajhte ho ke mere pas ek aur seal hai to wo bhi tumhare musal se hi tootegi. Mai ne kaha dekho apni baat se hat na jana to usne choomte hue kaha ke Rajjj mai tum pe aur tumhare shandar Lund pe qurbaan jau le lo aur tod dalo mere badan mai jitni seals hai to mai ne bola ke theek hai chalo ab position change kar lete hai.

Mai ne Payal ko palta dia aur pet ke bal lita dia to wo ghabra gayee aur boli ke yeh kia kar rahe ho rajj to mai ne uski mast chikni gaand ko thap thapa ke bola ke tumhari doosri seal to yaha hai jisko todna abhi baki hai to wo dar gayee aur boli ke nahi raajjj please aaj nahi raajjj abhi to choot mai hi itni jalan

ho rahi hai aur ab ek hi din ke ander gand bhi phad daloge to mai chal bhi nahi paugi to mai ne bola ke kia zaroorat hai chalne phirne ki sara din bistar mai hi pade rahege mai tumhai yahi bistar mai hi khana la ke de dunga aur ham sara din chudai hi kia karenge to wo hasne lagi aur boli ke bade badmash ho tum. Laikin wo meri minnate karne lagi ke kisi aur din uski gand marlu par mujhe to ek hi din mei uske teeno surakho ki seal todni thi jismei se Muh aur Choot ki seat to tod hi chuka tha ab gand ki bari thi.

rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 16:55

मारवाड़ की मस्त मलाई पार्ट --21



गतांक से आगे........................

मैं ने बोला का पायल तुम फिकर ना करो मैं बोहोत आराम से करूँगा तुम्है बिल्कुल भी तकलीफ़ नही होगी तो उसने हस्ते हुए बोला के हा मुझे मालूम है तुम कितनी आराम से करोगे तो मैं भी हस दिया. पायल को पेट के बल लिटा दिया और मैं उसकी दोनो टाँगो को खोल के उसके अंदर घुटने मोड़ के बैठ गया. ऐसी पोज़िशन मैं उसकी चूत थोड़ी खुल गयी थी और मुझे डबल रोटी की तरह से फूली हुई उसकी चूत नज़र आ रही थी जिसके पंखाड़िया सूज कर मोटे और लाल हो गये थे उसकी चूत की हालत तबाह हो चुकी थी. मैं ने पायल के नीचे हाथ डाल के जाँघो को पकड़ के थोडा ऊपेर उठा लिया जिस से उसकी गंद थोड़ी ऊपेर उठ गयी. मैं पायल की पीठ पे उल्टा लेट गया और पीछे से उसकी चूत के सुराख मैं अपना लंड टीका दिया और उसके बूब्स को मसल्ने लगा और ऐसे ही थोड़ा सा प्रेशर दिया तो उसकी गीली चूत मे लंड का सूपड़ा घुस गया. अब मैं कुछ और सामने को आ गया और उसके शोल्डर्स को पकड़ के एक ही झटके मे अपने लंड को पूरे का पूरा उसकी चूत के अंदर जड़ तक पेल दिया जिस से उसके मूह से सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्

स्स्स्स्स्स्स्सस्स की आवाज़ निकली और लंड उसके चूत के अंदर से होता हुआ उसके पेट के अंदर तक पहुँच गया था. पायल ने अपना एक हाथ बदन से नीचे डाल के मेरे बॉल को पकड़ लिया और धीरे धीरे बॉल्स की मालिश करने लगी जिसकी वजह से मेरा लंड कुछ और ज़ोर से अकड़ गया और मैं एक एक सेकेंड के टाइम पीरियड से एक एक पवरफुल धक्का मार रहा था. मेरे एक एक धक्के से पायल के मूह से हप्प्प्प्प हप्प्प्प्प हप्प्प्प्प जैसी आवाज़ निकल रही थी और वो ऐसे पवरफुल धक्को से चुदाई के फुल मज़े ले रही थी. मेरा लंड उसको उसके पेट के अंदर से होता हुआ उसके हलक तक महसूस हो रहा था. मैं कभी अपने धक्को की रफ़्तार को तेज़ कर देता कभी धीमी कर देता था. पायल चुदाई के मज़े ले रही थी और उसके मूह से आआआआआहह र्र्र्र्र्ररराआआआजजजज्ज्ज्ज्ज आआऐईईसस्सीईए हहिईीईईई कककककककचहूऊद्ददडूऊ र्रर्राआज्जजज हहाआऐईईई म्‍म्माआज़्ज़्ज़्ज़ाआअ र्र्ररराआज्जजज्ज्ज्ज म्‍म्म्माअरर्र्र्र्र्र्रूऊऊ र्र्र्र्ररराआाजजजज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ूऊऊऊओरर्र्र्र्र्र्र्ररर सस्स्स्स्स्स्स्स्सीईईई

म्‍म्म्मममीईईररर्र्र्र्र्रृिईईई कककचहूऊतततत म्‍म्म्माआआररर्र्र्र्र्र्र्र्र्रूऊऊऊओ हहाआआऐईईईई म्‍म्म्मममममममीईईईईईईई गग्ग्गाआआययययययययईईईईईई र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्ररराआआआआजजजज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज और उसकी चूत मेरे मोटे लंड के ऐसे म्यूज़िकल धक्को को ज़ियादा देर तक बर्दाश्त नही कर सकी और देखते ही देखते पायल काँपने लगी और झड़ने लगी और बेजान हो के धप से वापस बेड पे लेट गयी. उसका बदन ढीला पड़ चुका था. ऐसे मे मैं ने धक्के मारना मुनासिब नही समझा और उसके बदन पे ऐसे ही थोड़ी देर तक लेटा रहा.

जब वो अछी तरह से झाड़ गयी तो मैं ने एक बार फिर से उसकी जाँघो को पकड़ के चूतदो को थोड़ा ऊपेर उठा दिया और फिर से चूत मे लंड को पेलने लगा. मेरी क्रीम आज बोहोत बार निकल चुकी थी और मैं अब इतनी जल्दी झड़ने वाला नही था. मैं कुछ देर का लिए रुक गया और अपने लंड को उसकी चूत से बाहर निकाल लिया तो पायल ने बोला के अरे राज क्या हुआ डालो ना अंदर तो मैं ने बोला के पायल अब तुम्हारी गंद मुझे बड़ी मस्त लग रही है और अब मैं तुम्हारी गंद की सील को तोड़ूँगा तो उसने बोला के अरे बाबा तोड़ लेना पर अभी तो लंड को मेरी चूत के अंदर डालो ना. तुम ने लंड बाहर निकाल लिया तो चूत एक दम से खाली खाली लगने लगी प्लीज़ अंदर ही डाले रको ना तो मैं ने एक बार फिर से अपने लंड को उसकी चूत के अंदर एक ही झटके मे अंदर तक पेल दिया तो मेरे लंड को उसकी खुली चूत ने आसानी से वेलकम किया. मैं अब घुटनो के बल बैठा हाफ डॉगी स्टाइल मे बोहोत ही धीमी गति से उसको चोद रहा था जिस से पायल को उसकी चूत भरी हुई महसूस हो रही थी. मैं ने करीब की साइड टेबल से आस्त्रोग्लिडे ( यह एक तरह की वॅसलीन जैसी होती है जैसे चिकना स्लिप्पेडरी गेल होता है जिसे लोग चोदने या गंद मारने के लिए ल्यूब्रिकेशन के तौर पे इस्तेमाल करते है ) का ट्यूब उठा लिया और उसकी गंद मे लगाने लगा. जैसे ही उसके गंद पे ट्यूब रखा पायल के बदन मे एक तनाव आ गया और उसने पलट के मुझे देखा तो मैं ने उसके चूतदो पर आहिस्ता से ठप थपाया और बोला के डरो नही मेरी जान तुम्है कुछ नही होगा मैं यह गेल इसी लिए तो लगा रहा हू के मेरी जान को कोई तकलीफ़ ना हो तो वो शांत हो गयी पर मुझे लगा के वो अभी भी डर रही है.

मेरा लंड उसकी चूत के अंदर घुसा हुआ था और मैं उसकी गंद के सुराख को अछी तरह से गेल लगा रहा था और जब उसकी गंद के अंदर बाहर अछी तरह से लगा दिया तो अपने लंड को एक बार फिर उसकी चूत से बाहर निकाल लिया तो वो फिर से मूडी और मेरी तरफ मूह कर के बोली के अरे फिर से निकाल लिया डालो ना अंदर तो मैं ने बोला के मेरी जान अब यह लंड पे भी तो थोड़ा

सा गेल लगा देता हू ना नही तो तुम्है दरद होगा तो वो खामोश हो गयी और अपनी गंद के फटने का इंतेज़ार करने लगी. मेरा लंड तो पायल की चूत के जूस से ऑलरेडी बोहोत गीला हो रहा था पर फिर भी मैं ने आस्त्रोग्लिडे के ट्यूब से अपने लंड के हेड पे ढेर सारा गेल निकाल दिया और अपने हाथ से पूरे सूपदे को चिकना कर दिया. अब मैं ने पायल को फिर से पूरा नीचे पेट के बल लिटा दिया और उसके नीचे एक छोटा सा पिल्लो रख दिया जिसके चलते उसकी गंद और चूतड़ थोड़े ऊपेर उठ गये थे. उसकी गंद बड़ी मस्त थी. पिंक कलर की छोटी सी जो खुल बंद हो रही थी. मैं ने अपनी उंगली उसकी गंद मे डाली और आस्त्रोग्लिडे के गेल को अंदर ही अंदर उंगली घुमा के गेल को स्प्रेड करने लगा. एक के बाद दूसरी उंगली भी दल दिया दो उंगलियाँ उसकी गंद को थोड़ा चौड़ा कर रही थी.

जब गेल उसकी गंद के अंदर और मेरे लंड के ऊपेर अछी तरह से लग गया तो मैं अपने लंड के हेड को पायल की गंद के सुराख के ऊपेर टीका का उसके उपर झुक गया और एक हाथ से अपने लंड के सूपदे को उसकी गंद मे पकड़े रखा के कही वो स्लिप ना हो जाए. अब धीर धीरे प्रेशर डाला तो आस्त्रोग्लिडे की चिकनाई की वजह से लंड का हेड उसकी गंद के अंदर घुस गया और फॉरन ही पायल के बदन मे तनाव आ गया और सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स की आवाज़ आई तो मैं ने बोला के पायल अपनी गंद के मसल्स को रिलॅक्स रखो तो तुम्है कुछ नही होगा और लंड धीरे धीरे अंदर स्लिप हो जाएगा. और अगर तुमने गंद को टाइट रखा तो लंड तो घुसेगा ही पर तुम्है तकलीफ़ होगी तो अछा यही है के तुम थोड़ी सी कोशिश करो और अपनी गंद के मसल्स को रिलॅक्स रखो. मुझे पता था के बोलना बोहोत आसान है और जब ऐसा मोटा मूसल छोटी सी टाइट गंद के सामने हो तो किसी की भी गंद फॅट सकती है. पायल ने कोशिश तो की के अपने मसल्स रिलॅक्स करे पर नॅचुरली यह मुश्किल था. मैं ने थोडा और प्रेशर डाला तो पायल का बदल अकड़ गया और उसकी आँखें बंद हो गयी और उसके दाँत एक दूसरे से मज़बूती से जुड़ गये, उसकी साँस रुक गयी. मैं उसके बदन पे लेता धीरे धीरे लंड को उसकी गंद मे पुश कर रहा था प्रेशर डाल रहा था. जब मैं ने पायल की हालत देखी तो मैं उसके गर्दन को किस करने लगा और उसके कान के लटकते हिस्से को अपने मूह मे ले के चूसने लगा और दोनो हाथो को बगल से निकल के उसके शोल्डर्स को पकड़े पकड़े आहिस्ता आहिस्ता सहलाने लगा और धीरे धीरे लंड को उसकी गंद मे पुश करने लगा अब मेरा लंड थोड़ा और उसकी गंद के अंदर घुस चुका था. मैं उसके कान को चूस रहा था और उसके बदन की मसाज कर रहा था जिस से उसके बदन का तनाव थोड़ा कम हुआ और मैं ऐसा ही करता गया तो उसका बदन रिलॅक्स होने लगा और मेरा लंड थोड़ा थोड़ा उसकी गंद के

