प्यास बुझती ही नही compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit webvitaminufa.ru
007
Platinum Member
Posts: 948
Joined: 14 Oct 2014 11:58

Re: प्यास बुझती ही नही

Unread post by 007 » 11 Dec 2014 07:56

एक सुबह कमला और रश्मि आपस मे बाते कर रहे थे….कमला मटर छिल रही थी और रश्मि किचन मे थी….

कमला: पता है आज कल तुम्हारे जेठ जी तुमपे कुच्छ ज़्यादा ही मेहरबान है……

रश्मि: वो कैसे…….

कमला: अरे रात मे नींद मे भी तुम्हारा नाम ले रहे थे…

रश्मि: रश्मि डर गयी…फिर संभाल कर बोली……ऐसा क्यो करेंगे….रात मे आप होती है उनकी बगल मे तो मेरा नाम कैसे ले रहे थे…

कमला: अरे नही….एक बार दो बार आदमी ले तो समझ आता है …..ये तो करीब 10 बार तुम्हारा नाम ले रहे थे……..

रश्मि: शरमाते हुए…अच्छा…और क्या कह रहे थे…

क्‍मला: अगर मे बोलूँगी तो तुम यकीन नही करोगी………. वैसे चाहे जो भी हो…….तुम चीज़ बहुत ताज़ी हो…पता है अगर मे मर्द होता ना तुम्हे जी भर कर चोद्ता…..पता नही राजेश तुम्हे क्यो नही चोद्ता है……नौकरी मे क्या रखा है…जो मज़ा जवानी मे है वो नौकरी मे कहाँ….और मेरे पति को देखो….खूब कमाते है और खूब चोद्ते है……..

रश्मि: ह्म्‍म्म्मम सब की ऐसी किस्मेत कहाँ???

कमला: कैसी बाते करती हो…..मे हू ना…अगर एक दरवाजा बंद हो जाए तो पानी दूसरे रास्ते से भी निकाला जा सकता है…..

रश्मि: कहने का मतलब?

कमला: मतलब बिल्कुल सॉफ है….तुम दूसरे मर्द से संबंध रख लो …..सिंपल

रश्मि: आपका दिमाग़ तो खराब नही हुआ है?

कमला: मे ठीक कह रही हू……तेरी जवानी संभालना तुम्हारे पति के बस की बात नही….हाँ

रश्मि: पता है आप क्या कह रही है? बोलने से पहले कुच्छ तो सोच लिया करो

वो मेरे पति है..और किसने कह दिया कि वो कमजोर है….मुझे तृप्त नही कर सकते है….ऐसा नही है मेडम……….सॉरी….और वन्हा से पाँव पटक कर भाग गयी…

कमला को ये एक्सपेक्ट नही था……वो अस्चर्य चकित रह गयी….ऐसा क्या कह दिया कि रश्मि बिल्कुल नाराज़ हो गयी…ये तो एक छ्होटा सा मज़ाक था……फिर उसने सोचा कि मे इसके लिए उससे माफी माँगूंगी…शायद मे ग़लत हू…………………………और वो भी रश्मि के कमरे की ओर चल दी…..

चलो कम से कम ये बात तो फॅक्ट है कि अगर जेठ जी अगर रश्मि को चोदे तो कमला को कोई आपत्ति नही होगी…यही उस समय रश्मि सोच रही थी…उसने अपने आँसू पोन्छे और मुस्कुराते हुए बाथरूम मे घुस गयी….जब वापस आई तो कमला पुनः मौजूद थी….

कमला: आइ आम सॉरी…मुझे ऐसा नही कहना चाहिए था…एवेन्थौघ ही ईज़ युवर हज़्बेंड…शायद किसी भी वाइफ को ये सुनना पसंद नही होगा कि उसका हज़्बेंड कमजोर है………………………………….मे ऐसा बिल्कुल नही कह रही हू….मे ये कह रही हू कि हब्बी के अलावा भी मज़े लिए जा सकते है….पर-पुरुष से….हम मानते है कि ये ग़लत है पर शारीरिक शुख के लिए ज़रूरी है…….मुझे ग़लत मत समझना….ये मेरा इंडिविजुयल विचार है…………………….

रश्मि गौर से सुन रही थी थी…….वो धीरे से बोली….दीदी अगर कोई औरत तुम्हारे मर्द के साथ सोना चाहे तो तुम क्या करोगी….कमला मुस्कुरा दी.

मे क्या कर सकती हू…और तुम बताओ कि राजेश जब रंभा के साथ सोता है तो तुम क्या करती हो…….?? बताओ…..मे क्या कोई भी औरत कुच्छ नही कर सकती….

रश्मि: आपको कैसे पता कि राजेश का रंभा के साथ चक्कर है…

कमला: अरे मे सब जानती हू….किसके किससे क्या चक्कर है सब जानती हू..और फिर इसमे ग़लत क्या है…? बोलो तुम्हारे अंदर कुच्छ खिचरी हो तो बोलो?

रश्मि: मुझे माफ़ करो….मेरा कोई ऐसा इरादा नही है..और वो घबरा कर भागने लगी…………….तभी कमला ने उसकी चोटी पकड़ कर खींच ली…कहाँ जा रही है….बैठो……..अरे बाबा मे मज़ाक कर रही हू….तुम सीरीयस हो…अगर तुम्हारा मन नही है तो कोई बात नही…कोई ज़रूरी थोड़े है………………………मे तो यूँ ही कह रही थी…आरीईएरीईई तुम तो रोने लगी…………… मेरी गुड़िया….आइ आम सॉरी बाबा…मे अब कोई मज़ाक नही करूँगी….मुझे पता होता कि तुम्हारे दिल को हार्ट होगा तो मे ये बकवास करती ही नही…………………….

