Recession Ki Maar -रिसेशन की मार compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit webvitaminufa.ru
rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Recession Ki Maar -रिसेशन की मार

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 16:16

रिसेशन की मार पार्ट--13

गतान्क से आगे..........

राज भी वैसे ही पलट के बेड पेर लेट गया और मुझे अपनी बाँहो मे पकड़ के बोहोत ही सेक्सी आवाज़ मे बोला के थॅंक्स स्नेहा फॉर एवेरतिंग. आइ लव यू सो मच हनी. यू आर दा बेस्ट. तुम बोहोत ही अछी हो सच बोल रहा हू के आज तक अपनी वाइफ से मुझे वो सुकून और मज़ा नही मिला जो तुमने मुझे दिया है आंड आइ आम रियली थॅंकफुल टू यू तो मैं ने उसके लिप्स पे एक पॅशनेट किस करते हुए कहा के आइ आम ऑल युवर्ज़ मेरे प्यारे प्यारे राजा, मैं तो तुम्हारे ऐसे मस्त लंड की दीवानी हो चुकी हू, मैं ने कभी ख्वाब मे भी ऐसे लंड से चुदवाने का सोचा भी नही था और तुमने जैसा मुझे चोदा है वो मैं ज़िंदगी भर नही भूल सकती और अब यह स्नेहा अब तुम्हारी है, स्नेहा की एक एक साँस मेरे राजा के लिए है, मैं अब सिर्फ़ और सिर्फ़ तुम्हारी ही हू डू वॉटेवर, व्हेवनेवेर आंड वहेरएवे यू वॉंट.

हम दोनो एक दूसरे की बाँहो मे बाहें डाले, एक दूसरे को किस करते हुए लेटे रहे फिर राज उठ गया और हम एक बार फिर से शवर लेने बाथरूम मे घुस गये. एक बार फिर एक दूसरे को साबुन लगाया और रगड़ रगड़ के धोया. मुझे अपनी गंद मे जलन और दरद महसूस हो रहा था तो मैं एक प्लास्टिक के टब मे गरम पानी भर के उस्मै थोड़ी देर बैठ गयी और गरम पानी की सेक से फटी हुई गंद को कुछ आराम मिला. शवर ले केबाहर आए तो राज जाने के लिए रेडी हो रहा था. उसने अपनी जेब से निकाल के मुझे एक मोबाइल दिया और एक पेपर पे उसका नंबर भी लिख दिया के यह मेरे लिए है और इस्मै अभी बॅलेन्स वन थाउज़ंड रुपीज़ है, जब ख़तम हो जाएगा तो वो उसको री चार्ज करवा देगा तो मैं ने उसको थॅंक्स बोला और उसका एक किस लिया. राज अब रूम से बाहर चला गया. उसको जाता देख के मेरी आँखो मे आँसू आ गये. राज ने मुझे विश किया और कल सुबह के इंटरव्यू के लिए बेस्ट ऑफ लक बोला और रूम से बाहर निकल गया. मैने रूम को अंदर से लॉक किया और बेड पे गिर गयी और फूट फूट के रोने लगी. अब इस टाइम पे मुझे सतीश की याद बोहोत ही आने लगी के मैं ने सतीश के साथ बेवफ़ाई की है. आइ ब्रोक हिज़ ट्रस्ट इन मी. सतीश प्लीज़ मुझे माफ़ करदो, आइ अम रीअलि वेरी वेरी सॉरी सतीश फॉर वॉटेवर हॅपंड. मैं अपने आप मे नही थी सतीश प्लीज़ फर्गिव मे. मुझे बोहोत अफ़सोस हुआ पर अब कुछ नही कर सकती थी. मैं जो एक ग़लती अंजाने मे कर चुकी थी वो तो कर ही चुकी थी अब क्या हो सकता था. मैं ने अपने दिल को तसल्ली दी और सोच लिया के इस को अपनी प्राइवेट और सीक्रेट लाइफ ही रहने देना चाहिए. फिर मैं ने अपने दिल की आवाज़ से सतीश को कहा के तुम भी अपनी कोई सीक्रेट लाइफ बना लो सतीश और तुम भी किसी लड़की को चोद डालो तो हमारा हिसाब बराबर हो जाएगा और हा आइ आम

टोटली आउट ऑफ युवर सीक्रेट लाइफ सतीश. फिर मैं ने अपने दिल को ऐसे तसल्ली दी के सतीश भी किसी लड़की के साथ है और वो उसके साथ उसके इलेजिटिमेट अफेर्स है और वो भी अपनी सीक्रेट लाइफ मे मस्त है. यह सोच के मुझे थोड़ा इत्मेनान हुआ और थोड़ी देर रोने के बाद दिल का गुबार कुछ कम हुआ तो मॅन हल्का हुआ और फिर मैं ऐसे ही लेटे लेटे गहरी नींद सो गयी.

सुबह डोर बेल पे आँख खुली, टाइम देखा तो 8 बज रहे थे, मैं हड़बड़ा के उठी और डोर खोला तो रूम बॉय था रूम की सफाई करने आया था तो मैं ने बोला के मैं थोड़ी देर मे जाने वाली हू, के नीचे काउंटर पे दे दूँगी तो तुम सफाई कर लेना, उसने ओके मेडम बोला और वापस चला गया. रात की चुदाई और गंद के फटने से मेरा सारा बदन दरद कर रहा था पर इंटरव्यू का याद आते ही सारी तकलीफ़ दूर हो गयी और मैं बाथरूम मे घुस गयी. ब्रश किया और गरम पानी का शवर लिया तो बदन थोड़ा हल्का महसूस हुआ. बाहर निकली, बदन को टवल से ड्राइ किया और शवर गाउन पहेन लिया. पहले सोचा के नीचे जा के ब्रेकफास्ट ले लू फिर ख़याल आया के नीचे जाने के ब्रेकफास्ट लेने मे टाइम लगेगा इतनी देर मे मैं अपना कुछ और काम कर सकती हू, मैं ने नीचे फोन किया और रूम बॉय से बोला के मुझे ब्रेकफास्ट यही रूम मे दे दो उसने बोला के ओके मेडम अभी लाता हू और फोन रख दिया. थोड़ी देर मे ही वो ब्रेकफास्ट की ट्रे और कॉफी पॉट ले के आ गया. मैं ने उसको थॅंक्स बोला और ब्रेकफास्ट करने बैठ गयी. मैं ने जल्दी जल्दी ब्रेकफास्ट किया, कॉफी पीते पीते मेक अप करने लगी. कॉफी बोहोत ही अछी थी पीने से तबीयत फ्रेश लगने लगी. इंटरव्यू के लिए सेलेक्टेड किया हुआ क्रीम बॅकग्राउंड पर छोटे छोटे पिंक फ्लवर वाली मिडी टाइप की स्कर्ट और क्रीम कलर पर पोल्का डॉट की चोली जिस्मै नीचे से नाट डालने के लिए थोड़ा कपड़ा लटक रहा था निकाला और बेड पे रखा और तय्यारी मे लग गयी. मुझे रेडी होना था और 10:30 ए.एम. को इंटरव्यू के लिए जाना था. मैं ने ब्रस्सिएर और पॅंटी पहनी और फिर सेलेक्टेड कपड़े पहेन के लाइट मेक अप क्या, गालो पे हल्के से गुलाबी शेड का ग्लो दिया और लाइट लिपस्टिक लगा के अपने बालो को एक जुड़ा बनाया, उस्मै पिन्स लगाए, सॅंडल पहेने और मैं रेडी हो गयी. अपने आप को मिरर मे हर आंगल से देखा तो मैं बोहोत ही खूबसूरत लग रही थी और मेरी चोली मे से मेरे आधे बूब्स भी दिखाई दे रहे थे और मेरे बूब्स का क्लीवेज भी बोहोत अछा बन रहा था, मुझे अपने आप पे प्यार आ गया और मैं मिरर मे अपने आप को एक फ्लाइयिंग किस देते हुए आँख मारी और बोला के स्नेहा यू आर लुकिंग डॅशिंग. मैं फिल्म बॉब्बी की बॉब्बी की तरह ही मासूम और यंग दिख रही थी.

सुबह के 10:00 ए.एम. को मैं रेडी थी, सोचा के बाहर धूप बोहोत होगी इसी लिए अपने गॉगल्स लगाए और अपनी फाइल उठा के रूम के बाहर आ गयी. नीचे उतार के काउंटर पे आई तो मुन्ना भाई बैठे थे.

मुझे इंटरव्यू के लिए बेस्ट ऑफ लक बोला तो मैं ने मुस्कुरा के थॅंक्स बोला और रूम की चाबी देते हुए बोला के मुन्ना भाई सुबह रूम बॉय को मैं ने सफाई से रोक दिया था, अब मैं बाहर जा रही हू आप प्लीज़ रूम की सफाई करवा दीजिए और ब्रेकफास्ट ट्रे भी अंदर ही रखी है वो भी उठ वा लीजिए तो उसने बोला के मेडम कोई बात नही आप कोई चिंता मत कीजिए आराम से जाइए सब काम हो जाएगा.

मैं होटेल के बाहर निकली तो देखा के अभी उतनी गर्मी स्टार्ट नही हुई थी और फिर वाहा रोड पे इतनी बड़ी बड़ी बिल्डिंग्स के शेड पड़ रहे थे तो सन डाइरेक्ट मुझे नही लग रहा था. मैं 10 मिनिट के अंदर ही उस बिल्डिंग मे आ गयी जहा मुझे जाना था. अंदर आ के लिफ्ट से ऊपेर 10थ फ्लोर पे चली गयी. सामने ही आर.के. इंडस्ट्रीस का ऑफीस का बोर्ड दिखाई दिया तो मेरा दिल धक धक करने लगा. सामने फ्रामेलसस ग्लास का ऑटोमॅटिक दूर था जो मेरे करीब जाने से औटोंटिकल्ली खुल गया. यह एक बड़े साइज़ का रूम था जहा सोफे पड़े हुए थे और एर कंडीशन चल रहा था. अंदर काउंटर पे एक बोहोत ही खूबसूरत लड़की बैठी थी जिसे मैं ने विश किया और बोला के मैं इंटरव्यू के लिए आई हू तो उसने मुझे मुस्कुरा के देखा और बोला के मेडम आप वाहा सोफे पे बैठ जाइए और वाहा लिस्ट लगी है आप अपना नाम और नंबर चेक कर लीजिए इंटरव्यू तो 3 दिन तक चलेगे पर आपका नंबर कभी भी आ सकता है मे बी टुडे, मेबी टुमॉरो ओर मेबी आफ्टर टुमॉरो तो मैं ने हैरत से बोला के अछा 3 दिन तक चलेगा तो उसने बोला के हा मेडम ऑलमोस्ट 70 लड़कियाँ है इंटरव्यू के लिए आंड यू आर दा फर्स्ट वन टू अराइव उसने मुस्कुराते हुए बोला. मैं ने पूछा के एमडी का नाम क्या है तो उसने बोला के सी.डी. ख़ान. मेरी समझ मे नही आया तो उसने बोला के दिलदार ख़ान लैकिन सब उनको डीके ही पुकारते है. फिर मैं ने पूछा के वो कैसे है तो उसने मुस्कुराते हुए बोला के आप खुद ही देख लेंगी थोड़ी ही देर मे क्यों के मैं ने उनको शाएद 2 या 3 बार ही देखा है, मैं आक्च्युयली ऊपेर ऑफीस मे काम करती हू और मैं यहा बस टेंपोररी आई हू. आर.के. इंडस्ट्रीस के यहा 3 फ्लोर्स पे ऑफिसस है और उनके रूम मे पीछे से एक प्राइवेट एंट्रेन्स है, वो वही से अपने रूम मे आ जाते है और जब तक काम करना होता है वही बैठ ते है और उनके रूम के अंदर ही उनकी प्राइवेट सेक्रेटरी का भी ऑफीस है, अपना काम ख़तम करके वो वही से वापस भी चले जाते है. मैं ने थॅंक्स बोला और एक सोफे पे बैठ गयी. बहुत ही कंफर्टबल सोफे थे. 3 – 3 सीटर के सोफे के स्क्वेर सेट पड़े हुए थे और उनके बीच मे सेंटर टेबल थी जहा बोहोत से मॅगज़ीन्स और न्यूज़ पेपर रखे हुए थे. मैं ने भी एक मॅगज़ीन उठा लिया और पढ़ने लगी. शायद 2 या 3 मिनिट के अंदर ही और लड़कियाँ आनी स्टार्ट हो गयी. अफ क्या बताउ कैसे कैसे ड्रेसिंग कर के आई थी, एक से बढ़ कर एक. सब ही अपनी बॉडी के पार्ट्स जितना ज़ियादा दिखा सकती थी दिखा रही थी. इनकी ऐसी बोल्ड और मॉडर्न

ड्रेसिंग देख के मुझे अपनी ड्रेसिंग बोहोत ही वीक और कन्सर्वेटिव और पुराने ज़माने की लगी. खैर मैं बैठ गयी. ऑलमोस्ट ऑल लड़कियाँ मुंबई से ही थी, कुछ पूना से आई थी, कुछ मुंबई के आउट्स्कियर्ट से. मुझे लगा के शाएद मैं अकेली ही आउट ऑफ मुंबई आई हू. नेक्स्ट 10 मिनिट्स के अंदर ही ऑलमोस्ट सभी लड़कियाँ आ चुकी थी. एग्ज़ॅक्ट्ली 10:30 ए.एम. को उस काउंटर वाली लड़की के पास एक बज़्ज़र बजा तो उसने आन्सर किया और गुड मॉर्निंग सर बोला फिर कुछ सुनती रही, फिर हमारी तरफ देख के बोला के एस सर ऑलमोस्ट ऑल आर हियर, फिर कुछ सुनती रही, फिर अपने सामने रखी लिस्ट को देखे के पूछा आल्फबेटिक ऑर्डर सर, तो पता नही क्या रिप्लाइ आया फिर उस लड़की ने ओके सर बोला और रिसीवर रख दिया.

