Naina-नैना compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit webvitaminufa.ru
raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Naina-नैना

Unread post by raj.. » 14 Dec 2014 08:28

raj sharma stories

नैना--पार्ट-33

गतान्क से आगे.......

थोड़ी देर मे जिम्मी भी आ गया ओर नैना को दैख के जेसे पत्थर का होगया.

क्या आग बरसा रही थी. जीन्स मे फँसी हुई सेक्सी जांघे ओर थोड़े से बाहर

को निकले हुए राउंड हिप्स. ओर उस के उपेर सोने पे सुहागा शर्ट. बूब्स के

ऊपेर फँसी हुई शर्ट ओर दूध की तरहा सफैद सीना आग बरसा रहा था. जिम्मी का

दिल कर रहा था कि बस अभी ही नैना को अपनी बाँहो मे भर ले पर आंटी को दैख

के रुक गया.

तीनो ने मिल कर ब्रेकफास्ट किया ओर ऑफीस के लिये रवाना होगए. आंटी ने आज

किसी काम से जाना था सो वो अलहदा गाड़ी पे चली गईं ओर नैना ओर जिम्मी ऐक

गाड़ी पे ऑफीस. सारे रास्ते जिम्मी नैना की खूबसूरती के गुण गाता रहा ओर

कुछ ना किया.

नैना का कार पार्किंग मे गाड़ी से उतरना ही था कि हर ऐक की नज़र नैना पे

आ गई, पूरे प्लाज़ा मे शायद ही कोई ऐसा हो जिसने नैना को ऐक मर्तबा दैखा

ओर दोबारा पलट के ना दैखा हो. जिम्मी अपने आप को बहुत कॉन्फिडेंट फील कर

रहा था. उसे बहोत खुशी थी कि उस के साथ ऐक खूबसूरत, सेक्सी लड़की थी.

ऑफीस मे भी सब का यही हाल था ओर हर कोई नैना की ऐक झलक देखने को तरसता

था.

---------

सीन चेंज (शान,दीदी & सोना)

उधर लंच टेबल पे सोना ओर दीदी शान की सेविंग्स पे हाथ सॉफ करने का फुल

प्लान कर चुकी थी. लैकेन ये प्लान अभी प्लान ही था ओर इस प्लान को मुकामल

करने के लिये उन्हे और भी बहोत कुछ करना था.

शान: अच्छा तुम लोगों ने सोचा है कि बिजनेस क्या शुरू करेंगे हम?

दीदी: यप, काफ़ी सारे ऑप्षन्स हैं, लाइक एक्सपोर्ट ऑफ गारमेंट्स,

प्रोडक्षन हाउस, होटेलिंग एट्सेटरा?

शान: एम्म ओके, व्हाट अबौट एक्सपोर्ट ऑफ गारमेंट्स?

दीदी: भाई पैसा तुम ने लगाना है जो तुम्हारी पसंद वो हमारी.

शान: ओके मैं ऐक दो फ्रेंड्ज़ से मशवरा कर लूँ.

दीदी को ऐसे लगा कि जेसे मुकर रहा है शान अपने फ़ैसले से.

दीदी: यानी तुम अभी तक कन्फ्यूज़ हो कि बुसिनेस करना चाहिये या नही?

शान: नही दीदी आइ मीन टू से कि मशवरा 4 सेलेक्टिंग दा बिज़्नेस.

दीदी: ओह अच्छा, फिर ठीक है ओर मुस्कुरा दी.

सोना: दीदी आज लास्ट डे है यहाँ चलो शॉपिंग करते हैं आज?

दीदी: मुझे तो ऐतराज़ नही शान से पूछ लो?

शान: यॅ क्यो नही. यहाँ से निकल के शॉपिंग करने ही चलेंगे.

इस पे सोना ने शान की चीक को चूम लिया ओर बोली. लव यू जान. यू आर शो स्वीट.

दीदी बोली कि ऐक किस मेरी तरफ़ से भी कर दो.

जिस पे शान ने कहा नही किस अपनी अपनी ओर मुस्कुरा दिया.

यौं तीनो लंच कर के शॉपिंग के लिये निकल पड़े. आज लास्ट डे था तीनो का

यहाँ पे इस लिये तीनो ने दिल भर के शॉपिंग की. सोना और दीदी ने तो हाथ

काफ़ी खुला रखा शॉपिंग पे. क्यो ना रखती सारी शॉपिंग शान जो करवा रहा था.

शॉपिंग कर के तीनो होटल पे पहॉंच गये और जा के समान रखा. देन तीनो आज की

की गयी शॉपिंग को डिसकस करने लगे. फिर शान उठ के बाथरूम मे फ्रेश होने के

लिये चला गया और सोना और दीदी अपने अपने कपड़े और बॅग्स सेट करने लगी

क्योकि उन्हे सुबह सवैरे वापिस निकलना था.

शान बाथ ले के बाहर आ गया और आ के टीवी देखने लगा. शान के बाहर आते ही

सोना फ्रेश होने के लिये बाथरूम मे चली गयी. दीदी बाहर अपना समान पॅक कर

रही थी. शान की नज़र दीदी पे पड़ी जो इस वक़्त खूबसूरत सेक्सी साडी मे

गांद पीछे की तरफ़ किये हुए बॅग मे कपड़े डाल रही थी. शान से रहा ना गया

और जा के दीदी को पीछे से पकड़ लिया.

दीदी ऐक दम जैसे डर गयी.

दीदी: हइईईई, शान तुम ने तो डरा ही दिया.

शान: अचााआअ? अरे भाई हम तो डराने नही आप से लिपट.ने आए थे.

दीदी: अछा जी? वैसे तोड़ा इंतेज़ार करो अभी पूरी रात पड़ी है.

शान: हाई रात की रात को देखी जाए गी. और यह कह के दीदी से लिपट गया और

अपने होन्ट दीदी के होंटो पे रख दिये. और हाथ सीधा दीदी के मोटे मोटे

हिप्स को प्रेस करने लगे.

दीदी: मुहााआआआ, अरे सोना आ जाए गी तो क्या सोचे गी.

शान: कुछ नही सोचे गी. मुहााआआआआआअ. जेसे सोना मेरी है उसी तरह आप भी मेरी हैं.

दीदी: शान को पीछे करते हुए बोली. हेलो मिस्टर. लिमिट रहो संजय? सोना के

साथ प्यार और लाइन उस की बड़ी बहन पे? तुम ने केसे कह दिया यह कि जेसे

सोना मेरी और वैसे मैं तुम्हारी?

शान के पैरों तले से जेसे ज़मीन निकल गयी हो. व्हातत्तटटटटटटटटटतत्त?

दीदी: यस कीप इट इन युवर माइंड, अगर उस रात मैं ने तुम्हारे साथ सेक्स कर

लिया इस का यह मतलब नही कि जब तुम्हारा दिल चाहे मैरे ऊपेर चढ़ जाओ.

शान की समझ मे नही आ रहा था कि यह ऐक दम दीदी को क्या हो गया है? शान ने

दीदी का यह रूप आज पहली दफ़ा दैखा था. शान अभी इसी सोच मे गुम था कि दीदी

की आवाज़ आइ.

दीदी: " ओह मेरा शोनुउउउउउउ" हाहहहाहा, शकल तो दैखो अपनी, जेसे कुतिया की

चूत होती है. हाहहाहा

शान: व्हातत्तटटटटटटटटटटतत्त?

दीदी: अरे बुढ़ू मैं मज़ाक कर रही थी. तुम तो सीरीयस ही हो गये. हाहहाहा.

शान को अभी भी समझ नही आ रहा था कि हो क्या रहा है यह. अभी यह सोच रहा था

के दीदी ने शान को पीछे धक्का दिया और खुद ऊपेर आ गयी.

दीदी: क्या चाहिए मेरी जान को? मैं तुम्हारी हूँ ले लो जो लेना है मेरे

बदन से. और शान को किस करने लगी.

शान को अब जा के थोड़ा होश आया कि दीदी भी फुल मूड मे है.

शान: लेना तो बहोत कुछ है. आप की चूत, आप की गांद, आप के ब्रेस्ट्स और आप

के लिप्स. दो गी क्या?

दीदी: ले लो ना जानू. मुहााआआआआआआआ.

दीदी का बस इतना ही कहना था कि शान ने दीदी को अपने ऊपेर से हटा दिया और

साथ लिटा के उल्टा कर दिया.

उल्टा लिटाते ही शान ने दीदी की सारी को ऊपेर किया और पीछे से गांद को

नंगा कर दिया. दीदी ने पिंक कलर की पेंटिएस पहनी थी. शान ने बिना देर किए

उसे भी दीदी के जिस्म से अलहदा कर दिया.

दीदी ने भी इस खैल मे शान का भरपूर साथ दिया. दीदी यही समझ रही थी कि शान

का लंड सीधा उसकी चूत मे जा लगे गा लैकेन यहाँ कहाँ कुछ और थी.

शान ने अपना लंड सीधा गांद के छेड़ पे रख दिया, इस से पहले कि दीदी कुछ

कर पाती, बहोत देर हो चुकी थी, शान के ज़ोर दार झटके की वजा से लंड दीदी

की गांद को चीरता हुआ अंदर घुस गया.

दीदी: आहह, खुतय्य्य्य्य्य्य्य्य्य्य्य्य मार दिया मुझे. आहह निकाल बाहर इसे.

दीदी शान केइ नीचे थी इस लिये कुछ कर नही पा रही थी. कोशिश कर रही थी कि

किसी तरहा से यह मोटा डंडा उसकी गांद से बाहर निकल जाए. बट शान को तो

जैसे खोया हुआ ख़ज़ाना मिल गया था और झटके पे झटका मारे जा रहा था.

दीदी अभी थोड़ा शांत होना शुरू हो गयी थी, और दर्द तोड़ा कम हो गया था

इसकी वजा यह थी कि शान के लंड की ल्यूब्रिकेशन से गांद वेट हो गयी थी और

लंड अब आराम से अंदर बाहर हो रहा था. 5मिनिट यौं ही लंड और गांद की जंग

जारी रही और 6थ मिनिट मे शान के लंड से ऐक तेज़ धार निकली जिस ने गांद को

भर दिया. शान फारिघ् होते ही दीदी के ऊपेर जा गिरा और तेज़ साँसे लेने

लगा.

फिर ख़याल आया कि सोना किसी भी वक़्त बाहर आ सकती है तो फ़ौरन दीदी के

ऊपेर से हट गया और अपना ट्राउज़र ऊपेर कर के साइड पे होगया.