चाहो जो भी हो भाई मेरा कंक्लूषन ये कहता है कि जो जिंदगी तुम्हे मिली है उसे सही तरह से जिए जाओ…यू घुट घुट कर मरने से अच्छा है जी भर कर आनंद उठाए…और यही मोटो तुम्हारे जेठ जी का भी है….मेरी तरफ से कोई बंदिस नही है……………..मे चलती हू…………………..

रश्मि अपने बेड पर सो गयी और आज के घटना-क्रम पर वो सोचने लगी…कि कमला जो कह गयी उसमे कितना सत्य है…….उसने हर आंगल से सोचा….और अंत मे यही कंक्लूषन निकाला…कि फन के लिए थोड़ा बहुत सेक्स किया जाए तो बुरा नही है…..और फिर उसका जेठ तो है ही उसे बीच समंदर से निकालने वाला…कम से कम इतना सो समझ ही गयी थी कि उसका जेठ उसे बहुत प्यार करता है……और वो भी उनसे बहुत प्यार करती है….दोनो के बीच ओरल सेक्स इंटरॅक्षन तो हो ही गया है…और उसपर कमला की रज़ामंदी…..रश्मि को और क्या चाहिए. थोड़ी देर बाद वो भी कमला के कमरे मे आ गयी और बोली….

रश्मि: सॉरी दीदी…..मुझे माफ़ कर दीजिए…..

कमला: अरे नही….तुम मेरी छ्होटी बहन समान हो....मे तो यू ही तुम्हे छेड़ रही थी… तो रिलॅक्स रहो…मे अभी आई…….और हाँ तुम मुझे एक सहेली ही समझो.

रश्मि मुस्कुरा दी…..अब वो नॉर्मल हो गयी…….

रात को खाना खाते समय राजेश ने कहा….

राजेश: भैया….मे कल जा रहा हू मुंबई…..टिकेट वग़ैरह बन गये है

राज: रश्मि को भी ले जाओ……घूम लेगी

क्रमशः....................................