मैं उस लड़की की बात तो सुन ही रही थी समझ गयी के लिस्ट आल्फबेटिक ऑर्डर से इंटरव्यू चलने वाले है. उसने आल्फबेटिकल ऑर्डर मे नाम पुकारा आरती. तो एक 24 – 25 साल की लड़की, जिसने जीन्स और टॉप पहना था फुल मेक अप मे थी, अपनी जगह से उठी और अपनी फाइल पकड़ के उठी तो उस लड़की ने एक डोर की तरफ इशारा किया और आरती उस डोर से अंदर चली गयी. मेरा दिल बोहोत ज़ोर ज़ोर से धड़कने लगा. इस ऑफीस मे ज़ियादा लोग नही थे क्यॉंके यह सिर्फ़ एमडी का ही चेंबर था जहा एमडी और उसकी सेक्रेटरी ही होते थे और उसकी सेक्रेटरी का ऑफीस भी एमडी के चेंबर के अंदर ही था और बाहर के रूम विज़िटर्स के लिए था और शाएद एक दो टी बाय्स और एक दो सफाई वाले थे. थोड़ी देर के बाद दो टी बाय्स ट्रे मे डिस्पोज़ल कप मे कॉफी और टी ले के आया और जिसने कॉफी बोला उसको कॉफी दिया और जिसने टी बोला उसको टी दिया. बाकी की सब लड़कियाँ आपस मे बातें करने लगी. वो मुंबई वाले स्टाइल मे बात कर रहे थे, मैं ने कभी ऐसी लॅंग्वेज सुनी नही थी तो मुझे बोहोत अछी लगी. मैं मॅगज़ीन के पेजस पलटा रही थी और उनकी बातें सुन रही थी और मुस्कुराती रही थी. कभी किसी लड़की से ही हुए हो जाती थी. सब अपनी बारी का इंतेज़ार करने लगे. सब का तो पता नही मेरा दिल बोहोत ज़ोर से धड़क रहा था के यह सारी लड़कियाँ तो अनमॅरीड है और शाएद मैं अकेली ही मॅरीड वुमन हू और जैसा के राज ने बोला था के मुंबई की लड़कियाँ चुदवाने मैं कोई बुराई नही समझती और अपना काम निकलवाने के लिए बड़े आराम से चुदवा लेती है तो मैं सोच मे पड़ गयी के क्या मैं यह सब कर पाउन्गी, क्या मैं भी जॉब मिलने के लिए ऐसे ही चुदवा लूँगी और क्या यह जॉब मुझे मिलेगी या मुझे ऐसी ही निराश वापस बॅंगलुर लौटना पड़ेगा. बॅंगलुर को निराश वापस लौटने का ख़याल आया तो मैं ने अपने दिल मे सोचा के नही मैं ऐसे निराश वापस नही जाउन्गी और अगर ऐसा कोई मोका मिले तो शाएद चुदवा भी लूँगी पर मुझे यह जॉब चाहिए किसी भी तरीके से हो मुझे यह जॉब चाहिए बॅस. यह ख़याल आया तो दिल को थोड़ा इतमीनान आया और फिर सोचा के चलो इंटरव्यू फेस तो करते है जैसा

टाइम होगा उसी टाइम पे सोच के काम करते है. आइ कन्नोट अफोर्ड टू मिस दा जॉब. मुझे यह जॉब की सख़्त ज़रूरत थी और मैं इस जॉब के लिए कुछ भी करने को तय्यार हो गयी.

तकरीबन 20 मिनिट के बाद आरती रूम से बाहर आई तो उसका रंग लाल हो रहा था गुस्से मैं थी और बाहर निकल के बोली के साले एमडी को सेक्रेटरी नही रंडी चाहिए, मादर चोद किसी पर्सनल सेक्रेटरी का इंटरव्यू ले रहा है या पर्सनल रंडी का समझ मे नही आ रहा है और गुस्से मे पैर पटक ती ऑफीस के बाहर निकल गयी तो काउंटर पे बैठी लड़की मुस्कुरा दी, दूसरी बैठी लड़कियाँ भी मुस्कुरा के रह गयीं. मेरा बदन एक दम से गरम हो गया और दिल एक बार फिर ज़ोर से धड़कने लगा. मेरी बेचैनी बढ़ती जा रही थी. उस लड़की ने फिर पुकारा अर्चना तो दूसरी लड़की उठ के अंदर गयी जो ऐसा मिनी स्कर्ट और टॉप पहने थी के अगर वो कुछ फ्लोर से उठा ने के लिए झुके तो शाएद उसकी चूत भी दिखाई दे और उसके बूब्स भी बड़े बड़े थे जो उसके टॉप मे फसे हुए थे, चलती तो ऊपेर नीचे हो रहे थे शाएद उसने ब्रस्सिएर नही पहनी थी. अर्चना अंदर चली गयी और शाएद 20 मिनिट के बाद उस लड़की के काउंटर पे बज़्ज़र बजा. उसने उठाया और ओके सर बोला फिर पुकारा अर्पिता तो अर्पिता अपनी जगह से उठ गयी. अर्पिता ने भी ऐसी ही स्कर्ट और टॉप पहना था जिसका पेट का अछा ख़ासा पोर्षन और उसकी नाभी नज़र आ रही थी. वो अंदर चली गयी तो मैं अपनी जगह से उठ के उस लड़की के पास आई और उसका नाम पूछा तो उसने अपना नाम ममता बताया तो मैं ने पूछा के ममता अभी दूसरी लड़की बाहर नही निकली फिर भी सर ने उसको अंदर बुला लिया तो ममता ने मुस्कुराते हुए बोला के नही ऐसी कोई बात नही सर के रूम मे एक और भी डोर है जो बिल्डिंग के दूसरी तरफ खुलता है सर ने शाएद उसको वाहा से वापस भेजा होगा. मुझे समझ मे नही आ रहा था के सामने से वापस आने का और पीछे से वापस जाने का मतलब क्या है.

क्रमशः......................

Recession Ki Maar part--13

gataank se aage..........

Raj bhi waise hi palat ke bed per let gaya aur mujhe apni baho mai pakad ke bohot hi sexy awaz mai bola ke Thanks Sneha for everything. I love you so much honey. You are the best. Tum bohot hi achi ho sach bol raha hu ke aaj tak apni wife se mujhe wo sukoon aur maza nahi mila jo tumne mujhe dia hai and I am really thankful to you to mai ne uske lips pe ek passionate kiss karte hue kaha ke I am all yours mere pyare pyare Raja, mai to tumhare aise mast Lund ki deewani ho chuki hu, mai nekabhi khwab mai bhi aise Lund se chudwane ka socha bhi nahi tha aur tumne jaisa mujhe choda hai wo mai zindagi bhar nahi bhool sakti aur ab yeh Sneha ab tumhari hai, Shena ki ek ek saans mere Raja ke liye hai, Mai ab sirf aur sirf tumhari hi hu do whatever, whevnever and whereve you want.

Ham dono ek doosre ki baho mai bahein dale, ek doosre ko kiss karte hue lete rahe phir Raj uth gaya aur ham ek bar phir se shower lene bathroom mai ghus gaye. Ek bar phir ek doosre ko sabun lagaya aur ragad ragad ke dhoya. Mujhe apni gand mai jalan aur darad mehsoos ho raha tha to mai ek plastic ke tub mei garam pani bhar ke usmai thodi der baith gayee aur garam pani ki sek se phati hui gand ko kuch araam mila. Shower le ke baher aye to Raj jane ke liye ready ho raha tha. Usne apni jeb se nikal ke mujhe ek mobile dia aur ek paper pe uska number bhi likh dia ke yeh mere liye hai aur ismai abhi balance One Thousand Rupees hai, jab khatam ho jayega to wo usko re charge karwa dega to mai ne usko thanks bola aur uska ek kiss lia. Raj ab room se baher chala gaya. Usko jata dekh ke meri aankho mai aansoo aa gaye. Raj ne mujhe wish kia aur kal subah ke interview ke liye best of luck bola aur room e baher nikal gaya. Mai room ko ander se lock kia aur bed pe gir gayee aur phoot phoot ke rone lagi. Ab iss time pe mujhe Satish ki yaad bohot hi aane lagi ke mai ne Satish ke sath bewafaee ki hai. I broke his trust in me. Satish please mujhe maaf kardo, I amreally very very sorry Satish for whatever happened. Mai apne aap mai nahi thi Satish please forgive me. Mujhe bohot afsos hua par ab kuch nahi kar sakti thi. Mai jo ek ghalti anjaane mai kar chuki thi wo to kar hi chuki thi ab kia ho sakta tha. Mai ne apne dil ko tasalli di aur soch lia ke is ko apni private aur secret life hi rehne dena chahiye. Phir mai ne apne dil ki awaz se Satish ko kaha ke tum bhi apni koi secret life bana lo Satish aur tum bhi kisi aldki ko chod dalo to hamara hisaab barabar ho jayega aur haa I am

totally out of your secret life Satish. Phir mai ne apne dil ko aise tasalli di ke Satish bhi kisi ladki ke sath hai aur wo uske sath uske illegitimate affairs hai aur wo bhi apni secret life mai mast hai. Yeh soch ke mujhe thoda itmenaan hua aur thodi der rone ke bad dil ka ghubar kuch kam hua to mann halka hua aur phir mai aise hi lete lete gehri neend so gayee.

Subah door bell pe aankh khuli, time dekha to 8 baj rahe the, mai hadbada ke uthi aur door khola to room boy tha room ki safai karne aaya tha to mai ne bola ke mai thodi der mai jaane wali hu, key neeche counter pe de dungi to tum safai kar lena, usne OK madam bola aur wapas chala gaya. Rat ki chudai aur gand ke phatne se mera sara badan darad kar raha tha par Interview ka yaad aate hi sari takellf door ho gayee aur mai mai bathroom mai ghus gayee. Brush kia aur garam pani ka shower lia to badana thoda halka mehsoos hua. Baher nikli, badan ko towel se dry kia aur shower gown pehen lia. pehle socha ke neeche ja ke breakfast le lu phir khayal aaya ke neeche jane ke breakfast lene mai time lagega itni der mai apna kuch aur kaam kar sakti hu, mai ne neeche phone kia aur room boy se bola ke mujhe breakfast yahi room me de do usne bola ke OK madam abhi lata hu aur phone rakh dia. Thodi der mai hi wo breakfast ki tray aur coffee pot le ke aa gaya. Mai ne usko thanks bola aur breakfast karne baith gayee. Mai ne jaldi jaldi breakfast kia, coffee pite pite make up karne lagi. Coffee bohot hi achi thi peene se tabiat fresh lagne lagi. Interview ke liye selected kia hua cream background per chote chote pink flower wali middy type ki skirt aur cream colour pr polka dot ki choli jismai neeche se knot dalne ke liye thoda kapda latak raha tha nikala aur bed pe rakha aur tayyari mei lag gayee. Mujhe ready hona tha aur 10:30 A.M. ko interview ke liye jana tha. Mai ne brassier aur panty pehni aur phir selected kapde pehen ke Light make up kia, Galo pe halke se gulabi shade ka glow dia aur light lipstick laga ke apne balo ko ek juda banaya, usmai pins lagaye, Sandal pehene aur mai ready ho gayee. Apne aap ko mirror mai har angle se dekha to mai bohot hi khubsurat lag rahi thi aur meri choli mai se mere aadhe boobs bhi dikhayee de rahe the aur mere boobs ka cleavage bhi bohot acha ban raha tha, mujhe apne aap pe pyar aa gaya aur mai mirror mai apne aap ko ek flying kiss dete hue aankh mari aur bola ke Sneha you are looking dashing. Mai film bobby ki bobby ki tarah hi masoom aur young dikh rahi thi.