दीदी अभी भी वैसी ही लेटी हुई थी गांद ऊपेर की तरफ़ किये हुए. शान तो बस

मज़ा ले के साइड मे हो गया था लैकेन पता तो दीदी को चला था सही. दीदी

जेसे ही सीधी हुई और ऊपेर को उठी तो दीदी की गांद मे दर्द की ऐक ज़ोरदार

लहर दौड़ गयी. जिस से दीदी आअहह किये बिना ना रह सकी. दीदी को बहोत सख़्त

पेन हो रहा था गांद मे. शान ने भी तो बेदर्दी से मारी थी दीदी की गांद.

दीदी शान की तरफ़ बहोत गुस्से से दैख रही थी लैकेन शान के चेहरे पे सकून

था. दीदी ने अपनी साड़ी ठीक की और समान को छोड़ के बेड पे जा के लेट गयी.

इतने मैं सोना बाथरूम से बाहर आ गयी और दीदी उठ के आराम आराम से बाथरूम

मे चली गयी. सोना ने दीदी की चाल पे ऐक नज़र डाली जो थोड़ी चेंज लग रही

थी और चेहरे पे भी थोड़ी तकलीफ़ थी इस से पहले वो दीदी से पूछती दीदी

बाथरूम मे जा चुकी थी.

बाथरूम मे जाते ही दीदी ने ठंडे पानी से बात्ट्च्ब को फिल किया और जा के

उस मे लेट गयीं. बात्ट्च्ब मे लेट के उन्हे सकून मिल रहा था और गांद की

तकलीफ़ कम हो रही थी. दीदी दिल ही दिल मे शान को गालियाँ दे रही थी, दीदी

का बस यही दिल कर रहा था कि अभी उठे और जा के शान की गाल पे ज़ोर दार

किसम के चाँते रसीद करे और उसे धक्के दे के निकाल दे. लेकिन यह सब सोचने

के फ़ौरन बाद ही शान की दौलत और अपना प्लान ज़हन मे आ गया और फिर गांद का

दर्द, दर्द के बिजाये दौलत का नया रास्ता महसूस होने लगा.

दिल ही दिल मे सोचने लगी कि कुछ पाने के लिये कुछ खोना तो पड़ता है. चलो

इस दौलत के बदले यह गांद ही सही. यह सोच के दीदी खुद से ही बाते करते हुए

मुस्कराने लगी और टूथ पेस्ट से थोड़ा पेस्ट ले के अपनी गांद के छेद पे

मलने लगी जिस से गांद ठंडी होना शुरू हो गयी. दोस्तो कहानी अभी बाकी है

आगे की कहानी जानने के लिए पढ़ते रहे हिन्दी सेक्सी कहानियाँ आपका दोस्त

राज शर्मा

क्रमशः..........

naina--paart-33

gataank se aage.......

thori dair mai jimmy bhi aa gaya or naina ko daikh k jese pathar ka

hogaya. kia aag barsa rahi thi. jeans mai phansi hui sexy thies or

thore se bahir ko nikale hue round hips. or us k uper soney pe suhaga

shirt. boobs k ooper phansi hui shirt or doodh ki tarha safaid seena

aag barsa raha tha. jimmy ka dil kar raha tha k bus abhi he naina ko

apni banhun mai bhar le par aunty ko daikh k ruk gaya.

teeno ne mill kar breakfast kia or office k liay rawana hogae. aunty

ne aaj kisi kaam se jana tha so wo alehda gari pe chali gaeen or naina

or jimmy aik gari pe office. saray rastay jimmy naina ki khubsurti k

gun gata raha or kuch na kia.

naina ka car parking mai gari se utarna he tha k har aik ki nazar

naina pe aa gaee, pure plaza mai shaid he koi aisa ho jisne naina ko

aik martaba daikha or dobara palat k na daikha ho. jimmy apne aap ko

bht confident feel kar raha tha. use bahot khushi thi k us k sath aik

khubsurat, sexy larki thi. office mai bhi sab ka yehi haal tha or har

koi naina ki aik jhalak daikhne ko tarasta tha.

---------

scence change (shaan,didi & sona)

udhar lunch table pe sona or didi shaan ki savings pe hath saaf karne

ka full plan kar chuki thien. laiken ye plan abhi plan he tha or is

plan ko mukamal karne k liay unhain aur bhi bahot kuch karna tha.

shaan: acha tum logon ne socha hai k busines kia shuru karain ge hum?

didi: yup, kafi saray options hain, like export of garments,

production house, hoteling etc?

shaan: mmm ok, what about export of garments?

didi: bhai paisa tum ne lagana hai jo tumhari pasand wo hamari.

shaan: ok mai aik do friendz se mashawara kar lun.

didi ko aise laga k jese mukar raha hai shaan apne faisle se.

didi: yani tum abhi tak confuse ho k busines karna chahiay ya nai?

shaan: nai didi i mean to say k mashwara 4 selecting the business.

didi: oh acha, phr theek hai or muskura di.

sona: didi aaj last day hai yahan chalo shopping karte hain aaj?

didi: mujhe to aitraz nai shaan se puch lo?

shaan: yeah kiun nai. yahan se nikal k shoping karne he chalain ge.

is pe sona ne shaan ki cheek ko choom lia or boli. love you jaan. u r

sho shweet.

didi boli k aik kiss meri tarf se bhi kr do.

jis pe shaan ne kaha nai kiss apni apni or muskura dia.

Youn teeno lunch kar k shoping k liay nikal paray. aaj last day tha

teeno ka yahan pay is liay teeno nay dil bhar k shoping ki. Sona aur

didi nay to haath kaafi khula rakha shoping pe. kiun na rakhien sari

shopping shaan jo karwa raha tha.

Shopping kar k teeno residence pay pahonch gaye aur ja k saman rakha.

Then teeno aaj ki ki gayee shopping ko discuss karnay lagay. Phir

shaan uth k bathroom main fresh honay k liay chala gaya aur sona aur

didi apnay apnay kapray aur bags set karnay lagien kiun k unhain subah

sawairay wapis nikalna tha.

Shaan bath le k bahir aa gaya aur aa k tv daikhnay laga. Shaan k bahir

aatay hi sona fresh honay k liay bathroom mai chali gayee. Didi bahir

apna saman pack kar rahi thi. Shaan ki nazar didi pay pari jo is waqt

khoobsoorat sexy saarhi mai gaand peechay ki tarf kiay huay bag mai

kapray daal rahi thien. Shaan say raha na gaya aur ja k didi ko

peechay say pakar lia.

Didi aik dum jaisay dar gayee.

Didi: Hayeeeeeeeee, Shaan tum nay to dara hi dia.

Shaan: Achaaaaaaa? Aray bhai hum to daranay nahi aap say lipat.nay aye the.

Didi: Acha ji? Waisay thora intezar karo abhi poori raat pari hay.

Shaan: Hayee raat ki raat ko daikhi jaye gi. aur yeh keh k didi say

lipat gaya aur apnay hont didi k honto pay rakh diay. aur haath seedha

didi k motay motay hips ko press karnay lagay.

Didi: Muhaaaaaaaaaa, aray sona aa jaye gi to kia sochay gi.

Shaan: Kuch nahi sochay gi. Muhaaaaaaaaaaaaaaa. Jesay sona meri hay

usi tarah aap bhi meri hain.

Didi: Shaan ko peechay kartay huay bolien. Hello Mr. Limit raho

samjay? Sona k saath payar aur line us ki bari behn pay? Tum nay kesay

keh dia yeh k jesay sona meri aur waisay main tumhari?

Shaan k pairon talay say jesay zameen nikal gayee ho. Whattttttttttttttt?

Didi: Yes keep it in your mind, Agar us raat mai nay tumharay saath

sex kar lia is ka yeh matlab nahi k jab tumhara dil chahay mairay

ooper charh jao.

Shaan ki samaj mai nahi aa rha tha k yeh aik dum didi ko kia ho gaya

hay? Shaan nay didi ka yeh room aaj pehli dafa daikha tha. Shaan abhi

isi soch mai gum tha k didi ki awaz i.

Didi: " Oh mera shonuuuuuuu" Hahahahaha, shakal to daikho apni, jesay

kutia ki choot hoti hay. hahahaha

Shaan: Whatttttttttttttttt?

Didi: Aray budhu mai mazak kar rahi thi. Tum to serious hi ho gayee. hahahaha.

Shaan ko abhi bhi samaj nahi aa raha tha k ho kia raha hay yeh. Abhi

yeh soch raha tha k didi nay shaan ko peechay dhaka dia aur khud ooper

aa gayee.

Didi: Kia chahaiay Meri jaan ko? Main tumhari hoon le lo jo laina hay

meray badan say. Aur shaan ko kiss karnay lagi.

Shaan ko ab ja k thora hosh aya ak didi bhi full mood mai hay.

Shaan: Laina to bahot kuch hay. Aap ki choot, aap ki gaand, aap k

breasts aur aap k lips. Do gi kia?

Didi: Le lo na jaanu. Muhaaaaaaaaaaaaaaaaaa.

Didi ka bus itna hi kehna tha k shaan nay didi ko apnay ooper say hata

dia aur saath lita k ulta kar dia.

Ulta litatay hi shaan nay didi ki saari ko ooper kia aur peechay say

gaand ko nanga kar dia. Didi nay pink color ki penties pehni thi.

Shaan ay bina dair ki usay bhi didi k jism say alehda kar dia.

Didi nay bhi is khail mai shaan ka bharpoor saath dia. Didi yehi samaj

rahi thi k shaan ka lun seedha uski choot mai ja lagay ga laiken yahan

kahan kuch aur thi.

Shaan nay apna lun seedha gaand k chaid pay rakh dia, is say pehlay k

didi kuch kar paati, bahot dair ho chuki thi, Shaan k zor daar jhatkay

ki waja say lun didi ki gaand ko cheerta hua andar ghus gaya.

Didi: AAHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHH, Kutayyyyyyyyyyyyy maar

dia mujhay. Aahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh nikal bahir isay.

didi shaan k neechay thi is liay kuch kar nahi pa rahi thi. Koshish

kar rahi thi k kisi tarha say yeh mota danda uski gaand say bahir

nikal jaye. But shaan ko to jaisay khoya hua khazana mill gaya tha aur

jhatkay pay jhakta mari ja raha tha.

Didi abhi thora shaant hona shuru ho gayee thi, aur Dard thora kam ho

gaya tha Iski waja yeh thi k shaan k lun ki lubrication say gaand wet

ho gayee thi aur lun ab aram say andar bahir ho raha tha. 5Minute youn

hi lun aur gaand ki jang jaari rahi aur 6th Minute mai shaan k lun say

aik tez dhaar nikali jis nay gaand ko bhar dia. Shaan farigh hotay hay

didi k ooper ja gira aur tez saansain lainay laga.