007
Platinum Member
Posts: 948
Joined: 14 Oct 2014 11:58

Re: प्यास बुझती ही नही

Unread post by 007 » 11 Dec 2014 07:57


Rashmi: apna munh ka paste saaf karne ayee thee….
Raj: usne to tum kitchen ke bahar lage hue basin me bhi dho sakti thee….
Ab rashmi ke pas koi jawab nahi thaa……….usne ghabra kar bola…mene socha ki bathroom me dho lu…..
Raj: chalo theek hai…par jab mene tumhe sabun lagane ko kaha to tum taiyaar kyo ho gayee……us samay tumhara man kyo nahi roka…tum meri bahu thee….mere chhote bhai ki bibi……………….
Ab bhi rashmi ke pas koi jawab nahi diya………achha chodo……..
Jab mene tumhara kiss kia,, tumhare hontho ko chusa….aur yaad hai tumne bhi chusa thaa……mere honth…par wah kya thaa……hai tumhare pas jawab ….is swal ka???? Yaa phir me jaaoo sone…..
Thodi der rashmi kuchh nahi boli….phir usne boli…..jo kuchh bhi hua iske liye sorry…me bahak gayee thee…ab aage aisa nahi hoga……aap jao sone….me bhi sone jaa rahee hu…………………..
Tum beshak sone jaao……mujhe bhi koi dilchaspi nahi hai tumme……me to tumhe samjha raha thaa…ki stree aur purush ke bich sex ke riste hote rahte hai ….chahe riste koi bhi ho…..hamara tumhara rista ho sakta hai…par depend tumpe hai…agar tum taiyaar ho to theek hai….aur agar nahi ….to forget it…………
Rashmi kuchh nahi boli…………………………Raj apne kamre me chala ayaa…aur fresh hokar ek glass dudh piya aur so gaya……………………………………………………….
Dusri taraf rashmi ki aankho me neend nahi thee…usne soch rahi thee ki kya usne jo kiya …kya usne sahi hai????? Kya wakai sari galti Raj ki hai….uska nahi hai…
Chahe jo ho me ek stree hu…mujhe apne asmat bachana chahiye…….aur phir Raj ka kya gunah hai…..jis samay dono thee us samay koi bhi mard fisal sakta hai…aadhi raat ka time, dono jawan, aur uspar rashmi ke saari aur uske blouse ke cutt….uske blouse se dono chuchiya aadhi se jyada bahar aa rahe the jo ki mardo ko awanhaan kar rahi thee ki aao aur pakro mujhe…….aur phir peticot ki gaanth uske naavi se kaafi niche bandh rakha thaa…aur uspar uske heavy gaand….kisi bhi manchalo ko path-bhrast kar sakta hai…….ye to Raj thaa jo ki ab tak apne aap par control rahe hue thaa….agar koi aur hota to ab tak rashmi chud chuki hoti….yahi sochte hue rashmi ne faisla kiya ki subah uthte hi usne Raj se maafi mangegi…………………..aur phir sone ka prayas karne lagi….
================================================================
Subah karib 5 baje rashmi ka neend tuta…….dudhwale ne call well bajayeee thee…rashmi ne uthkar dudh liya aur phir kitchen me chali gayee…..phir usne sone chali gayee….tabhi usne apna mobile check kiya…do message akay hua thaa…ek Raj ka tha aur dusra uske husband rajesh ka…..Raj ne sirf itna kaha: sorry for in the night…..and rajesh ne sorry to not attending events.
Message padhkar usne muskura di..aur phir kitchen me chay banane chali gayee….ab usne sone ka wichar chod kar 2 cup chay banane ke baad usne Raj ke room me aa gayee…..Raj sirf ek nekar pehne hue tha upar se nagna…pahle to rashmi ne uske pure shareer ka muwayna kiya phir chay ka tray table par rakh diya aur use jagane lagi…tabhi usne ruk gayee…kyki uski nazar uske lund par chali gayee….lund pura ka pura neker se bahar thaa…..kaala aur mota….aise lag raha thaa ki koi south afrika ke habsi ka lund ho…..uske lund ko dekhkar rashmi stabdh rah gayee……usne anuman lagane laga ki uska lund kitna bada hoga……Raj bilkul so raha thaa…kyoki uske kharate ki awaj aa rahee thee…….so rashmi pura ka pura sunischit kar li thee ki Raj so raha hai……………usne apne haatho ki ungli se uske lund ke supade ko touch kiya….lund ke komalta ka ehsaas rashmi ko hua…use bahut achha laga…….dusri taraf shayad Raj ko bhi achha laga….ab usne peeth ke baal so raha thaa…jisse uska lund chhat ki or ho gaya…..lund aise thaa maano koi ganne ka ped ho…………………………rashmi ko uske lund par pyar aa raha thaa…..par usne kyar kare….agar jagayegi to usne apni hi nazar se gir jayegi…aur phir Raj kya sochega…..sochega: raat ko to bahut badi badi baate kar rahi thee…aur ab kya ho gaya….so usne wahi baith kar uske pure shareer ko dekh rahi thee…..lund par ke bhi baal nahi thee…..aisa lagta thaa ki Raj haair remover se baal saaf kiya thaa…..ek dam chikna…..rashmi ne jhukar lund ke agra bhag ko ek baar aur touch kiya….use achha kag raha thaa….aaj pahli baar jethji ke lund ko itni nazadeek se dekh rahi thee…….ab usne cah rahi thee ki iska sugandh kaisa hai…..brief me to kaafi achha sugandh thaa…..usne jhuk kar uske lund ke ird-gird ka sugandh lene laga..tabhi rashmi ke gaal lund se takra gaya…….Raj ko ek eract hua aur phir normal ho gaya……rashmi ghabra gayee…use laga kahi ye uth na jye…par jab Raj normal ho gaya to usne punah try kiya….aur sawdhani se sunghne lagi…..lund ka smell kaafi achha tha…usne madhosh ho gayee…..ab usne lund ke agr bhag ko apne lips se chusna chahti thee…usne jhuk kar uske agr bhag par ek kiss de di…isbaar bhi Raj thoda hila….aur phir waise hi..ho gaya….use aisa lag raha thaa ki koi sapna dekh raha hai aur rashmi spne me hi uske lund ko kiss kar raha hai……………………is baar rashmi ne tay kar liya ki usne supare ko chusegi chahe jo bhi ho…..waise usne kai baar rajesh ke lund ko chus chuki thee……par ye to rajesh bhi bada lund tha…………………..aur phir usne jhuk kar lund ke supare ko apne munh me lene ka prayas karne lagi…lund pura uske munh me aa gayee aur phir so chusne lagi…usne apni ankhe band kar liya aur chusne lagi….dusri taraf Raj bhi hil dul raha thaa….ki tabhi rashmi ke dant lund par lag gaya…..Raj hadbadakar hoth gaya…rashmi bhi ghabra gayee…aur usne lund chod diya aur wanhaa se uth gayee………………….usne bhag jaana chahti thee….ki Raj uska haath pakar liya………………………………………………………………………