अंदर उतरने लगा. जब लंड आधे से ज़ियादा अंदर घुस गया तो उसकी गंद बोहोत ही टाइट हो गयी और लंड अब और अंदर नही घुस पा रहा था तो मैं उतने ही लंड को उसकी गंद के अंदर बाहर कर के उसकी गंद मारना शुरू कर दिया. थोड़ी ही देर मे पायल का बदन एक दम से रिलॅक्स हो गया. अब उसकी गंद मेरे लंड पे अड्जस्ट हो गई थी. फिर मैं ने ऐसे ही आधे लंड से गंद मारते मारते एक ही झटके मे पूरा लंड उसकी गंद के अंदर घुसेड दिया तो पायल से बर्दाश्त नही हुआ वो चिल्लाई र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्ररराआआआआआआआहह न्न्न्न्नियैआइयैआइयैयीयिक्क्क्क्क्क्क्क्क्क्कॅयेयीयायाऑल्लू द्द्द्द्द्द्द्दाआआर्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्राआआआआअद्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द कककककककाआअरर्र्ररर र्र्र्र्र्र्र्र्र्राआआअह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्हाआआआअ हहाआआआईईईईई र्र्र्र्र्र्र्र्र्ररराआआआआआअजजजज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज पर मैं ने लंड को उसकी गंद से बाहर नही निकाला बलके लंड को उसकी गंद के अंदर रखे रखे थोड़ी देर के लिए गंद मारना बंद कर दिया और ऐसे ही उसके बदन पे पड़ा रहा और फिर से उसकी गर्दन को चूमने लगा तो वो फिर से रिलॅक्स हो गयी. अब मैं ने उसकी गंद मारना शुरू कर दिया. मुझे उसकी टाइट गंद मारने मे बोहोत ही मज़ा आ रहा था. लंड को पूरा हेड तक बाहर खेच खींच के घपा घाप गंद मार रहा था. अब वो भी बड़ी मस्ती मैं गंद मरवा रही थी और अपना हाथ अपने बदन से नीचे चूत पे ले गयी और चूत का मसाज करने लगी. जितनी तेज़ी से मैं उसकी गंद मार रहा था उतनी ही तेज़ी से वो अपनी चूत के दाने का मसाज कर रही थी. अब उसके मूह से मस्ती भरी आवाज़ें निकल रही थी. मारूव र्र्राअज्ज्ज्ज्ज आअहह पफाआद्दद्ड दद्दल्ल्लूऊ म्मईएरररिई गग्ग्गाआअन्न्न्ँद्दद्ड अओउर्र ज़्ज़्ज़्ज़ूओररर्र सस्स्स्सीईए हह सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स आऐईस्स्सीए हिह्ह्हीइ आआआआआआहह. पायल की गंद पूरी तरह से फॅट के खुल चुकी थी और मैं तेज़ी से उसकी गंद मार रहा था इधर जितनी तेज़ रफ़्तार से मैं उसकी गंद मार रहा था उतनी ही तेज़ रफ़्तार से उसका हाथ अपनी चूत मे चला रहा था. मेरे सारे बदन मे सन सनाहट दौड़ रही थी और जैसे ही मेरे लंड से क्रीम का फव्वारा निकलने लगा उधर से उसकी चूत ने भी दम तोड़ दिया और उसकी चूत मे से जूस बह के निकलने लगा. जैसे जैसे मेरे लंड से क्रीम उसकी गंद मे गिर रही थी वैसे ही उसका भी ऑर्गॅज़म चल रहा था ऐसा लग रहा था कैसे सुर और ताल एक साथ बज रहे हो जैसे मेरी क्रीम और उसके जूस के निकलने का कोई कनेक्षन हो. पायल का ऑर्गॅज़म ख़तम हुआ, उसकी चूत ने झड़ना बंद कर दिया और और वो एक बार फिर से बेड पे ढेर हो गयी उसी तरह से मेरी क्रीम निकलना भी बंद हो गयी और मैं पायल की पीठ पे ढेर हो गया. दोनो मस्ती मे चूर थे साँसें गहरी चल रही थी. पायल का और मेरा ऑर्गॅज़म कुछ इतना पवरफुल था के पायल को मेरे बदन का वज़न महसूस ही नही हो रहा था और मुझे भी यह महसूस

नही हो रहा था के मैं एक नाज़ुक सी लड़की के ऊपेर अपना मर्दाना वज़न डाले लेटा हू. लंड उसकी गंद मे अभी तक जड़ तक घुसा हुआ था और अब वो धीरे धीरे नरम होना शुरू हो गया था. थोड़ी ही देर मे मैं उसके बदन से लुढ़क के उसके साइड मे लेट गया और उसको अपनी बाँहो मे ले के चूमने लगा. पायल भी मुझे बे तहाशा चूम रही थी और बोली के राज आज मैं बोहोत ही खुश हू और मैं तुम्हारे जैसे मर्द से चुदवा के फुल्ली सॅटिस्फाइड हू और आज मुझे पता चल गया है के “अगर स्वर्ग कही है तो वो मर्द के नीचे है और एस्पेशली तुम्हारे जैसे मर्द के नीचे” तो मैं भी बोला के पायल तुम जैसी हसीन अप्सरा अगर साथ हो तो मेरे लिए दुनिया मे ही स्वर्ग है. हम दोनो एक दूसरे को अपनी बाँहो मे ले के फिर से चूमने लगे. ऐसे ही एक दूसरे की बाँहो मे बाँहो डाले हमारी आँख लग गयी और हम दोनो गहरी गहरी साँसें लेते हुए गहरी नींद सो गये.

पता नही कितने बजे आँख खुली, देखा तो पायल मेरे से पहले उठ चुकी थी, मई उसकी तरफ करवट किए लेटा था और वो मेरे सारे बदन पे बड़े प्यार से हाथ फेर रही थी. मैं उठ तो चुका था पर आँखें नही खोला था. मुझे अपने बदन पे पायल का हाथ बड़ा अछा लग रहा था. बदन मे एक अजीब सी सनसनाहट हो रही थी और फिर मॉर्निंग एरेक्षन की वजह से मेरा लंड किसी मिज़ाइल की तरह से खड़ा होगे. मैं यूँही आँख बंद करके लेटा रहा और देखना चाहता था के पायल क्या करती है. और बॅस एक ही मिनिट के अंदर उसका हाथ मेरे मॉर्निंग एरेक्षन वाले लंड पे आ गया और वो अपनी मुथि मे पकड़ के सहलाने लगी तो मैं ने भी बिना आँखें खोले पायल को अपनी बाँहो मे ले लिया और पोज़िशन चेंज कर के पीठ के बल लेट ते लेट ते उसको अपने बदन पे खेच लिया और वो मेरे बदन पे चढ़ गयी. मैं ने पायल को झुका लिया और हम किस करने लगे. अब पायल बिंदास हो गयी थी और मेरे लंड से चुदने को एक बार फिर से तय्यार थी. पायल खुद ही मेरे ऊपेर 69 की पोज़िशन मैं आ गयी और फिर मैं उसकी लाल चूत को चाटने लगा और वो मेरे मिज़ाइल लंड को चूसने लगी. थोड़ी ही देर मैं वो पलट गयी और मेरे बदन पे झुक के लेट गयी और अपनी चूत को मेरे लंड के हेड पे सेट किया और एक ही झटके मे पीछे खिसक गयी और मेरा गीला लंड उसकी गीली चूत मे जड़ तक घुस गया. वो मेरे बदन पे आँखें बंद किए मस्ती मे उछलने लगी. उसके बूब्स डॅन्स कर रहे थे जिन्है मे पकड़ के झुका लिया और उसके बूब्स को चूसने लगा. मैं अपनी गंद उठा उठा के लंड को उसकी चूत के अंदर तक पेल रहा था. मैं ने सोचा के अब कुछ जम्म के चोदना चाहिए तो फॉरन ही पोज़िशन चेंज किया और पायल को नीचे लिटा दिया तो ऑटोमॅटिकली उसकी दोनो टाँगें मेरे बॅक पे कैंची की तरह

से लिपट गयी और अपनी गंद उठा के मज़े से चुदवाने लगी. मैं अपने पैर पीछे कर के उसको टाइट पकड़ लिया और जम्म के ज़ोर ज़ोर से पवरफुल झटके मारने लगा. मॉर्निंग इरेसिट्न वैसे भी बड़ा ख़तरनाक होता है और जल्दी झाड़ता भी नही. मैं उसको घचा घच चोद रहा था और हर झटके से उसके मूह से हप्प्प्प हप्प्प्प हमम्म्म सस्स्स्सस्स जैसे मस्ती भरी आवाज़ें निकल रही थी. पता नही पायल कितने टाइम झाड़ चुकी थी क्यों के उसकी चूत किसी समंदर की तरह से उसके जूस से भर चुकी थी. मेरी चोदने की स्पीड बढ़ गयी और अब मैं उसको पूरी ताक़त से धना धन चोद रहा था. उसकी आँखे मस्ती से बंद हो गयी थी और आँख से प्लेषर के आँसू निकल के बेड पे गिर रहे थे. लगभग 20 मिनिट के पवरफुल चुदाई के बाद मुझे लगा के अब मेरी मलाई भी निकलने वाली है तो मेरा पवर बढ़ा. मेरे पवरफुल चुदाई के चलते पायल मेरे से बोहोत ज़ोर से लिपट गयी थी. मैं ने एक और पवरफुल धक्का मारा तो मेरी मलाई का पहला फव्वारा किसी मिज़ाइल की तरह से उसकी बच्चे दानी से टकराया और फिर हर एक झटके से क्रीम निकलती ही रही जितनी देर झटका चलता रहा क्रीम निकलती रही. मेरी मलाई का पहला गरम फव्वारा उसके चूत मे गिरते ही उसकी चूत का बाँध एक बार फिर से टूट गया और वो एक बार फिर से झड़ने लगी. जितनी देर उसका ऑर्गॅज़म चलता रहा उसने मुझे बोहुत ज़ोर से पकड़े रखा. जब दोनो के ऑर्गॅज़म ख़तम हुए तो मैं उसके बदन पे ढेर हो गया उसके बूब्स मेरे सीने पे सॅंडविच बन गये.

हम थोड़ी देर ऐसे ही लेटे रहे. मेरा लंड उसकी चूत के अंदर सॉफ्ट होने लगा. मैं उसके बदन से लुढ़क के उसके बगल मे लेट गया और उसको अपनी बाँहो मे ले लिया. दोनो गहरी गहरी साँसें ले रहे थे. थोड़ी देर के बाद जब दोनो को होश आया तो टाइम देखा. शाम के 4 बजे थे. टाइम का सोचते ही भूक लगने लगी. सारी रात की चुदाई के बाद बड़ी खुल के भूक लग आई थी. ब्लंकेट को बेड के नीचे तक किया और जब पायल उठी तो देखा के उसकी चूत की सील टूटने और गंद फटने के खून और मिक्स जूस और मलाई से बेडशीट पे गुलाबी रंग बन चुका था. पायल वो गुलाबी धब्बा देख के मुस्कुराई और मेरे से लिपट गयी और बोली के मेरे राजा मैं तुम पे क़ुरबान जाऊ तुम ने मुझे ज़िंदगी का पहला सुख दिया है अब मैं हमेशा के लिए तुम्हारी दासी बन के रहूगी तो मैं ने उसको वापस प्यार करते हुए बोला के दासी नही पायल तुम मेरे दिल मे मेरे दिल की रानी बन के रहोगी. मैं ने बोला के तुम फिकर ना करो. लक्ष्मी चदडार धो डालेगी तो उसको ख़याल आया के अरे हा लक्ष्मी ने देख लिया तो क्या समझेगी तो मई ने बोला के तुम फिकर ना करो मैं उसके लिए कुछ सोचता हू तब तक तुम शवर लो मैं अपने रूम मे जा के शवर लेता हू.

पायल शवर लेने के लिए बाथरूम मे गयी उसके बाद मैं कमरे से बाहर आया तो लक्ष्मी दोपेहेर का खाना तय्यार कर के टीवी के सामने बैठी थी. मुझे कमरे से बाहर निकलता देख के दौड़ के मेरे पास आई और आँख मार के पूछा रात कैसी गुज़री बाबूजी तो मैं ने उसको अपनी बाँहो मे ले के एक ज़बरदस्त चुंबन जड़ दिया और बोला के उसकी चूत और गंद दोनो की सील तोड़ दी है चलो तुम अब अंदर जाओ और उसकी बेडशीट उठा के धो डालो. इतनी देर मे लक्ष्मी एक आँख दबा के मुस्कुराते हुए बोली के हा बाबूजी रात का तो मालूम नही पर अभी अभी की चुदाई मैं ने देखी है. मस्त चुडवाया है बीबीजी ने और मेरे लंड पे हाथ लगा के देखा जो सोया हुआ था तो उसने बोला के लगता है यह मूसल ने रात भर चुदाई की है इसी लिए बेचारा थक्क के सो गया है तो मैं ने बोला के हा सारी रात बोहोत चुदाई की है उसकी. और मैं लक्ष्मी को नीचे ही छोड़ के ऊपेर अपने रूम मे आ गया.

ऊपेर आया तो देखा के मेरे मोबाइल पे कम से कम आंटी के 25 मिस्कल्लस पड़े थे. मैं अपने कमरे को अंदर से अछी तरह से बोल्ट कर के बंद कर दिया, कपड़े निकाल के नंगा हो गया और शवर लेने के लिए जाना चाहता था पर सोचा के पहले आंटी से बात कर लेनी चाहिए तो उनका नंबर मिलाया तो दूसरी तरफ से आंटी बड़ी बेताबी से पूछ रही थी के कहा थे राज कब से फोन कर रही हू तो मैं ने बोला के सॉरी आंटी मैं फोन अपने कमरे मे ही रख के भूल गया था तो उन्हो ने पूछा क्या रहा राजा तो मैं ने बोला के आंटी आप का काम हो गया मैं ने आपकी बहू की अछी तरह से सर्विसिंग करदी है तो आंटी की आवाज़ रोने जैसे हो गयी और बोली के थॅंक्स मेरे राजा तुमने मेरा घर बर्बाद होने से बचा लिया पता नही तुम ना होते तो मैं क्या करती और इतना बोलते बोले आंटी सच मे रो पड़ी तो मैं ने बोला के अरे मेरी आंटी जान आप फिकर ना करो मैं आइन्दा भी ऐसी ही सर्विसिंग करता रहुगा अब तो आपकी बहू मेरे लंड की दीवानी हो गयी है तो आंटी बोली के हा क्यों ना हो तुम्हारे लंड ने तो बहू की सास को भी दीवाना बना दिया है तो मैं हैरान हो गया के आंटी घर से ऐसे कैसे बात कर रही है तो मैने पूछा कहा हो आंटी आप तो उन्हो से बोला के बाथरूम मे हू, नंगी हू तो मैं हंस के बोला के इसी लिए लंड का भरपूर उपयोग कर रही है आप तो वो हस्ने लगी और बोली के मेरे राजा तुम्हारे लंड की बोहोत याद आ रही है मेरी चूत तुम्हारे लंड से चुदने को बेताब है तो मैं ने बोला आंटी जान थोड़े दिन सबर कर्लो फिर आपकी चूत होगी और मेरा लंड ऐसी चुदाई करूगा और उसका भुर्ता बना के ही छोड़ूँगा तो आंटी एक ठंडी साँस ले के बोली के आअहह जल्दी से अपना काम कर के आ जाओ राजा अब तुम्हरे बिना रहा नही जाता तो मैं ने बोला के ठीक है आंटी मुझे एक वीक का टाइम दीजिए मैं इस एक हफ्ते मे पायल की ऐसी चुदाई करूँगा के अब कभी उसको शांति के लंड की कमी

महसूस नही होगी तो आंटी बोले के थॅंक्स राजा और फिर हम ने फोन पे ही चुदाई की. आंटी अपनी चूत के अंदर उंगली डाल के और चूत के दाने का मसाज कर के झाड़ गयी और थोड़ा तो सॅटिस्फॅक्षन हासिल कर ही लिया. फोन कट हो गया और मैं शवर लेने के लिए बाथरूम के अंदर चला गया. गरम पानी का शवर लेने से तबीयत एक दम से फ्रेश हो गयी थी.