Phir khayal aya k sona kisi bhi waqt bahir aa sakti hay to fauran didi

k ooper say hat gaya aur apna trouser ooper kar k side pay hogaya.

Didi abhi bhi waisi hi laiti hui thi gaand ooper ki tarf kiay huay.

Shaan to bus maza lay k side pay ho gaya tha laiken pata to didi ko

chala tha sahee. Didi jesay hi seedhi hui aur ooper ko uthi to didi ki

gaand main dard ki aik zoredaar lehar daur gayee. Jis say didi

aaahhhhhhhhhhhhhhhhhh kiay bina na reh saki. Didi ko bahot sakht pain

ho raha tha gaand mai. Shaan nay bhi to bedardi say maari thi didi ki

gaand.

Didi shaan ki tarf bahot ghusay say daikh rahi thi laiken shaan k

chehray pay sakoon tha. Didi nay apni saarhi theek ki aur saman ko

chore k bed pay ja k lait gayee.

Itnay main sona bathroom say bahir aa gayee aur didi uth k aram aram

say bathroom mai chali gayee. Sona nay didi ki chaal pay aik nazar

daali jo thori change lag rahi thi aur chehray pay bhi thori takleef

thi is say pehlay wo didi say poochti didi bathroom mai ja chuki thi.

Bathroom mai jatay hi didi nay thanday paani say bathtub ko fill kia

aur ja k us mai lait gayeen. Bathtub mai lait k unhain sakoon mill

raha tha aur gaand ki takleef kam ho rahi thi. Didi dil hi dil mai

shaan ko galian day rahi thi, didi ka bus yehi dil kar raha tha k abhi

uthay aur ja k shaan ki gaal pay zore daar kisam k chantay raseed

karay ur usay dhakay day k nikal day. Laiken yeh sab sochnay k fauran

baad hi shaan ki daulat aur apna plan zehn mai aa gaya aur phir gaand

ka dard, dard k bijaye daulat ka naya raasta mehsoos honay laga.

Dil hi dil mai sochnay lagi k kuch panay k liay kuch khona to parta

hay. Chalo is daulat k badlay yeh gaand hi sahee. Yeh soch k didi khud

say hi batain kartay huay muskranay lagi aur tooth paste say thora

paste lay k apni gaand k chaidd pay malnay lagi jis say gaand thandi

hona shuru ho gayee.

kramashah..........


raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Naina-नैना

Unread post by raj.. » 14 Dec 2014 08:29

नैना--पार्ट-34

गतान्क से आगे.......

उधर नैना सारा दिन ऑफीस के कामो मे बिज़ी रही और पता ही नही चला कि कब

ऑफीस का टाइम ख़तम हो गया. नैना ने ऑफीस की काफ़ी सारी रेस्पॉन्सिबिलिटीस

पे कंट्रोल कर लिया था. आंटी और जिम्मी अब सब से ज़यादा नैना पे ट्रस्ट

करने लगे थे क्योंकि कुछ ही अरसे मे उस ने ऑफीस के तमाम कामों को कंट्रोल

कर लिया था और पूरा ऑफीस भी उस की खूबसूरती और अच्छे बिहेवियर की वजा से

बेहतरीन पर्फॉर्मेन्स दे रहा था. इस शॉर्ट से पीरियड मे नैना के चर्चे ना

सिर्फ़ ऑफीस मे बल्कि पूरे प्लाज़ा मे हो गये थे. सेक्यूरिटी गार्ड से ले

कर डिफरेंट ऑफिसस के टॉप मॅनेज्मेंट के लोग भी नैना का ज़िकार किये बाघैर

ना रह पाते.

आज तो नैना वैसे ही सुबह से टाइट जींस और शर्ट मे आग बरसा रही थी. थोड़ी

ही देर मे नैना के ऑफीस मे जिम्मी आया और बोला.

जी नैना जी, क्या प्लान है फिर आज घर नही चलना क्या ???????

नैना: बस ये लास्ट ईमेल है वो कर लूँ तो चलते हैं.

जिम्मी: जनाब जल्दी की जिये आप ऑफीस टाइम से 2 घंटे ऊपेर बैठ चुकी हैं.

पूरा स्टाफ जा चुका है और हम हैं कि आप के इंतेज़ार मे बैठे हैं.

नैना: व्हातत्तटटटटटटटटटटटटटटटटटतत्त? 8 बज गये हैं?

जिम्मी: जी जनाब यही तो कह रहा हूँ मे. चलो जल्दी से बंद करो सब. ईमेल

सुबह कर लेना और जा के नैना की बॅक से नेक पे किस कर दिया.

नैना: ओकज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़. बंद करती हू. बट ऑफीस मे यह सब नही.

याद है ना?

जिम्मी: ओह आइ आम सॉरी यस याद है.

नैना: ओके गुड बॉय, नेक्स्ट टाइम बी केर्फुल. और लॅपटॉप को डाउन कर के

बोली. आहह आज तो थक गयी काम कर कर के. ओके लेट्स मूव.

ऑफीस से निकल के दोनो सीधा घर की तरफ़ निकल पड़े . रास्ते मे डिफरेंट

टॉपिक पे बाते करते रहे. घर पहॉंच के दोनो फ्रेश हो गयी. रात के 9 बज रहे

थे. आंटी अभी तक घर नही आइ थी.

नैना: जिम्मी ज़रा आंटी का तो पता करना कहाँ हैं?

जिम्मी: सॉरी बताना भूल गया वो आज नही आएँगी .

नैना: बट वाइ? ईज़ एवेरितिंग ओके?

जिम्मी: यप उन की कोई फ्रेंड है उस के घर कोई पार्टी है सो वो वहाँ ही हैं.

नैना: वेसे आंटी पार्टीस कुछ ज़ियादा ही नही अटेंड करती?

जिम्मी: यप राइट, आक्च्युयली डॅड के गुज़र जाने के बाद, 3 चीज़े तो रह

गयी हैं उन की लाइफ मे, मैं, ऑफीस और यह फ्रेंड्स की पार्टीस. सो मोम इसी

पे खुश हैं.

नैना: ओकज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़. खैर व्हाटज़ प्लान फॉर डिन्नर?

जिम्मी: वॉट अबौट पिज़्ज़ाआआअ?

नैना: यप गुड आइडिया. ओके ऑर्डर दट. और मुस्करा दी.

जिम्मी: ओके बॉस और कह के ऑर्डर करने चला गया.

इधर दीदी बाथरूम मे अपनी गांद की जलन को ठंडा कर रही थी तो बाहर , सोना

शान की गोद मे बैठ के किस्स का मज़ा ले रही थी. शान आज कुछ ज़यादा ही गरम

हुआ पड़ा था . शायद इस वजा से कि आज यहाँ आखरी रात थी और इकठ्ठि यह दोनो

बहन फिर शायद मिले या ना मिले. उधर सोना और दीदी किसी भी कीमत पे शान को

अपने हाथ से जानी नही देना चाहती थी. इसी लिये शान की हर बात मान लेती

थी. यही वजा थी कि दीदी ने भी चुप चाप शान से गांद मरवा ली थी.

सोना इस वक़्त पिंक कलर की नाइटी मे थी और बाथ लेने के बाद बिल्कुल फ्रेश

लग रही थी. नाइटी के नीचे ब्रा भी नही पहनी थी. इस लिये शान बहोत ईज़िली

सोना के जिस्म का मज़ा ले रहा था. इतने मे बाथरूम का दरवाज़ा खुलने की

आवाज़ आइ और सोना शान से अलहदा हो के बैठ गयी.

शान की नज़र सीधा दीदी पे पड़ी जो इस वक़्त ब्लू कलर की नाइटी पहने हुए

गीले बदन मे हुस्न की देवी लग रही थी. शान की नज़र दोबारा दीदी की गांद

पे जा के ठहर गयी. दीदी को भी शान की नज़र का आइडिया हो गया और पता भी चल

गया कि ऐक दफ़ा की चुदाई से गांद की जान नही छ्छूटने वाली. शान के इरादे

कुछ ख़तरनाक लग रहे थे. शान दीदी की तरफ़ दैख के मुस्करा दिया जेसे गांद

मार के बहोत खुश हो रहा हो. दीदी ने भी ना चाहते हुए धीमी किसम की

मुस्कुराहट पेश कर दी.

तीनो फ्रेश हो के आ गये और डिन्नर का डिसिशन लेने लगे. देन होटेल के मेनू

से ही कुछ आइटम्स सेलेक्ट किये और फोन पे ही ऑर्डर कर दिया.

शान: सोना इफ़ यू डोंट माइंड जब तक खाना नही आ जाता मेरा भी बॅग पॅक कर दो?

सोना: यॅ शुवर और उठ के चली गयी.

शान: क्यो जी केसा लगा?

दीदी: बहुत बुरे हो तुम. भला ऐसा भी कोई करता है क्या ?

शान: हां जी क्या पहले किसी ने नही किया ऐसे?

दीदी: किया तो है पर ऐसे नही. इस तरह का सेक्स करने के भी कोई मॅनर्स

होते हैं. यह नही कि जानवरों की तरह ऊपेर चढ़ जाओ.

शान: ओह अच्छा ? तो सिख़ाओ ना जी वो मॅनर्स हमे भी?

दीदी: सिखाऊँ गी ज़रूर सिखाऊँ गी लेकिन वक़्त आने पे.

शान: हेयीईयी कब आए गा वो वक़्त???

दीदी: डिन्नर के बाद और मुस्करा के शान को आँख मार दी.

आज शान का टाइम तो बस गुज़र ही नही रहा था. दीदी की लास्ट बात ने तो जैसे

शान के अंदर ऐक और आग लगा दी हो. खैर थोड़ी देर मे खाना भी रूम मे आ गया

और फिर सब ने मिल के डिन्नर किया.

डिन्नर के बाद सोना को मस्ती का मन चाहा तो शान से बोली कि क्यो ना आज

सेलेबरेशन्स की जाए.

शान: किस चीज़ की सेलेबरेशन्स?

सोना: बस ऐसे ही. क्या ख़याल है?

शान: ख़याल तो अच्छा है पर हाउ टू सेलेबरेट?

सोना: थोड़ी सी शराब और साथ मे शबाब और फिर यू मी और दीदी.

शान: सोना के मन की बात समझ गया और मुस्कुरा दिया. और साथ ही दीदी की

तरफ़ देखने लगा जेसे पूछ रहा हो कि गांद मारने का लेसन मिले गा ना?