Raj: madam….ye kya ho raha hai…..???
Rashmi: kuchh nahi……me to aise hi
Raj: aise hi kya??? Raat me to badi badi baate kar rahi thee…ab kya hua…kaha gaya tumhara jameer…..apne pati ki pati-brata stree…..bolo…
Rashmi: sorry………
Raj ne uska haath chod diya……
Raj: koi baat nahi………ye to tumhare shareer ki jarurate hai…samjho aur jo hota hai use kabul karo………me koi jabardasti nahi karta…par tum kahoge ko tumhare invitation jarur sweekarunga…..
Rashmi: ji me raat ke liye maafi mangna chahti thee….sorry…mujhe aisa nahi karna chahiye thaa………shayad aap theek hai……
Raj: nahi…naa me theek hu aur naa hi tum galat ho…dono apni jagah theek hai……par kuchh aise riste hote hai jinka koi naam nahi hota….usne sirf dil ke riste hote hai…shareer ke riste hote hai…..lund aur chut ke riste hote hai….pahli baar Raj ne rashmi ke age lund aur chut ka naam liya…..
Rashmi sharma gayee…uske chehre par laali pad gayee…usne diwar ki taraf apna munh kar liya….Raj uske pas chala gaya…aur uske baalo ko sahlate hua kaha……….tumhe kharab to nahi laga…..rashmi apni aankhe band kar li aur boli kuchh nahi…sirf naa me sir hila diya………………Raj ne jhuk kar uske gaalo par ek puppy le liya aur usse sat gaya…….rashmi ko current sa laga…kyoki Raj ka lund uske gaand me touch kar raha thaa…..usne apni haanth ko le jakar uske lund ko apni gaand se hata diya…………….Raj ne use apni baanho me daboch liya aur uski ek chuchiyo ko apne haatho me lekar dabane laga…rashmi garam ho gayee….jiske wajah se uski chuchiya kaafi bade bade ho gayee….nipple tak gayee….rashmi is samay ek gown pehne hue thee…jo ki aage se khulti the…Raj ne chain khol diya aur uske chuchiyo par tut pada…rashmi bhi aaj sab kuchh nauchhawar karna chahti thee…aaj to bandh dono ke beech thee usne gira dena chahti thee…rashmi aage badhkar Raj ke hontho ko apne hontho me laga kar chusne lagi…aur apna jeev uske munh me pel diya…Raj ko achha lagne laga…kyoki aaj rashmi munh dho kar aye thee…Raj rashmi ke pure sharer ko naap raha thaa…kya chuchiya aur gaand thee…ek dam mast…..dono ke beech koi dialogue nahi ho raha thaa…kyoki dono ki aankhe band thee…dono ek dusre ko rub kar rahe thee…aur chus, kiss kar rahe the…..karib 10 min tak aisa ho tar aha tabhi rashmi ki pas pade chay ki cup par dhyan aya aur bol pari:
Rashmi: are chay layee thee…me bhul gayee…. Ek dam thandi ho gayee hogi
Raj: uski baato ko sune wagair uske sharer ko kiss aur chum raha thaa….usne pehle se nanga to tha hi…..ab uske sharer par neker bhi nahi tha….bilkul nanga…
Rashmi apna gown khol chuki thee…ab sirf bra aur panti may thee…..aur khade khade hi Raj ko chuswa rahi thee…..jaise hi Raj ne bra ka hook khola…tabhi darwaje par call well baj gayee….rashmi ghabra gayee….aur Raj baukhla gaya…ye aisa waqt thaa jab dono apne charam sima par the….rashmi uske kamre se bhag kar apne aapko theek kiya …paas pade darpan me dekha aur theek hokar darwaja khola……………………………………………………………………….
Darwaja kholte hie dekha ki kamala aa gayee thee….
Rashmi: good morning didi/…
Kamla: are waah…aaj to jaldi uth gayee aur naha bhi li
Rashmi: ji…..
Kamala: aur sahib office gaye?
Rashmi: wo so rahe hai…chay dene gayee thee par wo so rahe the…chay yu thandi ho gayee……..dubara laati hu…ander aiye
Kamala: ander aye aur apne beDoctoroom me chali gayee…bed par Raj nahi thaa…usne boli…kaha ho….ander se awaj aya…..bathroom me ….munh me brush hone ka ehsaas ho raha thaa………
Kamla: sidhe kitchen me chali gayee….jaha rashmi chay aur chini dal rahi thee…
Mere liye mat banana…mera pet theek nahi hai….gud…gud kar raha hai…..fresh hona hai……………….
Rashmi: mere bathroom me chale jaao..aur fresh ho lo….kamla chali gayee…
Rashmi rahat ki saas li…………….sukr hai…situation is under control……nahi to pata nahi kya ho jata…………………….rashmi sab kuchh jante hue dil ke haatho majboor hokar Raj ke saath ye rista banaya…par adhura……………….
Khaya piya kuchh nahi…………….gilas toda 12 ana…………………wali kahawat ho gayee………………rashmi Sharma gayee aur muskura dee…..
Tabhi rajesh bhi aa gaya…………….aate hi rashmi ko kaha….darling mere liye bhi ek chay………………………………
Rashmi: ab aye ho….pata hai Doctor. neha kitna gussa kar rahi thee……tum kaise aadmi ho..aur phir cell phone off kyo kiye hue tha….aate hie baut sara sawal puchh diya
Rajesh: are baap re…..darling aahiste….tumhara pati mara mara ghar aya hai uski khairiat puchhni chahiye….chay, nasta puchhni chahiye…ye itne saare sawal…???
Rashmi: bina batay gayab rahoge to ye hi hoga……lo chay pi lo…aur haa abhi beDoctoroom me mat jana…didi naha rahi hai………………………
Rajesh: fresh hona thaa yaa……bhaiya kaha hai…
Rashmi: usne bhi fresh ho rahe hai…
Rajesh: yaani dono bathroom engage….?
Rashmi: ji…filhaal tum chay piye aur ye lo akhbaar……………..padho…me chali…mujhe kal ke liye assignment taiyaar karni hai