उधर नीचे लक्ष्मी ब्लंकेट को फोल्ड कर के एक तरफ रख के बेडशीट पे लगे खून के धब्बो को बड़ी घूर से देख रही थी के पायल किसी काम से बाथरूम से बाहर निकली और देख के हैरान रह गयी के लक्ष्मी बेडशीट पे लगे खून को इतने गौर से देख रही है. लक्ष्मी ने धीरे से मुस्कुरा के टिपिकल गाओ के स्टाइल मे अपने मूह पे हाथ रख के हुए पायल से पूछा हाए बीबीजी यह क्या हो गया कही मार तो नही लगी आपको तो पायल परेशन हो गयी और बिना कुछ बोले के शरमाते हुए वापस बाथरूम मे घुस गयी. यह बात मुझे पायल ने बाद मे घबरा के सुनाई तो मैं ने बोला के तुम फिकर ना करो और मैं जैसे कहता हू तुम करती जाओ और फिर उसका मूह बंद हो जाएगा. मैं ने पायल को एक प्लान बताया और बोला के मैं ने जैसा बोला है तुम वैसा ही करना. उधर लक्ष्मी से भी बोला के अगर तू पायल के सामने मेरे से चुदवाना चाहती है तो मैं जैसे बोल रहा हू वैसे ही करना तो वो खुशी से झूम उठी और बोले के बाबू भगवान कसम आप से चुदवाने को तो मैं ज़मीन आसमान एक कर्दुन्गि आप बोलो के क्या करना है.. और मैं ने अपना दूसरा प्लान लक्ष्मी को बता दिया. दोनो एक दूसरे के प्लान से अंजान थे.

Mast Marwari Malaai ( MMM )--paart--21

Mai ne bola ka Payal tum fikar na karo mai bohot araam se karunga tumhai bilkul bhi takleef nahi hogi to usne haste hue bola ke haa mujhe malum hai tum kitni araam se karoge to mai bhi has dia. Payal ko pet ke bal lita dia aur mai uski dono tango ko khol ke uske ander ghutne mod ke baith gaya. Aisi position mai uski choot thodi khul gayee thi aur mujhe double roti ki tarah se phooli hui uski choot nazar aa rahi thi jiske pankhadiya sooj kar mote aur laal ho gaye the uski choot ki halat tabaah ho chuki thi. Mai ne payal ke neeche hath dal ke jhango ko pakad ke thoda ooper utha lia jis se uski gand thodi ooper uth gayi. Mai Payal ki peeth pe ulta let gaya aur peeche se uski choot ke surakh mai apna Lund tika dia aur uske boobs ko masalne laga aur aise hi thoda sa pressure dia to uski geeli choot mei Lund ka supada ghus gaya. Ab mai kuch aur saamne ko aa gaya aur uske shoulders ko pakad ke ek hi jhatke mai apne Lund ko poore ka poora uski choot ke ander jadd tak pel dia jis se uske muh se sssssssssssssssssssssssss ki awaz nikli aur Lund uske choot ke ander se hota hua uske pet ke ander tak pohoch gaya tha. Payal ne apna ek hath badan se neeche dal ke mere ball ko pakad lia aur dheere dheere balls ki malish karne lagi jiski wajah se mera Lund kuch aur zor se akad gaya aur mai ek ek second ke time period se ek ek powerful dhakka maar raha tha. Mere ek ek dhakke se Payal ke muh se hhhhppppp hhhhhppppp hhhhppppp jaisi awaz nikal rahi thi aur wo aise powerful dhakko se chudai ke full maze le rahi thi. Mera Lund usko uske pet ke ander se hota hua uske halak tak mehsoos ho raha tha. Mai kabhi apne dhakko ki raftaar ko tez kar deta kabhi dheemi kar deta tha. Payal chudai ke maze le rahi thi aur uske muh se aaaaaaaaaahhhhhhhhhhh rrrrrrrraaaaaaaajjjjjjjj aaaaaeeeessseeeee hhhhhhhiiiiiii cccccccchhhhhhhhhooooddddoooo rrrraaaajjjj hhhhhhaaaaaeeeeee mmmaaaazzzzaaaaa rrrrraaaajjjjjjj mmmmaaarrrrrrrroooooo rrrrrrraaaaajjjjjjjjjjj zzzzzzzzzzooooooooorrrrrrrrrrr sssssssssseeeeeeee

mmmmmmeeeeeerrrrrrrrriiiiiii cccchhhhhhooootttt mmmmaaaaaarrrrrrrrrrrrooooooooo hhhhhhaaaaaaaeeeeeeee mmmmmmmmmmeeeeeeeeiiiiii ggggaaaaaayyyyyyyyeeeeeeeeeeeeee rrrrrrrrrrrrrrrraaaaaaaaaajjjjjjjjjjjjjjjjj aur uski choot mere mote Lund ke aise musical dhakko ko ziada der tak bardasht nahi kar saki aur dekhte hi dekhte Payal kaanpne lagi aur jhadne lagi aur bejaan ho ke dhap se wapas bed pe let gayee. Uska badan dheela pad chuka tha. Aise mei mai ne dhakke marna munasib nahi samjha aur uske badan pe aise hi thodi der tak leta raha.

Jab wo achi tarah se jhad gayee to mai ne ek bar phir se uski jhango ko pakad ke chootado ko thoda ooper utha dia aur phir se choot mai Lund ko pelne laga. Meri cream aaj bohot bar nikal chuki thi aur mai ab itni jaldi jhadne wala nahi tha. Mai kuch der ka liye ruk gaya aur apne Lund ko uski choot se baher nikal lia to Payal ne bola ke arey raajjj kia hua dalo na ander to mei ne bola ke Payal ab tumhari gand mujhe badi mast lag rahi hai aur ab mai tumahri gand ki seal ko todunga to usne bola ke arey baba tod lena par abhi to Lund ko meri choot ke ander dalo na. Tum ne Lund baher nikal lia to choot ek dum se khaali khaali lagne lagi please ander hi dale rako na to mai ne ek bar phir se apne Lund ko uski choot ke ander ek hi jhatke mai ander tak pel dia to mere Lund ko uski khuli choot ne asaani se welcome kia. Mai ab ghutno ke bal baitha half doggy style mai bohot hi dheemi gati se usko chod raha tha jis se Payal ko uski choot bhari hui mehsoos ho rahi thi. Mai ne kareeb ki side table se Astroglide ( yeh ek tarah ki Vaseline jaisi hoti hai jaise chikna slippedry gel hota hai jise log chodne ya gand marne ke liye lubrication ke taur pe istemal karte hai ) ka tube utha lia aur uski gand mai lagane laga. Jaise hi uske gand pe tube rakha Payal ke badan mai ek tanau aa gaya aur usne palat ke mujhe dekha to mai ne uske chootado par aahista se thap thapaya aur bola ke daro nahi meri jaaanu tumhai kuch nahi hoga mai yeh Gel isi liye to laga raha hu ke meri jaan ko koi takleef na ho to wo shant ho gayee par mujhe laga ke wo abhi bhi dar rahi hai.

Mera Lund uski choot ke ander ghusa hua tha aur mai uski gand ke surakh ko achi tarah se gel laga raha tha aur jab uski gand ke ander baher achi tarah se laga dia to apne Lund ko ek bar phir uski choot se baher nikal lia to wo phir se mudi aur meri taraf muh kar ke boli ke arey phir se nikal lia dalo na ander to mai ne bola ke meri jaan ab yeh Lund pe bhi to thoda

sa gel laga deta hu na nahi to tumhai darad hoga to wo khamosh ho gayee aur apni gand ke phatne ka intezar karne lagi. Mera Lund to Payal ki choot ke juice se already bohot geela ho raha tha par phir bhi mai ne Astroglide ke tube se apne Lund ke head pe dher sara gel nikal dia aur apne hath se poore supade ko chikna kar dia. Ab mai ne Payal ko phir se poora neeche pet ke bal lita dia aur uske neeche ek chota sa pillow rakh dia jiske chalte uski gand aur chootad thode ooper uth gaye the. Uski gand badi mast thi. Pink colour ki choti si jo khul band ho rahi thi. Mai ne apni ungli uski gand mai dali aur Astroglide ke gel ko ander hi ander ungli ghuma ke gel ko spread karne laga. Ek ke baad doosri ungli bhi dal dia do unglian uski gand ko thoda chouda kar rahi thi.

Jab gel uski gand ke ander aur mere Lund ke ooper achi tarah se lag gaya to mai apne Lund ke head ko Payal ki gand ke surakh ke ooper tika ka uske ooepr jhuk gaya aur ek hath se apne Lund ke supade ko uski gand mai pakde rakha ke kahi wo slip na ho jaye. Ab dheer dheere pressure dala to Astroglide ki chiknayee ki wajah se Lund ka head uski gand ke ander ghus gaya aur foran hi Payal ke badan mai tanao aa gaya aur sssssssssssssssssssssssss ki awaz ayee to mai ne bola ke Payal apni gand ke muscles ko relax rakho to tumhai kuch nahi hoga aur Lund dheere dheere ander slip ho jayega. Aur agar tumne gand ko tight rakha to Lund to ghusega hi par tumhai takleef hogi to acha yehi hai ke tum thodi si koshish karo aur apni gand ke muscles ko relax rakho. Mujhe pata tha ke bolna bohot asaan hai aur jab aisa mota musal choti si tight gand ke samne ho to kisi ki bhi gand phat sakti hai. Payal ne koshish to ki ke apne muscles relax kare par naturally yeh mushkil tha. Mai ne thoda aur pressure dala to Payal ka badal akad gaya aur uski aankhein band ho gayee aur uske dant ek doosre se mazbooti se jud gaye, uski saans ruk gayee. Mai uske badan pe leta dheere dheere Lund ko uski gand mai push kar raha tha pressure dal raha tha. Jab mai ne Payal ki halat dekhi to mai uske gardan ko kiss karne laga aur uske kaan ke latakte hisse ko apne muh mai le ke choosne laga aur dono hatho ko baghal se nikal ke uske shoulders ko pakde pakde aahista aahista sehlaane laga aur dheere dheere Lund ko uski gand mai push karne laga ab mera Lund thoda aur uski gand ke ander ghus chuka tha. Mai uske kaan ko choos raha tha aur uske badan ka massage kar raha tha jis se uske badan ka tanao thoda kam hua aur mai aisa hi karta gaya to uska badan relax hone laga aur mera Lund thoda thoda uski gand ke

andre utarne laga. Jab Lund aadhe se ziada ander ghus gaya to uski gand bohot hi tight ho gayee aur Lund ab aur ander nahi ghus pa raha tha to mai utne hi lund ko uski gand ke andre baher kar ke uski gand marna shuru kar dia. Thodi hi der mai Payal ka badan ek dum se relax ho gaya. Ab uski gand mere Lund pe adjust ho gai thi. phir mai ne aise hi aadhe Lund se gand maarte maarte ek hi jhatke mai poora Lund uski gand ke ander ghused dia to Payal se bardasht nahi hua wo chillayee rrrrrrrrrrrrraaaaaaaaaaaaaaaahhhhhhhhhhhhhhhh nnnnniiiiiiiiikkkkkkkkkkkaaaaaaaaalllllllllllllooooooooooo ddddddddaaaaaarrrrrrrrrrrraaaaaaaaaaaddddddddddddd kkkkkkkaaaaarrrrrr rrrrrrrrrraaaaaaahhhhhhhhhhaaaaaaaaa hhhhhhhaaaaaaaaeeeeeeeeeee rrrrrrrrrrrraaaaaaaaaaaaajjjjjjjjjjjjj par mai ne Lund ko uski gand se baher nahi nikala balke Lund ko uski gand ke ander rakhe rakhe thodi der ke liye gand marna band kar dia aur aise hi uske badan pe pada raha aur phir se uski gardan ko choomne laga to wo phir se relax ho gayee. Ab mai ne uski gand marna shuru kar dia. Mujhe uski tight gand marne mai bohot hi maza aa raha tha. Lund ko poora head tak beher khech kheck ke ghapa ghap gand mar raha tha. Ab wo bhi badi masti mai gand marwa rahi thi aur apna hath apne badan se neeche choot pe le gayee aur choot ka massage karne lagi. Jitni tezi se mai uski gand maar raha tha utni hi tezi se wo apni choot ke dane ka massage kar rahi thi. Ab uske muh se masti bhari awazein nikal rahi thi. Maarooo rrraaajjjjj aaahhhh pphhhaaadddd dddallloooo mmeeerrriiiii ggggaaaaannnndddd aauurr zzzzooorrrr ssssseeeee hhhhhhhh sssssssssssssss aaaiiissseee hihhhiii aaaaaaaaaaaahhhhhhhhh. Payal ki gand poori tarah se phat ke khul chuki thi aur mai tezi se uski gand mar raht aha Idhar jitni tez raftaar se mai uski gand mar raha tha utni hi tez raftaar se uska hath apni choot mai chal raha tha. Mere sare badan mai san sanahat doud rahi thi aur jaise hi mere Lund se cream ka fawwara nikalne laga udhar se uski choot ne bhi dam tod dia aur uski choot mai se juice beh ke nikalne laga. Jaise jaise mere Lund se cream uski gand mai gir rahi thi waise hi uska bhi orgasm chal raha tha aisa lag raha tha kaise surr aur taal ek sath baj rahe ho jaise meri cream auruske juice ke nikalne ka koi connectionho. Payal ka orgasm khatam hua, uski choot ne jhadna band kar dia aur aur wo ek bar phir se bed pe dher ho gayee usi tarah se meri cream nikalna bhi band ho gayee aur mai payal ki peeth pe dher ho gaya. Dono masti mai chhoor the saansein gehri chal rahi thi. Payal ka aur mera orgasm kuch itna powerful tha ke Payal ko mere badan ka wazan mehsoos hi nahi ho raha tha aur mujhe bhi yeh mehsoos