Subah ke 10:00 A.M. ko mai ready thi, socha ke baher dhoop bohot hogi isi liye apne goggles lagaye aur apni file utha ke room ke baher aa gayee. Neeche utar ke counter pe ayi to Munna bhai beithe the.

Mujhe Interview ke liye best of luck bola to mai ne muskura ke thanks bola aur room ki chabi dete hue bola ke Munna bhai subah room boy ko mai ne safai se rok dia tha, ab mai baher ja rahi hu aap please room ki safai karwa dijiye aur breakfast tray bhi ander hi rakhi hai wo bhi uth wa lijiye to usne bola ke madam koi bat nahi aap koi chinta mat kijiye araam se jaiye sab kaam ho jayega.

Mai hotel ke baher nikli to dekha ke abhi utni garmi start nahi hui thi aur phir waha road pe itni badi badi buildings ke shade pad rahe the to sun direct mujhe nahi lag raha tha. Mai 10 minute ke ander hi uss building mai aa gayee jaha mujhe jana tha. Ander aa ke lift se ooper 10th floor pe chali gayee. Samne hi R.K. Industries ka office ka board dikhayee dia to mera dil dhak dhak karne laga. Saamne framelss glass ka automatic door tha jo mere kareeb jane se automtically khul gaya. Yeh ek bade size ka room tha jaha sofe pade hue the aur air condition chal raha tha. Ander counter pe ek bohot hi khubsurat ladki baithi thi jise mai ne wish kia aur bola ke mai interview ke liye aai hu to usne mujhe muskura ke dekha aur bola ke madam aap waha sofe pe baith jaiye aur waha list lagi hai aap apna naam aur number check kar lijiye Interview to 3 din tak chalege par aapka number kabhi bhi aa sakta hai mybe today, maybe tomorrow or maybe after tomorrow to mai ne hairat se bola ke acha 3 din tak chalega to usne bola ke haa madam almost 70 ladkiyan hai interview ke liye and you are the first one to arrive usne muskurate hue bola. Mai ne poocha ke MD ka naam kia hai to usne bola ke C.D. Khan. Meri samajh mai nahi aaya to usne bola ke Dildar Khan laikin sab unko DK hi pukarte hai. Phir mai ne poocha ke wo kaise hai to usne muskurate hue bola ke aap khud hi dekh lengi thodi hi der mai kyon ke mai ne unko shaed 2 ya 3 baar hi dekha hai, mai actually ooper office mai kaam karti hu aur mai yaha bas temporary ayi hu. R.K. Industries ke yaha 3 floors pe offices hai aur Unke room mai peeche se ek private entrance hai, wo wahi se apne room mei aa jate hai aur jab tak kaam karna hota hai wahi baith te hai aur unke room ke ander hi unki private secretary ka bhi office hai, apna kaam khatam karke wo wahi se wapas bhi chale jate hai. Mai ne thanks bola aur ek sofe pe baith gayee. Bohot hi comfortable sofe the. 3 – 3 seater ke sofe ke square set pade hue the aur unke beech mai center table thi jaha bohot se magazines aur news paper rakhe hue the. Mai ne bhi ek magazine utha lia aur padhne lagi. Sahed 2 ya 3 minute ke ander hi aur ladkiyan aani start ho gayee. Uff kia batau kaise kaise dressing kar ke ayi thi, ek se badh kar ek. Sab hi apni body ke parts jitna ziada dikha sakti thi dikha rahi thi. Inki aisi bold aur modern

dressing dekh ke mujhe apni dressing bohot hi weak aur conservative aur puraane zamaane ki lagi. Khair mai baith gayee. Almost all ladkiyan Mumbai se hi thi, kuch Poona se ayi thi, kuch Mumbai ke outskirt se. Mujhe laga ke shaed mai akeli hi out of Mumbai ayi hu. Next 10 minutes ke ander hi almost sabhi ladkiyan aa chuki thi. Exactly 10:30 a.m. ko uss counter wali ladki ke pas ek buzzer baja to usne answer kia aur Good Morning Sir bola phir kuch sunti rahi, phir hamari taraf dekh ke bola ke yes sir almost all are here, phir kuch sunti rahi, phir apne samne rakhi list ko dekhe ke poocha Alphabetic Order Sir, to pata nahi kia reply aaya phir us ladki ne OK Sir bola aur receiver rakh dia.

Mai us ladki ki bat to sun hi rahi thi samajh gayee ke list Alphabetic Order se interview chalne wale hai. Usne alphabetical order mai naam pukara Aarti. to Ek 24 – 25 saal ki ladki, jisne jeans aur top pehna tha full make up mai thi, apni jagah se uthi aur apni file pakad ke uthi to us ladki ne ek door ki taraf ishara kai aur Aarti us door se ander chali gayee. Mera dil bohot zor zor se dhadakne laga. Iss office mai ziada log nahi the kyonke yeh sirf MD ka hi chamber tha jaha MD aur uski secretary hi hote the aur uski secretary ka office bhi MD ke chamber ke ander hi tha aur baher ke room visitors ke liya tha aur shaed ek do tea boys aur ek do safai wale the. Thodi der ke bad do tea boys tray mai disposal cup mai coffee aur Tea le ke aaya aur jisne coffee bola usko coffee dia aur jisne tea bola usko tea dia. Baki ke sab ladkiyan aapas mai batein karne lage. Wo Mumbai wale style mai bat kar rahe the, mai ne kabhi aisi language suni nahi thi to mujhe bohot achi lagi. Mai magazine ke pages palta rahi thi aur unki baatein sun rahi thi aur muskurati rahi thi. Kabhi kisi ladki se hi hue ho jati thi. Sab apni baari ka intezar karne lage. Sab ka to pata nahi mera dil bohot zor se dhadak raha tha ke yeh sari ladkiyan to unmarried hai aur shaed mai akeli hi married woman hu aur jaisa ke Raj ne bola tha ke Mumbai ke ladkiyan chudwane mai koi burayee nahi samajhte aur apna kaam nikalwane ke liye bade araam se chudwa leti hai to mai soch mai pad gayee ke kia mai yeh sab kar paungi, kia mai bhi job milne ke liye aise hi chudwa lungi aur kai yeh job mujhe milegi ya mujhe aisi hi nirash wapas Bangalore loutna padega. Bangalore ko nirash wapas loutne ka khayal aaya to mai ne apne dil mai socha ke nahi mai aise nirash wapas nahi jaugi aur agar aisa koi moka mile to shaed chudwa bhi lungi par mujhe yeh job chahiye kisi bhi tarike se ho mujhe yeh job chahiye bass. Yeh khayal aaya to dil ko thoda itmenan aaya aur phir socha ke chalo interview face to karte hai jaisa

time hoga usi time pe soch ke kaam karte hai. I cannot afford to miss the job. Mujhe yeh job ki sakht zaroorat thi aur mai yeh job ke liye kuch bhi karne ko tayyar ho gayee.

Takreeban 20 minute ke bad Aarti room se baher ayee to uska rang laal ho raha tha gusse mai thi aur baher nikal ke boli ke sale MD ko secretary nahi randi chahiye, mathercod kisi personal secretary ka interview le raha hai ya personal randi ka samajh mai nahi aa raha hai aur gusse mai pair patak ti office ke baher nikal gayee to counter pe baithi ladki muskura di, Doosri baithi ladkiyan bhi muskura ke reh gayin. Mera badan ek dum se garam ho gaya aur dil ek bar phir zor se dhadakne laga. Meri bechaini badhti ja rahi thi. Us ladki ne phir pukara Archana to doosri ladki uthe ke ander gayee jo aisa mini skirt aur top pehne thi ke agar wo kuch floor se utha ne ke liye jhuke to shaed uski choot bhi dikhayee de aur uske boobs bhi bade bade the jo uske top mai phase hue the, chalti to ooper neeche ho rahe the shaed usne brassier nahi pehni thi. Archana ander chali gayee aur shaed 20 minute ke bad us ladki ke counter pe buzzer baja. Usne uthaya aur OK Sir bola phir pukara Arpita to Arpita apni jagah se uth gayee. Arpita ne bhi aisi hi skirt aur top pehna tha jiska pet ke acha khasa portion aur uski nabeeh nazar aa rahi thi. wo ander chali gayee to mai apni jagah se uth ke us ladki ke pas ayi aur uska naam poocha to usne apna naam Mamta bataya to mai ne poocha ke Mamta abhi doosri ladki baher nahi nikli phir bhi Sir ne usko ander bula lia to Mamta ne muskurate hue bola ke nahi aisi koi bat nahi Sir ke room mai ek aur bhi door hai jo building ke doosri taraf khulta hai Sir ne shaed usko waha se wapas bheja hoga. Mujhe samajh mai nahi aa raha tha ke samne se wapas aane ka aur peeche se wapas jane ka matlab kia hai.

kramashah......................


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Recession Ki Maar -रिसेशन की मार

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 16:17

रिसेशन की मार पार्ट--14

गतान्क से आगे..........

तकरीबन 10 मिनिट के बाद फिर से बज़्ज़र बजा और ममता ने एक और नाम पुकारा अनुष्का तो अनुष्का अपनी जगह से खड़ी हो गयी तो मैं ने देखा उसका ड्रेस तो उफ्फ क्या बताउ ऐसा लगता था जैसे वो सिर्फ़ ब्रस्सिएर ही पहने हुए है. उसका टॉप ब्रस्सिएर की शकल का था और मोटी डोरिओं से पीछे बँधा हुआ था जिस्मै से उसके ऑलमोस्ट आधे से भी ज़ियादा बूब्स दिखाई दे रहे थे. उसका रंग भी बोहोत ही गोरा था और फुल्लमेक अप मे थी और स्कर्ट पहने हुए थी वो रूम मे चली गयी तो मैं समझ गयी के इस से पहले वाली लड़की भी शाएद बॅक डोर से वापस चली गयी होगी. ऑलमोस्ट 15 मिनिट के अंदर ही अनुष्का वापस बाहर निकली तो उसके चेहरे पे बड़ी प्यारी मुस्कान थी और शाएद वो यह समझ रही थी के उसको यह जॉब डेफनेट्ली मिलेगी तो

मेरा दिल भी बैठ ने लगा. मानता ने फिर एक नाम पुकारा अरुणा, तो अरुणा अपनी जगह से उठी उसने भी एक मीडियम साइज़ का स्कर्ट और टॉप पहना था और उसका स्कर्ट और टॉप इतना पतला था के स्कर्ट मे से उसकी पॅंटी और टॉप मे से उसकी ब्रा भी दिखाई दे रही थी. वो भी शाएद 10 मिनिट के बाद बाहर निकली उसके चेहरे पर भी मुस्कुराहट थी और ऐसे बाहर निकली जैसे वो कल से जॉब जाय्न करने वाली हो. मेरी समझ मे कुछ नही आ रहा था के क्या करू. मैं ने राज को फोन किया तो उसने बोला के वो कोई बात नही तुम इंटरव्यू तो फेस करो देखते है क्या होता है मैं ने भी अपने एक फ्रेंड्स जो आर.के. इंडस्ट्रीस मे काम करता है उसको तुम्हारे बारे मे बताया है तुम फिकर ना करो आइ आम ट्राइयिंग माइ बेस्ट और मैं अभी तो एक मीटिंग मे हू तुमको शाम मे बाहर ले के जाउन्गा और डिन्नर बाहर ही करेंगे तो मैं खुश हो गई.