Ek subah kamla aur rashmi aapas me taate kar rahe the….kamla matar chhil rahi thee aur rashmi kitchen me thee….
Kamla: pata hai aaj kal tumhare jethjii tumpe kuchh jyada hi meharbaan hai……
Rashmi: usne kaise…….
Kamla: are raat me neend me bhi tumhara naam le rahe thee…
Rashmi: rashmi dar gayee…phir sambhal kar boli……aisa kyo karenge….raat me aap hoti hai unke bagal me to mera naam kaise le rahe thee…
Kamla: are nahi….ek baad do baar aadmi le to samajh aata hai …..ye to karib 10 baar tumhara naam le rahe the……..
Rashmi: sharmate hai…achha…aur kya kah rahe the…
Kmala: agar me bolungi to tum yakeen nahi karogi………. Waise chahe job hi ho…….tum cheez bahut taazi ho…pata hai agar me mard hota na tumhe jee bhar kar chodta…..pata nahi rajesh tumhe kyo chodta hai……naukri me kya rakha hai…jo maja jawani me hai usne naukri me kaha….aur mere pati ko dekho….khub kamate hai aur khub chodte hai……..
Rashmi: hmmmmm sab ki aisi kismet kaha???
Kamla: Kaisi baate karte ho…..me hu na…agar ek darwaja band ho jaye to paani dusre raste se bhi nikala jaa sakta hai…..
Rashmi: kahne ka matlab?
Kamla: matlab bilkul saaf hai….tum dusre mard se saM B Andh rakh lo …..simple
Rashmi: aapka dimaag to kharab nahi hua hai?
Kamla: me theek kah rahi hu……teri jawani sambhalna tumhare pati ke bas ki baat nahi….haa
Rashmi: pata hai aap kya kah rahi hai? Bolne se pahle kuchh to soch liya karo
Usne mere pati hai..aur kaun kah diya ki usne kamjor hai….mujhe tript nahi kar sakte hai….aisa nahi ha madam……….sorry….aur wanhaa se pao patak kar bhag gayee…
Kamla ko ye expect hahi tha……usne ascharya chakit rah gayee….aisa kya kah diya ki rashmi bilkul naaraj ho gayee…ye to ek chhota sa majak thaa……phir usne thana ki me iske liye use maafi mangungi…shayad me galat hu…………………………aur usne bhi rashmi ke kamre ki or chal di…..
Chalo kamse kam ye baat to fact hai ki agar jethji agar rashmi ko chode to kamla ko koi aapatti nahi hogi…yahi us samay rashmi soch rahi thee…usne apne aansu ponchhe aur muskurate hue bathroom me ghus gayee….jab wapas aye to kamla punah maujud thee….
Kamla: I am sorry…mujhe aisa nahi kahna chahiye thaa…eventhough he is your husband…shayad kisi bhi wife ko ye sunna pasand nahi hoga ki uska husband kamjor hai………………………………….me aisa bilkul nahi kah rahi hu….me ye kah rahi hu ki hubby ke alawa bhi maje liye ja sakte hai….par-purush se….ham mante hai ki ye galat hai par shareerik shukh ke liye jaruri hai…….mujhe galat mat samajhna….ye mera individual wichar hai…………………….
Rashmi gaur se sun rahi thee thee…….usne dheere se boli….didi agar koi aurat tumhare mard ke saath sona chahe to tum kya karogi….kamla muskuraiee.
Me kya kar sakti hu…aur tum bataao ki rajesh jab rambha ke saath sota hai to tum kya karti ho…….?? Bataao…..me kya koi bhi aurat kuchh nahi kar sakti….
Rashmi: aapko kaise pata ki rajesh ko rambha ke saath chakkar hai…
Kamla: are me sab janti hu….kiske kisse kya chakkar hai sab janti hu..aur phir isme galat kya hai…? Bolo tumhare ander kuchh khichri ho to bolo?
Rashmi: mujhe maaf karo….mera koi aisa irada nahi hai..aur usne ghabra kar bhagne lagi…………….tabhi kamla ne uski choti pakar kar khinch li…kaha jaa rahi hai….baitho……..are baba me majak kar rahi hu….tum serious ho…agar tumhara man nahi hai to koi baat nahi…koi jaruri thode hai………………………me to yu hi kah rahi thee…areeeeereeeeee tum to rone lagi…………… meri gudiya….i am sorry baba…me ab koi majak hani karungi….mujhe pata hota ki tumhare dil ko heart hogi to me ye bakwaas karti hi nahi…………………….
Chaho jo bhi ho bhai mera conclusion ye kahta hai ki jo jindagi tumhe mili hai use sahi tarah se jiye jaao…yu ghut ghut kar marne se achha hai jee bhar kar aanand uthaye…aur yahi moto tumhare jethjee ka bhi hai….meri taraf se ki bandies nahi hai……………..me chalti hu…………………..