nahi ho raha tha ke mai ek nazuk si ladki ke ooper apna mardana wazan dale leta hu. Lund uski gand mai abhi tak jadd tak ghusa hua tha aur ab wo dheere dheere naram hona shuru ho gaya tha. Thodi hi der mai mai uske badan se ludhak ke uske side mai let gaya aur usko apni baho mai le ke choomne laga. Payl bhi mujhe be tahasha choom rahi thi aur boli ke Rajjj aaj mai bohot hi khush hu aur mai tumhare jaise mard se chudwa ke fully satisfied hu aur aaj mujhe pata chal gaya hai ke “AGAR SWARG KAHI HAI TO WO MARD KE NEECHE HAI AUR ESPECIALLY TUMHARE JAISE MARD KE NEECHE” to mai be bola ke Payal tum jaisi haseen apsara agar sath ho to mere liye dunya mai hi swarg hai. Ham dono ek doosre ko apni baho mai le ke phir se choomne lage. Aise hi ek doosre ki baho mai bahe dale hamari aankh lag gayee aur ham dono gehri gehri saansein lete hue gehri neend so gaye.

Pata nahi kitne baje aankh khuli, dekha to Payal mere se pehle uth chuki thi, mai uski taraf karvat kiye leta tha aur wo mere sare badan pe bade pyar se hath pher rahi thi. Mai uth to chuka tha par aankhein nahi khola tha. Mujhe apne badan pe payal ka hath bada acha lag raha tha. Badan mai ek ajeeb si sansanahat ho rahi thi aur phir morning erection ki wajah se mera Lund kisi missile ki tarah se khada hogay. Mai yunhi aankh band karke leta raha aur dekhna chahta tha ke payal kia karti hai. Aur bass ek hi minute ke nader uska hath mere morning erection wale Lund pe aa gaya aur wo apni muthi mai pakad ke sehlane lagi to mei ne bhi bina aankhein khole payal ko apni baho mai le lia aur position change kar ke peethe ke bal let te let te usko apne badan pe khech lia aur wo mere badan pe chhad gayee. Mai ne payal ko jhuka lia aur ham kiss karne lage. Ab payal bindas ho gayee thi aur mere Lund se chudne ko ek bar phir se tayyar thi. Payal khud hi mere ooper 69 ki position mai aa gayee aur phir mai uski laal choot ko chaatne laga aur wo mere Missile Lund ko choosne lagi. Thodi hi der mai wo palat gayee aur mere badan pe jhuk ke let gayee aur apni choot ko mere Lund ke head pe set kia aur ek hi jhatke mei peeche khisak gayee aur mera geela Lund uski geeli choot mai jadd tak ghus gaya. Wo mere badan pe aankhein band kiye masti mei uchalne lagi. Uske boobs dance kar rahe the jinhai mai pakad ke jhuka lia aur uske boobs ko choosne laga. Mai apni gand utha utha ke Lund ko uski choot ke ander tak pel raha tha. Mai ne socha ke ab kuch jamm ke chodna chaiye to foran hi position change kia aur Payal ko neeche lita dia to automatically uski dono tangein mere back pe kainchi ki tarah

se lipat gayee aur apni gand utha ke maze se chudwane lagi. Mai apne pair peeche kar ke usko tight pakad lia aur jamm ke zor zor se powerful jhatke marne laga. Morning ereciton wiase bhi bada khatarnaak hota hai aur jaldi jhadta bhi nahi. Mai usko ghacha ghach chod raha tha aur har jhatke se uske muh se hhhpppp hhhhpppp hhhhmmmm sssssss jaise masti bhari awazein nikal rahi thi. pata nahi payal kitne time jhad chuki thi kyon ke uski choot kisi samandar ki tarah se uske juice se bhar chuki thi. Meri chodne ki speed badh gayee aur ab mai usko poori takat se dhana dhan chod raha tha. Uski aankhain masti se band ho gayee thi aur aankh se pleasure ke aansoo nikal ke bed pe gir rahe the. Lagbhag 20 minute ke powerful chudai ke bad mujhe laga ke ab meri malyee bhi nikalne wali hai to mera power badh. Mere powerful chudai ke chalte Payal mere se bohot zor se lipat gayee thi. Mai ne ek aur powerful dhakka mara to meri malayee ka pehla fawwara kisi missile ki tarah se uski bache dani se takraya aur phir har ek jhatke se cream nikalti hi rahi jitni der jhatka chalta raha cream nikalti rahi. Meri malayee ka pehla garam fawwara uske choot mei girte hi uski choot ka baandh ek baar phir se toot gaya aur wo ek bar phir se jhadne lagi. Jitni der uska orgasm chalta raha usne mujhe bohto zor se pakde rakha. Jab dono ke orgasm khatam hue to mai uske badan pe dher ho gaya uske boobs mere seene pe sandwich ban gaye.

Ham thodi der aise hi lete rahe. Mera Lund uski choot ke ander soft hone laga. Mai uske badan se ludhak ke uske baghal mai let gaya aur usko apni baho mai le lia. Dono gehri gehri saansein le rahe the. Thodi der ke bad jab dono ko hosh aaya to time dekha. Sham ke 4 baje the. Time ka sochte hi bhook lagne lagi. Sari raat ki chudai ke bad badi khul ke bhook lag ayee thi. Blanket ko bed ke neeche tak kia aur jab Payal uthi to dekha ke uski choot ki seal tootne aur gand phatne ke khoon aur mix juice aur malayee se bedsheet pe gulabi rang ban chuka tha. Payal wo gulabi dhabba dekh ke muskurayee aur mere se lipat gayee aur boli ke mere Raja mai tum pe Qurbaan jaoo tum ne mujhe zindagi ka pehla sukh dia hai ab mai hamesha ke liye tumhari dasi ban ke rahugi to mai ne usko wapas pyar karte hue bola ke dani nahi Payal tum mere dil mei mere dil ki rani ban ke rahogi. Mai ne bola ke tum fikar na karo. Laxmi chaddar dho dalegi to usko khayal aaya ke arey haa Laxmi ne dekh lia to kia samjhegi to mai ne bola ke tum fikar na karo mai uske liye kuch sochta hu tab tak Tum shower lo mai apne room mai ja ke shower leta hu.

Payal shower lene ke liye bathroom mai gayee uske bad mai kamre se baher aaya to Laxmi dopeher ka khana tayyar kar ke TV ke samne baithi thi. Mujhe kamre se baher nikalta dekh ke doud ke mere paas ayee aur aankh maar ke poocha raat kaisi guzri babuji to mai ne usko apni baho mei le ke ek zabardast chumban jad dia aur bola ke uski choot aur gand dono ki seal tod di hai chalo tum ab ander jao aur uski bedsheet utha ke dho dalo. Itni der mei Laxmi ek aankh daba ke muskurate hue boli ke haa babuji raat ka to malum nahi par abhi abhi ki chudai mai ne dekhi hai. Mast chudwaya hai bibiji ne aur mere Lund pe hath laga ke dekha jo soya hua tha to usne bola ke lagta hai yeh musal ne raat bhar chudai ki hai isi liye bechara thakk ke so gaya hai to mai ne bola ke haa sari raat bohot chudai ki hai uski. Aur mai Laxmi ko neeche hi chhor ke ooper apne room mai aa gaya.

Ooper aaya to dekha ke mere mobile pe kam se kam aunty ke 25 miscalls pade the. Mai apne kamre ko ander se achi tarah se bolt kar ke band kar dia, kapde nikal ke nanga ho gaya aur shower lene ke liye jaana chahta tha par socha ke pehle aunty se bat kar leni chahiye to unka number milaya to doosri taraf se aunty badi betaabi se pooch rahi thi ke kaha the Rajj kab se phone kar rahi hu to mai ne bola ke sorry aunty mai phone apne kamre mai hi rakh ke bhul gaya tha to unho ne poocha kia raha raja to mai ne bola ke aunty aap ka kaam ho gaya mai ne aapki bahu ki achi tarah se servicing kardi hai to aunty ki awaz rone jaise ho gayi aur boli ke thanks mere raja tumne mera ghar barbad hone se bacha lia pata nahi tum na hote to mai kia karti aur itna bolte bole aunty sach mai ro padi to mai ne bola ke arey meri aunty jaan aap fikar na karo mai aainda bhi aisi hi servicing karta rahuga ab to aapki bahu mere Lund ki diwani ho gayee hai to aunty boli ke haa kyon na ho tumhare Lund ne to bahu ki saas ko bhi deewana bana dia hai to mai hairan ho gaya ke aunty ghar se aise kaise bat kar rahi hai to maine poocha kaha ho aunty aap to unho se bola ke bathroom mai hu, nangi hu to mai hans ke bola ke isi liye Lund ka bharpoor upyog kar rahi hai aap to wo hasne lagi aur boli ke mere raja tumhare Lund ki bohot yaad aa rahi hai meri choot tumhare Lund se chidne ko betaab hai to mai ne bola aunty jaan thode din sabar karlo phir aapki choot hogi aur mera Lund aisi chudai karuga aur uska bhurta bana ke hi chhorunga to aunty ek thandi saans le ke boli ke aaahhh jaldi se apna kaam kar ke aa jao raja ab tumhre bina raha nahi jata to mei ne bola ke theek hai aunty mujhe ek week ka time dijiye mai iss ek hafte mai Payal ki aisi chudai karunga ke ab kabhi usko shanty ke Lund ki kami

mehsoos nahi hogi to aunty bole ke thanks raja aur phir ham ne phone pe hi chudai ki. Aunty apni choot ke ander ungli dal ke aur choot ke dane ka massage kar ke jhad gayee aur thoda to satisfaction hasil kar hi lia. Phone cut ho gaya aur mai shower lene ke liye bathroom ke ander chala gaya. Garam pani ka shower lene se tabiat ek dum se fresh ho gayee thi.

Udhar neeche Laxmi blanket ko fold kar ke ek taraf rakh ke bedsheet pe lage khoon ke dhabbo ko badi ghor se dekh rahi thi ke Payal kisi kaam se bathroom se baher nikli aur dekh ke hairan reh gayee ke Laxmi bedsheet pe lage khoon ko itne ghor se dekh rahi hai. Laxmi ne dheere se muskura ke typical gao ke style mai apne muh pe hath rakh ke hue Payal se poocha haye bibiji yeh kia ho gaya kahi maar to nahi lagi aapko to Payal pareshan ho gayee aur bina kuch bole ke sharmate hue wapas bathroom mai ghus gayee. Yeh baat mujhe Payal ne baad mai ghabra ke sunayee to mai ne bola ke tum fikar na karo aur mai jaise kehta hu tum karti jao aur phir uska muh band ho jaega. Mai ne payal ko ek plan bataya aur bola ke mai ne jaisa bola hai tum waisa hi karna. Udhar Laxmi se bhi bola ke agar tu Payal ke samne mere se chudwana chahti hai to mai jaise bol raha hu waise hi karna to wo khushi se jhoom uthi aur bole ke babu bhagwan kasam aap se chudwane ko to mai zameen aasmaan ek kardungi aap bolo ke kia karna hai.. aur mei ne apna doosra plan Laxmi ko bata dia. Dono ek doosre ke plan se anjaan the.


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Marwar ki mast malaai-मारवाड़ की मस्त मलाई

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 16:58

मारवाड़ की मस्त मलाई पार्ट --22



गतांक से आगे........................

मेरे और पायल के शवर लेने लेने तक ऑलमोस्ट 5 बज गये थे. मैं नीचे आ गया और टीवी देखने लगा. पायल भी मेरे पास ही आ कर बैठ गयी. उसका चेहरा सारी रात की मस्त चुदाई की वजह से किसी चौदहवी के चाँद की तरह से चमकने लगा था. ऐसा लग रहा था जैसे एक फ्रेश कली खिल के फूल बन गयी है. पायल के बालो से अभी भी पानी की बूँदें टपक रही थी. पायल बे इंतेहा खूबसूरत लग रही थी. दोनो को बड़ी ज़ोर की भूक लगी हुई थी. यह चुदाई के बाद वाली भूक बोहोत खुल के लगती है. लक्ष्मी ने खाना टेबल पे निकाल दिया था और हम दोनो टेबल पे बैठ के खाना खाने लगे. लक्ष्मी हमे खाना परोस रही थी. जब भी कुछ लाने के लिए लक्ष्मी किचन मे जाती तो हम एक दूसरे को किस कर लेते थे. इसी तरह से हमारा खाना कंप्लीट हो गया. खाने के बाद लक्ष्मी कॉफी ले के आ गयी और हम टीवी के सामने बैठ कर कॉफी पीने लगे.

