रेहाना भाभी की चुदाई compleet

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit webvitaminufa.ru
rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: रेहाना भाभी की चुदाई

Unread post by rajaarkey » 07 Nov 2014 15:27




मोलवी से बात की तो उसने 3 बाद का टाइम बताया. 3 दिनो तक
मैने रेहाना की खूब जम कर चुदाई की. अब उसे और ज़्यादा मज़ा आने
लगा था. रहना चुदवाते समय मेरा पूरा साथ देती थी इस लिए मुझे
भी खूब मज़ा आता था. तीसरे दिन हम दोनो ने शादी कर
ली. रात में मैने रेहाना की गांद मारी. वो बहुत चीखी और चिल्लाई
लेकिन उसने एक बार भी मुझे रोका नहीं. उसकी गांद कयि जगह से कट
गयी थी और उसकी गांद की हालत एक दम खराब हो गयी थी. वो 2 दिनो
तक ठीक से चल भी नहीं पा रही थी. मैने पुछा, मैं जब
तुम्हारी गांद मार रहा था और तुम्हें इतनी ज़्यादा तकलीफ़ हो रही थी
तो तुमने मुझे रोका क्यों नहीं. वो बोली, मैं अपने पति को कैसे मना
करती. आख़िर बाद में मुझे भी तो गांद मरवाने में मज़ा आया.
मैने कहा, वो तो आना ही था. अब मेरे लिए कुँवारी चूत का इंतेज़ाम
कब करोगी. वो बोली, बस जल्दी ही हो जाएगा.

शादी के 4 दिन के बाद जब मैं दुकान से घर आया तो घर पर एक
लड़की बर्तन सॉफ कर रही थी. उसके कपड़े थोड़ा गंदे थे लेकिन वो
थी बहुत ही खूबसूरत. उसकी उमर लगभग 16 साल की रही होगी. मैं
सीधा अपने कमरे में चला गया. रेहाना भी मेरे पिछे पिछे आ
गयी. मैने रेहाना से पुच्छा, ये कौन है. वो मुस्कुराते हुए बोली, मैने
इसे घर का काम करने के लिए रखा है. इसका नाम लाली है. पसंद
है ना तुम्हें. मैं इसे तुम्हारे काम के लिए भी जल्दी ही तय्यार कर
लूँगी. मैने कहा, तुम्हारी पसंद का तो जवाब नहीं है. कहाँ रहती
है ये. रेहाना ने कहा, ये गाओं में रहती थी लेकिन अब यहीं रहेगी.
मेरे भैया जब शादी में आए थे तो मैने उन से कहा था कि मुझे
घर का काम करने के लिए एक लड़की चाहिए. उन्होने ने ही इसे यहाँ
पर भेजा है. ये हमारे साथ ही रहेगी. मैने कहा, जल्दी तय्यार
करो इसे. मैं इसे जल्दी से जल्दी चोदना चाहता हूँ. वो बोली, थोड़ा
सबर करो.

लाली बर्तन सॉफ कर के कमरे में आ गयी. उसने रेहाना से पुछा,
मालकिन, मैने घर का सारा काम कर दिया है, और कुच्छ करना हो तो
बता दो. रेहाना ने कहा, तू तो मेरे गाओं की है, मुझे मालकिन मत कहा
कर. वो बोली, फिर मैं आप को क्या कह कर बुलाऊं. रेहाना ने कहा, तू
मुझे दीदी कहा कर और इन्हें जीजू. वो खुश हो गयी और बोली, ठीक
है, दीदी. रहना ने कहा, मेरी तबीयत कुच्छ खराब रहती है इस लिए
तू मेरे साथ ही सो जाना. वो बोली, फिर जीजू कहाँ सोएंगे. रेहाना ने
कहा, वो भी मेरे पास ही सोएंगे. वो बोली, फिर मैं आप के पास
कैसे सो पाउन्गि. रेहाना ने कहा, मेरे एक तरफ तुम सो जाना दूसरी तरफ
ये सो जाएँगे. वो बोली, ये तो ठीक नहीं होगा. रेहाना ने कहा, शहर
में सब चलता है. यहाँ ज़्यादा शरम नहीं की जाती. वो बोली, ठीक
है, मैं आप के पास ही सो जाउन्गि.