दीदी ने भी मुस्कुरा के जवाब दिया कि यस मिले गा. और फिर डिसाइड यह हुआ

कि शान शराब का अरेंज्मेंट करे गा.

सो शान ने होटेल मॅनेजर से बात की और कुछ पैसे खिलाए तो रूम मे शराब की

बॉट्टेल्स भी पहॉंच गयीं.

रात के 11 बज रहे थे. सोना ने रूम की लाइट्स को ऑफ कर के लो लाइट्स को ऑन

कर दिया और म्यूज़िक लगा दिया.

शान साइड पे टेबल पे बैठ के पॅक बनाने मे लग गया. और दीदी शान की हेल्प

करने लगी. म्यूज़िक ऑन कर के सोना शान की गोद मे आ के बैठ गयी और शान की

चीक पे किस करते हुए बोली कि जानू आओ ना लेट्स डॅन्स.

शान: यॅ शुवर. और ऐक ग्लास सोना को दिया और ऐक खुद हाथ मे ले के खड़ा हो

गया. दोनो का डॅन्स आहिस्ता आहिस्ता शुरू हो गया. शान के ऐक हाथ मे

ड्रिंक और दूसरे हाथ मे सोना की कमर थी. इसी तरह सोना के ऐक हाथ मे

ड्रिंक और दूसरा हाथ शान की गर्दन मे था.

शान डॅन्स के साथ साथ सोना को अपने ग्लास से ड्रिंक पिलाता तो कभी सोना

शान को अपने ग्लास से ड्रिंक पिलाती. शान मस्ती मे सोना की गांद पे हाथ

मूव करता तो कभी सोना के ब्रेस्ट्स पे. सेम इसी तरहा सोना का हाथ भी शान

की पूरी बॉडी का सफ़र करते करते लंड पे आ के रुक जाता.

दूर बैठी दीदी यह सब दैख रही थी और कभी शान और सोना को देखती तो कभी शान

के लंड को. दीदी से भी रहा ना गया और उठ के शान की बॅक पे आ गयी.

अब शान को ऐक वक़्त मे दो हसीनो के साथ डॅन्स का मज़ा मिल रहा था.

डॅन्स करते करते दोनो ने अपने अपने ग्लास साइड पे रख लिये और आपस मे लिपट

के लिप्स से लिप्स मिला लिये. दीदी शान की बॅक से लिपट गयी और अपने हाथो

को शान के लंड पे ले गयी.

और यौं तीनो के बीच प्यार का सिलसिला शुरू हो गया. हल्के हल्के म्यूज़िक

मे तीनो के जिस्म बराबर झूम रहे थे और महॉल भी गर्म होना शुरू हो गया था.

शान की हॉट किस्सिंग ने सोना के जिस्म के अंदर पहले ही गर्मी डाल दी थी

और पीछे दीदी शान के लिप्स के लिये बैताब थी.

अगले ही लम्हे दीदी ने शान को अपनी तरफ़ कर लिया और अपने लिप्स शान के

लिप्स पे रख दिये. उफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ क्या मज़ा था दीदी की किस्सिंग

मे. शान को सोना के लिप्स भूल गये और दीदी का भरा हुआ जिस्म उसे और पागल

करने लगा. साथ ही उसे अपने लंड पे सोना के हाथ फील होने लगे. फिर सोना

शान से अलहदा होगयी और बोटेल मे पड़ी बाक़ी की शराब भी डाल के ले आइ.

तीनो ऐक दूसरे से अलहदा हो गये और शराब पीने लगे.

तीनो आज ऐक दूसरे को दिल खोल के प्यार देना चाह रहे थे और इस रात का ऐक

ऐक लम्हा सेक्सी बनाना चाह रहे थे. थोड़ी ही देर मे शराब ने अपना असर

दिखाना शर कर दिया और शुरुआत सोना से हुई.

सोना: शॅयायेयेयान जानू आज केसे लो गे मेरी चूत्त्त्त्त्त. हाहहहहा

शान: जेसे तुम कहूऊऊ जानू.

दीदी: यह चूऊऊऊओत नही गांद मारे गा गांद. हाहहहा

सोना: तुम्हे केसे पता दीदी इस के मन की बात?

दीदी: जिस की गांद पहले से यह सला मार चुका हो उसे नही पता होगा तो किसे

पता होगा. हाहहहा. तू भी तैयार हो जा.

शान: दीदी बताओ ना सोना को केसा लगा गांद मे लंड ले के?

सोना: कब डाला तुम ने लंड मेरी दीदी की गांद मे?

दीदी: साले ने आज शाम ही डाला. देख साले का लंड केसे फिर से तैयार हुआ

पड़ा है. इसे तो पता भी नही कि केसे ली जाती है किसी की गांद.

शान: तो बताओ ना दीदी केसी ली जाती हे. जेसे तुम कहो गी वैसे लूँगा गांद

तुम्हारी भी और सोना की भी. हाहहहहा

सोना: साले कुत्ते तू ने दीदी की गांद को भी नही छोड़ा????????????? यू चीटर.

दीदी: चुप कर जा सोना चुप कर जा. मारने दे साले को गांद मारने दे. इस की

भी बारी आए गी इस की भी गांद फटे गी ऐक दिन. हाहहहहाहा

सोना दीदी की बात फ़ौरन समझ गयी. लेकिन शान इस को मज़ाक़ समझा और दीदी के

साथ ही हँसने लगा. हाहहहहहहाहा

चलो ना दीदी बताओ ना केसे लेते है गांद. देखो ना केसे तड़प रहा है यह लंड

गांद के लिये.

दीदी: चल सोना तू रेडी हो जा. तेरी गांद पे सिखाती हूँ इस कुत्ते को. हाहहहाहा

सोना: चलो दीदी नही. पहली तुम. तुम ऐक दफ़ा पहले भी ले चुकी हो मैं देखु

गी फिर बाद मे मैं लूँ गी.

दीदी: चल ठीक है. और अपनी नाइटी उतार के ऐक साइड पे फैंक दी. दीदी अब

बिल्कुल नंगी सोना शान के सामने बैठी थी.

क्रमशः..........

naina--paart-34

gataank se aage.......

Udhar Naina sara din office k kamo mai busy rahi aur pata hi nahi

chala k kab office ka time khatam ho gaya. Naina nay office ki kafi

sari responsibilities pay control kar lia tha. Aunty aur Jimmy ab sab

say zayada Naina pay trust karnay lagay thay kiun k kuch hi arsay mai

us nay office k tamam kaamon ko control kar lia tha aur poora office

bhi us ki khoobsoorti aur achay behaviour ki waja say behtreen

performance de raha tha. Is short say period mai Naina k charchay na

sirf office mai balkay pooray plaza mai ho gayee thay. Security Guard

say lay kar Different offices k top managemen k log bhi Naina ka zikar

kiay baghair na reh patay.

Aaj to naina waisay hi subha say tigh jeanz aur shirt mai aag barsa

rahi thi. Thori hi dair mai naina k office mai jimmy aya aur bola.

Ji Naina ji, Kia plan hay phir aaj ghar nahi chalna kia???????

Naina: Bus ye last email hay wo kar loon to chaltay hain.

Jimmy: Janab jaldi ki jiay aap office time say 2 ghantay ooper baith

chuki hain. Poora staff ja chuka hay aur hum hain k aap k intezar mai

baithay hain.

Naina: Whattttttttttttttttttttttt? 8 Baj Gaye hain?

Jimmy: Ji janab yehi to keh raha hoon mai. Chalo jaldi say band karo

sab. Email subha kar laina aur ja k naina ki back say neck pay kiss

kar dia.

Naina: Okzzzzzzzzz. Band karti hoo. but office mai yeh sab nahi. Yaad hay na?

Jimmy: Oh i am sorry yes yaad hay.

Naina: Ok good boy, next time be careful. Aur laptop ko down kar k

boli. Aahhhhhhhh aaj to thak gyee kaam kar kar k. Ok lets move.

Office say nikal ke dono seedha ghar ki tarf nikal paray. Rastay main

different topic pay batain kartay rahay. Ghar pahonch k dono fresh ho

gayee. Raat k 9 baj rahay thay. Aunty abhi tak ghar nahi i thien.

Naina: Jimmy zara aunty ka to pata karna kahan hain?

Jimmy: Sorry batana bhool gaya wo aaj nahi ain gi.

Naina: But why? Is everything ok?

Jimmy: Yup un ki koi friend hay us k ghar koi party hay so wo wahan hi hain.

Naina: Wesay aunty parties kuch ziada hi nahi attend kartien?

Jimmy: Yup right, actually dad k guzar janay k baad, 3 Cheezain to reh

gayee hain un ki life mai, Main, Office aur yeh friends ki parties. So

Mom isi pay khush hain.

Naina: Okzzzzzzzzzzzzz. Khair whatz plan for dinner?

Jimmy: What about Pizzaaaaaaa?

Naina: Yup good idea. Ok order that. aur muskra di.

Jimmy: Ok boss aur keh k order karnay chala gaya.

Idhar Didi bathroom mai apni gaand ki jalan ko thanda kar rahi thi to

bahir, Sona shaan ki goad mai baith k kissess ka maza le rahi thi.

Shaan aaj kuch zayada hi garam hua para. Shaid is waja say k aaj yahan

aakhri raat thi aur ikhati yeh dono behnain phir shaid milain ya na

milain. Udhar Sona aur didi kisi bhi keemat pay shaan ko apnay haath

say jany nahi daina chahti thien. Isi liay shaan ki har baat maan

laiti thie. Yehi waja thi k didi nay bhi chup chaap shaan say gaand

marwa li thi.

Sona is waqt pink color ki nighty main thi aur bath lainay k baad

bilkul fresh lag rahi thi. Nighty k neechay bra bhi nahi pehni thi. Is

liay shaan bahot easily sona k jism ka maza lay raha tha. Itnay mai

bathroom ka darwaza khulnay ki awaz i aur sona shaan say alehda ho k

baith gayee.

Shaan ki nazar seedha didi pay pari jo is waqt blue color ki nighty

pehnay huay geelay badan mai husn ki devi lag rahi thi. Shaan ki nazar

dobara didi ki gaand pay ja k thehr gayee. Didi ko bhi shaan ki nazar

ka idea ho gaya aur pata bhi chal gaya k aik dafa ki chudai say gaand

ki jaan nahi chhootnay wali. Shaan k iraday kuch khatarnak lag rahay

thay. Shaan didi ki tarf daikh k muskra dia jesay gaand maar k bahot

khush ho raha ho. Didi nay bhi na chahtay huay daramai kisam ki

muskurahat paish kar di.