अरुणा के बाहर निकलने के बाद ममता की टेबल पे बज़्ज़र बजा उसने उठाया और सुनती रही फिर ओके सर बोला और फोन रख दिया और पुकारा सुनील तो एक काम करने वाला उसके पास आया तो उसने उसको कुछ धीमी आवाज़ से बोला तो सुनील वापस एक रूम मे चला गया और थोड़ी ही देर मे अल्यूमिनियम फाय्ल पॅक मे सब ही इंटरव्यू के लिए आई कॅंडिडेट्स को लंच सर्व करने लगा. ममता ने बोला के आधे घंटे के बाद इंटरव्यूस स्टार्ट होंगे और वो अपना डेस्क बंद कर के ऑफीस के बाहर निकली और सामने वाली लिफ्ट से ऊपेर अपने ऑफीस मे चली गयी. सब लकड़ियाँ लंच का पॅकेट खोल के खाने लगी. लंच अछा ख़ासा गरम था ऐसा लगता था के शाएद ऑलरेडी ऑर्डर कर दिया हो. लंच के बाद फिर से कॉफी और चाय की ट्रेस ले के ऑफीस बाय्स आए और सब को देने लगे. मैं ने भी कॉफी का कप उठाया और कॉफी पीने लगी. कॉफी पीने के बाद मैं वॉशरूम मे चली गयी. वॉशरूम भी बोहोत ही नीट आंड क्लीन था. यूरिन करने के बाद वाहा के मिरर मे अपने आप को देखा, महसूस किया के सुबह से बैठे बैठे चेहरे पे टाइयर्डनेस लगने लगी थी तो मैं ने पर्स से लिपस्टिक और कॉंपॅक्ट निकाल के मेक अप को फ्रेश किया और बाहर निकल गयी.

तकरीबन आधे घंटे के बाद ममता वापस अपनी सीट पे आ के बैठ गयी और थोड़ी ही देर मे बज़्ज़र बजा तो उसने अपनी लिस्ट मे नाम देख के पुकारा आशा. कोई नही उठा तो उसने फिर पुकारा आशा !! आशा !! कोई नही उठा तो उसने नया नाम पुकारा बबिता तो बबिता अपनी जगह से उठी. बबिता एक साँवले रंग की लड़की थी जिसने भी हाफ स्कर्ट और टॉप पहना हुआ था. उसकी ड्रेसिंग नॉर्मल फॉर्मल सी ही थी पर उसके चेहरे पे ज़बरदस्त सेक्स अपील थी जो किसी भी मर्द को दीवाना बना सकती थी. बबिता रूम के अंदर चली गयी. जब थोड़ी देर के बाद ममता ने दूसरा नाम पुकारा चंचल तो मैं समझ गयी कि अब आल्फबेटिकली ऑर्डर मे सी चल रहा है. और यह के बबिता बाहर नही निकली थी और शाएद पीछे वाले डोर से बाहर निकल गयी थी.

इसी तरह से ममता कॅंडिडेट्स के नाम पुकरती रही, लड़कियाँ अंदर जाती रही कुछ तो सामने से ही वापस निकल के बाहर चली गयीं, कुछ मुस्कुराते हुए गयी और कुछ गुस्से से लाल पीले हो के गयी, कुछ पीछे के डोर से चली गयी. शाम के ऑलमोस्ट 4:30 पीएम को आजके इंटरव्यू की लास्ट लड़की फरहत अंदर गयी. फरहत मुस्लिम लड़की थी और उसने शलवार सूट पहने था और लाइट मेक अप मे थी, अछी ख़ासी गोरी और खूबसूरत थी, उसने ऊपेर से चुनरी ऐसे ही डाली हुई थी जिस्मै से उसके बूब्स पायंटेड और बड़े थे, उसके बटक भी मोटे थे वो मटक ती हुई अंदर चली गयी. थोड़ी देर के बाद फिर से ममता की टेबल पे बज़्ज़र बजा तो उसने सुना और ओके सर बोला और फोन रख के अपनी सीट से खड़ी हो गयी और हमारी तरफ आ के बोली के आजका इंटरव्यू ख़तम हुआ अब कल सुबह 10 बजे से स्टार्ट होंगे तो सब लड़कियाँ खड़ी हो गयी पर आपस मे बातें करने लगी के सारा दिन वेस्ट हो गया पहले ही बता देते तो शाएद वो अपने कुछ और काम भी कर लेते. खैर सब लड़कियाँ बाहर निकल के चली गयी. कमरे मे अब सिर्फ़ मैं और ममता ही रह गये तो मैं ने बोला के कंपनी कैसी है और लोग कैसे है सॅलरी स्केल क्या है तो उसने बोला के कंपनी तो ठीक ठाक है अपने एंप्लायीस का बोहोत ख़याल रखते है और सॅलरी पॅकेज भी बोहोत ही अट्रॅक्टिव है और जो एग्ज़िक्युटिव लेवेल के बड़े पोस्ट पै है उनका पॅकेज तो बोहोत ही अछा है, वर्किंग अट्मॉस्फियर भी बोहोत अछा है और फिर वो बाहर निकल ते निकल ते सुनील से बोली के सर ने बोला है के ऑफीस बंद कर दो और चले जाओ तो वो भी बाहर निकल गया और फ्रामेलएशस ग्लास डोर से बाहर निकल गया और वुडन डोर को लॉक कर दिया. तो मैं ने ममता से पूछा के एमडी साहेब तो अंदर ही है फिर यह लॉक क्यों कर दिया तो उसने बोला के वो बॅक डोर से वापस चले जाएगे और यह तो सिर्फ़ विज़िटर्स लाउंज है यह तो टाइम पे बंद हो जाता है, सारा स्टाफ टाइम ख़तम होने पर ऑफीस बंद कर के चला जाता है वो और उनकी सेक्रेटरी आने जाने के लिए बॅक डोर यूज़ करते है और हमै पता भी नही चलता के वो दोनो कब तक काम करते है और धीरे से मुस्कुराते हुए बोली के क्या काम करते है. वो एक आँख बंद कर के बोली के जब उनका काम ( काम को उसने थोडा खीच के बोला तो मैं भी मुस्कुरा दी ) ख़तम हो जाता है वो चले जाते है. उसके इस तरह से मुस्कुराने से मैं समझ गयी के प्राइवेट सेक्रेटरी क्या करती होगी और मैं भी अपने आप को ऐसी सिचुयेशन हॅंडल करने के लिए रेडी करने लगी.

मैं वॉक करते हुए वापस अपने होटेल मे आ गयी. काउंटर पे मुन्ना भाई बैठे थे उन्हो ने विश किया और पूछा क्या हुआ मेडम कैसा रहा आपका इंटरव्यू तो मैं ने बोला के नही मुन्ना भाई मेरा नंबर आने आने तक आज टाइम ख़तम हो गया था अब मुझे कल जाना है तो उसने बोला के फिकर ना करो मेडम इंशाल्लाह आपका काम जाएगा हम भी आपके लिए दुआ करेंगे तो मैं ने

उसको थॅंक्स बोला और अपने कमरे मे आ गयी. दिन भर बैठे बैठे थक्क चुकी थी तो बिना चेंज किया ऐसे ही बेड पे गिर गयी और आँखें बंद कर के लेटी आज इंटरव्यू और मुंबई के लड़कियों की ड्रेसिंग और जॉब वाघहैरा के बारे मे सोचती रही. ऐसे ही लेटे लेटे मैं सो गयी. डोर बेल की आवाज़ से आँख खुली तो मैं चौंक के उठी के राज आ गया शाएद और फॉरन ही बेड से उठ के डोर खोला तो रूम बॉय था हाथ मे कॉफी की ट्रे लिए खड़ा था. वो अंदर आ गया और ट्रे टेबल पे रख के चला गया. मैं ने राज को फोन किया तो उसने बोला के मैं शाएद एक दो घंटे के बाद ही आउन्गा तो तुम कुछ रेस्ट कर्लो या बाहर निकल के थोड़ा घूम लो. मैं ने फोन रखा और कॉफी बना के पीने लगी. कॉफी अछी और गरम थी. मुझे इस टाइम पे ऐसी ही कॉफी की सख़्त ज़रूरत महसूस हो रही थी. कॉफी पीने के बाद मैं उठी और अपने कपड़े उतार के नंगी हो गई सोचा के शवर लूँगी फिर ख़याल आया के थोड़ी देर और रेस्ट ले लेती हू पता नही रात को कितनी देर हो जाए यह सोच के मैं नंगी ही बिस्तर पे फिर से लेट गयी और जॉब के बारे मे सोचने लगी और फिर मुझे सतीश की याद आ गयी.

मैं ने सतीश को फोन मिलाया और सतीश को आज के इंटरव्यू के बारे मे बताया और बताया के यहा की लड़कियाँ कैसे कैसे मॉडर्न और बोल्ड ड्रेसिंग करते हुए अपने बदन की ज़ियादा से ज़ियादा एग्ज़िबिशन कर रही थी, एक दो लड़कियों के तो ऑलमोस्ट निपल्स भी दिखाई दे रहे थे तो सतीश ने हस्ते हुए कहा के तुम भी कुछ कम ब्यूटिफुल नही हो तुम भी दिखा दो अपनी खूबसूरती और बना लो अपना दीवाना तुम्हारे एमडी को. सतीश बोहोत आछे मूड मे था तो मैं ने भी हंसते हुए कहा के सपोज़ के वो मेरी खूबसूरती से और मेरे इंटरव्यू से इंप्रेस हो गया और उसने कुछ ऐसा माँग लिया जो सिर्फ़ तुम्हारे लिए ही है तो क्या करू, तो उधर से सतीश ने फिर हस्ते हुए कहा के तो क्या हुआ कोई प्राब्लम नही देदो उसको जो वो चाहता है और लेलो उस से जो तुम चाहती हो तो मैं ने आश्चर्य से पूछा के सतीश आर यू आउट ऑफ युवर माइंड तुम्है पता है के तुम क्या बोल रहे हो तो उसने फिर हस्ते हुए कहा के हा डार्लिंग पता है बिलीव मी आइ विल नोट माइंड यार. और ऐसा क्या हो जाएगा तुम्हारे बदन मे से कुछ चीज़ कम तो नही हो जाएगी ना या वो तुम्हारी कोई चीज़ पर्मनेंट्ली तो नही ले लेगा ना, थोडा इस्तेमाल ही तो करेगा उस से बढ़ के क्या करेगा, तुम्हारे बदन का कोई भाग खा तो नही जाएगा ना, सो डॉन'ट वरी मेरी जान. आइ ऑल्वेज़ वॉंट टू सी यू हॅपी. अगर वो तुम से कुछ ऐसा लेना चाहे तो दे देना और तुमको जो उस से चाहिए वो ले लेना तो मैं ने फिर उसको पूछा के तुम्है पता है यहा की लड़कियाँ यह जॉब लेने के लिए क्या क्या करने को तय्यार है ? तो उसने बोला के हा मुझे पता है बड़े सिटी की लड़कियाँ जॉब के लिए क्या क्या करती है और क्या क्या कर सकती है तो मैं ने बोला के एक इंटरव्यू से वापस निकली लड़की बता रही थी