Rashmi apne bed par so gayee aur aaj ke ghatna-kram par usne sochne lagi…ki kamla jo kah gayee usne kitna satya hai…….usne har angle se sochi….aur ant me yahi conclusion nikala…ki fun ke liye thoda bahut sex kiya jaye to bura nahi hai…..aur phir uske jeth to hai hi use beech samander se nikalne wala…kamse kam itna so samajh hi gayee thee ki uske jeth use bahit pyar karta hai……aur usne bhi unse bahut pyar karti hai….dono ke bich oral sex interaction to ho hi gaya hai…aur uspar kamla ki rajamandi…..rashmi ko aur kya chahiye. Thodi der baad usne bhi kamla ke kamre me aa gayee aur boli….
Rashmi: sorry didi…..mujhe maaf kar dijiye…..
Kamla: are nahi….tum meri chhoti bahan saman ho....me to yu hi tumhe chhed rahi thee… to relax raho…me abhi aye…….aur haa tum mujhe ek saheli hi samjho.
Rashmi muskura di…..ab usne normal ho gayee…….

Raat ko khana khate samay rajesh ne kaha….
Rajesh: bhaiya….me kal jaa raha hu MuM B Ai…..ticket wagairah ban gaye hai
Raj: rashmi ko bhi le jaao……ghum legi


007
Platinum Member
Posts: 948
Joined: 14 Oct 2014 11:58

Re: प्यास बुझती ही नही

Unread post by 007 » 11 Dec 2014 07:58

प्यास बुझती ही नही-5

अब आगे.................................

राजेश: पर इसका तो एग्ज़ॅम है….

राज: एग्ज़ॅम तो हो गया…..असाइनमेंट सब्मिट करना है ये तो मे भी कर दूँगा

राजेश: ठीक है मे ट्रॅवेल एजेन्सी को बोल कर आता हू..और उठ कर जाने लगा.

रश्मि: रहने दो…मे नही जाऊंगी…मेरा मन ठीक नही है…तुम फ्री रहोगे तो मुझे लेने आ जाना….वैसे 2 मंथ का टूर है……15 दिन के बाद आ जाना…मे तैयार रहूंगी………..

राजेश रुक गया….ये आइडिया अच्छा लगा……उसने सोचा तब तक कोई फ्लॅट भी ले लेगा मुंबई मे……और फिर अगर रश्मि भी जाएगी तो उसे दिक्कत फील होगी…..और वो अकेली क्या करेगी…….ठीक है भैया…मे 15 डेज़ के बाद आ जाऊँगा तब ले जाऊँगा.

राज: कब की फ्लाइट है?

राजेश: सुबह के 5 बजे पर है

राज: तो तुम अभी जा कर पॅक कर लो और सो जाओ….सुबह मिलते है मे भी जा रहा हू सोने…मुझे उठा देना……सी/ऑफ कर आऊंगा….

राजेश: ठीक है….और राजेश अपने कमरे मे चला गया….रश्मि और कमला रसोई मे चली गयी….और गंदे बर्तन को धो कर रखने लगी…..

सुबह 4 बजे पर अलार्म लगा दिया था……..रश्मि तो पहले ही उठ चुकी थी….रात मे 1 दफ़ा राजेश ने उसे चोदा था………चोद्ने के बाद उसने सो गया…….

रश्मि सुबह उठते ही राजेश को उठाया…और किचन मे चाय बनाने चली गयी………..राज पहले से ही उठ चुका था….उसने चाय पी कर अपना ट्रॅक सूट पह्न लिया….और एक ऑटो ले आया………..और राजेश चला गया………………….

राजेश को सी/ऑफ करने के बाद राज अपनी शॉप चला गया…….कमला को फोन कर बोल दिया कि ब्रेक फास्ट शॉप पर भिजवा देना….किसी को भेजूँगा……शॉप पहले से ओपन हो गयी थी….भोला और एक अन्य स्टाफ आ चुका था…..भोला ने राज से कहा:

भोला: सर, ये है अनिता जी, सेल्स गर्ल्स के जॉब के लिए आई है…मेरे पड़ोस मे रहती है……आपने जो एड दिया है पेपर मे वही पढ़ कर आई है……….

राज ने गौर से अनिता को देखा…….5’6” हाइट, गोरा, 36-28-34 का फिगर, ब्लू जीन्स और वाइट कुर्ते मे आँखो पर रेड कलर का ग्लास……….राज के सामने आते ही कहा:

अनिता: गुड मॉर्निंग सर,…..आइ आम अनिता शर्मा, इंटरव्यू के लिए आई हू

राज: हाँ….हन…..प्लीज़ वेलकम……बैठाओ भाई इनको…….आपको थोड़ा वेट करना होगा…..क्योकि अभी अभी शॉप ओपन हुआ है………………………………..

अनिता: नो प्राब्लम सर…आइ आम वेटिंग हियर…..और वो एक स्टूल पर बैठ गयी….राज अंदर नर्सिंग होम मे चला गया…डॉक्टर. नेहा आ चुकी थी….उसने पेशेंट को देख रही थी…..

डॉक्टर. नेहा: गुड मॉर्निंग जीजा जी…

राज: गुड मॉर्निंग मेडम…हाउ आर यू???

डॉक्टर. नेहा: देख लो…ठीक ही हू….आपने मेरा काम किया ही नही…तो मेने ही कर लिया….शाम को आ जाएगा…..एक लड़के वाले आ रहे है…..रिस्ते के लिए…आप रहेंगे तो हिम्मत रहेगी…..

राज: ठीक है भाई…साली शाहिबा का दिल भी तो नही तोड़ सकते ना..और दोनो हस पड़े……………………….

डॉक्टर. नेहा: राजेश चला गया???

राज: हन….आज सुबह ही चला गया…मुंबई…..

डॉक्टर. नेहा: इंसान भी क्या करे??? नौकरी के लिए कहाँ से कहाँ जाना पड़ता है…

राज: ह्म…. तभी तो मेने जॉब नही किया…अपना काम ही ठीक है….कम कमाओ और ज़्यादा चुदाओ…..

डॉक्टर. नेहा और राज ठहाके मार कर हस्ने लगे…… ….आप नही सुधरेंगे..

राज: मेरी साली शाहिबा….ये ज़िदगी जो भगवान ने दी है …दुबारा नही मिलेगी….सो यू शुड एंजाय वित लॉट ऑफ फन….मज़े लो….

डॉक्टर.नेहा: जीजू…तुम कोई अड्वाइज़ दो ना

राज: कैसी अड्वाइज़?