जब कॉफी ख़तम हो गयी तो लक्ष्मी कॉफी की ट्रे उठा के चली गयी और इधर हम किस करते हुए टीवी देख रहे थे

उधर लक्ष्मी किचन का काम कंप्लीट करने मे लगी हुई थी. पायल ने लक्ष्मी को पुकारा और बोला के लक्ष्मी, मेरे सर मे और बदन मे दरद हो रहा है थोड़ा मेरे बदन की मालिश कर दे ना तो लक्ष्मी ने बोला के ठीक है बीबी हाथ धो के अभी आती हू. जब लक्ष्मी वापस आई तो मैं ने बोला के पायल मैं भी थोड़ी देर अपने रूम मे रेस्ट ले लेता हू तुम भी आराम करो और हो सका तो थोड़ी देर सो जाओ इतना बोल के मैं लक्ष्मी के सामने ही ऊपेर अपने कमरे की तरफ चला गया. इधर पायल लक्ष्मी को ले के अपने कमरे मे आ गयी और फिर लक्ष्मी से अपने बदन की मालिश करवाने लगी. लक्ष्मी बोहोत अछी तरह से पायल के बदन की मालिश कर रही थी. थोड़ी ही देर मे पायल के बदन का सारा दरद जाता रहा और वो रिलॅक्स फील करने लगी. वैसे तो पायल को कुछ भी नही हो रहा था, यह तो हमारे प्लान का एक हिस्सा था. फिर भी लक्ष्मी के मालिश करने से पायल कुछ ज़ियादा ही रिलॅक्स हो गयी और अपनी आँखें बंद कर ली और लक्ष्मी से बोली के वो जाए और थोडा वो भी आराम कर ले और पायल खुद गहरी गहरी साँसें लेने लगी और आँखें बंद करके सोने का नाटक करने लगी.

लक्ष्मी थोड़ी देर वही खड़े हुए पायल के गदराए हुए बदन को बड़े प्यार से देखती रही और निहारती रही और यह सोचने लगी के कल रात की चुदाई से उसकी चूत कैसे डबल रोटी की तरह से फूल गई होगी पर उसने नाइटी उठा के देखना मुनासिब नही समझा. जब लक्ष्मी को यकीन हो गया के पायल गहरी नींद सो चुकी है और अब जल्दी उठने वाली नही है और यह चुदवाने का गोलडेन चान्स है तो वो कमरे से बाहर निकली और ऑलमोस्ट दौड़ती हुई ऊपेर आ गयी. पायल को जैसे ही उसके ऊपेर दौड़ने की आवाज़ आई तो उसने आँखें खोल दी और कुछ टाइम का इंतेज़ार करने लगी.

मैं पटके कपड़े के बॉक्सर्स शॉर्ट्स और बानयन पहना हुआ था. ऊपेर आने के बाद मैं अपने बिस्तर मे लेट गया था और आँखें बंद कर के अपने चुदाई के सीन्स को सोच रहा था और ऐसे ही सोचते सोचते मेरा लंड एक बार फिर से अकड़ गया था और शॉर्ट्स के अंदर तंबू बना चुका था. मेरे कमरे का डोर खुला और लक्ष्मी नंगी ही मेरे कमरे मे आ गयी और दौड़ते हुए मेरे बेड पे चढ़ गयी और मेरे बदन के ऊपेर बैठ के मुझे बे तहाशा चूमने लगी. मेरा लंड कुछ और एरेक्ट हो के लोहे जैसा सख़्त हो चुका था. लक्ष्मी मेरे थाइस पे बैठी थी और अपने दोनो हाथो से मेरे शॉर्ट्स के अंदर साइड से हाथ डाल के शॉर्ट्स को नीचे की ओर खेच दिया. एलास्टिक होने की वजह से मेरा शॉर्ट नीचे खिसक गया और मेरा तन तना ता हुआ लंड बहेर निकल के लहराने लगा जिसे लक्ष्मी ने अपने हाथो मे पकड़ के दबा दिया और झुक के चूसने लगी. अपनी गंद को

थोडा सा उठा के मेरे शॉर्ट्स को नीचे की ओर खेच दिया और अपने हाथ पीछे कर के शॉर्ट्स को मेरे पैरो से बहेर निकाल दिया. फिर झुक के ऐसे ही दोनो हाथो से मेरे बानयन को भी निकल दिया और मुझे नंगा कर्दिआ. एक बार फिर से लक्ष्मी पीछे को सरक के मेरे थाइस से नीचे मेरे पैरो पे बैठ गयी और झुक के लंड को किसी लॉली पोप की तरह से चूसने लगी. लक्ष्मी सच मे वासना की आग मे जल के दीवानी हो गयी थी और किसी भी हाल मे चुदवाना चाहती थी. उसकी चूत एक दम से गीली हो चुकी थी. वो अपनी जगह से उठी और मेरे लंड को पकड़ के अपनी चूत के सुराख से टीका दिया और एक झटके मैं पूरी ताक़त से लंड पे बैठ गयी. लंड घचक से उसकी गीली चूत मे पूरा अंदर तक घुस्स गया. इतने दीनो की चुदाई के बाद लक्ष्मी अब मेरे लंड से चुदवाने के बाद उसकी चूत मेरे लंड से अड्जस्ट हो चुकी थी. अब लक्ष्मी मेरे लंड के ऊपेर बैठ कर उछलने लगी तो मैं ने उसके हिलते हुए बूब्स को पकड़ के मसल डाला और उसको अपने ऊपेर झुका लिया और बूब्स को चूसने लगा. वो किसी जॉकी की तरह से मेरे लंड की सवारी का रही थी और मैं उसकी चूत को अपनी गंद उठा उठा के अंदर तक अपने लंड को पेल रहा था. लक्ष्मी इतनी गरम हो गयी थी के मुझे भी उसको चोदने मे बड़ा मज़्ज़ा आ रहा था. लक्ष्मी के मूह से मस्ती की सिसकारियाँ निकल रही थी आआआहह र्र्ररराआआआआजजजज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्

ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्जाआाआआअ आआआआऐययीीइसस्स्स्स्स्सीए हीईईईई आआअहह ककककककक्कीईईईय्ाआआअ म्‍म्म्मममममाआआअसस्स्स्स्स्स्थथत्टटटतत्त ल्ल्ल्ल्लूउउुुुउउन्न्ञनननन्न्ँद्दद्ड हाआआऐईईई ज्ज्ज्ज्ज्जाअंन्‍ननणन्नाअटततटटटटतत्त कककककााआआ म्‍म्म्ममाआआज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ाआआआआ आआआररर्र्ररराआहहाा हहाआऐईईई ब्ब्ब्ब्ब्ब्ब्बाआआआब्बुउउउउउउ क्क्क्कीइआआअ ल्ल्ल्ल्ल्लूउऊउउन्न्ञद्द्द्द्ड ह्ह्ह्ह्ह्ह्हाआआ. लक्ष्मी चटखारे भरते हुए पागलो की तरह मेरे लंड की सवारी कर रही थी उसके बाल हवा मे उछल रहे थे और देखते ही देखते उसका बदन अकड़ गया और वो मेरे से बोहोत ज़ोर से लिपट गयी और झड़ने लगी. उसकी चूत की ग्रिप मेरे लंड पे कुछ इतनी टाइट थी के मेरे लंड से भी मलाई की गाढ़ी गाढ़ी पिचकारी निकल ने उसकी चूत को भरने लगी. लक्ष्मी कुछ इतने जोश से चुद रही थी और मुझे भी बोहोत ही मज़ा आ रहा था के मैं प्लान के बारे मे सब कुछ भूल गया था और मैं ने भी ध्यान नही दिया के पायल कब ऊपेर कमरे मे आ गयी. पायल के एक हाथ मे लक्ष्मी का स्कर्ट और दूसरे हाथ मे उसका टॉप था. वो कमरे के अंदर खड़ी हम दोनो को देख रही थी. मेरी नज़र पायल पर पड़ी तो मैं ने लक्ष्मी को अपने बदन से धक्का दे के हटाना चाहा. इसी बीच लक्ष्मी की नज़र भी पायल पे पड़ी और उसके

हाथो मे अपने कपड़े देख के उसके होश ही उड़ गये. आक्च्युयली लक्ष्मी चुदवाने के लिए कुछ इतनी ज़ियादा उतावली हो रही थी के सीढियो पे चड़ते चड़ते उसने अपना टॉप निकाला और स्कर्ट को खोल दिया था और मेरे कमरे तक आते आते उसने दोनो चीज़ो को वही रास्ते मे ही फेंक दिया था.

पायल को देख के तो लक्ष्मी की जान ही निकल गयी और वो मेरे लंड पर से नीचे उतरी तो उसकी चूत मे जमा हुआ उसका जूस और मेरे लंड से निकली मलाई उसके पैरो के अन्द्रूनि हिस्से से नीचे बहने लगी. लक्ष्मी दौड़ती हुई पायल के पैरो मे गिर पड़ी और बोली के मुझे माफ़ करदो बीबी प्लीज़्ज़ज्ज मुज्ज़े माफ़ करदो प्ल्ीएजज़्ज़्ज फिर ऐसा काम कभी नही करूगी. सच पूछ तो मैं सुबह मे आपके कमरे मे आई थी तो आप दोनो नंगे थे और सेक्स कर रहे थे जिसे मैं ने देख लिया था तब ही से मे पागल सी हो गयी थी मेरा बदन गरम हो गया था मुझे कुछ समझ नही आ रहा था बीबीजी प्लीज़्ज़ज. मे जोश मे दीवानी हो गयी थी, लक्ष्मी अपनी सफाई देने लगी तो उसने बोला के ठीक है चलो कोई बात नही चलो यह लो और लक्ष्मी ने उसके हाथ से कपड़े लिए और अपने कमरे की ओर भाग गयी. अब पायल मेरे तरफ मुस्कुरा के देखने लगी और बोली के क्यों राजा प्लान कामयाब रहा ना तो मैं ने भी मुस्कुराते हुए थंप्स उप का सिग्नल दिया और बोला के किया वंडरफुल एंट्री मारी है तुम ने भी सही टाइम पे आई हो तो पायल बोली के अरे मैं तो बोहोत देर से देख रही हू जब से वो तुम्हारा मूसल चूस रही थी तो मैं ने सोचा के उसका मज़ा क्यों खराब करू चुदवाने दो उसको भी एक टाइम इस शानदार लंड से तो मैं भी हैरान रह गया के मैं भी उसको अपने जोश मे देख नही पाया. मैं ने पायल को इशारे से अपने पास बुलाया और बोला के आओ टेस्ट करो फ्रेश मलाई है तो वो हस्ने लगी और बोली के नही उसपे लक्ष्मी की चूत का टेस्ट होगा तो मैं ने बोला के अरे पायल चुदाई मे इसका उसका कुछ नही होता आओ और चख के देखो कैसा टेस्ट है और फिर बाद मैं लक्ष्मी को भी तो हमारे मिली जुली क्रीम का टेस्ट करवाना है वो हमारी चुदाई के बाद डाइरेक्ट तुम्हारी चूत से निकलते रस्स को पिएगी. इतनी मेर मे पायल करीब आ गयी थी तो मैं ने उसका हाथ पकड़ के बेड पे खेच लिया और उसका मूह अपने लंड से लगा दिया जिसे वो चूसने लगी और थोड़ी ही देर मे उसका जोश बढ़ने लगा और वो एक दम से मस्ती मे आ गयी और लंड को बड़ी ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी.

मैने पायल के कपड़े निकाल के उसको नंगा कर दिया और उसको अपने लंड पे वैसे ही बिठा लिया जैसे लक्ष्मी बैठी चुद रही थी. अभी पायल की चूत नयी नयी थी इसी लिए लंड थोड़ा टाइट था उसकी चूत मे. लंड पायल की चूत की गहराई मे उतर चुका था और उसको भी वैसे ही पोज़िशन मे चोद रहा था.