के यह एमडी पक्का फुचेर है उसको अपनी प्राइवेट सेक्रेटरी नही प्राइवेट रंडी चाहिए तो सतीश ने फिर से हस्ते हुए कहा जस्ट सी वॉट डज़ ही वांट्स डार्लिंग आंड गिव हिम युवर बेस्ट, तो मैं ने इमीडीयेट्ली पूछा के अगर वो मेरे साथ सोना चाहे तो ?. फिर मैं ने खुल के पूछा के अगर वो मुझे चोदना चाहे तो मे क्या करू ? तो सतीश ने कहा के देखो अब इस टाइम पे हमको अपनी इज़्ज़त बचाने के लिए जॉब की सख़्त ज़रूरत है और अगर यह ऐसी बात है जिसका किसी को पता नही चलेगा और अंदर की बात अंदर ही गुप्त रहने वाली है जिसे सिर्फ़ मैं और तुम ही जानते है तो देख समझ के उसका साथ दे दो ना क्या प्राब्लम है किसी को क्या पता चलेगा और मैं भी कुछ माइंड करने वाला नही हू क्यॉंके तुम खुश रहोगी तो मैं खुश रहुगा तो मैं ने फिर से कहा सोच लो सतीश अगर उसने मुझे से सच मे चुदवाने को बोला या ऐसा सिग्नल दिया जिसका मतलब चुदवाना या चोदना होता है तो मैं क्या करू तो उसने फिर कहा के अरे मेरी जान मुझे तो कोई प्राब्लम नही है देख लो तुम टाइम पे डिसाइड कर्लो और अपना काम निकालने के लिए उसका साथ देदो और अपना काम निकाल लो. थोड़े टाइम चुदवा लेने से तुम्हारी चूत घिस्स तो नही जाएगी ना वो हस्ते हुए बोला. हो सकता है के तुम्है वो और भी अछी ऑफर दे दे तो मैं ने कहा के अगर वो मुझे चोद देगा तो तुम्है सच मे बुरा नही लगेगा, कोई प्राब्लम नही होगी ना, तो उसने कहा के नही मेरी जान मुझे बिल्कुल भी बुरा नही लगेगा और मैं कुछ ख़याल भी नही करूगा, यू जस्ट गो अहेड आंड डू वॉटेवर ही वॉंट यू तो डू आंड डू वॉटेवर पासिबल यू कॅन टू गेट दिस जॉब, यू जस्ट कॅरी ऑन यार. कोई बात नही. आइ टोटली अग्री विथ वॉटेवर यू डिसाइड टू डू आइ लीव एवेरितिंग टू यू टू हॅंडल दा सिचुयेशन टू मैं ने बोला के और सुनो सतीश मैं ने यह भी सुना है के जब कभी उसके साथ किसी दूसरे सिटी का या आउट ऑफ कंट्री का टूर करना पड़ता है तो कभी कभी एक ही रूम मैं दोनो को रहना और एक ही बेड पे सोना भी पड़ता है. मेरी तो समझ मे नही आ रहा के क्या करू और ऐसी सिचुयेशन को कैसे हॅंडल करू तो सतीश बोला के अरे यार डॉन'ट वरी कभी कभी ऐसा होता है के होटेल मे रूम्स अवेलबल नही होते और रुकना भी ज़रूरी होता है तो ऐसे ही एक बेड को शेर कर के रहना पड़ता है तुम भी फिकर ना करो आइ नो के ऐसा होता है आंड यू कॅन कॅरी ऑन दट सिचुयेशन ऑल्सो आंड हू विल नो व्हेन यू आर आउट ऑफ सिटी ऑर आउट ऑफ कंट्री किसी को क्या पता चलेगा बाहर की बात बाहर ही छोड़ आना. फ्रॉम मी यू हॅव फुल लिबर्टी और हा आइ विल नोट माइंड इफ़ एनितिंग हॅपंड बिट्वीन यू आंड युवर एमडी, यू डू वॉटेवर यू फील फिट आंड डू व्हाटेवे टाइम आंड सिचुयेशन पर्मिट्स आंड व्हटवेर नंबर ऑफ टाइम ही वांट्स टू डू. फ्री मैं ने पूछा के अगर हमारे ऐसे संबंध से प्रेग्नेन्सी हो गई तो मैं क्या करू तो उसने बोला के अरे यार मार्केट मे ई-पिल्स मिलते है ना वो किस दिन काम आएँगे, तुम ई-पिल्स यूज़ कर लेना तो प्रेग्नेन्सी का डर भी नही रहेगा आंड यू विल बी सेफ फॉरेवर.

क्रमशः......................

Recession Ki Maar part--14

gataank se aage..........

Takreeban 10 minute ke bad phir se buzzer baja aur Mamta ne ek aur naam pukara Anushka to Anushka apni jagah se khadi ho gayee to mai ne dekha uska dress to uff kia batau aisa lagta tha jaise wo sirf brassier hi pehne hue hei. Uska top brassier ki shakal ka tha aur moti dorion se peeche bandha hua tha jismai se uske almost aadhe se bhi ziada boobs dikhayee de rahe the. Uska rang bhi bohot hi gora tha aur fullmake up mai thi aur skirt pehne hue thi wo room mai chali gayee to mai samajh gayee ke iss se pehle wali ladki bhi shaed back door se wapas chali gayee hogi. Almost 15 minute ke ander hi Anushka wapa baher nikli to uske chehre pe badi pyari muskaan thi aur shaed wo yeh samajh rahi thi ke usko yeh job definitely milegi to

mera dil bhi baith ne laga. Manta ke phir ek naam pukara Aruna, to Aruna apni jagah se uthi usne bhi ek medium size ka skirt aur top pehna tha aur uska skirt aur top itna patla tha ke skirt mai se uski panty aur top mai se uski bra bhi dikhayee de rahi thi. Wo bhi shaed 10 minute ke bad baher nikli uske chehre par bhi muskurahat thi aur aise baher nikli jaise wo kal se job join karne wali ho. Meri samajh mai kuch nahi aa raha tha ke kia karu. Mai ne Raj ko phone kia to usne bola ke wo koi bat nahi tum interview to face karo dekhte hai kia hota hai mai ne bhi apne ek friends jo R.K. Industries mai kaam karta hai usko tumhare bare mai bataya hai tum fikar na karo I am trying my best aur mai abhi to ek meeting mai hu tumko sham mai baher le ke jauga aur dinner baher hi karenge to mai khush ho gai.

Aruna ke baher nikalne ke bad Mamta ki table pe buzzer baja usne uthaya aur sunti rahi phir OK Sir bola aur phone rakh dia aur pukara Sunil to ek kaam karne wala uske pas aaya to usne usko kuch dheemi awaz se bola to Sunil wapas ek room mai chala gaya aur thodi hi der mai Aluminium Foil pack mai sab hi interview ke liye ayi candidates ko lunch serve karne laga. Mamta ne bola ke aadhe ghante ke bad Interviews start honge aur wo apna desk band kar ke office ke baher nikli aur samne wali lift se ooper apne office mai chali gayee. Sab lakdiyan Lunch ka packet khol ke khane lagi. Lunch acha khasa garam tha aisa lagta tha ke shaed already order kar dia ho. Lunch ke bad phir se coffee aur chaye ki trays le ke office boys aye aur sab ko dene lage. Mai ne bhi coffee ka cup uthaya aur coffee peene lagi. Coffee peene ke bad mai washroom mai chali gayee. Washroom bhi bohot hi neat and clean tha. Urine karne ke bad waha ke mirror mai apne aap ko dekha, mehsoos kia ke subah se baithe baithe chehre pe tiredness lagne lagi thi to mai ne purse se lipstick aur compact nikal ke make up ko fresh kia aur baher nikal gayee.

Takreeban aadhe ghante ke bad Mamta wapas apni seat pe aa ke baith gayee aur thodi hi der mai buzzer baja to usne apni list mai naam dekh ke pukara Asha. Koi nahi utha to usne phir pukara Asha !! Asha !! koi nahi utha to usne naya naam pukara Babita to Babita apni jagah se uthi. Babita ek sanwle rang ki ladki thi jisne bhi half skirt aur top pehna hua tha. Uski dressing normal formal si hi thi par uske chehre pe zabardast sex appeal thi jo kisi bhi mard ko deewana bana sakti thi. Babita room ke ander chali gayee. Jab thodi der ke baad Mamta ne doosra naam pukara Chanchal to mai samajh gayee ki ab alphabetically order mai C chal raha hai. Aur yeh ke Babita baher nahi nikli thi aur shaed peeche wale door se baher nikal gayee thi.

Isi tarah se Mamta candidates ke naam pukarti rahi, ladkiyan ander jati rahi kuch to samne se hi wapas nikal ke baher chali gayeen, Kuch muskurate hue gayee aur kuch gusse se laal peele ho ke gayee, kuch peeche ke door se chali gayee. Sham ke almost 4:30 pm ko aajke interview ki last ladki Farhat ander gayee. Farhat Muslim ladki thi aur usne shalwar suit pehne tha aur light make up mai thi, Achi khaasi gori aur khubsurat thi, usne ooper se churni aise hi dali hui thi jismai se uske boobs pointed aur bade the, uske buttock bhi mote the wo matak ti hui ander chali gayee. Thodi der ke bad phir se Mamta ki table pe buzzer baja to usne suna aur OK Sir bola aur phone rakh ke apni seat se khadi ho gayee aur hamari taraf aa ke boli ke aajka interview khatam hu ab kal subah 10 baje se start honge to sab ladkiyan khadi ho gayee apr apas mai batein karne lagi ke sara din waste ho gaya pehle hi bata dete to shaed wo apne kuch aur kaam bhi kar lete. Khair sab ladkiyan baher nikal ke chali gayee. Kamre mai ab sirf mai aur Mamta hi reh gaye to mai ne bola ke company kaisi hai aur log kaise hai salary scale kia hai to usne bola ke company to theek thaak hai apne employees ka bohot khayal rakhte hai aur salary package bhi bohot hi attractive hai aur jo executive level ke bade post pai hai unka package to bohot hi acha hai, working atmosphere bhi bohot acha hai aur phir wo baher nikal te nikal te Sunil se boli ke Sab ne bola hai ke office band kar do aur chale jao to wo bhi baher nikal gaya aur frameless glass doorse baher nikal gaya aur wooden door ko lock kar dia. To mai ne Mamta se poocha ke MD Saheb to ander hi hai phir yeh lock kyon kar dia to usne bola ke wo back door se wapas chale jayege aur yeh to sirf visitors lounge hai yeh to time pe band ho jata hai, sara staff time khatam hone par office band kar ke chala jata hai wo aur unki secretary aane jaane ke liye back door use karte hai aur hamai pata bhi nahi chalta ke wo dono kab tak kaam karte hai aur dheere se muskurate hue boli ke kia kaam karte hai. Wo ek aankh band kar ke boli ke jab unka KAAM ( kaam ko usne thoda kheech ke bola to mai bhi muskura di ) KHATAM ho jata hai wo chale jate hai. Uske iss tarah se muskurane se mai samajh gayee ke private secretary kia karti hogi aur mai bhi apne aap ko aisi situation handle karne ke liye ready karne lagi.

Mai walk karte hue wapas apne hotel mai aa gayee. Counter pe Munna Bahi beithe the unho ne wish kia aur poocha kia hua madam kaisa raha aapka Interview to mai ne bola ke nahi Munna Bhai mera number aane aane tak aaj time khatam ho gaya tha ab mujhe kal jana hai to usne bola ke fikar na karo madam Inshallah aapke kaam jayega ham bhi aapke liye dua karenge to mai ne

usko Thanks bola aur apne kamre mai aa gayee. Din bhar baithe baithe thakk chuki thi to bina change kia aise hi bed pe gir gayee aur aankhein band kar ke leti aaj interview aur Mumbai ke ladkiyon ki dressing aur job waghaira ke bare mai sochti rahi. Aise hi lete lete mai so gayee. Door bell ki awaz se aankh khuli to mai chounk ke uthi ke Raj aa gaya shaed aur foran hi bed se uth ke door khola to Room boy tha hath mai coffee ki tray liye khada tha. Wo ander aa gaya aur tray table pe rakh ke chala gaya. Mai ne Raj ko phone kia to usne bola ke mai shaed ek do ghante ke bad hi aunga to tum kuch rest karlo ya baher nikal ke thoda ghoom lo. Mai ne phone rakha aur coffee bana ke pine lagi. Coffee achi aur garam thi. Mujhe iss time pe aisi hi coffee ki sakht zaroorat mehsoos ho rahi thi. Coffee pine e bad mai uthi aur apne kapde utar ke nangi hogayee soche ke shower lungi phir khayal aaya ke thodi der aur rest le leti hu pata nahi rat ko kitni der ho jaye yeh soch ke mai nangi hi bistar pe phir se let gayee aur job ke bare mai sochne lagi aur phir mujhe Satish ki yaad aa gayee.