हम सब ने खाना खाया उसके बाद मैं अपने कमरे में सोने के लिए आ
गया. मैने केवल लूँगी ही पहन रखी थी. थोड़ी देर बाद रेहाना और
लाली भी आ गये. रेहाना ने ब्रा और पॅंटी को छ्चोड़ कर अपने बाकी के
कपड़े उतार दिए. उसके बाद उसने मेक्सी पहन ली. रेहाना ने लाली से कहा,
अब तू भी अपने कपड़े उतार दे. मैं तुझे भी एक मेक्सी देती हूँ, उसे
पहन लेना. वो बोली, नहीं, मैं ऐसे ही ठीक हूँ. रेहाना ने कहा,
मैं जो कहती हूँ, उसे मान लिया कर. सोते वक़्त सारा बदन खुला
छ्चोड़ देना चाहिए. वो बोली, जीजू यहाँ हैं. रहना ने कहा, जीजू से
कैसी शरम, ये तुझे पकड़ थोड़े ही लेंगे. उतार दे अपने कपड़े. लाली
ने शरमाते हुए अपनी शलवार और कमीज़ उतार दी. उसका बदन देखकर
मैं दंग रह गया. उसकी चुचियाँ अभी बहुत ही छ्होटी छ्होटी थी.
रेहाना ने उसे भी एक मेक्सी दे दी तो उसने वो मेक्सी पहन ली.

रेहाना मेरे बगल में लेट गयी. लाली रेहाना के बगल में लेट गयी. हम
सब कुच्छ देर तक बातें करते रहे. उसके बाद सोने लगे. थोड़ी ही देर
में लाली सो गयी तो रेहाना ने मुझसे कहा, अब तुम मेरी चुदाई करो.
मैने कहा, इसके सामने. वो बोली, मैं चाहती हूँ कि ये हम दोनो को
देख ले, तभी तो मैं इसे तय्यार करूँगी. तुम मुझे खूब ज़ोर ज़ोर से
चोदना जिस से ये जाग जाए. मैने कहा, ठीक है.

मैने रेहाना को ज़ोर ज़ोर से चोदना शुरू कर दिया. सारा बेड ज़ोर ज़ोर से
हिलने लगा. थोड़ी ही देर में लाली की नींद खुल गयी और वो उठ कर
बैठ गयी. जैसे ही वो उठी तो मैने अपना लंड रेहाना क़ी चूत से बाहर
निकाल लिया. लाली ने जब हम दोनो को देखा तो शर्मा गयी. वो बोली,
दीदी, मैं बाहर जा रही हूँ. रेहाना ने कहा, क्यों, क्या हुआ. वो बोली,
मुझे शरम आती है. रेहाना ने कहा, पगली, इसमें शरमाने की कौन सी
बात है. तू अपना मूह दूसरी तरफ कर ले और सो जा. लाली उठ कर जाना
चाहती थी लेकिन रेहाना ने उसका हाथ पकड़ लिया. लाली कुच्छ नहीं बोली.
वो रेहाना के बगल में ही लेट गयी लेकिन उसने अपना मूह दूसरी तरफ
नहीं किया. रेहाना ने मुझसे कहा, अब तुम अपना काम जल्दी से पूरा करो,
मुझे नींद आ रही है.
क्रमशः.................

rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: रेहाना भाभी की चुदाई

Unread post by rajaarkey » 07 Nov 2014 15:28




Rehana ki Bhabhi Chudai--4
gataank se aage...............
Thodi der baad wo boli, main ek baat tumse kahna chahti hoon. Maine