Teeno fresh ho k aa gaye aur dinner ka decision lainay lagay. Then

hotel k menu say hi kuch items select kiay aur phone pay hi order kar

dia.

Shaan: Sona if you dont mind jab tak khana nahi aa jata mera bhi bag

pack kar do?

Sona: Yeah sure aur uth k chali gayee.

Shaan: Kiun ji kesa laga?

Didi: Bahot buray ho tum. Bhala aisa bhi koi karta hay kia?

Shaan: Haan ji kia pehlay kisi nay nahi kia aisay?

Didi: Kia to hay par aisay nahi. Is tarah ka sex karnay k bhi koi

manners hotay hain. Yeh nahi k janwaron ki tarah ooper charh jao.

Shaan: Oh achaaaaaaaa? To sikhain na ji wo manners hamain bhi?

Didi: Sikhaoon gi zaroor sikhaoon gi laiken waqt anay pay.

Shaan: Hayeee kab aye ga wo waqt???

Didi: Dinner k baad aur muskra k shaan ko aankh maar di.

Aaj shaan ka time to bus guzar hi nahi raha tha. Didi ki last baat nay

to jaisay shaan k andar aik aur aag laga di ho. Khair thori dair main

khana bhi room mai aa gaya aur phir sab nay mil k dinner kia.

Dinner k baad sona ko masti ka man chaha to shaan say boli k kiun na

aaj celeberations ki jaye.

Shaan: Kis cheez ki celeberations?

Sona: Bus aisay hi. Kia khayal hay?

Shaan: Khayal to acha hay per how to celeberate?

Sona: Thora c sharab aur saath mai shabab aur phir u me aur didi.

Shaan: Sona k man ki baat samaj gaya aur muskura dia. Aur saath hi

didi ki tarf daikhnay laga jesay pooch raha ho k gaand marnay ka

lesson milay ga na?

Didi nay bhi muskura k jawab dia k yes milay ga. Aur phir decide yeh

hua k shaan sharab ka arrangement karay ga.

So shaan nay hotel manager say baat ki aur kuch paisay khilaye to room

mai sharab ki bottels bhi pahonch gayeen.

Raat k 11 baj rahay thay. Sona nay room ki lights ko off kar k low

lights ko on kar dia aur music laga dia.

Shaan side pay table pay baith k pack bananay mai lag gaya. Aur didi

shaan ki help karnay lagi. Music on kar k sona shaan ki goad mai aa k

baith gayee aur shaan ki cheak pay kiss kartay hue boli k jaanu aao na

lets dance.

Shaan: Yeah sure. Aur aik glass sona ko dia aur aik khud haath mai le

k khara ho gaya. Dono ka dance ahista ahista shuru ho gaya. Shaan k

aik hath mai drink aur doosray hath mai sona ki kamar thi. Isi tarah

sona k aik hath mai drink aur doosra hath shaan ki neck mai tha.

Shaan dance k saath saath sona ko apnay glass say drink pilata to

kabhi sona shaan ko apnay glass say drink pilati. Shaan masti mai sona

ki gaand pay haath move karta to kabhi sona k breasts pay. Same isi

tarha sona ka hath bhi shaan ki poori body ka safar kartay kartay lund

pay aa k ruk jata.

Door baithi didi yeh sab daikh rahi thi aur kabhi shaan aur sona ko

daikhti to kabhi shaan k lund ko. Didi say bhi raha na gaya aur uth k

shaan ki back pay aa gayee.

Ab shaan ko aik waqt mai do haseeno k saath dance ka maza mill raha tha.

Dance kartay kartay dono nay apnay apnay glass side pay rakh liay aur

apas mai lipat k lips say lips mila liay. Didi shaan ki back say lipat

gayee aur apnay haatho ko shaan k lund pay laye gayee.

Aur youn teeno k beech payar ka silsila shuru ho gaya. Halkay halkay

music mai teeno k jisam brabar jhoom rahay thay aur mahol bhi garm

hona shuru ho gaya tha. Shaan ki hot kissing nay sona k jism k andar

pehlay hi garmi daal di thi aur peechay didi shaan k lips k liay

baitab thi.

Aglay hi lamhay didi nay shaan ko apni tarf kar lia aur apnay lips

shaan k lips pay rakh diay. Uffffffffffffffff kia maza tha didi ki

kissing mai. shaan ko sona k lips bhool gaye aur didi ka bhara hua

jisam usay aur pagal karnay laga. Saath hi usay apnay lun pay sona k

hath feel honay lagay. Phir sona shaan say alehda hogayee aur botel

mai pari baqi ki sharab bhi daal k lay i. Teeno aik doosray say alehda

ho gaye aur sharab peenay lagay.

Teeno aaj aik doosray ko dil khol k payar daina chah rahay thay aur is

raat ka aik aik lamha sexy banana chah rahay thay. Thori hi dair mai

sharab nay apna asar dikhana shur kar dia aur shuruaat sona say hui.

Sona: Shaaaaaaaaaaaan Janu aaj kesay lo ge meri chootttttt. hahahahahaa

Shaan: Jesay tum kahoooooo janu.

Didi: Yeh chooooooooot nahi gaand maray ga gaand. hahahahaa

Sona: Tumhain kesay pata didi is k man ki baat?

Didi: Jis ki gaand pehlay say yeh sala maar chuka ho usay nahi pata

hoga to kisay pata hoga. hahahahaa. Tu bhi tayar ho ja.

Shaan: Didi batao na sona ko kesa laga gaand mai lund le k?

Sona: Kab daaala tum nay lund meri didi ki gaand mai?

Didi: Salay nay aaj shaam hi daala. Daikh salay ka lun kesay phir say

tayar hua para hay. Isay to pata bhi nahi k kesay li jaati hay kisi ki

gaand.

Shaan: To batao na didi kesy li jaati hay. Jesay tum kaho gi waisay

loon ga gaand tumhari bhi aur sona ki bhi. hahahahahaa

Sona: Salay kutay tu nay didi ki gaand ko bhi nahi chora?????????????

You cheater.

Didi: Chup kar ja sona chup kar ja. Marnay day salay ko gaand marnay

day. Is ki bhi bari aye gi is ki bhi gaand phatay gi aik din.

hahahahahaha

Sona didi ki baat fauran samaj gayee. Laiken shaan is ko mazaq samaja

aur didi k saath hi hansnay laga. hahahahahahahaha

Chalo na didi batao na kesay laitay hian gaand. Daikho na kesay tarap

raha hay yeh lund gaand k liay.

Didi: Chal sona tu ready ho ja. Teri gaand pay sikhati hoon is kutay

ko. hahahahaha

Sona: Chalo didi nahi. Pehaly tum. Tum aik dafa pehlay bhi le chuki ho

main daikhoon gi phir baad main mai loon gi.

Didi: Chal theek hay. Aur apni nighty utar k aik side pay phainkh di.

Didi ab bilkul nangi sona aur shaan k samnay baithi thi.

kramashah..........


raj..
Platinum Member
Posts: 3402
Joined: 10 Oct 2014 01:37

Re: Naina-नैना

Unread post by raj.. » 14 Dec 2014 08:30

raj sharma stories

नैना--पार्ट-35 last

गतान्क से आगे.......

दोस्तो मैं यानी आपका दोस्त राज शर्मा नैना की कहानी का आख़िरी पार्ट

लेकर हाजिर हूँ

भाइयो एक समय इंसान की जिंदगी मे ज़रूर आता है जब उसे अपने गुनाह याद आते है

शान ने भी फ़ौरन अपना ट्राउज़र उतार के फैंका और लंड हाथ मे पकड़ लिया.

दीदी: पहले गर्म तो कर मुझे.

शान दीदी की इस बात पे और शेर बन गया और दीदी से जा के लिपट गया. दीदी के

लिप्स मे अपने लिप्स को जमा दिया और ऐक हाथ से दीदी की चूत मे फिंगर डाल

के मूव करने लगा.

सोना से भी ना रहा गया और उस ने भी अपनी नाइटी उतार दी और दीदी को

किस्सिंग करने लगी. दीदी को अब ऐक वक़्त मे दोनो मज़े मिल रहे थे स्ट्रेट

भी और लेज़्बीयन भी. शान के लिप्स दीदी के लिप्स, नेक, चेस्ट, शोल्डर्स

और ब्रेस्ट्स पे अपनी गर्मी डाल रहे थे तो नीचे सोना के लिप्स दीदी की

थिएस, चूत और गांद मे आग लगा रहे थे. शान दीदी की लिप्स को सक करता तो

दीदी उसे ज़ोर से अपने साथ चिपका लैति जैसे पूरी रात यही करना चाहती हो,

फिर शान जब अपने लिप्स दीदी के भरे हुए मोटे मोटे बारे गोल ब्रेस्ट्स पे

रखता तो दीदी उस का सिर वहीं दबा लैति जैसे पूरी रात यही चाहती हो. दीदी

को हर स्टेप पे यही लगता कि बस यही होना चाहिये पूरी रात.

दीदी को प्यार करते करते करते सोना भी गर्म हो गयी थी और सोना की चूत भी

वेट हो गयी थी. सोना ने अब अपने लिप्स दीदी की चूत मे गढ़ा दिया और ऐक

हाथ से अपनी ही चूत रब करने लगी. दीदी अब मुकामल तौर पे गर्म हो चुकी थी.

शान ने अब आहिस्ता आहिस्ता दीदी की गांद मे उंगली करना शुरू कर दी थी. और

पूरे हिप्स के अंदर उंगली टॉप से एंड तक मूव करता और बीच मे थोड़ा प्रेस

करता जिस से उंगली गांद के अंदर भी चली जाती. दीदी के मूह से आहह निकल

जाती.

शान से अब सबर नही हो रहा था. और दीदी को डॉगी स्टाइल मे आने को कहा.

दीदी समझ गयी कि उसकी गांद मे लंड जाने वाला है. डॉगी स्टाइल पे आने से

पहले उस ने शान को पास पड़ी एक क्रीम दी. और उसे शान के लंड पे लगाने को

कहा और गांद के अंदर भी. शान ने वो क्रीम आज पहली दफ़ा दैखि थी, शान ने

फ़ौरन क्रीम ली और अपने लंड पे लगा दी और साथ ही दीदी की गांद मे भी लगा

दी.

सोना पास बैठी अपनी चूत रब कर रही थी और यह सब दैख रही थी. उस का बस यही

दिल कर रहा था कि शान उसकी चूत मे लंड डाल दे. लेकिन शान तो दीदी की गांद

का दीवाना हुआ पड़ा था. थोड़ी ही देर मे दीदी की गांद लूब्रिकेट हो गयी

और शान का लंड भी.