Mai ne Satish ko phone milaya aur satish ko aaj ke interview ke bare mai bataya aur bataya ke yaha ke ladkiyan kaise kaise modern aur bold dressing karte hue apne badan ki ziada se ziada exhibition kar rahi thi, ek do ladkiyon ke to almost nipples bhi dikhayee de rahe the to Satish ne haste hue kaha ke tum bhi kuch kam beautiful nahi ho tum bhi dikha do apni khubsurti aur bana lo apna deewana tumahre MD ko. Satish bohot ache mood mai tha to mai ne bhi hanste hue kaha ke suppose ke wo meri khubsurti se aur mere interview se impress ho gaya aur usne kuch aisa maang lia jo sirf tumhare liye hi hai to kia karu, to udhar se Satish ne phir haste hue kaha ke to kia hoa koi problem nahi dedo usko jo wo chahta hai aur lelo us se jo tum chahti ho to mai ne aschariya se poocha ke Satish are u out of your mind tumhai pata hai ke tum kia bol rahe ho to usne phir haste hue kaha ke haa darling pata hai believe me I will not mind yaar. Aur aisa kia ho jayega tumhare badan mai se kuch cheez kam to nahi ho jayegi na ya wo tumhari koi cheez permanently to nahi le lega na, thoda istemal hi to karega us se badh ke kia karege, tumahre badan ka koi bhaag kha to nahi jayega na, so don't worry meri jaan. I always want to see you happy. Agar wo tum se kuch aisa lena chahe to de dena aur tumko jo us se chahiye wo le lena to main ne phir usko poocha ke tumhai pata hai yaha ki ladkiyan yeh job lene ke liye kia kia karne ko tayyar hai ? to usne bola ke haa mujhe pata hai bade city ki ladkiyan job ke liye kia kia karti hai aur kia kia kar sakti hai to mai ne bola ke ek interview se wapas nikli ladki bata rahi thi

ke yeh MD pakka fucher hai usko apni private secretary nahi private randi chahiye to Satish ne phir se haste hue kaha just see what does he wants darling and give him your best, to mai ne immediately poocha ke agar wo mere sath sona chahe to ?. Phir mai ne khul ke poocha ke agar wo mujhe chodna chahe to mai kia karu ? to Satish ne kaha ke dekho ab iss time pe hamko apni izzat bachaane ke liye job ki sakht zaroorat hai aur agar yeh aisi bat hai jiska kisi ko pata nahi chalega aur ander ki bat ander hi gupt rehne wali hai jise sirf mai aur tum hi jaante hai to dekh samjh ke uska sath de do na kia problem hai kisi ko kia pata chalega aur mai bhi kuch mind karne wala nahi hu kyonke tum khush rahogi to mai khush rahuga to mai ne phir se kaha soch lo Satish agar usne mujhe se sach mei chudwane ko bola ya aisa signal dia jiska matlab chudwana ya chodna hota hai to mai kia karu to usne phir kaha ke arey meri jaan mujhe to koi problem nahi hai dekh lo tum time pe decide karlo aur apna kaam nikalne ke liye uska sath dedo aur apna kaam nikal lo. Thode time chudwa lene se tumhari choot ghiss to nahi jayegi na wo haste hue bola. Ho sakta hai ke tumhai wo aur bhi achi offer de de to mai ne kaha ke agar wo mujhe chod dega to tumhai sach mai bura nahi lagega, koi problem nahi hogi na, to usne kaha ke nahi meri jaan mujhe bilkul bhi bura nahi lagega aur mai kuch khayal bhi nahi karuga, you just go ahead and do whatever he want you to do and do whatever possible you can to get this job, you just carry on yaar. Koi bat nahi. I totally agree with whatever you decide to do I leave everything to you to handle the situation to mai ne bola ke aur suno Satish mai ne yeh bhi suna hai ke jab kabhi uske sath kisi doosre city ka ya out of country ka tour karna padta hai to kabhi kabhi ek hi room mai dono ko rehna aur ek hi bed pe sona bhi padta hai. Meri to samajh mai nahi aa raha ke kia karu aur aisi situation ko kaise handle karu to Satish bola ke arey yaar don't worry kabhi kabhi aisa hota hai ke hotel mei rooms available nahi hote aur rukna bhi zaroori hota hai to aise hi ek bed ko share kar ke rehna padta hai tum bhi fikar na karo I know ke aisa hota hai and you can carry on that situation also and who will know when you are out of city or out of country kisi ko kia pata chalega baher ki bat baher hi chhor aana. From me you have full liberty aur haa I will not mind if anything happened between you and your MD, you do whatever you feel fit and do whateve time and situation permits and whatver number of time he wants to do. Phri mai ne poocha ke agar hamare aise sambandh se pregnancy ho gai to mai kia karu to usne bola ke arey yaar market mai i-pills milte hai na wo kis din kaam ayenge, tum i-pills use karlena to pregnancy ka dar bhi nahi rahega and you will be safe forever.

kramashah......................


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: Recession Ki Maar -रिसेशन की मार

Unread post by rajaarkey » 13 Dec 2014 16:18

रिसेशन की मार पार्ट--15

गतान्क से आगे..........

मैं ने सोचा के सतीश बार बार मुझे एमडी से चुदवाने पे इन्सिस्ट कर रहा है तो गेट दिस जॉब तो अब मैं भी मेंटली प्रिपेर हो रही थी के ऐसी सिचुयेशन मे चुदवा ही लूँगी तो गेट दिस जॉब. और फिर ई-पिल्स का बोल के खुद सतीश ने ही मेरी प्राब्लम का सल्यूशन भी बता दिया. फिर मैं ने दिल मे सोचा के चलो अगर कभी मेरे और राज के बारे मे सतीश को पता चल भी गया तो कोई प्राब्लम नही होने वाली है आंड आइ विल बी सेफ. मैं ने सतीश से पूछा के तुम्हारी तबीयत अब कैसी है तो उसने बोला के हा चल रही है कभी नरम कभी गरम, नोट एट पर्फेक्ट्ली ऑलराइट. मैं ने पूछा के तुम्हारे मोम और डॅड है या वापस चले गये तो उसने बोला के बापू को कुछ काम था तो वो और माताजी दोनो चले गये, अभी तो मैं अकेला ही हू तो मैं ने शरारत से हस्ते हुए पूछा के तुम बोलो तो मैं मेरी अपनी फ्रेंड उर्मिला को फोन करू के वो कुछ दिन के लिए तुम्हारे साथ रहने आजाए क्यॉंके उसका हज़्बेंड भी कुवैत मे है और अभी जल्दी आने वाला भी नही है तो उसने पूछा के यू थिंक वो यहा आने के लिए रेडी हो जाएगी तो मैं ने बोला के अरे मैं बोलूँगी तो कियों नही आएगी तो सतीश ने फिर हस्ते हुए पूछा के सपोज़ उर्मिला यहा मेरे साथ रहने आ गयी और हमारे बीच कुछ ऐसा वैसा हो गया तो क्या होगा तो मैं ने भी हस्ते हुए कहा के दोनो के बीच ऐसा वैसा क्या हो सकता है तो उसने भी बड़े मूड मे आ के बोला के सपोज़ मैं ने उसको चोद दिया या उसने मुझे सिड्यूस करे के चुदवा लिया तो क्या होगा. मैं ने कहा अरे तो मैं कॉन्सा माइंड करने वाली हो, और हंसते हुए बोला के मैं इधर अपने एम डी से चुदवालूंगी तुम उधर उर्मिला को चोद देना तो वो भी हस्ने लगा और बोला के तुम जैसा ठीक समझो अगर वो यहा आने रेडी हो गयी तो आने दो मुझे तो कोई प्राब्लम नही है उसका भी कुछ टाइम पास हो जाएगा और तुम भी अपनी तरफ से जो जो कोशिश कर सकती हो करो के यह जॉब तुम्है ही मिले क्यॉंके मेरे एक दोस्त ने बताया के आरके इंडस्ट्रीस बोहोत फेमस है और उसके एंप्लायीस को अछी सॅलरीस, बोनसस और दूसरे इन्सेंटीव्स कंटिन्यू मिलते ही रहते है डिपेंड्स ऑन दा पर्फॉर्मेन्स तो मैं ने भी हस्ते हुए कहा के ठीक है अगर मुझे अपनी चूत भी देनी पड़ी तो मैं अपनी चूत के बदले यह जॉब ले लूँगी और फिर हम दोनो हस्ने लगे. सतीश मुझे तसल्ली देता रहा और मेरी हिम्मत बढ़ा ता रहा तो मेरी भी ढारस बँधी फिर उसने बोला के आइ मिस यू डार्लिंग तो मेरी आँखें भर आई और भारी आवाज़ से बोली आइ मिस यू टू हनी. आइ लव यू सतीश और फिर फोन पर ही एक दूसरे को किस करते रहे फिर मैं ने बोला के अपना ख़याल रखना सतीश तो उसने बोला के हा तुम भी अपना ध्यान रखना और किसी बात की फिकर ना करना जो होना है वोही होगा और फिर फोन काट दिया.

मैं ने सोचा के चलो मैं सतीश को उसकी एक सीक्रेट और प्राइवेट लाइफ दे दूँगी और फिर फॉरन ही उर्मिला को फोन किया. उर्मिला मेरी कॉलेज फ्रेंड थी, बोहोत ही खूबसूरत थी और मेरी बोहोत अछी फ्रेंड थी और हम दोनो एक दूसरे से

बोहोत ही फ्री रहते थे और हर टॉपिक पे स्पेशली सेक्स के टॉपिक पे फ्रीली एक दूसरे से बात कर लेते थे और हम एक दूसरे के साथ अपने सीक्रेट्स भी शेर कर लेते थे. उर्मिला एक बोहोत ही सेक्सी और चुड़क्कड़ औरत थी उसने मुझे अपने एक्सट्रा मॅरिटल अफेर्स के बारे मे भी बताया था के कैसे उसके पड़ोसी ने उसे चोदा था और उसके संबंध अपने जेठ से भी थे जो किसी दूसरे सिटी मे रहते थे लैकिन ऑफीस के काम से जब बॅंगलुर आते तो अपने छोटे भाई (उर्मिला के हज़्बेंड) के घर ही ठहरते थे. और जब से उसका भाई कुवैत चला गया है जब वो बॅंगलुर आते तो उर्मिला के साथ ही रहते और फिर एक रात दोनो ही बर्दाश्त नही कर सके और उर्मिला के जेठ ने उर्मिला को चोद डाला था यह सब बातें उसने मुझे बताई थी के उसके जेठ का कितना बड़ा लौदा था और उसको कैसे मज़ा आया उस से चुदवाने मे एट्सेटरा एट्सेटरा. बहुत देर तक उर्मिला के फोन पे बेल होती रही फिर उसने उसने फोन उठाया तो मैं ने पूछा के क्या कर रही थी इतनी देर से बेल हो रही है तो उसने बोला के अरे मैं कपड़े चेंज कर रही थी दूसरे रूम मे थी फिर उसने बोला के कहा है तू, क्या कर रही है, तेरा जर्नी कैसा था और कैसा रहा तेरा इंटरव्यू, उसने एक साँस मे कितने ही सवाल कर डाले तो मैं ने उसको डीटेल्स बता दी और बोला के देख तू भी अकेली है और उधर सतीश भी अकेला है. तू मेरे घर चली जा और थोड़े दिन सतीश के साथ ही रहने का प्रोग्राम बन ले वो अकेला है तो उसने हस्ते हुए बोला ना बाबा ना अगर उसने मुझे चोद दिया तो मैं क्या करूँगी तो मैं ने भी हस्ते हुए कहा के क्या प्राब्लम है तेरा पति भी तो कुवैत मे है, तेरी चूत मे भी तो खुजली हो रही होगी, चुदवा ले ना उस से क्या प्राब्लम है, तो उसने पूछा के अरे क्या बोल रही है तू वो तेरा पति है रे, तो मैं ने बोला के अरे यार क्या हुआ तू भी तो मेरी फ्रेंड है कभी ऐसा टाइम पड़ेगा तो मैं भी तेरी पति से चुदवा लूँगी, ठीक है ना हिसाब बराबर हो जाएगा और फिर हम दोनो हँसने लगे. उर्मिला सतीश के साथ रहने को रेडी हो गयी थी उसने बोला था कि उसको फोन कर के शाम तक उसके पास चली जाएगी तो मैं ने इतमीनान का सांस लिया और फिर फॉरन ही सतीश को फोन कर के बोल दिया के उर्मिला शाम तक आ जाएगी और वो ऐसे ही रहेगी जैसे मैं रहती हू तुम्हारी देख भाल अछी तरह से करेगी तुम बिल्कुल भी फिकर ना करो और कोई टेन्षन भी मत लो. वो एक दम से बोल्ड और फ्री फ्रॅंक लड़की है वो मेरी जगह अछी तरह से फिल करेगी तो वो हस्ने लगा और बोला के आर यू सीरीयस स्नेहा, तो मैं ने बोला के एंजाय करो यार तुम भी तो एंजाय करो ना कोई प्राब्लम नही है और उर्मिला को भी कोई प्राब्लम नही होगी. चलो अब मैं शवर लेने जा रही हू फिर हम दोनो एक दूसरे को फोन पे किस करते रहे और मैं ने बोला के आइ लव यू तो उसने भी बोला के आइ लव यू टू फिर फोन काट दिया. मैं ने इतमीनान का साँस लिया के अब सतीश की भी एक प्राइवेट और सीक्रेट लाइफ हो जाएगी जिसे वो मुझ से छुपाएगा और मैं भी अपनी सीक्रेट लाइफ सतीश से छुपा के सेफ रहूगी.