puchha, ab kya hai. Wo boli, mujhe to tumhara Lund bahut pasand aa

gaya hai. Agar tumhein meri Choot bhi pasand aa gayi ho to tum mujhse

shadi kar lo. Main tumse 1 saal chhoti bhi hoon aur jawan bhi. Main

tumhein poora maza doongi aur ek dam khush rakhungi. Agar tum mujhse

shadi nahin karoge to main to tumhari rakhail ban kar rah jaungi. Jab

tumhari shadi ho jayegi to mujhe kaun Chodega. Bhabhi khoobsurat thi

hi. Main unhein bahut pyar bhi karta tha aur wo bhi mujhse bahut pyar

karti thi. Unki baat sahi bhi thi kyon ki muhalle ke log baad mein

unhein meri rakhail hi kahte. Maine mazak kiya, agar tum mujhse shadi

karna chahti ho tumhein ek kaam karna padega. Wo boli, main sab kuchh

karne ke liye tayyar hoon. Maine kaha, tumne us pagal ko dekha hai na

jo hamare muhalle mein ghoomta rahta hai. Wo boli, haan dekha hai.

Maine kaha, tumne uska Lund bhi dekha hoga. Wo boli, dekha hai. Maine

puchha, uska Lund kaisa hai. Wo boli, uska to tumse bhi jyada lamba

aur mota lagta hai. Maine kaha, main use ek din ghar le aata hoon, tum

us se chudwa lo. Wo boli, theek hai, le aana. Main tumse shadi karne

ke liye kuchh bhi kar sakti hoon. Main us pagal se bhi chudwa loongi.

Maine kaha, main to mazak kar raha tha. Wo boli, to kya tum samjhe ki

main sach mein hi us pagal se chudwa loongi. Maine kaha, main tumse ek

hi shart par shadi karunga. Wo boli, maine kaha na ki mujhe tumhari

har shart manzoor hai. Maine kaha, sun to lo. Wo boli, phir suna hi

do. Maine kaha, main tumhari Gaand marunga tab hi tumse shadi karunga.

Wo boli, jab maine tumhara Lund apni Choot ke andar liya tab hi main

tumhari biwi ban gayi thi, bhale hi hamari shadi nahin huyi thi. Apni

biwi se ye baat puchhi nahin jati. Abhi mar lo meri Gaand. Maine kaha,

phir suhagraat ke din main kya karunga. Wo boli, phir rahne do.

Suhagraat ke din tum meri Gaand mar lena. Maine kaha, ek dikkat aur

hai. Wo boli, ab kya hai. Maine kaha, tumse shadi karne ke baad main

saari zindagi kisi kunwari Choot ko nahin Chod paunga. Wo boli, main

tumhare liye kunwari Choot ka intezam bhi kar doongi. Maine puchha, wo

kaise. Wo boli, ye mujh par chhod do. Maine kaha, phir main molvi se

poochh leta hoon ki hamein shadi kab karni chahiye. Wo boli, poochh lena.






Molvi se baat ki to usne 3 baad ka time bataya. 3 dino tak
maine Rehana ki khoob jam kar chudayi ki. Ab use aur jyada maza aane
laga tha. Rehana chudwate samay mera poora saath deti thi is liye mujhe
bhi khoob maza aata tha. Teesre din hum dono ne mandir mein shadi kar
li. Raat mein maine Rehana ki Gaand mari. Wo bahut cheekhi aur chillayi
lekin usne ek baar bhi mujhe roka nahin. Uski Gaand kayi jagah se kat
gayi thi aur uski Gaand ki halat ek dam kharab ho gayi thi. Wo 2 dino
tak theek se chal bhi nahin pa rahi thi. Maine puchha, main jab
tumhari Gaand mar raha tha aur tumhein itni jyada takleef ho rahi thi
to tumne mujhe roka kyon nahin. Wo boli, main apne pati ko kaise mana
karti. Aakhir baad mein mujhe bhi to Gaand marwane mein maza aaya.
Maine kaha, wo to aana hi tha. Ab mere liye kunwari Choot ka intezam
kab karogi. Wo boli, bas jaldi hi ho jayega.