दीदी ने सोना को इशारा किया कि वो अपनी चूत उस के हवाले कर दे. दीदी अब

डॉगी स्टाइल मे आ गयी और सोना दीदी के सामने ऐसे आ के लेट गयी कि सोना की

चूत सीधा दीदी के लिप्स के सामने आ गयी. दीदी ने भी बिना इंतेज़ार किये

अपने लिप्स को सोना की चूत मे गढ़ा दिये.

सोना: अहह दीदी.

उधर शान ने भी पोज़िशन संभाल ली और सोना के मूह से निकलती आह ने उसे पागल

कर दिया और दीदी की गांद पे लंड रख के झटका दिया जिस से आधा लंड अंदर चला

गया. अभी लंड तो ऐक दम से अंदर चला गया और गांद भी बहोत सेक्सी लग रही

थी. यह क्यो? शान के दिमाग़ मे ऐक दम ख़याल आया. फिर खुद ही आन्सर मिल

गया. कि दीदी को शाम को गर्म नही किया था, दीदी की गांद की ल्यूब्रिकेशन

भी तो नही की थी. जेसे ही आधा लंड दीदी की गांद मे उतरा. दीदी के मूँह से

निकली. आहह यह आह बस निकली और दोबारा लिप्स सोना की चूत मे दब गयी.

उधर सोना के मूह से आहह, उफफफफफफफफफफफफफ्फ़ की आवाज़े निकल रही थी तो इधर

दीदी अपने लिप्स दबाए अपनी गांद मे लंड के मज़े को दबा रही थी.

ऊपेर शान पागल कुत्ते की तरहा दीदी की गांद मे लंड पेल रहा था. शान कभी

पूरा लंड बाहर निकाल लेता तो कभी ऐक ही झटके मे पूरा अंदर डाल दैता. जिस

से दीदी आहह किये बाघैर ना रह पाती. शान ऐक हाथ से दीदी की चूत को भी खूब

मसल रहा था कि दीदी को चूत का भी प्यार बराबर मिलता रहे.

इस प्यार के खैल मे दीदी अब तक दो दफ़ा फारिघ् हो चुकी थी और सोना कोई 3

बार. दीदी की चूत से निकलते पानी की वजा से बेड शीट भी भीग गयी थी इतना

ज़यादा पानी निकल रही थी आज दीदी की चूत. शान ने जब दीदी की इस गर्म वेट

चूत को दैखा तो गांद का मज़ा फीका लगने लगा और लंड निकाल के सीधा दीदी की

चूत मे पेल दिया.

उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ फ. लंड तो ऐसे

अंदर चला गया और ऐक ज़ोरे दार परछ्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह की आवाज़ आइ. दीदी

आआआहह लव यू शानुउउउउउउउ. आहह. शान अब दीदी की चूत मे लंड पेल रहा था तो

सामने गांद के अंदर उंगली भी कर रहा था. 5 मिनिट यौं ही चूत लंड का खैल

जारी रहा और दीदी तीसरी दफ़ा मंज़िल पे पहॉंच गयी. और शान का लंड गीली

चूत के गर्म पानी मे डूबने लगा.

अगले ही लम्हे शान की नज़र तड़पति हुई सोना पे पड़ी और दीदी की चूत भी

उसे फीकी लगने लगी. फ़ौरन ही दीदी की चूत से लंड को बाहर निकाला और सोना

की तरफ़ बढ़ गया. दीदी भी यही चाह रही थी कि सोना को उस का पूरा हिस्सा

मिलना चाहिये.

दीदी साइड पे लेट गयी और शान ने इसी तरह लेटी सोना की लेग्स ओपन की और

अपना पूरा लंड सोना की चूत मे पेल दिया. आहह. शान और सोना के मूह से

इकट्ठी आवाज़ निकली. शान को फील हुआ कि दीदी की चूत और सोना की चूत मे

बहोत फ़र्क़ है. दीदी की चूत थोड़ी खुली ज़रूर है लेकिन गर्म बहोत ज़यादा

है. सोना की चूत तंग है लैकेन उतनी गर्म नही जितनी दीदी की चूत है. लेकिन

सोना की तंग चूत ने शान के मज़े को डबल कर दिया. शान लंड के बेशुमार वॉर

कर रहा था सोना की चूत पे. दीदी ऐक मिनिट साइड पे लेट के फिर सोना के पास

आ गयी और सोना के ब्रेस्ट्स को सक करने लगी और फिर सोना के लिप्स को.

अब सोना को ऐक वक़्त मे दो दो प्यार मिल रहे थे ऐक दीदी का तो दूसरा शान

का. शान का लंड आग पे आग लगा रहा था तो दीदी के लिप्स ऊपेर के हिस्से को

जला रहे थे. शान के लंड की वजा से सोना 2 दफ़ा और मंज़िल को पहॉंच गयी और

शान भी मंज़िल के करीब पहॉंच गया. अचानक से उसे ख़याल आया के सोना की

गांद का ज़ायक़ा केसा है वो भी तो चेक किया जाए.

और फ़ौरन अपना लंड निकल लिया और सोना को डोगी स्टाइल मे कर दिया. सोना तो

यही समझी के पीछे से लंड चूत मे जाए गा. लेकिन दीदी समझ गयी थी कि लंड

चूत मे नही गांद मे जाए गा. इस लिये दीदी ने फ़ौरन शान को इशारा किया कि

पूरा लंड ना डाले अंदर बस थोड़ा सा. शान ने सोना की गांद का ऐक जायज़ा

लिया. सोना की गांद छोटी सी गोल सी थी. दीदी की गांद तो बहोत हेवी थी और

गांद बहोत सेक्सी भी. शान ने ऐक मर्तबा फिर वो क्रीम अपने लंड पे लगाई

मगर सोना की गांद पे नही.

शान ने अपना लंड सोना की चूत पे रखा जिस से सोना यही समझी कि चूत मे जाए

गा लैकेन अगले ही लम्हे शान ने लंड को गांद पे रखा और अंदर पेल दिया.

सोना: अहह कुत्तययययययययययययी.

शान: आहह मेरी कुतिया. और 3 इंच लंड अंदर घुसा दिया.

सोना का दिल, जिगर, गुर्दे सब कुछ उस के मूह को आ गये और आँखे बाहर को.

दीदी ने जब सोना की यह हालत दैखि तो शान को इशारा किया कि बस इतना काफ़ी

है. शान भी समझ गया.

दीदी ने प्यारी सोना को संभाला दिया और अपने लिप्स को सोना के लिप्स पे

रख दिया. जेसे कह रही हो कि कुछ नही हो गा. सोना ने भी दीदी के लिप्स को

सक करना शुरू कर दिया. और अपनी तकलीफ़ को डाइवर्ट करने लगी. शान ने थोड़ी

सी क्रीम सोना के गांद के छैद पे फैंक दी और लंड को आगे पीछे मूव किया तो

क्रीम गांद के अंदर भी चली गयी. सोना को अब तकलीफ़ कम महसूस होने लगी और

लंड की मूव्मेंट मज़ा देने लगी. अगले ही लम्हे शान के लंड ने भी मंज़िल

हासिल कर ली और ऐक तेज़ धार सोना की गांद को चीरती हुई अंदर चली गयी और

सोना को अपनी गांद के अंदर बॉली वॉटर का चलता हुआ समुंदर फील होने लगा.

और इस तेज़ धार के बाद शान अपने लंड को सोना की गांद से निकलते साथ ही

साइड पे गिर गया और सोना दीदी की छाती पर सिर रख के लेट गयी.

वापस आने के 2 वीक्स तक तो शान सोना के घर ना जेया सका कियू कि अभी उसको

अपने बिजनेस को समेटना था और बोहुत सारे काम थे, लेकिन फोन पेर डेली सोना

और दीदी बात होती रहती थी, आज भी वो सुबह से अपने ऑफीस के कामो मे ही लगा

हुवा था. लंच टाइम पर उसने सोचा कि आज का लंच सोना के साथ करना चाहिए और

यही सोच कर वो उठा और कार मे सोना के घर की तरफ रवाना हो गया, रास्ते मे

एक होटेल सी लंच पॅक करवा लिया.

चोवकिदार के गेट खोलने के बाद शान अपनी कार को लेकर अंदर चला आया लेकिन

वाहा पर एक और कार को देख कर कुच्छ अंदाज़ा ना कर सका के कोई मेहमान भी

आया हुवा है. ड्रॉयिंग रूम को खाली देख कर वो कुछ मायूस हो गया और समझा

के शायद सोना घर मे नही है, लेकिन अचानक उसको कुच्छ मधाम सी आवाज़ ने

अपनी तरफ खैंचा जो के ऊपेर के रूम से आ रही थी तो वो समझ गया के सोना

अपने कमरे मे ही है और वो उसकी तरफ जाने लगा.

जैसे ही वो सोना के रूम के दरवाज़े के पास पहुचा तो उसको सोना की आवाज़

आई जो कह रही थी "ओह जानू तुम तो मुझे मार ही डालो गे, और कितना तडपाओगे

अब सबर नही होता डाल दो अपना मोटा और लंबा लंड, बुझा दो मेरी चूत की आग"

और ये सुनते ही शान को एक झटका सा लगा और उस ने आहिस्ता से डोर को पुश

किया तो वो खुलता ही चला गया और फिर अंदर का मंज़र देख कर तो वो पागल ही

हो गया. उसने देखा के सोना के बेड पेर एक आदमी नंगा लेटा हुवा है और सोना

उसके लंड पर बैठ कर उछल कूद कर रही है और दीदी सोफे नंगी बैठी हुवी है और

अपनी चूत मे उंगली कर रही है. तीनो अपनी अपनी हवस मे इतने गुम थे के उनको

शान के दरवाज़े पर होने का पता भी ना चल सका.

उधर शान के तो बदन मे तो जैसे लहू भी नही था और ना जाने एक सेकेंड मे ही

उसके ज़हेन मे क्या क्या कुच्छ होने लगा और वो फॉरन पलटा और अपनी कार की

तरफ दौड़ने लगा और अपनी कार के देश बोर्ड से पिस्टल निकाला और ऊपेर जा कर

लात मार के एक धमाके से दरवाज़ा खोल दिया.