मुझे अब सतीश की याद आने लगी थी. मैं ने सोचना शुरू किया के वाह मैं भी कितनी टिपिकल हू एक तरफ तो सतीश को मिस कर रही हू आइ लव यू बोल रही हू और दूसरी तरफ यह सब भूल के राज का इंतेज़ार कर रही हू और यह भी मुझे मालूम है के मैं अब इस वक़्त राज से चुदवाने का कितनी बेचैनि से इंतेज़ार कर रही हू. मैं सतीश को एक ही मिनिट के अंदर भूल चुकी थी और वैसे भी राज के लंड के सामने सतीश का लंड उतना ख़ास भी नही था और सतीश के चोदने के स्टाइल मे और राज की मस्त चुदाई मे भी तो ज़मीन आसमान का अंतर है. कहा राज का शानदार लंड और उसकी देर तक मस्त चुदाई और कहा सतीश के मीडियम साइज़ का लंड और उसका 4 -5 मिनिट के अंदर ही चोद के झाड़ जाना, नही नही बोहोत फरक है दोनो मे, मुझे अब राज से ही चुदवाना है. फिर मुझे यह सोच के इतमीनान हुआ के यह मेरी सीक्रेट लाइफ है और माइ सीक्रेट लाइफ ईज़ माइ प्राइवेट लाइफ आंड नोबडी हॅज़ टू डू एनितिंग आंड नोबडी हॅज़ राइट इंटर्फियर इन माइ सीक्रेट लाइफ, नोट ईवन सतीश. यह सोच के सुकून हो गया और मैं शादी शुदा होते हुए पति से आइ लव यू बोल के अपने बॉय फ्रेंड से चुदवाने का वेट कर रही हू.. यह सोच के मेरे चेहरे मे एक शरारत भरी मुस्कुराहट आ गयी और मैं अब राज से चुदवाने की तय्यारी करने लगी. राज के लंड को याद कर के और उसकी मस्त चुदाई को याद करके मेरे बदन मे एक मीठा मीठा सा एहसास होने लगा तो मेरा हाथ ऑटोमॅटिकली मेरी चूत पे आ गया और मैं अपनी चूत का मसाज करने लगी. मेरा बदन एक दम से गरम हो चुका था और मैं वासना की आग मे जलने लगी. मेरी उंगली बोहोत तेज़ी से से मेरी चूत के अंदर चल रही थी चूत के दाने के मसाज कर रही थी और कभी पूरी उंगली चूत के अंदर डाल के अंदर बाहर कर रही थी. मेरी गंद बिस्तर से 4 – 5 इंच ऊपेर उठ चुकी थी और हवा मे अपनी गंद को आगे पीछे कर के अपने आप को अपनी उंगली से चोद रही थी और देखते ही देखते मेरा बदन अकड़ गया और मैं काँपते हुए झड़ने लगी. झड़ने के बाद मेरा बदन बेजान हो के बिस्तर पे गिर गया था मैं थोड़ी देर ऐसे ही लेटी रही और शाएद 15 – 20 मिनिट के लिए सो गयी. थोड़ी देर के बाद उठ के शवर लेने बाथरूम मे चली गयी.

शवर के मिक्सर को अड्जस्ट किया और लाइट हॉट वॉटर मेरे ऊपेर गिरने लगा. मुझे शवर लेने मे बोहोत मज़ा आ रहा था और मैं बोहोत देर तक अपने बदन को सोप लगा के रगड़ रगड़ के धोती रही. चूत के अंदर पानी की धार डाल के धोया फिर फॉरन ही मुझे अपने कॉलेज की वो मुस्लिम लड़की याद आई जिसका नाम मुझे याद नही था जिसने बोला था के चूत को पानी से धोने से चूत की खराब स्मेल नही आती तो मैं अपनी चूत को ज़ोर ज़ोर से रगड़ रगड़ के धोने लगी. मैं नही चाहती थी के राज को मेरी चूत से खराब स्मेल आए.

मैं उसको फ्रेश और खुश्बू दार चूत देना चाहती थी. यह सोच के मैं फिर से मुस्कुरा दी और शवर से बाहर आने के बाद टवल से बॉडी को ड्राइ किया और अपने डियो का स्प्रे अपने हाथ पे मारा और उसी हाथ से चूत को रगड़ा तो मेरी चूत मे डियो की खुश्बू आ गयी. मैं ने अपनी चूत को अपने हाथ से ठप थपाया और बोला के वेट करो मेरी जान आज तुम्हारी चुदाई होने वाली है. मैं अपने आप मे ही मुस्कुराने लगी और फिर जब मैं अपने कपड़े सेलेक्ट करने लगी तो मुझे ख़याल आया के मैं ने जो कपड़े इंटरव्यू के लिए सेलेक्ट किए थे वो तो मैं यूज़ कर चुकी हू, कल क्या पहनुगी, फिर एक दम से याद आया के एमर्जेन्सी मे एक और वन पीस मिडी का भी तो रखा था जो थोड़ा सा ट्रॅन्स्परेंट भी था. फ्लोवर्ड था इसी लिए ट्रॅन्स्परेन्सी उतनी ज़ियादा नही दिखती थी. उसको बाहर निकाल के रख दिया के राज से पूछूंगी वो क्या बोलता है. फिर मैने वोही कपड़े पहेन लिए जो इंटरव्यू के लिए पहने थे और राज का वेट करने लगी.

तकरीबन रात के 8 बजे राज का फोन आया के वो अभी होटेल के करीब आ गया है, मुझे बोला के तुम नीचे उतर जाओ तो मैने अपने बदन पे डियो का स्प्रे किया और पर्स पकड़ के नीचे उतर गयी. आज काउंटर पे मुन्ना भाई नही थे, शाएद किसी काम से गये होंगे. मैं होटेल से बाहर निकल गयी, इधर उधर देखने लगी इतने मे ही एक वाइट कलर की लेक्सस की जीप मेरे करीब आके रुक गयी तो मैं थोड़ा पीछे हट गयी के पता नही कार वाले ने मुझे क्या समझा होगा फिर हॉर्न की आवाज़ आई तो मैं ने देखा के वो राज था. वाह क्या शानदार जीप थी एक दम से वाइट कलर की विथ ब्लॅक ग्लासस.

राज ने अंदर से ही डोर खोला तो मैं अंदर आ गयी. बहुत ही कंफर्टबल सीट्स थे जीप के. मेरे सीट पे बैठ ते ही राज ने झुक के मुझे किस किया और बोला के वाह आज तो तुम क़यामत की ब्यूटिफुल लग रही हो तो मैं शर्मा गयी और शरम से मेरे चेहरे पे लाली गयी. राज ने मेरी चोली को खूब गौर से देखा जिस्मै से ऑलमोस्ट हाफ बूब्स दिखाई दे रहे थे. मेरे बूब्स को दबा दिया और बोला के वाह स्नेहा तुम तो बड़ी मस्त लग रही हो जानू तो मैं ने बोला के थॅंक यू राज. उसने जो मेरे बूब्स को दबाया तो मेरी चूत गीली हो गयी. मैं अपनी सीट पे थोड़ी और चौड़ी हो के बैठ गयी और टाँगें थोड़ा सा खोल के आराम से बैठ गयी. कार के अंदर एरकॉनडिशन चल रहा था, बदन पे एसी की हवा बोहोत अछी लग रही थी, विंडो के ग्लासस बंद थे इसी लिए बाहर की कोई आवाज़ नही आ रही थी और डार्क ग्लासस होने से बाहर वालो को अंदर का कुछ भी दिखाई नही दे रहा था. राज ने जीप चला दी और मेरे थाइस पे हाथ रखा तो मैं ने अपने थाइस को और खोल दिया. मैं ने पॅंटी नही पहनी थी. चूत के सामने ही एरकॉनडिशन का आउटलेट था और उसकी ठंडी हवा डाइरेक्ट मेरी गरम चूत पे लग रही थी तो बोहोत अछा फील हो रहा था. राज के हाथ मेरी चूत पे लगते ही मैं गीली होना शुरू होगयी और मैं ने भी

अपने हाथ से उसके पॅंट की ज़िप को खोल दिया और उसके लंड को बाहर निकाल दिया. राज का लंड एज ऑल्वेज़ फुल्ली एरेक्ट मोड मे ही था जिसे मैं ने अपनी मुट्ठी मे पकड़ के मूठ मारना स्टार्ट कर दिया. राज की मोटी उंगली मेरी चूत मे अंदर बाहर हो रही थी. . उसका गरम हाथ लगने से मैं जल्दी ही झाड़ गयी. मैं झुक के राज का लंड अपने मूह मे ले के चूसने लगी. बाहर से किसी को कुछ भी दिखाई नही दे रहा था के अंदर मैं क्या कर रही हू. राज कार चलाता रहा और मैं उसका लंड चूस्ति रही. कभी जीप सिग्नल पे रुकती तो मैं थोड़ी देर के लिए अपनी सीट पे बैठ जाती और जब जीप चलने लगती तो फिर मैं झुक के उसके लंड को चूसने लगती. तकरीबन आधे घंटे के बाद उसने जीप को किसी होटेल के पार्किंग लॉट मे पार्क कर दिया और मैं जल्दी जल्दी उसके लंड को चूसने लगी और थोड़ी ही देर मे उसके लंड ने मेरे हलक मे अपनी गरम वीर्या की धार मार दी जिसे मैं बड़े मज़े से पी गयी.

क्रमशः......................

Recession Ki Maar part--15

gataank se aage..........

Mai ne socha ke Satish baar baar mujhe MD se chudwane pe insist kar raha hai to get this job to ab mai bhi mentally prepare ho rahi thi ke aisi situation mai chudwa hi lungi to get this job. Aur phir i-pills ka bol ke khud Satish ne hi meri problem ka solution bhi bata dia. Phir mai ne dil mai socha ke chalo agar kabhi mere aur Raj ke bare mai Satish ko pata chal bhi gaya to koi problem nahi hone wali hai and I will be safe. Mai ne Satish se poocha ke tumhari tabiat ab kaisi hai to usne bola ke haa chal rahi hai kabhi naram kabhi garam, not yet perfectly alright. Mai ne poocha ke tumhare mom aur dad hai ya wapas chale gaye to usne bola ke bapu ko kuch kaam tha to wo aur mataji dono chale gaye, abhi to mai akela hi hu to mai ne Sahararat se haste hue poocha ke tum bolo to mai mei apni friend Urmila ko phone karu ke wo kuch din ke liye tumhare sath rahne aajaye kyonke uska husband bhi Kuwait mai hai aur abhi jaldi aane wala bhi nahi hai to usne poocha ke you think wo yaha aane ke liye ready ho jayegi to mai ne bola ke arey mai bolungi to kiyon nahi ayegi to Satish ne phir haste hue poocha ke suppose Urmila yaha mere sath rehne aa gayee aur hamare beech kuch aisa waisa ho gaya to kia hoga to mai ne bhi haste hue kaha ke dono ke beech aisa waisa kia ho sakta hai to usne bhi bade mood mai aa ke bola ke suppose mai ne usko chod dia ya usne mujhe seduce kare ke chudwa lia to kia hoga. Mai ne kaha arey to mai konsa mind karne wali ho, aur hanste hue bola ke mai idhar apne MD se chudwalungi tum udhar Urmila ko chod dena to wo bhi hasne laga aur bola ke tum jaisa theek samjho agar wo yaha aane ready ho gayee to aane do mujhe to koi problem nahi hai uska bhi kuch time pass ho jayega aur tum bhi apni taraf se jo jo koshish kar sakti ho karo ke yeh job tumhai hi mile kyonke mere ek dost ne bataya ke RK industries bohot famous hai aur uske employees ko achi salaries, bonuses aur doosre incentives continue milte hi rehte hai depends on the performance to mai ne bhi haste hue kaha ke theek hai agar mujhe apni choot bhi deni padi to mai apni choot ke badle yeh job le lungi aur phir ham dono hasne lage. Satish mujhe tasalli deta raha aur meri himmat badha ta raha to meri bhi dharas bandhi phir usne bola ke I miss you darling to meri aankhein bhar aayee aur bhaari awaz se boli I miss you tooo honey. I love you Satish aur phir phone par hi ek doosre ko kiss karte rahe phir mai ne bola ke apna Khayal rakhna Satish to usne bola ke haa tum bhi apna dhayan rakhna aur kisi bat ki fikar na karna jo hona hai wohi hoga aur phir phone kaat dia.