उसको झुका के उसके बूब्स को चूस रहा था. पायल एक बार फिर से आउट ऑफ कंट्रोल हो गयी और बोलने लगी आआहह र्र्र्र्र्र्र्र्र्ररराआआजजजज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज ककककककचूऊऊओद्द्द्द्द्दद्ड द्द्द्द्द्द्द्द्दददाआाअलल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्लूऊऊऊओ आआआप्प्प्प्प्प्प्प्प्पंनननिईीईईईई र्र्र्र्र्र्र्ररराआाआआन्न्‍नननननन्न्ँद्द्द्द्द्द्द्द्ददडिईईईईईईईईईई प्प्प्प्प्प्प्पाााआययय्याालल्ल्ल्ल्ल ककककककूऊऊऊओ ऊऊऊओिईईईईईईई म्‍म्म्माआआ ययययययययईईहह म्मूऊवटतत्टटटटत्त्ताआअ ळ्ळ्ळ्ळ्ळुउउउउउउउउन्न्न्न्न्न्न्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द्द प्प्प्प्प्प्पफहाआााद्द्द्द्दद्ड द्द्द्द्द्द्द्द्दददाााआाअलल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्लूऊऊऊऊओ र्र्र्र्र्र्ररराआआआआआआजजजज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्झहह अब मैं भी फुल जोश मे आ गया था और उसको पूरी ताक़त से चोदना चाहता था इसी लिए पोज़िशन चेंज कर के पायल को नीचे पीठ के बल लिटा दिया और उसके ऊपेर आगेया तो ऑटोमॅटिकली पायल के पैर मेरे चूतदो पे कैंची की तरह से लिपट गये और लंड को एक ही धक्के मे उसकी चूत की गहराई मे जड़ तक पेल दिया और घचा घच चोदने लगा. पूरा लंड चूत से बाहर निकाल निकाल के ज़ोर ज़ोर से मार रहा था हप्प्प्प्प्प्प्प हमम्म्मममम उउउउउउउन्न्न्न्न्न्न्न हहाआईईए म्‍म्म्ममाआअरर्र्ररर गगग्गगाआऐईईई कक्चहूओद्दद्डूऊ जैसे आवाज़ों से कमरा गूँज रहा था. मैं फुल स्पीड से तूफ़ानी रफ़्तार से पायल को चोद रहा था दोनो के बदन पेसीने मे शरबूर थे. थोड़ी ही देर पहले पायल को चोद चुका था और भी अभी अभी लक्ष्मी को चोद चुका था इसी लिए मेरी क्रीम निकलने का नाम ही नही ले रही थी और इतनी ज़ोर से और पवरफुल चुदाई से पायल तो ऑलमोस्ट 4 – 5 टाइम झाड़ चुकी थी, उसकी चूत फूल गयी थी, उसकी चूत बे इंतेहा गीली हो गयी थी. मैं उसको दीवानो की तरह से चोद रहा था और जैसे जैसे मुझे लगा के मेरी मलाई निकलने वाली है तो मेरी स्पीड ऑटोमॅटिकली बढ़ गयी. उसको अपने हाथो से टाइट पकड़ के इतनी ज़ोर का झटका मारा के पायल के मूह से ज़ोर दार चीख निकल गयी म्‍म्म्मममममाआआआअरर्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्ररर गगगगगगगगगगगाआआआआईईईईईईईईईईई म्‍म्म्ममममममममाआआआआआआआआआ ईईईईहह र्र्र्र्र्र्ररराआआअजजजज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज ब्ब्ब्ब्ब्ब्बबबाआआसस्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स और इसी झटके के साथ मेरी मलाई निकल के उसकी चूत को भरने लगी. पायल का बदन एक बार फिर से काँपने लगा और मेरी मलाई के गिरते ही उसकी चूत से भी जूस का फव्वारा निकल पड़ा. पायल की चीख के सुनते ही लक्ष्मी कमरे मे दौड़ के आ गयी और देखा के पायल मेरे नंगे बदन के नीचे नंगी पड़ी है

उसकी आँख से खुशी के और प्लेषर के आँसू निकल रहे है और उसकी आँखें बंद है तो मैं ने लक्ष्मी को हाथ के इशारे से करीब बुलाया और जब वो नज़दीक आ गयी तो मैं पायल के ऊपेर से हट गया और मेरे हट ते ही पायल की चूत से हम दोनो का मिला जुला जूस उसकी चूत से बह के नीचे उसकी गंद के क्रॅक मे घुसने लगा. मैं ने लक्ष्मी से बोला के चल पायल की चूत को चाट चाट के सॉफ कर दे तो लक्ष्मी एक मिनिट की देर किए बिना बेड पे चढ़ गयी और पायल की चूत को चाटने लगी. पायल के पैर घुटनो से मुड़े हुए थे उसकी आँखे बंद थी. जैसे ही उसकी चूत पे लक्ष्मी का मूह महसूस हुआ वो चोंक गयी पहले तो समझी के वो मैं हू पर जब देखा के मैं उसके बाज़ू मे लेटा हुआ हू तो उसने थोड़ा सा सर उठा के अपनी टांगो के बीच देखा तो उसे लक्ष्मी नज़र आई. पायल मस्ती मे और चुदाई के और अपने ऑर्गॅज़म के नशे मे इतनी चूर थी के लक्ष्मी का सर अपनी चूत से हटाने का भी होश नही था और वो ऐसे ही पड़ी गहरी गहरी साँसें लेती रही. उधर लक्ष्मी पायल की चूत से निकलते जूस को किसी अमृत की तरह से चाट रही थी और देखते ही देखते पायल एक बार फिर से गरम होने लगी. पायल ने लक्ष्मी का सर पकड़ के अपनी चूत मे घुसा लिया. पायल को एक अनोखा मज़ा आ रहा था. उसकी चूत को कभी किसी लड़की ने नही चॅटा था. पायल अपनी गंद उठा उठा के लक्ष्मी के मूह को चोद रही थी और अपनी चूत को उसके मूह मे रगड़ रही थी. 2 या 3 मिनिट के अंदर ही पायल का बदन ज़ोर ज़ोर से हिलने लगा, उसकी गंद बेड से एक फुट ऊपेर उठ गयी, उसने लक्ष्मी के सर को अपनी चूत मे दबा के पकड़ लिया, उसका बदन अकड़ने लगा और देखते ही देखते वो झड़ने लगी. उसका ऑर्गॅज़म ख़तम होने तक उसकी आँखें बंद रही और गहरी साँस चलती रही. थोड़ी देर मे जब उसका ऑर्गॅज़म ख़तम हुआ तो उसने लक्ष्मी के सर को ऐसे ठप थपाया जैसे किसी छोटे बच्चे के अछा काम करने पर ठप थपाया जाता है. पायल ने लक्ष्मी से बोला थॅंक यू लक्ष्मी आज तू ने मेरे कू एक अनोखा मज़ा दिया. मेरी चूत मे आज तक किसी लड़की ने अपनी जीभ नही डाली थी और हस्ते हुए बोली के तू तो एक दम से पर्फेक्ट है तो लक्ष्मी ने बोला के बीबी जी मुझे भी आपकी चूत से आपका मीठा जूस पीना और आपकी चूत को चाटना बोहोत अछा लगा. उसके बाद लक्ष्मी अपने कमरे मे चली गयी और फिर मैं और पायल यहा मेरे कमरे मे ही सो गये.

एक घंटे के बाद जब आँख खुली तो हम नीचे आ गये और लक्ष्मी से बोला के खाना निकाल दे टेबल पर तो उसने खाना निकाल दिया. मैं और पायल खाना खा रहे थे और लक्ष्मी सर्व कर रही थी. इतने मे पायल ने लक्ष्मी से बोला के चल तू भी उधर एक चेर पे बैठ जा और हमारे साथ ही खाना खा ले. अब पायल को लक्ष्मी पे प्यार आने लगा था. हम तीनो ने साथ खाना खाया. उसके बाद कॉफी पी कर हम टीवी देखने लगे और लक्ष्मी प्लेट्स धोने लगी. थोड़ी ही देर मे लक्ष्मी भी किचन के काम से फ्री

हो और सोफे पे पास ही नीचे फ्लोर पे बैठ के टीवी देखने लगी तो पायल ने बोला के अरे लक्ष्मी चल ऊपेर बैठ जा तो मैं समझ गया के पायल अब लक्ष्मी पे कुछ ज़ियादा ही मेहेरबान हो गयी है तो मैं ने बोला के पायल आज लक्ष्मी को भी अपने साथ ही ले लेते है वो तुम्हारी मालिश कर देगी फिर हमारे सोने के बाद वो अपने कमरे मैं जा के सो जाएगी तो पायल ने बोला के ठीक है चलो कोई बात नही. और हम टीवी बंद कर के बेडरूम मे आ गये.

अब पायल भी बिंदास लक्ष्मी के सामने नंगी हो गयी थी. मैं भी नंगा था. पायल ने लक्ष्मी से बोला के चल अब तू क्या कपड़े पहेन के रहेगी देखती नही के हम दोनो नंगे है तो लक्ष्मी ने मुस्कुरा के अपने कपड़े उतार दिए. मैं दोनो को कमरे मे अकेला छोड़ के बाथरूम मे घुस गया था और शवर ले के आने के बाद देखा तो पायल लक्ष्मी के छोटे छोटे बूब्स को दबा रही थी. पायल को लक्ष्मी के बूब्स बोहोत आछे लगे तो उसने लक्ष्मी के बूब्स को पकड़ के दबाया और बोली के वाह तेरे बूब्स तो बोहोत ही कड़क है. निपल्स को भी पिंच किया. इतनी देर मे लक्ष्मी ने पायल की चूत पे अपना हाथ रख के सहलाना शुरू कर दिया था जिसके चलते पायल ने अपनी टाँगो को खोल दिया था और अपना एक हाथ लक्ष्मी की चूत पे रखा दिया और जब उसको महसूस हुआ के लक्ष्मी की चूत भी एक दम से चिकनी है तो उसने बोला के वाउ लक्ष्मी तू भी अपनी चूत के झांट शेव करती है तो उसने बोला के हा बीबीजी अभी अभी तो आने शुरू हुए है मेरे झांते और मुझे झातें निकाल के अपनी चूत को चिकनी रखना बोहोत अछा लगता है. अब पायल ने लक्ष्मी की चूत मे एक उंगली डाल के उसकी क्लाइटॉरिस की मालिश करना शुरू कर दिया तो देखा के उसकी चूत तो एक दम से गीली हो गयी है, खुद पायल की चूत का भी यही हाल था. उधर लक्ष्मी ने भी अपनी उंगली पायल की चूत के अंदर डाल के अपनी उंगली से उसकी चूत को चोदना चालू कर दिया था. दोनो खड़े खड़े मज़े ले रहे थे तो मैं ने बोला के बेड पे आ जाओ ना और मज़े से एक दूसरे की चूतो को चॅटो. पायल लक्ष्मी की चूत को चाटने थोड़ा शर्मा रही थी तो मैं ने बोला के पायल, सेक्स के मज़े लेना है तो घिंन खाना छोड़ो और गंदगी को गंदगी मत समझो और एक दम से बिंदास लंड और चूत को चॅटो तब ही तो सेक्स के मज़े ले सकती हो और हा सेक्स एक ऐसा खेल है जिसे जितना ज़ियादा गंदगी से खेलो उतना ही ज़ियादा मज़ा आता है तो पायल ने कहा ठीक है; और वो दोनो भी बेड पे चढ़ गयी.

पायल नीचे पीठ के बल लेटी थी और लक्ष्मी उसके ऊपेर. दोनो की टाँगें मूडी हुई थी. लक्ष्मी पायल के ऊपेर झुकी उसकी चूत चाट रही थी जिसे पायल बड़े मज़े से चटवा रही थी और पायल नीचे से अपनी जीभ निकाल के लक्ष्मी की छोटी सी चूत को चाट

रही थी. दोनो थोड़ी ही देर मे एक दम से फुल मस्ती मे आ गये थे पायल नीचे से अपनी गंद उठा उठा के लक्ष्मी के मूह मे अपनी चूत को रगड़ रही थी उसके हाथ लक्ष्मी के सर को ज़ोर से पकड़े हुए थे और लक्ष्मी ऊपेर नीचे हिलते हुए पायल के मूह को अपनी चूत से चोद रही थी. देखते ही देखते दोनो के मूह से उउउउउउउउउन्न्न्न्न्न्न्न्न्न्न गगगगगगगघह जैसी आवाज़ें निकलने लगी और दोनो एक साथ ही झड़ने लगी.थोड़ी देर तक तो मैं दोनो को देखता और फिर एक दम से झुकी हुई लक्ष्मी की चूत मे पीछे से एक ही झटके मे अपना लंड उसकी चूत के अंदर पेल दिया. लक्ष्मी मेरे इस हमले के लिए तय्यार नही थी उसके मूह से हल्की सी चीख निकल गयी सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स आआआआहह और लंड एक ही झटके मे जड़ तक घुस्स गया और मैं फॉरन ही लक्ष्मी को चोदने लगा. मेरे वज़न से लक्ष्मी का बदन नीचे झुक गया और वो ऑलमोस्ट ऐसे गिरी के एक बार फिर से उसकी चूत पायल के आँखो के सामने आ गयी और पायल मेरे मूसल को लक्ष्मी की चूत के अंदर बाहर होता बोहोत ही करीब से देख रही थी और फॉरन ही ऑटोमॅटिकली पायल ने अपनी जीभ बाहर निकाल के मेरे लंड पे अपनी जीभ लगाना शुरू कर दिया. पायल ने मेरे लंड को पकड़ भी लिया था और मेरे लंड पायल के हाथो से फिसल कर लक्ष्मी की चूत के अंदर जा रहा था और बाहर आ रहा था. जब लंड लक्ष्मी की चूत से बाहर निकल रहा था तब पायल ने मेरे लंड को पकड़ लिया और अपने मूह मे ले के चूसने लगी. लक्ष्मी इतनी मस्त हो चुकी थी के मेरा लंड बाहर निकल ने पर भी वो नही रुकी और आगे पीछे हिलती रही जैसे के लंड अभी भी उसकी चूत के अंदर ही है. पायल ने मेरे लंड को चूसा और लंड पे लगे लक्ष्मी की चूत के जूस को भी चॅटा और जब मेरे लंड उसके थूक से भर गया तो उसने लंड के डंडे को पकड़ के सूपदे को लक्ष्मी की चूत के अंदर घुसा दिया और मैं एक बार फिर से लक्ष्मी को धना धन चोदने लगा. लक्ष्मी मेरे हर धक्के से आगे पीछे हो रही थी और ऐसे ही उसका मूह पायल की चूत से लगा हुआ था तो मेरे धक्के के साथ वो पायल की चूत को बोहोत अछी तरह से चाट रही थी. लक्ष्मी एक बार फिर से झड़ने लगी. जितनी देर वो झड़ती रही उसका बदन आकड़ा हुआ रहा उसकी आँखें ऊपेर को चढ़ गयी थी और अब उसके दाँत पायल की चूत के अंदर लग रहे थे जिसके चलते पायल भी ज़ोर दार तरीके से झड़ने लगी. झड़ने से लक्ष्मी की चूत बोहोत ही गीली हो चुकी थी और मुझे उसको चोदने मैं बोहोत ही मज़ा आ रहा था और मैं भी अब छ्छूटने के करीब था तो मेरे झटके तेज़ होते चले गये और मैं लक्ष्मी को दीवानो की तरह से चोद रहा था. एक बार फिर से लक्ष्मी मेरी चुदाई के मज़े लेने लगी और बोली कककचहूओद्दद्ड ददाअल्ल्लूओ ब्बबाआअब्ब्ब्ूऊ आआआअ ईईई र्र्ररर ईईए एम्म्म एयेए र्र ऊऊ आआ ईईइ सस्स्सीईई हह ईईई आआआअहह म्‍म्म्मम एयाया ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ आआआअ एयाया र्र्ररर आआ हह एयाया हह एयेए ईई

बब्ब एयेए बब्ब उउउउ और जैसे एक फाइनल झटका मारा तो लक्ष्मी की चूत का बाढ़ एक बार फिर से टूट गया और वो एक बार फिर से झड़ने लगी. मैं ने पहला फव्वारा तो लक्ष्मी की चूत के अंदर मारा और फिर फॉरन ही लक्ष्मी की चूत से बाहर निकाल के पायल के मूह मैं घुसा दिया. मेरा लंड, मेरे और लक्ष्मी के जूस से गीला हो गया था और चमक रहा था. मैं ने अपने गीले लंड को पायल के मूह मे घुसा दिया और बाकी की मलाई पायल के मूह मे गिरने लगा. मेरे लंड पे से लक्ष्मी की चूत से निकले जूस को पायल चाट रही थी और फुल मज़े ले रही थी.