उधर सोना और दीदी तो अपनी ही मस्ती मे थी लेकिन जैसे ही शान ने दरवाज़े

को खोला तो दोनो ही हैरत से उसको देखने लगी सोना का मूँह खुला का खुला रह

गया और उसको ये भी एहसास ना हुवा के वो लंड पर बैठी हुवी है. और जैसे ही

होश आया तो फॉरन लंड से उतरी और अपने कपड़ो की तरफ बढ़ी लेकिन शान ने

उसको बालो से पकड़ कर एक झटका दिया और नीचे फैंक दिया और पागलो की तरह

उसको लातो से मारना शुरू कर दिया और साथ साथ चीखते हुवे ये भी कह रहा थे

के तुम रांड़ हो तुम गश्ती हो मैने तुम्हारे लिए क्या सोचा था और तुम

क्या निकली, तुम्हारे लिए मेने अपनी खूबसूरत और वफ़ादार बीवी को छोड़ा और

तुमने ……. और ये कहते ही सोना को गोली मार दी.

ये देखते ही वो मर्द जो के अभी तक गुम सूम नंगा ही बेड पर था फॉरन छलाँग

लगा कर बेड से उतरा और नंगा ही दौड़ कर रूम से भाग गया. अब तो शान

बिल्कुल पागल ही हो गया था उसने पिस्टल की सारी गोलिया सोना के जिस्म मे

उतार दी और सोना अपनी जिंदगी से विदा हो गई . दीदी ने ये देखा तो चीखने

लगी तो शान दीदी की तरफ पलटा और अपने दोनो हाथो से दीदी का गला पकड़ कर

दबाने लगा और दबाता ही चला गया. फिर जब दीदी के जिस्म मे भी जान ना रही

तो उसको छ्चोड़ड़ दिया. और वहीं घुटनो के बल बैठ गया……उसकी आँखो से आँसू

बह रहे थे लेकिन ये आँसू सोना या दीदी के लिए नही थे बल्कि अपनी बे-वफ़ाई

के थे जो उसने अपनी बीवी से की थी फिर बे-इकतियार वो रोता चला गया और

उसको ये भी पता ना चला के कब पोलीस आई और कब उसको पोलीस स्टेशन ले जाया

गया. पोलीस स्टेशन मे उस ने खुद ही सोना और दीदी के कत्ल का इक़रार कर

लिया सब कुच्छ बता दिया.

नैना को पोलीस स्टेशन से इंस्पेक्टर की कॉल आई तो वो फॉरन जिम्मी के साथ

पोलीस स्टेशन पहुची और अपने हज़्बेंड को इस हालत मे देख कर उसकी आँखे भर

आईं लेकिन शान उसके साथ आँखे ना मिला सका.

तक़रीबन 3 महीने शान का मुक़द्दीमा चला और अदालत ने शान को 2 बार उमर

क़ैद की सज़ा सुना दी. उस दिन भी नैना कोर्ट रूम मे मोजूद थी जैसे ही जज

साहिब ने सज़ा सुनाई तो नैना ने शान की तरफ देखा, शान का चेहरा बोहत

पर-सकून था. नैना की तरफ बढ़ा और सिर्फ़ इतना कहा के नैना प्ल्ज़ मुझे

माफ़ कर देना और इस से ज़ियादा ना कह सका कियू के उसकी आवाज़ उसके

अल्फ़ाज़ का साथ नही दे रहे थे.

शान ने अपने वकील के थ्रू नैना को तलाक़ नामा भिजवा दिया और अपनी तमाम

जायदाद और बिजनेस नैना के नाम कर दिया.

एक महीने तक तो नैना सदमे दो चार रही और इस अरसे मे वो ऑफीस भी ना गयी

लेकिन इस अरसे के दोरान आंटी और जिम्मी ने उसका भरपूर साथ दिया. आज भी

आंटी उसके साथ ही बैठी हुवी थी.

आंटी : नैना जो होना था वो हो गया अब तुम कियू अपनी ज़िंदगी को खराब करने

पर तुली हुवी हो और देखो तुम्हारी वजा से जिम्मी भी कितना परेशान रहने

लगा है. सम्भालो अपने आप को, ऐसा कितने दिन चले गा.

नैना : क्या करूँ आंटी, मुझे तो कुच्छ समझ ही नही आता, अगर आप और जिम्मी

ना होते तो पता नही मेरा क्या होता.

और ये सुनते ही आंटी ने फॉरन कहा

आंटी : ऐसी बाते नही किया करते, और जो कुछ भी मैने किया वो कोई तुम्हारे

लिए थोड़े ही किया था, वो तो मैने अपनी होने वाली बहू के लिए किया है.

(यह सुनते ही नैना चोंक गयी और आंटी को देखने लगी) आंटी कहने लगी, हां

नैना मैं बिल्कुल ठीक कह रही हू. मैं तुम्हे अपनी बहू बनाना चाहती हू

बोलो तुम्हे मंज़ूर है……

और ये सुनते ही नैना ने शरम से सर झुका लिया…..

दोस्तो ये कहानी आपको कैसी लगी ज़रूर बताना फिर मिलेंगे एक नई कहानी के

साथ आपका दोस्त राज शर्मा

समाप्त

दा एंड

naina--paart-35

gataank se aage.......

Shaan nay bhi fauran apna trouser utar k phainka aur lund haath mai pakar lia.

Didi: Pehlay garm to kar mujhay.

Shaan didi ki is baat pay aur shair ban gaya aur didi say ja k lipat

gaya. Didi k lips mai apnay lips ko jama dia aur aik haath say didi ki

choot mai finger daal k move karnay laga.

Sona say bhi na raha gaya aur us nay bhi apni nighty utaar di aur didi

ko kissing karnay lagi. Didi ko ab aik waqt mai dono mazay mill rahay

thay Straight bhi aur lesbian bhi. Shaan k lips didi k lips, neck,

chest, shoulders aur breasts pay apni garmi daal rahay thay to neechay

sona k lips didi ki thies, choot aur gaand mai aag laga rahay thay.

Shaan didi ki lips ko suck karta to didi usay zore say apnay saath

chipka laiti jaisay poori raat yehi karna chahti ho, Phir shaan jab

apnay lips didi k bharay huay motay motay baray gol breasts pay rakhta

to didi us ka sir waheen daba laiti jaisay poori raat yehi chahti ho.

Didi ko har step pay yehi lagta k bus yehi hona chahiay poori raat.

Didi ko payar kartay kartay kartay sona bhi garm ho gayee thi aur sona

ki choot bhi wet ho gayee thi. Sona nay ab apnay lips didi ki choot

mai garh dia aur aik haath say apni hi choot rub karnay lagi. Didi ab

mukamal taur pay garm ho chuki thi. Shaan nay ab ahista ahista didi ki

gaand mai ungli karna shuru kar di thi. Aur Pooray hips k andar ungli

top say end tak move karta aur darmayan mai thora press karta jis say

ungli gaand k andar bhi chali jati. Didi k moo say aahhhhhhhhhhhhhh

nikal jati.

Shaan say ab sabar nahi ho raha tha. Aur didi ko doggy style mai anay

ko kaha. Didi samaj gayee k uski gaand mai lund janay wala hay. Doggy

style pay anay say pehlay us nay shaan ko pass pari ek cream di. Aur

usay shaan k lund pay laganay ko kaha aur gaand k andar bhi. Shaan nay

wo cream aaj pehli dafa daikhi thi, Shaan nay fauran cream li aur

apnay lund pay laga di aur saath hi didi ki gaand mai bhi laga di.

Sona paas baithay apni choot rub kar rahi thi aur yeh sab daikh rahi

thi. Us ka bus yehi dil kar raha tha k shaan uski choot mai lund daal

day. Laiken shaan to didi ki gaand ka deewana hua para tha. Thori hi

dair mai didi ki gaand lubricate ho gayee aur shaan ka lund bhi.

Didi nay sona ko ishara kia k wo apni choot us k hawalay kar day. Didi

ab doggy style mai aa gayee aur sona didi k saamnay aisay aa k lait

gayee k sona ki choot seedha didi k lips k samnay aa gayee. Didi nay

bhi bina intezar kiay apnay lips ko sona ki choot mai garh diay.

Sona: ahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh didi.

Udhar shaan nay bhi position sambhal li aur sona k moo say nikalti aah

nay usay pagal kar dia aur didi ki gaand pay lund rakh k jhatka dia

jis say aaadha lund andar chala gaya. Abhi lund to aik dum say andar

chala gaya aur gaand bhi bahot sexy lag rahi thi. Yeh kiun? Shaan k

zehn mai aik dum khayal aya. Phir khud hi answer mill gaya. k Didi ko

shaam mai garm nahi kia tha, didi ki gaand ki lubrication bhi to nahi

ki thi. Jesay hi aadha lund didi ki gaand mai utra. Didi k moooh say

nikali. Aahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh Yeh aah bus nikali aur dobara

lips sona ki choot mai dab gayee.

Udhar sona k moo say aahhhhhhhhhhh, uffffffffffffff ki awazain nikal

rahi thien to idhar didi apnah lips dabaye apni gaand mai lund k mazay

ko daba rahi thi.

Ooper shaan pagal kutay ki tarha didi ki gaand mai lund pail raha tha.

Shaan kabhi poora lund bahir nikala laita to kabhi aik hi jhaktay mai

poora andar daal daita. Jis say didi aahhhhhhhhhhhh kiay baghair na

reh paati. Shaan aik haath say didi ki choot ko bhi khoob masal raha

tha k didi ko choot ka bhi payar brabar milta rahay.

Is payar k khail mai didi ab tak do dafa farigh ho chuki thi aur Sona

koi 3 baar. Didi ki choot say nikaltay pani ki waja say bed sheed bhi

bheeg gayee thi itna zayada pani nikal rahi thi aaj didi ki choot.

Shaan nay jab didi ki is garm wet choot ko daikha to gaand ka maza

pheeka lagnay laga aur lund nikal k seedha didi ki choot mai pail dia.

Ufffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffff ff. Lund to aisay

andar chala gaya aur aik zore daar parachhhhhhhhhhhh ki awaz i. Didi

aaaaaahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh Love you shaanuuuuuuuu. Aahhhhhhhhhhh.

Shaan ab didi ki choot mai lund pail raha tha to saamnay gaand k andar

ungli bhi kar raha tha. 5 minute youn hi choot lund ka khail jari raha

aur didi teesri dafa manzil pay pahonch gayee. Aur shaan ka lund geeli

choot k garm pani mai doobnay laga.

Aglay hi lamhay shaan ki nazar tarapti hui sona pay pari aur didi ki

choot bhi usay pheeki lagnay lagi. Fauran hi didi ki choot say lund ko

bahir nikala aur sona ki tarf barh gaya. Didi bhi yehi chah rahi thi k

sona ko us ka poora hisa milna chahiay.