Shadi ke 4 din ke baad jab main dukan se ghar aaya to ghar par ek
ladki bartan saaf kar rahi thi. Uske kapde thoda gande the lekin wo
thi bahut hi khoobsurat. Uski umar lagbhag 16 saal ki rahi hogi. Main
seedha apne kamre mein chala gaya. Rehana bhi mere pichhe pichhe aa
gayi. Maine Rehana se puchha, ye kaun hai. Wo muskurate huye boli, maine
ise ghar ka kaam karne ke liye rakha hai. Iska naam Lali hai. Pasand
hai na tumhein. Main ise tumhare kaam ke liye bhi jaldi hi tayyar kar
loongi. Maine kaha, tumhari pasand ka to jawab nahin hai. Kahan rahti
hai ye. Rehana ne kaha, ye gaon mein rahti thi lekin ab yahin rahegi.
Mere bhaiya jab shadi mein aaye the to maine un se kaha tha ki mujhe
ghar ka kaam karne ke liye ek ladki chahiye. Unhone ne hi ise yahan
par bheja hai. Ye hamare saath hi rahegi. Maine kaha, jaldi tayyar
karo ise. Main ise jaldi se jaldi Chodna chahta hoon. Wo boli, thoda
sabar karo.

Lali bartan saaf kar ke kamre mein aa gayi. Usne Rehana se puchha,
malkin, maine ghar ka saara kaam kar diya hai, aur kuchh karna ho to
bata do. Rehana ne kaha, tu to mere gaon ki hai, mujhe malkin mat kaha
kar. Wo boli, phir main aap ko kya kah kar bulaoon. Rehana ne kaha, tu
mujhe didi kaha kar aur inhein Jiju. Wo khush ho gayi aur boli, theek
hai, didi. Rehana ne kaha, meri tabiyat kuchh kharab rahti hai is liye
tu mere saath hi so jana. Wo boli, phir jiju kahan soyenge. Rehana ne
kaha, wo bhi mere paas hi soyenge. Wo boli, phir main aap ke paas
kaise so paungi. Rehana ne kaha, mere ek taraf tum so jana doosri taraf
ye so jayenge. Wo boli, ye to theek nahin hoga. Rehana ne kaha, shahar
mein sab chalta hai. Yahan jyada sharam nahin ki jati. Wo boli, theek
hai, main aap ke paas hi so jaungi.

Hum sab ne khana khaya uske baad main apne kamre mein sone ke liye aa
gaya. Maine kewal lungi hi pahan rakhi thi. Thodi der baad Rehana aur
Lali bhi aa gaye. Rehana ne bra aur panty ko chhod kar apne baki ke
kapde utar diye. Uske baad usne maxy pahan li. Rehana ne Lali se kaha,
ab tu bhi apne kapde utar de. Main tujhe bhi ek maxy deti hoon, use
pahan lena. Wo boli, nahin, main aise hi theek hoon. Rehana ne kaha,
main jo kahti hoon, use man liya kar. Sote waqt saara badan khula
chhod dena chahiye. Wo boli, jiju yahan hain. Rehana ne kaha, jiju se
kaisi sharam, ye tujhe pakad thode hi lenge. Utar de apne kapde. Lali
ne sharmate huye apni shalwar aur kameez utar di. Uska badan dekhkar
main dang rah gaya. Uski chuchiyan abhi bahut hi chhoti chhoti thi.
Rehana ne use bhi ek maxy de di to usne wo maxy pahan li.

Rehana mere bagal mein let gayi. Lali Rehana ke bagal mein let gayi. Hum
sab kuchh der tak batein karte rahe. Uske baad sone lage. Thodi hi der
mein Lali so gayi to Rehana ne mujhse kaha, ab tum meri chudayi karo.
Maine kaha, iske samne. Wo boli, main chahti hoon ki ye hum dono ko
dekh le, tabhi to main ise tayyar karungi. Tum mujhe khoob jor jor se
Chodna jis se ye jaag jaye. Maine kaha, theek hai.