डॉक्टर. नेहा: यही शादी की

राज: ह्म अच्छा बताओ लड़का कहाँ का है और क्या करता है.

डॉक्टर. नेहा: वो सर्जरी के डॉक्टर. है नैनीताल के रहने वाले है…..मेरी एक फ्रेंड की आंटी ने भेजा है…लड़का अकेला भाई है…..प्रॅक्टीस भी नैनीताल मे करता है…फोटो भिजवाया है…ये देखो..और दराज से निकाल कर एक स्नॅप राज की ओर बढ़ा दिया…………………लड़के को देखते हुए राज ने कहा….डार्लिंग…लड़का तो देखने मे ठीक लग रहा है …स्मार्ट भी है….और उम्र यही कोई 27-28 के पास होगी…पर हां….इसका लंड काफ़ी बड़ा होगा….क्या तुम संभाल पाओगि… और ठहाका मार्कर हस्ने लगा….नेहा शर्मा गयी……

डॉक्टर. नेहा: धात…..आप भी….ना…

ठीक हाँ मे शाम को आजाऊंगा…कहो तो कमला को फोन कर दू वो भी आ जाएगी.

डॉक्टर.नेहा: ठीक है दीदी को भी बुला लो….राज ने कमला को फोन कर दिया…कि शाम को 5 बजे आ जाना…और हाँ रश्मि को भी लेके आ जाना…वो अकेली बोर होती रहेगी.

कमला : ठीक है…आजाऊंगी….

अब डॉक्टर. नेहा अपने काम मे लग गयी और राज अपनी शॉप पर आ गया.

राज ने अनिता को देखते हुए कहा…अरे हां…..तुम/>
सॉरी…मुझे तो पता ही नही था कि तुम्हारा इंटरव्यू भी लेना है….

आ जाओ अंदर…..अनिता नर्वस होते हुए अंदर कॅबिन मे चली गयी…

राज ने कंप्यूटर ऑन किया और कुच्छ हिसाब किताब चेक करने के बाद कहा….

राज: हां….cव दिखाइए

अनिता ने अपना cव और कुच्छ डॉक्युमेंट्स राज की ओर बढ़ा दिए…

राज: cव देखते ही कहा….देखिए ये एक शॉप है…सो इसके लिए ज़्यादा क्वालिफिकेशन की ज़रूरत नही है….और ना ही एक्षपरिएन्स की……आप जब भी काम सीख और कर सकते है……पर फिर भी कुच्छ अपने बारे मे बताए….

अनिता: जी…आइ आम अनिता शर्मा, पर्स्यूयिंग एम बी ए फ्रॉम इग्न्यू. माइ फादर ईज़ टीचर आंड मदर ईज़ हाउसवाइफ. आइ हॅव 1 ब्रदर आंड 1 सिस्टर…. माइ ब्रदर ईज़ उस्नेरकिंग ए मल्टिनॅशनल कंपनी.

राज: ग्रेट…… पर आप शॉप मे ही क्यो काम करना चाहती है….

अनिता: सर मे जेब खर्च के लिए जॉब कर रही हू…और ये मेरे घर के पास ही है….पीछे 5नंबर. वाली गली मे रहती हू….

राज: कभी काम किया किसी शॉप मे

अनिता: जी एक शॉप मे किया था…..एरा माल मे ऐज सेल्स गर्ल्स…पर पेपर की वजह से जॉब छोड़ दिया…

राज: क्या सॅलरी एक्सपेक्ट करोगी यहाँ…..

अनिता; एरा मोल मे 10 हज़ार मिलती थी…..और समय 9 तो 10 पीयेम था…

राज: पर तुम्हार पढ़ाई खराब नही होगी???

अनिता: वो तो होगा ही…पर क्या कर सकते है…

राज: देखो मे तुम्हे 8000/- दूँगा…और समय 9 तो 6 पीयेम होगा…और हां कभी कभी काम ज़्यादा रहने पर रुकना होगा….सनडे ऑफ होगा…..

अनिता: मुझे मंजूर है…सर

राज: ठीक है मंडे से आ जाना….

अनिता: ओह्ह थॅंक्स सर…..और खड़ी हो गयी…और मुस्कुराते हुए बाइ किया.

राज ने भी मुस्कुराते हुए उस-से हाथ मिलाया और कहा: सी यू ऑन मंडे 9.00 आम…..ओके?

अनिता: शुवर सर आंड थॅंक यू सर…

और अनिता वन्हा से चली गयी………………………………………………..आज अनिता काफ़ी खुस थी…उसे जाते हुए राज गौर से देखता रहा….उसके चूतड़ काफ़ी बड़े बड़े थे……..उसके चूतड़ को देखते ही राज के लंड खड़ा हो गया..और मुस्कुरा कर अपना लंड को दबा दिया और बाहर आ गया भोला कस्टमर डील कर रहा था…कुच्छ बाते करने के बाद वो भी कस्टमर डील करने लगा…

कमला ने जब घड़ी कोदेखा तो 11 बज चुके थे तो उसे चिंता होने लगी…..अभी तक भोला आया नही है किसके मध्यम से ब्रेक फास्ट भिजवाऊ……तभी उसे एक उपाय सूझा..वो रश्मि को बोली………

कमला: रश्मि ….क्या कर रही हो….

रश्मि: कुच्छ नही…बोलिए….

