छोटी सी जान चूतो का तूफान

Discover endless Hindi sex story and novels. Browse hindi sex stories, adult stories ,erotic stories. Visit webvitaminufa.ru
User avatar
kamdevbaba
Novice User
Posts: 83
Joined: 16 Oct 2014 11:24

Re: छोटी सी जान चूतो का तूफान

Unread post by kamdevbaba » 27 Dec 2014 08:43

waiting for next

rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: छोटी सी जान चूतो का तूफान

Unread post by rajaarkey » 28 Dec 2014 03:18

show8814 wrote:waiting for next


update thodi hi der me

rajaarkey
Platinum Member
Posts: 3125
Joined: 10 Oct 2014 04:39

Re: छोटी सी जान चूतो का तूफान

Unread post by rajaarkey » 28 Dec 2014 03:35

छोटी सी जान चूतो का तूफान--5

गीता: अच्छा अगर मेरी बात मानेगा और सही-2 जवाब देगा तो, मैं ये बात किसी को नही बताउन्गि, प्रॉमिस करती हूँ मैं…..

साहिल गीता का तरफ सवालिया नज़रों से देखता है, और फिर हां मे सिर हिला देता है…..

गीता: अच्छा बता तुझे ये सब देखना अच्छा लगता है क्या ?

साहिल चुप बैठा रहता है, और कोई जवाब नही देता….गीता वो बुक खोल कर उसमे लगी तस्वीरे देखने लगती है “हाए तौबा ये तो बिकुल नंगी लेटी हुई है” साहिल अपनी कनखियो से देखता है, उसमे एक लड़की बिस्तर पूरी नंगी लेटी हुई थी, और एक लड़का उसके मम्मे चूस रहा था…

गीता: अच्छा अब एक बात सच-2 बता तुझे इनमे से कोन से पिक्चर सबसे ज़्यादा अच्छी लगती है..?

गीता के इस सवाल से साहिल थोड़ा चोंक जाता है, पर बोलता कुछ नही. “अर्रे बता ना. मैं किसी को नही कहूँगी” दरअसल वो पिक्चर्स देखते हुए, गीता खुद गरम होने लगी थी…जवानी की दहलीज पर खड़ी गीता जिसे भगवान ने भरपूर योवन दिया था….उसकी चूत मे नमी आने लगी, और उसकी चूत के अंदर तेज सरसराहट होने लगी…

जैसे कि आप जानते है कि, गीता किसी मिल्फ की तरह 5,7 इंच लंबी हाइट वाली थी, उसके बूब्स उसकी हाइट के हिसाब से 38 साइज़ के हो चुके थे..मांसल बदन होने के कारण उसके बूब्स हमेशा तने हुए रहते थे…और उसकी जांघे खूब मोटी और मांसल थी…भरा हुआ बदन होने के साथ-2 उसकी गांद भी पीछे की तरफ निकली हुई थी….

गीता एक दम गरम होने लगी थी….इस बात का शायद साहिल को पता नही था…गीता की मांसल और मोटी-2 जांघे उसकी जाँघो से सटी हुई थी, और उसकी जाँघो की गरमी के कारण साहिल के लंड मे हलचल होने लगी थी. हालाकी साहिल इस मामले मे बिल्कुल अनाड़ी था….

गीता: बोलता क्यों नही…

साहिल: (साहिल ने अपना पीछा छुड़ाने के लिए ऐसे ही बोल दया..) ये वाली..

गीता: (अपने होंटो पर कामुक मुस्कान लाते हुए) अच्छा तुझे इसमे क्या अच्छा लगता है…

साहिल: (कनखियो से उस तस्वीर की तरफ देखते हुए) वो दूध…..

गीता: अच्छा बच्चू कभी देखे हैं किसी के दूध….

साहिल: नही…

गीता: (धीमी आवाज़ मे) देखेगा….?

साहिल: (गीता की ओर हैरत से देखते हुए) किसके….

गीता: पहले तू मुझे प्रॉमिस कर, कि किसी को कुछ बतायेगा नही….

साहिल: प्रॉमिस….

गीता ने धड़कते हुए दिल के साथ खिड़की की तरफ देखा, फिर विंडो के पास जाकर उसे थोड़ा सा खोला…..यहाँ से बाकी तीनो रूम्स के डोर सॉफ नज़र आते थे…विंडो के बाहर की तरफ जाली लगी हुई थी….अगर बाहर धूप होती , तो जाली के अंदर कुछ नही दिखता था…भले ही विंडो खुली हुई हो…ये बात गीता अच्छे से जानती थी….

फिर गीता ने पूरे घर मे नज़र दौड़ाई….पूरे घर मे शांति थी, बस एक्का दुक्का चिड़ियो की चह्चहाहत सुनाई दे रही थी…फिर उसने साहिल को इशारे से पास आने को कहा….साहिल का दिल भी इस नये रोमांच के कारण, जोरो से धड़क रहा था….साहिल धीरे-2 गीता के पास गया….साहिल की उस समय हाइट महज 4,11 इंच के करीब थी….क्योंकि उसकी उमर ही उतनी थी…

और उसके उलट गीता किसी मेच्यूर मिल्फ की तरह 5, 7 इंच लंबी थी….जैसे ही साहिल उसके पास पहुचा, उसने साहिल का बाजू पकड़ कर अपनी तरफ खेंचते हुए उसको विंडो की तरफ सटा दिया….अब साहिल की पीठ विंडो की तरफ थी, और गीता का फेस साहिल और विंडो की तरफ था…..जिससे वो बाहर भी नज़र रख सकती थी…