Maine Rehana ko jor jor se Chodna shuru kar diya. Saara bed jor jor se
hilne laga. Thodi hi der mein Lali ni neend khul gayi aur wo uth kar
baith gayi. Jaise hi wo uthi to maine apna Lund Rehana ki Choot se bahar
nikal liya. Lali ne jab hum dono ko dekha to sharma gayi. Wo boli,
didi, main bahar ja rahi hoon. Rehana ne kaha, kyon, kya hua. Wo boli,
mujhe sharam aati hai. Rehana ne kaha, pagli, ismein sharmane ki kaun si
baat hai. Tu apna muh doosri taraf kar le aur so ja. Lali uth kar jana
chahti thi lekin Rehana ne uska haath pakad liya. Lali kuchh nahin boli.
Wo Rehana ke bagal mein hi let gayi lekin usne apna muh doosri taraf
nahin kiya. Rehana ne mujhse kaha, ab tum apna kaam jaldi se poora karo,
mujhe neend aa rahi hai.
kramashah...............


rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: रेहाना भाभी की चुदाई

Unread post by rajaarkey » 07 Nov 2014 15:35

रेहाना भाभी की चुदाई --5

गतांक से आगे.........

मैने रेहाना को चोदना शुरू कर दिया. लाली तिर्छि निगाहों से हम दोनो

के देखती रही थी. 15 मिनट की चुदाई के बाद जब मैं झाड़ गया तो

मैने अपना लंड रहना की चूत से बाहर निकाला. रेहाना उठ कर बैठ गयी

और उसने मेरा लंड चाट चाट कर सॉफ कर दिया. लाली ने शरम के मारे

अपनी आखे बंद कर ली. रेहाना ने अपना मूह लाली की तरफ कर लिया और

अपना हाथ उसकी चुचियों पर रख दिया. उसने कहा, दीदी, अपना हाथ

हटा लो. रेहाना ने कहा, मुझे तो ऐसे ही सोने की आदत है. अब सो जा.

लाली कुच्छ नहीं बोली. उसके बाद हम सब सो गये.

सुबह हम सब उठ गये. लाली फ्रेश होने चली गयी. रेहाना ने मुझसे

कहा, अब तुम इसे बार बार अपना लंड दिखाने की कोशिश करना लेकिन

इसे हाथ मत लगाना. इसे ऐसा लगना चाहिए कि जैसे तुम अपना लंड

इसे दिखाने की कोशिश नहीं कर रहे थे. मैने कहा, ठीक है. लाली

फ्रेश हो कर आ गयी. रेहाना ने कहा, अब तू घर में झाड़ू लगा ले. वो

झाड़ू लगाने चली गयी. रेहाना ने मुझसे कहा, अब तुम जा कर फ्रेश हो

जाओ. आज से अपना टवल साथ मत ले जाना और एक दम नंगे ही नहाना,

मैं लाली से तुम्हारा टवल भेज दूँगी. मैने कहा, ठीक है.

मैं बाथरूम में चला गया. फ्रेश होने के बाद मैं एक दम नंगा ही

नहाने लगा. थोड़ी देर बाद मैने रेहाना को पुकारा और कहा, टवल दे

दो. रेहाना ने लाली से कहा, जा, जीजू को टवल दे आ. वो टवल ले कर

आई तो मैने बाथरूम का दरवाज़ा खोल दिया. मेरा लंड पहले से खड़ा

था. लाली की निगाह जैसे ही मेरे लंड पर पड़ी तो उसने अपना सिर नीचे

कर लिया. वो मुझे टवल देने लगी तो मैने कहा, थोड़ा रुक जाओ. मैं

अपने सिर को ज़रा साबुन से सॉफ कर लूँ. मैने अपने सिर पर साबुन

लगाना शुरू कर दिया. मैने देखा कि लाली तिर्छि निगाहों से मेरे

लंड को देख रही थी. मैने कुच्छ ज़्यादा ही देर कर दी तो वो बोली,

जीजू, टवल ले लो, मुझे और भी काम करना है. मैं कहा, थोड़ा रुक

जाओ, मैं अपना सिर तो धो लूँ.