कमला: क्या तुम खाना लेकर शॉप जा सकती हो..इन्होने कहा था कि नौकर भेज दूँगा…अभी तक नही आया है….मे अभी नहाई नही हू….वरना मे ही चली जाती…तुम पूजा कर चुकी हो…..अगर बुना ना लगे तो???

रश्मि: कैसी बाते करती हो….लाओ मे लेकर जाती हू……ऑटो से चली जाऊंगी….3 किमी तो है……..मुझे भी कुच्छ बुक्स ख़रीदनी है…वही पर खरीद लूँगी…..आप चिंता ना करे….

कमला: और हां…शाम को नेहा के पास चलना है..उसे देखने के लिए लड़के वाले आ रहे हा…हम सब को बुलाया है…..

रशमी: ठीक है…मे 2 बजे तक आ जाऊंगी…. और अपने रूम मे चली गयी…वो बाथरूम मे चली गयी फ्रेश होने के बाद एक वाइट सूट आंड ग्रीन सलवार निकाल लिया और पह्न कर हल्का मेकप किया और फिर लंच बॉक्स लेकर घर से चल दी……वो 10 मिनट मे ही शॉप आ गयी…राज कस्टमर डील कर रा था…..शॉप के पास जाकर मुस्कुराते हुए मज़ाक लहजे मे कहा…..सर…पॅरासीटा मोल …है?

राज: अरे….तुम??? तुम क्यो आई…कमला कहाँ गयी..वो आ जाती…आज भीड़ काफ़ी था तभी भोला को नही भेजा…………

रश्मि: कोई बात नही…मे आ गयी….दीदी नहाई नही थी….तो मे ही आ गयी मुझे कुच्छ बुक्स खरीदने थे……तो सोचा आपसे मिल लूँगी…और खाना भी दे दूँगी……..

राज: तुम अंदर आ जाओ…… ….टीवी ऑन कर्लेना …. मे अभी आया…

और वो चला गया…डॉक्टर. नेहा के कॅबिन मे….

महेश: डॉक्टर. साहिबा नाश्ता करेंगे…?

नेहा: अरे अभी तक आपने नाश्ता नही किया है….कमाल है…मुझे बता देते मे लेके आ जाती…..दीदी आई है क्या?

राज: नही रश्मि आई है……चले?

नेहा: नही आप जाओ…नाश्ता ले चुकी हू….अब तो लंच टाइम होने वाला है...

राज अब अपने कॅबिन मे था….रश्मि कुच्छ उलट पलट रही थी कि वो एक cव को देखने लगी….cव पर एक खूबसूरत लड़की का पासपोर्ट साइज़ स्नॅप लगी हुई थी…

राज ने मुस्कुराते हुए कहा…ये मिस. अनिता शर्मा है …ऐज सेल्स गर्ल अपायंट किया है…..मंडे से आएगी………………………कैसी लगी…

रश्मि: टाइम पास के लिए ठीक है……लगे रहो.

राज: स्टूडेंट है और पार्ट-टाइम जॉब करना चाहती है…यही पास मे रहती है….सैलरि. 8000/- सॅलरी होगी….

रश्मि: ठीक है……..आपको सपोर्ट रहेगी……….आप बैठिए…खड़े क्यो है?

राज: छेड़ते हुए…जब हमारी मेडम कहेगी तब?

रश्मि: आप प्लीज़ बैठिए…मे पानी लाती हू…नाश्ता करने के लिए

राज: तुम आज बहुत खूबसूरत लग रही हो….और झुक कर उसके बाई गाल पर एक पॅपी ले ली…..

रश्मि: क्या करते है….कोई देख लेगा तो क्या होगा?

राज: यहाँ कोई नही आ सकता…चलो नाश्ता करते है…..और टिफिन बॉक्स खोलने लगा

रश्मि: महाशय पहले हाथ तो धो लो….

राज: उसकी ज़रूरत है…हमारे हाथ हमेशा सॉफ रहते हैं….वैसे क्या लाई हो…..प्यारी सुगंध आ रही है.

रश्मि: मुझे नही मालूम…दीदी ने बनाया है…मे सिर्फ़ इन्हे ले कर आई हू.

राज: ने खोल कर देखा …..दो पराठे और आचार थे…..उसने…कहा…

चलो सुरू करते है…आजाओ…

रश्मि: आप खाओ…मे नाश्ता ले चुकी हू….आप खाना खाइए मे अभी आई यही नई सड़क से…

राज ने रश्मि का हाथ पकड़ते हुए कहा….बैठो अभी…मे ले कर चलूँगा….जहाँ तुम कहोगी……प्लीज़ सिट हियर…रश्मि चुप चाप बैठ गयी…राज ने पराठे का एक टुकरा काटा और रश्मि के मुँह की तरफ बढ़ा दिया….रश्मि….मे खा की आई हू आप खाओ…ना प्लीज़

राज: अरे डार्लिंग…ये प्यार का धोतक है..प्लीज़ ले लो…नही तो मुझे ज़बरदस्ती करना होगा…

रश्मि: अच्छा जी…आप ज़बरदस्ती भी करते हो…मेने तो कभी करते हुए नही देखा….

राज: जब देखोगी तो समझ जाओगी…कि मे कितना ईगरनेस हू….तुम्हारे लिए

रश्मि: मुस्कुरा दी और उनके हाथ से एक टुकरा खा लिया….अब आप खाओ….