Didi side pay lait gayee aur shaan nay isi tarah laiti sona ki legs

open kien aur apna poora lund sona ki choot mai pail dia.

Aahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh. Shan aur sona k moo say ikhatay awaz

nikali. Shaan ko feel hua k didi ki choot aur sona ki choot mai bahot

farq hay. Didi ki choot thori khuli zaroor hay laiken garm bahot

zayada hay. Sona ki choot tang hay laiken utni garm nahi jitni didi ki

choot hay. Laiken sona ki tang choot nay shaan k mazay ko double kar

dia. Shaan lund k beshumar war kar raha tha sona ki choot pay. Didi

aik minute side pay lait k phir sona k paas aa gayee aur sona k

breasts ko suck karnay lagi aur phir sona k lips ko.

Ab sona ko aik waqt mai do do payar mil rahay thay aik didi ka to

doosra shaan ka. Shaan ka lund aag pay aag laga raha tha to didi k

lips ooper k hisay ko jala rahay thay. Shaan k lund ki waja say sona 2

dafa aur manzil ko pahonch gayee aur shaan bhi manzil k kareeb pahonch

gaya. Achanak say usay khayal aya k sona ki gaand ka zaiqa kesa hay wo

bhi to check kia jaye.

Aur fauran apna lund nikal lia aur sona ko dogi style mai kar dia.

Sona to yehi samji k peechay say lund choot mai jaye ga. Laiken didi

samaj gayee thi k lund choot mai nahi gaand mai jaye ga. Is liay didi

nay fauran shaan ko ishara kia k poora lund na dalay andar bus thora

sa. Shaan nay sona ki gaand ka aik jaiza lia. Sona ki gaand choti c

gol c thi. Didi ki gaand to bahot heavy thi aur gaand bahot sexy bhi.

Shaan nay aik martaba phir wo cream apnay lund pay lagayee magar sona

ki gaand pay nahi.

Shaan nay apna lund sona ki choot pay rakha jis say sona yehi samji k

choot mai jaye ga laiken aglay hi lamhay shaan nay lund ko gaand pay

rakha aur andar pail dia.

Sona: AHHHHHHHHHHHHHHHHHHHHH KUTTAYYYYYYYYYYYYY.

Shaan: Aahhhhhhhhhhhhhhh meri kutia. aur 3 inch lund andar ghusa dia.

Sona ka dil, jigar, gurday sab kuch us k moo ko aa gaye aur ankhain

bahir ko. Didi nay jab sona ki yeh halat daikhi to shaan ko ishara kia

k bus itna kafi hay. Shaan bhi samaj gaya.

Didi nay mazid sona ko sambhala dia aur apnay lips ko sona k lips pay

rakh dia. Jesay keh rahi ho k kuch nahi ho ga. Sona nay bhi didi k

lips ko suck karna shuru kar dia. Aur apni takleef ko divert karnay

lagi. Shaan nay thori c cream sona k gaand k chhaidd pay phaink di aur

lund ko agay peechay move kia to cream gaand k andar bhi chali gayee.

Sona ko ab takleef kam mehsoos honay lagi aur lund ki movement maza

dainay lagi. Aglay hi lamhay shaan k lund nay bhi manzil hasil kar li

aur aik tez dhar sona ki gaand ko cheerti hui andar chali gayee aur

sona ko apni gaand k andar bolied water ka chalta hua samundar feel

honay laga. Aur is tez dhar k baad shaan apnay lund ko sona ki gaand

say nikaltay saath hi side pay gir gaya aur sona didi ki chaati par

sir rakh ke let gayee.

Waapas aane ke 2 weeks tak to shaan Sona ke ghar na jaaa saka kiu ke

abhi usko apne Bussiness ko samaitna tha aur Bohat saare kaam the,

Lykin Phone per Daily Sona aur Didi baat hoti rehti thi, aaj bhi wo

Subah se apne office ke kaamo may hi laga huwa tha. Lunch time per

usne socha ke Aaj ka Lunch Sona ke saath karna chaahye aur yahi soch

kar wo utha aur Car may Sona ke ghar ki taraf rawana ho gaya, Raaste

may ek Hotel see Lunch Pack karwaa lia.

Chowkidaar ke gate kholne ke baad Shaan apni Car ko laikar andar chala

aaya Lykin wahaa per ek aur Car ko dekh kar kuchh andaza na kar saka

ke koi Mehmaan bhi aaya huwa hai. Drawing Room ko khaali dekh kar wo

kuch mayoos ho gaya aur samjha ke shayad Sona ghar may nahi hai, Lykin

achanak Ussko kuchh Madham si Awaaz ne apni taraf khaincha jo ke Ooper

ke room se aaa rahi thi to wo samajh gaya ke Sona apne kamre may hi

hai aur wo usski taraf jaane laga.

Jaise hi wo Sona ke Room ke Darwaze ke paas pohancha to usko Sona ki

Awaaz aai jo keh rahi thi "Ohhhhh Jaano Tum to Mujhe maar hi daalo ge,

aur kitna tadpaao ge ab sabar nahi hota Daal do apna Mota aur Lamba

Lun, Bujhaa do Meri Choot ki Aag" Aur Ye Sunte hi Shan ko ek Jhatka sa

laga aur uss ne Aahista se Door ko push kia to wo khulta hi chala gaya

aur phir andar ka manzar dekh kar to wo Pagal hi ho gaya. Ussne Dekha

ke Sona ke Bed per ek Aadmi nanga leta huwa hai aur Sona uske Lun per

baith kar Uchal kood kar rahi hai aur didi Sofe Nangi baithi huwi hai

aur apni Choot may Ungli kar rahi hai. Teeno apni apni hawas may iten

gum the ke unko Shan ke Darwaze per hone ka pata bhi na chal saka.

Udhar Shan ke to badan may to jaise lahoo bhi nahi tha aur na jaane ek

second may hi uske zehen may kia kia kuchh hone laga aur wo Forun

palta aur apni Car ki taraf Dorrne laga aur apni Car ke Desh board se

Pistal nikala aur ooper jaa kar laat mare ke ek Dhamake se darwaaza

khol dia.

Udhar Sona aur didi to apni hi masti may thi Lykin jaise hi Shaan ne

Darwaaze ko khola to dono hi Hairat se usko dekhne lagi Sona ka Moonh

khula ka khula reh gaya aur usko ye bhi Ehsaas na huwa ke Wo Lun per

baithi huwi hai. Aur jaise hi hosh aaya to forun lun se utri aur apne

kapdo ki tara barrhi lykin shaan usko baalo se pakarr kar ek jhatka

dia aur neechay phaink dia aur Paaglo ki tara usko Laato se maarna

shuru kar dia aur saath saath cheekhte huway Ye bhi keh raha the ke

Tum Raand ho Tum Gashti ho Maine tumhare liye kia socha tha aur tum

Kia nikli, Tumhare liye meine apni Khubsoorat aur Wafa Shuaaar Biwi ko

Chhorraa aur tumne ……. Aur Ye kehte hi Sona ko goli maar di.

Ye Dekhte hi Wo Mard jo ke abhi tak Gum Sum Nanga hi Bed per tha Forun

Chalaang laga kar Bed se utraa aur Nanga hi Dorr kar Room se bhaag

gaya. Abto Shaan Bilkul paagal hi ho gaya tha ussne Pistal ki saari

golia sona ke Jisam may Utaar di aur Sona be his o harkat ho gayeeee.

Didi ne ye dekha to Cheekhne lagi to Shaan didi ki taraf palta aur

apne dono haatho se didi ka gala pakarr kar dabaane laga aur dabaata

hi chalaa gaya. Phir jab Didi ke jisam may bhi jaan na rahi to usko

chhodd dia. Aur waheen ghutno ke bal baith gaya……Uski aankho se aanso

rawaan the Lyki ye Aansoo Sona yaa didi ke liye nahi thay balke apni

Be-wafaai ke thay jo ussne apni Biwi se kit hi phir be-ikhtiaar wo

Rota chala gaya aur usko ye bhi pata na chala ke kab Police aai aur

kab usko Police Station lay jaya gaya. Police Station may uss ne khud

hi Sona aur Didi ke Qatal ka iqrar kar lia sab kuchh Bataa dia.

Naina ko Police Station se SHO ki call aai to wo Forun Jimmi ke saath

Police station pohanchi Aur apne husband ko iss halat may dekh kar

uski Aankhain bhar aain Lykin shaan uske saath aankhain na milaa saka.

Taqreeban 3 Maheene Shaan ka Muqaddima chala aur Adaalat ne Shaan ko 2

baar Omer Qaid ki sazaa sunaa di. Uss din bhi Naina Court room may

mojood thi Jaise hi Judge sahib ne saza sunaai to Naina ne Shaan ki

taraf dekha, Shan ke chehra bohat pur-sakoon tha. Naina ki taraf Badha

aur Sirf itna Kaha ke Naina Plz Mujhe Maaf kar dena aur iss se ziada

na keh saka kiu ke uski awaaz uske alfaaz ka saath na de rahay thay.

Shaan ne apne wakeel ke through Naina ko Talaq Nama bhijwaa dia aur

apni tamaam Jaaidaad aur Bussiness Naina ke naam kar dia.

Ek Maheene tak to Naina Sadmay do chaar rahi aur iss arse may wo

Office bhi na gayee Lykin iss arse ke doraan Aunty aur Jimmy ne uska

bharpoor saath dia. Aaj bhi Aunty uske saath hi baithi huwi thi.

Aunty : Naina Jo hona tha wo ho gaya ab tum kiu apni Zindagi ko kharab

karne per tuli huwi ho aur dekho tumhari waja se Jimmy bhi kitna

pareshaan rehne laga hai. Sambhaalo apne aap ko, Aisa kitne din chalay

ga.

Naina : kia karoon Aunty, Mujhe to kuchh samajh hi nahi aata, agar aap

aur Jimmy na hote to pata nahi mera kia hota.

Aur ye sunte hi Aunty ne forun kaha

Aunty : Aisi baatain nahi kia karte, aur jo kuch bhi maine kia wo koi

tumhare liye thorri kia tha, Wo to Maine apni hone waali Bahoo ke liye

kia hai.

(Yeh sunte hi Naina chonk gayee aur Aunty ko dekhne lagi) Aunty kehne

lagi, Haan Naina Main bilkul theek keh rahi hooon. Main tumhe apni

bahoo banana chaahti hooon bolo tumhe manzoor hai……

Aur Ye sunte hi Naina ne Sharam se sar Jhukaa lia…..

THE END