मैने अपना सिर धोया और फिर अपने लंड पर साबुन लगाते हुए कहा,

रात को तेरी दीदी ने इसे भी गंदा कर दिया था, ज़रा इसे भी साफ कर

लूँ. फिर मुझे टवल दे देना. वो चुप चाप खड़ी रही. मैं अपने

लंड पर साबुन लगाने लगा. वो अभी भी मेरे लंड को तिर्छि निगाहों

से देख रही थी. मैने उस से मज़ाक करते हुए कहा, साली जी, तिर्छि

निगाहों से मुझे क्यों देख रही हो. अपना सिर उपर कर लो और ठीक से

देख लो मुझे. वो बोली, मुझे शरम आती है. मैने कहा, कैसी

शरम, मैं तो तुम्हारा जीजू हूँ ना. बोलो, हूँ या नहीं. वो बोली,

हां, आप मेरे जीजू हैं. मैने अब ज़्यादा देर करना ठीक नहीं समझा.

मैने अपने लंड पर लगे हुए साबुन को धोया और उसके हाथ से टवल

लेते हुए कहा, अब जाओ. वो मुस्कुराते हुए चली गयी.

मैने अपना बदन सॉफ किया और लूँगी पहन कर बाहर आ गया. लाली

ड्रवेयिंग रूम में झाड़ू लगा रही थी. मैने रेहाना को पुकारा और कहा,

ज़रा तेल तो लगा दो. वो बोली, अभी आती हूँ. रेहाना मेरे पास आ गयी

तो मैने अपने लंड की तरफ इशारा करते हुए कहा, आज तेल नहीं

लगओगि क्या. रेहाना समझ गयी और बोली, लगाउन्गि क्यों नहीं. उसने मेरे

लंड पर तेल लगा कर मालिश करना शुरू कर दिया. लाली मेरे लंड को

देखती रही. इस बार वो ज़्यादा नहीं शर्मा रही थी. तेल लगाने के

बाद रेहाना जाने लगी तो मैने कहा, तुम कुच्छ भूल रही हो. रहना ने

मेरे लंड को चूम लिया. उसके बाद मैने नाश्ता किया और अपने कमरे

में आ गया.

10 बजे मैं दुकान जाने लगा तो रेहाना ने कहा, लाली के लिए कुच्छ नये

कपड़े और थोड़ा मेक-अप का समान ले आना. मैने कहा, अच्च्छा, ले

आउन्गा. उसके बाद मैं दुकान चला गया. रात के 8 बजे मैं दुकान से

वापस आया और मैने लाली को पुकारा. लाली आ गयी और उसने मुस्कुराते

हुए कहा, क्या है, जीजू. मैने कहा, मैं तेरे लिए कपड़े ले आया

हूँ और मेक-अप का समान भी. देख ज़रा तुझे पसंद है या नहीं.

उसने सारा समान देखा तो खुश हो गयी और बोली, बहुत ही अच्च्छा

है. मैने पुछा, रेहाना कहाँ है. वो बोली, फ्रेश होने गयी है. मैने

कहा, जा मेरे लिए चाय ले आ. वो चाय लाने चली गयी. मैने अपने

कपड़े उतार दिए और लूँगी पहन ली. वो चाय ले कर आई तो मैने

चाय पी. तभी रेहाना आ गयी. उसने पुछा, लाली का समान ले आए.

मैने कहा, हां, ले आया और इसे दिखा भी दिया. इसे बहुत पसंद भी

आया. मैं टीवी देखने लगा. रेहाना लाली के साथ खाना बनाने चली गयी.

रात के 10 बजे हम सब ने खाना खाया और सोने चले गये. आज लाली

बहुत खुश दिख रही थी. उसने आज ज़रा सा भी शरम नहीं की और

खुद ही अपने कपड़े उतार दिए और मेक्सी पहन ली. हम सब बेड पर लेट

गये. रेहाना ने मुझसे कहा, मुझे नींद आ रही है. तुम अपना काम कर

लो और मुझे सोने दो. मैं समझ गया. मैने अपनी लूँगी उतार दी. रेहाना

ने भी अपनी मेक्सी खोल दी और पॅंटी उतार दी. लाली देख रही थी. आज वो

कुच्छ बोल नहीं रह थी, केवल चुप चाप लेटी हुई थी. मैने रेहाना को

चोदना शुरू कर दिया. मैने देखा की लाली आज ध्यान से हम दोनो को

देख रही थी.