--

साधू सा आलाप कर लेता हूँ ,

मंदिर जाकर जाप भी कर लेता हूँ ..

मानव से देव ना बन जाऊं कहीं,,,,

बस यही सोचकर थोडा सा पाप भी कर लेता हूँ

आपका दोस्त

राज शर्मा

(¨`·.·´¨) ऑल्वेज़

`·.¸(¨`·.·´¨) कीप लविंग &

(¨`·.·´¨)¸.·´ कीप स्माइलिंग !

`·.¸.·´ -- राज

Mast Marwari Malaai ( MMM )--paart--22

Mere aur Payal ke shower lene lene tak almost 5 baj gaye the. Mai neeche aa gaya aur TV dekhne laga. Payal bhi mere pas hi aa kar baith gayee. Uska chehra sari rat ki mast chudai ki wajah se kisi choudwin ke chaand ki tarah se chamakne laga tha. Aisa lag raha tha jaise ek fresh kali khill ke phool ban gayee hai. Payal ke balo se abhi bhi pani ki boondein tapak rahi thi. Payal be inteha khubsurat lag rahi thi. Dono ko badi zor ki bhook lagi hui thi. Yeh chudai ke baad wali bhook bohot khul ke lagti hai. Laxmi ne khana table pe nikla dia tha aur ham dono table pe baith ke khana khane lage. Laxmi hameh khana paros rahi thi. Jab bhi kuch laane ke liye Laxmi kitchen mai jati to ham ek doosre ko kiss kar lete the. Isi tarah se hamara khana complete ho gaya. Khane ke bad Laxmi coffee le ke aa gayee aur ham TV ke samne baith kar coffee pine lage.

Jab coffee khatam ho gayee to Laxmi coffee ki tray utha ke chali gayee aur idhar ham kiss karte hue TV dekh rahe the

udhar Laxmi kitchen ka kaam complete karne mai lagi hui thi. Payal ne Laxmi ko pukara aur bola ke Laxmi, mere sar mai aur badan mai darad ho raha hai thoda mere badan ki malish kar de na to Laxmi ne bola ke theek hai bibi hath dho ke abhi aati hu. Jab Laxmi wapas ayee to mai ne bola ke Payal mai bhi thodi der apne room mai rest le leta hu tum bhi araam karo aur ho saka to thodi der so jao itna bol ke mai Laxmi ke samne hi ooper apne kamre ki taraf chala gaya. Idhar Payal laxmi ko le ke apne kamre mai aa gayee aur phir Laxmi se apne badan ki malish karwane lagi. Laxmi bohot achi tarah se Payal ke badan ki malish kar rahi thi. Thodi hi der mai Payal ke badan ka sara darad jata raha aur wo relax feel karne lagi. Waise to Payal ko kuch bhi nahi ho raha tha, yeh to hamare plan ka ek hissa tha. Phir bhi Laxmi ke malish karne se Payal kuch ziada hi relax ho gayee aur apni aankhein band kar li aur Laxmi se boli ke wo jaye aur thoda wo bhi araam kar le aur Payal khud gehri gehri saansein lene lagi aur aankhein band karke sone ka natak karne lagi.

Laxmi thodi der wahi khade hue Payal ke gadraye hue badan ko bade pyar se dekhti rahi aur niharti rahi aur yeh sochne lagi ke kal raat ki chudai se uski choot kaise dabal roti ki tarah se phool gai hogi par usne nighty utha ke dekhna munasib nahi samjha. Jab Laxmi ko yakeen ho gaya ke Payal gehri neend so chuki hai aur ab jaldi uthne wali nahi hai aur yeh chudwane ka golden chance hai to wo kamre se baher nikli aur almost doudti hui ooper aa gayee. Payal ko jaise hi uske ooper doudne ki awaz ayee to usne aankhein khol di aur kuch time ka intezar karne lagi.

Mai patke kapde ke boxers shorts aur banyan pehna hua tha. Ooper aane ke bad mai apne bistar mai let gaya tha aur aankhein band kar ke apne chudai ke scenes ko soch raha tha aur aise hi sochte sochte mera Lund ek bar phir se akad gaya tha aur shorts ke ander tamboo bana chuka tha. Mere kamre ka door khula aur Laxmi nangi hi mere kamre mai aa gayee aur doudte hue mere bed pe chad gayee aur mere badan ke ooper baith ke mujhe be tahasha choomne lagi. Mera Lund kuch aur erect ho ke lohe jaisa sakht ho chuka tha. Laxmi mere thighs pe baithi thi aur apne dono hatho se mere shorts ke ander side se hath dal ke shorts ko neeche ki or khech dia. Elastic hone ki wajah se mera short neeche khisak gaya aur mera tan tana ta hua Lund baher nikal ke lehrane laga jise Laxmi ne apne hatho mai pakad ke daba dia aur jhuk ke choosne lagi. Apni gand ko

thoda sa utha ke mere shorts ko neeceh ki or khech dia aur apne hath peeche kar ke shorts ko mere pairo se baher nikal dia. Phir jhuk ke aise hi dono hatho se mere banyan ko bhi nikal dia aur mujhe nanga kardia. Ek bar phir se Laxmi peeche ko sarak ke mere thighs se neeche mere pairo pe baith gayee aur jhuk ke Lund ko kisi lolly pop ki tarah se choosne lagi. Laxmi sach mai vasna ki aag mai jal ke deewani ho gayee thi aur kisi bhi haal mai chudwana chahti thi. Uski choot ek dum se geeli ho chuki thi. wo apni jagah se uthi aur mere Lund ko pakad ke apni choot ke surakh se tika dia aur ek jhatke mai poori takat se Lund pe baith gayee. Lund ghachak se uski geeli choot mai poora ander tak ghuss gaya. Itne dino ki chudai ke bad Laxmi ab mere Lund se chudwane ke baad uski choot mere Lund se adjust ho chuki thi. Ab Laxmi mere Lund ke ooper baith kar uchalne lagi to mai ne uske hilte hue boobs ko pakad ke masal dala aur usko apne ooper jhuka lia aur boobs ko choosne laga. Wo kisi jockey ki tarah se mere Lund ki sawari ka rahi thi aur mai uski choot ko apni gand utha utha ke ander tak apne Lund ko pel raha th. Laxmi itni garam ho gayee thi ke mujhe bhi usko chodne mai bada mazza aa raaha tha. Laxmi ke muh se masti ki siskariyan nikal rahi thi aaaaaahhhhhhhhhhhh rrrrraaaaaaaaaajjjjjjjjjjjjjjjjjjjaaaaaaaaaaa aaaaaaaaaiiiiissssssseee hhhhhheeeeeeeeeee aaaaahhhhhhhhhhh kkkkkkkkiiiiiaaaaaaa mmmmmmmmaaaaaaasssssssttttttttt llllluuuuuuuunnnnnnnnndddd haaaaaaaeeeeeee jjjjjjaaannnnnnnaaatttttttttt kkkkkaaaaaaaa mmmmmaaaaaazzzzzzzzaaaaaaaaaa aaaaaarrrrrrraaaahhhhhaaaa hhhhaaaaaeeeeeee bbbbbbbbaaaaaaaabbuuuuuuu kkkkiiiaaaaa LLLLLLuuuuunnnddddd hhhhhhhaaaaaa. Laxmi chatkhare bharte hue pagalo ki tarah mere Lund ki sawari kar rahi thi uske bal hawa mai uchal rahe the aur dekhte hi dekhte uska badan akad gaya aur wo mere se bohot zor se lipat gayee aur jhadne lagi. Uski choot ki grip mere Lund pe kuch itni tight thi ke mere Lund se bhi malayee ki gaadhi gaadhi pichkari nikal ne uski choot ko bharne lagi. Laxmi kuch itne josh se chudwa rahi thi aur mujhe bhi bohot hi maza aa raha tha ke mai plan ke bare mai sab kuch bhul gaya tha aur mai ne bhi dhayan nahi dia ke Payal kab ooper kamre mai aa gayee. Payal ke ek hath mai Laxmi ka skirt aur doosre hath mai uska top tha. Wo kamre ke ander khadi ham dono ko dekh rahi thi. Meri nazar Payal par padi to mai ne Laxmi ko apne badan se dhakka de ke hatana chaha. Isi beech Laxmi ki nazar bhi Payal pe padi aur uske

hatho mai apne kapde dekh ke uske hosh hi udd gaye. Actually Laxmi chudwane ke liye kuch itni ziada utaoli ho rahi thi ke seedhion pe chadte chadte usne apne top nikala aur skirt ko khol dia tha aur mere kamre tak aate aate usne dono cheezo ko wahi raste mai hi phenk dia tha.

Payl ko dekh ke to Laxmi ki jaan hi nikal gayee aur wo mere Lund par se neeche utri to uski choot mai jama hua uska juice aur mere Lund se nikli malayee uske pairo ke androoni hisse se neeche behne lagi. Laxmi doudti hui Payal ke pairo mai gir padi aur boli ke mujhe maaf kardo bibi pleejjjj mujjhe maaf kardo pleeejjjj phir aisa kaam kabhi nahi karugi. Sach pooch to mai subah mai aapke kamre mei ayi thi to aap dono nange the aur sex kar rahe the jise mai ne dekh lia tha tab hi se mei pagal si ho gayee thi mera badan garam ho gaya tha mujhe kuch samajh nahi aa raha tha bibiji pleejjj. Mei josh mai deewani ho gayee thi, Laxmi apni safayee dene lagi to usne bola ke theek hai chalo koi bat nahi chalo yeh lo aur Laxmi ne uske hath se kapde liye aur apne kamre ki or bhag gayee. Ab Payal mere taraf muskura ke dekhne lagi aur boli ke kyon raja plan kamyab raha na to mai ne bhi muskurate hue thumps up ka signal dia aur bola ke kia wonderful entry mari hai tum ne bhi sahi time pe ayi ho to Payal boli ke arey mai to bohot der se dekh rahi hu jab se wo tumhara musal choos rahi thi to mai ne socha ke uska maza kyon kharab karu chudwane do usko bhi ek time iss shandar Lund se to mai bhi hairan reh gaya ke mei bhi usko apne josh mai dekh nahi paya. Mai ne payal ko ishare se apne pas bulaya aur bola ke aaoo taste karo fresh malayee hai to wo hasne lagi aur boli ke nahi uspe Laxmi ki choot ka taste hoga to mai ne bola ke arey Payal chudai mai iska uska kuch nahi hota aao aur chhak ke dekho kaisa taste hai aur phir bad mai Laxmi ko bhi to hamare mili juli cream ka taste karwana hai wo hamari chudai ke bad direct tumhari choot se nikalte rass ko piyegi. Itni mer mai Payal kareeb aa gayee thi to mai ne uska hath pakad ke bed pe khech lia aur uska muh apne Lund se laga dia jise wo choosne lagi aur thodi hi der mai uska josh badhne laga aur wo ek dum se masti mai aa gayee aur Lund ko badi zor zor se choosne lagi.

Maine Payal ke kapde nikal ke usko nanga kar dia aur usko apne Lund pe waise hi bitha lia jaise Laxmi baithi chudwa rahi thi. Abhi Payal ki choot nayee nayee thi isi liye Lund thoda tight tha uski choot mai. Lund payal ki choot ki gehrayee mai utar chuka tha aur usko bhi waise hi position mai chod raha tha.