Mai ne socha ke chalo mai Satish ko uski ek secret aur private life de dungi aur phir foran hi Urmila ko phone kia. Urmila meri college friend thi, bohot hi khubsurat thi aur meri bohot achi friend thi aur ham dono ek doosre se

bohot hi free rehte the aur har topic pe specially sex ke topic pe freely ek doosre se bat kar lete the aur ham ek doosre ke sath apne secrets bhi share kar lete the. Urmila ek bohot hi sexy aur chudakkad aurat thi usne mujhe apne extra marital affairs ke barey mai bhi bataya tha ke kaise uske padosi ne use choda tha aur uske samband apne jeth se bhi the jo kisi doosre city mai rehte the laikin office ke kaam se jab Bangalore aate to apne chote bhai (Urmila ke husband) ke ghar hi thair te the. Aur jab se uska bhai Kuwait chala gaya hai jab wo Bangalore aate to Urmila ke sath hi rehte aur phir ek rat dono hi bardasht nahi kar sake aur Urmila ke jeth ne Urmila ko chod dala tha yeh sab batein usne mujhe batayee thi ke uske jeth ka kitna bada louda tha aur usko kaise maza aaya us se chudwane mai etc etc. Bohot der tak Urmila ke phone pe bell hoti rahi prhi usne usne phone uthaya to mai ne poocha ke kia kar rahi thi itni der se bell ho rahi hai to usne bola ke arey mai kapde change kar rahi thi doosre room mai thi phir usne bola ke kaha hai tu, kia kar rahi hai, tera journey kaisa tha aur kaisa raha tera interview, usne ek saans mai kitne hi sawal kar dale to mai ne usko details bata di aur bola ke dekh tu bhi akeli hai aur udhar Satish bhi akela hai. Tu mere ghar chali ja aur thode din Satish ke sath hi rehne ka programme ban le wo akela hai to usne haste hue bola na baba na agar usne mujhe chod dia to mai kia karungi to mai ne bhi haste hue kaha ke kia problem hai tera pati bhi to Kuwait mai hai, teri choot mai bhi to khujli ho rahi hogi, chudwa le na us se kia problem hai, to usne poocha ke arey kia bol rahi hai tu wo tera pati hai re, to mai ne bola ke arey yaar kia hua tu bhi to meri friend hai kabhi aisa time padega to mai bhi teri pati se chudwa lungi, theek hai na hisab barabar ho jayega aur phir ham dono hansne lage. Urmila Satish ke sath rehne ko ready ho gayee thi usne bola the ka usko phone kar ke sham tak uske pas chali jayegi to mai ne itmenan ka sans lia aur phir foran hi Satish ko phone kar ke bol dia ke Urmila sham tak aa jayegi aur wo aise hi rahegi jaise mai rehti hu tumhari dekh bhal achi tarah se karegi tum bilkul bhi fikar na karo aur koi tension bhi mat lo. Wo ek dum se bold aur free frank ladki hai wo meri jagah achi tarah se fill karegi to wo hasne laga aur bola ke are you serious Sneha, to mai ne bola ke Enjoy karo yaar tum bhi to enjoy karo na koi problem nahi hai aur Urmila ko bhi koi problem nahi hogi. Chalo ab mai shower lene ja rahi hu phir ham dono ek doosre ko phone pe kiss karte rahe aur mai ne bola ke I love you to usne bhi bola ke I love you too phir phone kat dia. Mai ne itmenan ka saans lia ke ab Satish ki bhi ek private aur secret life ho jayegi jise wo mujh se chupayega aur mai bhi apni secret life Satish se chupa ke safe rahugi.

Mujhe ab Satish ki yaad aane lagi thi. Mai ne sochna shuru kia ke wah mai bhi kitni typical hu ek taraf to Satish ko miss kar rahi hu I love you bol rahi hu aur doosri taraf yeh sab bhool ke Raj ka intezar kar rahi hu aur yeh bhi mujhe maloom hai ke mai ab iss waqt Raj se chudwane ka kitni be chaini se intezar kar rahi hu. Mai Satish ko ek hi minute ke ander bhool chuki thi aur waise bhi Raj ke Lund ke samne Satish ka lund utna khaas bhi nahi tha aur Satish ke chodne ke style mai aur Raj ki mast chudai mai bhi to zameen aasmaan ka antar hai. Kaha Raj ka shandar Lund aur uski der tak mast chudai aur kaha Satish ke medium size ka Lund aur uska 4 -5 minute ke ander hi chod ke jhad jana, nahi nahi bohot farak hai dono mai, mujhe ab Raj se hi chudwana hai. Phir mujhe yeh soch ke itmenan hua ke yeh meri secret life hai aur my secret life is my private life and nobody has to do anything and nobody has right interfere in my secret life, not even Satish. Yeh soch ke sukoon ho gaya aur mai Shadi shuda hote hue Pati se I love you bol ke apne boy friend se chudwane ka wait kar rahi hu.. yeh soch ke mere chehre me ek shararat bhari muskurahat aa gayee aur mai ab Raj se chudwane ki tayyari karne lagi. Raj ke Lund ko yaad kar ke aur uski mast chudai ko yaad karke mere badan mai ek meetha meetha sa ehsaas hone laga to mera hath automatically meri choot pe aa gaya aur mai apni choot ka massage karne lagi. Mera badan ek dum se garam ho chuka tha aur mai vasna ki aag mai jalne lagi. Meri ungli bohot tezi se se meri choot ke ander chal rahi thi choot ke dane ke massage kar rahi thi aur kabhi poori ungli choot ke ander dal ke ander baher kar rahi thi. Meri gand bistar se 4 – 5 inch ooper uth chuki thi aur hawa mai apni gand ko aage peeche kar ke apne aap ko apni ungli se chod rahi thi aur dekkhte hi dekhte mera badan akad gaya aur mai kaanpte hue jhadne lagi. Jhadne ke bad mera badan bejaan ho ke bistar pe gir gaya tha mai thodi der aise hi leti rahi aur shaed 15 – 20 minute ke liye so gayee. Thodi der ke bad uth ke shower lene bathroom mai chali gayee.

Shower ke mixer ko adjust kia aur Light Hot water mere ooper girne laga. Mujhe shower lene mai bohot maza aa raha tha aur mai bohot der tak apne badan ko soap laga ke ragad ragad ke dhoti rahi. Choot ke ander pani ki dhar dal ke dhoya phir foran hi mujhe apne college ki wo muslim ladki yaad ayi jiska naam mujhe yad nahi tha jisne bola tha ke choot ko pani se dhone se choot ki kharab smell nahi aati to mai apni choot ko zor zor se ragad ragad ke dhone lagi. Mai nahi chahti thi ke Raj ko meri choot se kharab smell aye.

Mai usko fresh aur khushboo daar choot dena chahti thi. yeh soch ke mai phir se muskura di aur shower se baher aane ke bad towel se body ko dry kia aur apne DEO ka spray apne hath pe mara aur usi hath se choot ko ragda to meri choot mai DEO ki khushboo aa gayee. Mai ne apni choot ko apne hath se thap thapaya aur bola ke wait karo meri jaan aaj tumhari chudai hone wali hai. Mai apne aap mai hi muskurane lagi aur phir jab mai apne kapde select karne lagi to mujhe khayal aaya ke mai ne jo kapde interview ke liye select kiye the wo to mai use kar chuki hu, kal kia pehnugi, phir ek dum se yaad aaya ke emergency mai ek aur one piece middie ka bhi to rakha tha jo thoda sa transparent bhi tha. Flowered tha isi liye transparency utni ziada nahi dikhti thi. Usko baher nikal ke rakh dia ke raj se puchungi wo kia bolta hai. Phir mai wohi kapde pehen liye jo interview ke liye pehne the aur Raj ka wait karne lagi.

Takreeban raat ke 8 baje Raj ka phone aaya ke wo abhi hotel ke kareeb aa gya hai, mujhe bola ke tum neeche utar jao to mai apne badan pe DEO ka spray kia aur purse pakad ke neeche utar gayee. Aaj counter pe Munna Bhai nahi the, shaed kisi kaam se gaye honge. Mai hotel se baher nikal gayee, idhar udhar dekhne lagi itne mai hi ek white colour ki Lexus ki jeep mere kareeb aake ruk gayee to mei thoda peeche hat gayee ke pata nahi car wale ne mujhe kia samjha hoga phir horn ki awaz ayee to mai ne dekha ke wo Raj tha. Wah kia shandaar jeep thi ek dum se white colour ki with black glasses.

Raj ne ander se hi door khola to mai ander aa gayee. Bohot hi comfortable seats the jeep ke. Mere seat pe baith te hi Raj ne jhuk ke mujhe kiss kia aur bola ke wah aaj to tum Qayamat ki beautiful lag rahi ho to mei sharma gayee aur sharam se mere chchre pe laali gayee. Raj ne meri choli ko khoob ghour se dekha jismai se almost half boobs dikhayee de rahe the. Mere boobs ko daba dia aur bola ke wah Sneha tum to badi mast lag rahi ho jaanu to mai ne bola ke thank you Raj. Usne jo mere boobs ko dabaya to meri choot geeli ho gayee. Mai apni seat pe thodi aur choudi ho ke baith gayee aur tangein thoda sa khol ke araam se baith gayee. Car ke ander aircondition chal raha tha, badan pe AC ki hawa bohot achi lag rahi thi, Window ke glasses band the isi liye baher ki koi awaz nahi aa rahi thi aur dark glasses hone se baher walo ko ander ka kuch bhi dikhayee nahi de raha tha. Raj ne jeep chala di aur mere thighs pe hath rakha to mei ne apne thighs ko aur khol dia. Mai ne panty nahi pehni thi. Choot ke samne hi aircondition ka outlet tha aur uski thandi hawa direct meri garam choot pe lag rahi thi to bohot acha feel ho raha tha. Raj ke hath meri choot pe lagte hi mai geeli hona shuru hogayee aur mai ne bhi

apne hath se uske pant ki zip ko khol dia aur uske Lund ko baher nikal dia. Raj ka Lund as always fully erect mode mai hi tha jise mai ne apni muthi mai pakad ke muth marna start kar dia. Raj ki moti ungli meri choot mai ander baher ho rahi thi. Yeh mast kahani the_great_warrior2000 at yahoo dot com ki likhi hui hai. Uska garam hath lagne se mai jaldi hi jhad gayee. Mai jhuk ke Raj ka Lund apne muh mai le ke choosne lagi. Baher se kisi ko kuch bhi dikhayee nahi de raha tha ke ander mai kia kar rahi hu. Raj car chalata raha aur mai uska Lund choosti rahi. Kabhi jeep signal pe rukti to mai thodi der ke liye apni seat pe baith jati aur jab jeep chalne lagti to phir mai jhuk ke uske Lund ko choosne lagti. Takreeban aadhe ghante ke bad usne jeep ko kisi hotel ke parking lot mai park kar dia aur mai jaldi jaldi uske Lund ko choosne lagi aur thodi hi der mai uske Lund ne mere halak mai apni garam virya ki dhar mar di jise mai bade maze se pi gayee.

kramashah......................