Usko Jhuka ke uske boobs ko choos raha tha. Payal ek bar phir se out of control ho gayee aur bolne lagi aaaahhhhhhhhhh rrrrrrrrrrrraaaaaajjjjjjjjjjjjjjjjj ccccccchhhhhhhhhhooooooodddddddd dddddddddddaaaaaaalllllllllooooooooo aaaaaappppppppppnnnniiiiiiii rrrrrrrrrraaaaaaaaaannnnnnnnnndddddddddddiiiiiiiiiiii ppppppppaaaaaaaayyyyaaaallllll kkkkkkooooooooo oooooooiiiiiiiiii mmmmaaaaaa yyyyyyyyeeeeeeehhhhhhhhh mmooooottttttttttaaaaa LLLLLuuuuuuuuunnnnnnnddddddddddddd pppppppphhhhhhaaaaaaaaddddddd dddddddddddaaaaaaaaaaallllllllllooooooooooo rrrrrrrrraaaaaaaaaaaaaajjjjjjjjjjjjhhhhhhhhhhhhhh ab mai bhi full josh mai aa gya tha aur usko poori takat se chodna chahta tha isi liye position change kar ke payal ko neeche peeth ke bal lita dia aur uske ooper aagaya to automatically payal ke pair mere chootado pe kainchi ki tarah se lipat gaye aur Lund ko ek hi dhakke mai uski choot ki gehrayee mai jadd tak pel dia aur ghacha ghach chodne laga. Poora lund choot se baher nikal nikal ke zor zor se mar raht tha hhhhhpppppppp hhhhhhhmmmmmmm uuuuuuunnnnnnnn hhhhhaaaaeeeee mmmmmaaaaarrrrrr gggggaaaaaeeeeee ccchhhhoooddddoooo jaise awazon se kamra goonj raha tha. Mai full speed se toofani raftaar se payal ko chod raha tha dono ke badan peseene mai sharaboor the. Thodi hi der pehle Payal ko chod chuka tha aur bhi abhi abhi Laxmi ko chod chuka tha isi liye meri cream nikalne ka naam hi nahi le rahi thi aur itni zor se aur powerful chudai se payal to almost 4 – 5 time jhad chuki thi, uski choot phool gayee thi, uski choot be inteha geeli ho gayee thi. Mai usko deewano ki tarah se chod raha tha aur jaise jaise mujhe laga ke meri malayee nikalne wali hai to meri speed automatically badh gayee. Usko apne hatho se tight pakad ke itni zor ka jhatka mara ke payal ke muh se zor daar cheekh nikal gayee mmmmmmmmaaaaaaaaarrrrrrrrrrrrrrrrrrrr gggggggggggaaaaaaaaaaeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeee mmmmmmmmmmmaaaaaaaaaaaaaaaaaaaa eeeeeeeeehhhhhhhh rrrrrrrrraaaaaaajjjjjjjjjjjj bbbbbbbbbaaaaaasssssssssssss aur isi jhatke ke sath meri malayee nikal ke uski choot ko bharne lagi. Payal ka badan ek baar phir se kaanpne laga aur meri malayee ke girte hi uski choot se bhi juice ka fawwara nikal pada. Payal ki cheekh ke sunte hi Laxmi kamre mai doud ke aa gaye aur dekha ke payal mere nange badan ke neeche nangi padi hai

uski aankh se khushi ke aur pleasure ke aansoo nikal rahe hai aur uski aankhein band hai to mai ne Laxmi ko hath ke ishare se kareeb bulaya aur jab wo nazdeek aa gayee to mai Payal ke ooper se hat gaya aur mere hat te hi payal ki choot se ham dono ka mila jula juice uski choot se beh ke neeche uski gand ke crack mei ghusne laga. Mai ne Laxmi se bola ke chal payal ki choot ko chaat chaat ke saaf kar de to Laxmi ek minute ki der kiye bina bed pe chhad gayee aur Payal ki choot ko chaatne lagi. Payal ke pair ghutno se mude hue the uski aankhain band thi. Jaise hi uski choot pe Laxmi ka muh mehsoos hua wo chonk gayee pehle to samjhi ke wo mai hu par jab dekha ke mai uske bazoo mai leta hua hu to usne thoda sa sar utha ke apni tango ke beech dekha to use Laxmi nazar ayee. Payal masti mai aur chudai ke aur apne orgasm ke nashe mai itni chhoor thi ke Laxmi ka sar apni choot se hataane ka bhi hosh nahi tha aur wo aise hi padi gehri gehri saansein leti rahi. Udhar Laxmi payal ki choot se nikalte juice ko kisi amrut ki tarah se chaat rahi thi aur dekhte hi dekhte payal ek bar phir se garam hone lagi. Payal ne Laxmi ka sar pakad ke apni choot mai ghusa lia. Payal ko ek anokha maza aa raha tha. Uski choot ko kabhi kisi ladki ne nahi chaata tha. Payal apni gand utha utha ke Laxmi ke muh ko chod rahi thi aur apni choot ko uske muh mai ragad rahi thi. 2 ya 3 minute ke ander hi Payal ka badan zor zor se hilne laga, uski gand bed se ek foot ooper uth gayee, usne Laxmi ke sar ko apni choot mai daba ke pakad lia, uska badan akadne laga aur dekhte hi dekhte wo jhadne lagi. Uska orgasm khatam hone tak uski aankhein band rahi aur gehri saans chalti rahi. Thodi der mai jab uska orgasm khatam hua to usne Laxmi ke sar ko aise thap thapaya jaise kisi chote bache ke acha kaam karne par thap thapaya jata hai. Payal ne Laxmi se bola the thank you Laxmi aaj tu ne mere ku ek anokha maza dia. Meri choot mai aaj tak kisi ladki ne apni jeebh nahi dali thi aur haste hue boli ke tu to ek dum se perfect hai to Laxmi ne bola ke bibi ji mujhe bhi aapki choot se aapka meetha juice pina aur aapki choot ko chaatna bohot acha laga. Uske bad Laxmi apne kamre mai chali gayee aur phir mai aur Payal yaha mere kamre mai hi so gaye.

Ek ghante ke bad jab aankh kuli to ham neeche aa gaye aur Laxmi se bola ke khana nikal de table par to usne khana nikal dia. Mai aur payal khana kha rahe the aur Laxmi serve kar rahi thi. Itne mai Payal ne Laxmi se bola ke chal tu bhi udhar ek chair pe baith ja aur hamare sath hi khana kha le. Ab Payal ko Laxmi pe pyar aane laga tha. Ham teeno ne sath khana khaya. Uske bad coffee pee kar ham TV dekhne lage aur Laxmi plates dhone lagi. Thodi hi der mai Laxmi bhi kitchen ke kaam se free

ho aur sofe pe pas hi neeche floor pe baith ke TV dekhne lagi to Payal ne bola ke arey Laxmi chal ooper baith ja to mai samajh gaya ke Payal ab Laxmi pe kuch ziada hi meherban ho gayee hai to mai ne bola ke Payal aaj Laxmi ko bhi apne sath hi le lete hai wo tumhari malish kar degi phir hamare sone ke bad wo apne kamre mai ja ke so jayegi to payal ne bola ke theek hai chalo koi bat nahi. Aur ham TV band kar ke bedroom mai aa gaye.

Ab payal bhi bindaas Laxmi ke samne nangi ho gayee thi. Mai bhi nanga tha. Payal ne Laxmi se bola ke chal ab tu kia kapde pehen ke rahegi dekhti nahi ke ham dono nange hai to Laxmi ne muskura ke apne kapde utar diye. Mei dono ke kamre mai akela chhor ke bathroom mai ghus gaya tha aur shower le ke aane ke bad dekha to Payal Laxmi ke chote chote boobs ko daba rahi thi. Payal ko Laxmi ke boobs bohot ache lage to usne Laxmi ke boobs ko pakad ke dabaya aur boli ke wah tere boobs to bohot hi kadak hai. Nipples ko bhi pinch kia. Itni der mai Laxmi ne Payal ki choot pe apna hath rakh ke sehlaana shuru kar dia tha jiske chalte Payal ne apni tango ko khol dia tha aur apna ek hath Laxmi ki choot pe rakha dia aur jab usko mehsoos hua ke Laxmi ki choot be ek dum se chikni hai to usne bola ke wow Laxmi tu bhi apni choot ke jhant shave karti hai to usne bola ke haa bibiji abhi abhi to aane shuru hue hai mere jhante aur mujhe jhatein nikal ke apni choot ko chikni rakhna bohot acha lagta hai. Ab payal ne Laxmi ki choot mai ek ungli dal ke uski clitoris ki malish karna shuru kar dia to dekha ke uski choot to ek dum se geeli ho gayee hai, khud payal ki choot ka bhi yehi haal tha. Udhar Laxmi ne bhi apni ungli Payal ki choot ke ander dal ke apni ungli se uski choot ko chodna chalu kar dia tha. Dono khade khade maze le rahe the to mai ne bola ke bed pe aa jao na aur maze se ek doosre ki chooto ko chaato. Payal Laxmi ki choot ko chaatne thoda sharma rahi thi to mai ne bola ke Payal, Sex ke maze lena hai to ghinn khana chhoro aur gandagi ko gandagi mat samjho aur ek dum se bindas Lund aur choot ko chaato tab hi to sex ke maze le sakti ho aur haa sex ek aisa khel hai jise jitna ziada gandagi se khelo utna hi ziada maza aata hai to Payal ne kaha theek hai; aur wo dono bhi bed pe chhad gayae.

Payal neeche peeth ke bal leti thi aur Laxmi uske ooper. Dono ki tangein mudi hui thi. Laxmi payal ke ooper jhuki uski choot chaat rahi thi jise Payal bade maze se chatwa rahi thi aur payal neeche se apni jeebh nikal ke Laxmi ki choti si choot ko chaat

rahi thi. Dono thodi hi der mai ek dum se full masti mai aa gaye the Payal neeche se apni gand utha utha ke Laxmi ke muh mai apni choot ko ragad rahi thi uske hath Laxmi ke sar ko zor se pakde hue the aur Laxmi ooper neeche hilte hue Payal ke muh ko apni choot se chod rahi thi. dekhte hi dekhte dono ke muh se uuuuuuuuunnnnnnnnnnn gggggggghhhhhhhh jaisi aawazein nikalne lagi aur dono ek sath hi jhadne lagi.Thodi der tak to mai dono ko dekhta aur phir ek dum se jhuki hui Laxmi ki choot me peeche se ek hi jhatke mai apna Lund uski choot ke ande pel dia. Laxmi meri iss hamle ke liye tayyar nahi thi uske muh se halki si cheekh nikal gayee sssssssssssssssssss aaaaaaaahhhhhhhhhhhhhhh aur Lund ek hi jhatke mai jadd tak ghuss gaya aur mai foran hi Laxmi ko chodne laga. Mere wazan se Laxmi ka badan neeche jhuk gaya aur wo almost aise giri ke ek bar phir se uski choot Payal ke aankho ke samne aa gaye aur Payal mere Musal ko Laxmi ki choot ke ander baher hota bohot hi kareeb se dekh rahi thi aur foran hi automatically Payal ne apni jeebh baher nikal ke mere Lund pe apni jeebh lagans shuru kar dia. Payal ne mere Lund ko pakad bhi lia tha aur mere Lund Payal ke hatho se phisal kar Laxmi ki choot ke ander ja raha tha aur baher aa raha tha. Jab Lund Laxmi ki choot se baher nikal raha tha tab Payal ne mere Lund ko pakad lia aur apne muh mai le ke choosne lagi. Laxmi itni mast ho chuki thi ke mera Lund baher nikal ne par bhi wo nahi ruki aur aage peeche hilti rahi jaise ke Lund abhi bhi uski choot ke ander hi hai. Payal ne mere Lund ko choosa aur Lund pe lage Laxmi ki choot ke juice ko bhi chaata aur jab mere Lund uske thook se bhar gaya to usne Lund ke dande ko pakad ke supade ko Laxmi ki choot ke ander ghusa dia aur mai ek bar phir se Laxmi ko dhana dhan chodne laga. Laxmi mere har dhakke se aage peeche ho rahi thi aur aise hi uska muh Payal ki choot se laga hua tha to mere dhakke ke sath wo Payal ki choot ko bohot achi tarah se chaat rahi thi. Laxmi ek bar phir se jhadne lagi. Jitni der wo jhadti rahi uska badan akda hua raha uski aankhein ooper ko chhad gayee thi aur ab uske dant Payal ki choot ke ander lag rahe the jiske chalte Payal bhi zor dar tareeke se jhadne lagi. Jhadne se Laxmi ki choot bohot hi geeli ho chuki thi aur mujhe usko chodne mai bohot hi maza aa raha tha aur mei bhi ab chhootne ke kareeb tha to mere jhatke tez hote chale gaye aur mai Laxmi ko deewano ki tarah se chod raha tha. Ek bar phir se Laxmi meri chudai ke maze lene lagi aur boli cccchhhooodddd ddaaalllooo bbbaaaaabbboooo aaaaaaa eeeeeee rrrrr eeeee mmmm aaa rrr oooo aaaa iiii sssseeeeee hhhhhh eeeeeee aaaaaaahhhhhhhh mmmmm aaaaa zzzzz aaaaaaa aaaaa rrrrr aaaa hhhhh aaaaa hhhh aaa eeee

bbb aaa bbb uuuu aur jaise ek final jhatka mara to Laxmi ki choot ka baadh ek bar phir se toot gaya aur wo ek bar phir se jhadne lagi. Mei ne pehla fawwara to Laxmi ki choot ke ander mara aur phir foran hi Laxmi ki choot se baher nikal ke Payal ke muh mai ghusa dia. Mera Lund, mere aur Laxmi ke juice se geela ho gaya tha aur chamak raha tha. Mai ne apne geele Lund ko Payal ke muh mai ghusa dia aur baki ki malayee payal ke muh mei girane laga. Mere Lund pe se Laxmi ki choot se nikle juice ko payal chaat rahi thi aur full maze le rahi thi.